Bergamot : बर्गमोट क्या है?

By Medically reviewed by Dr. Shruthi Shridhar

परिचय

बर्गमोट क्या है?

बर्गमोट एक खट्टा और कड़वा फल है, जिसे ऑरेंज बर्गमोट भी कहा जाता है। यह पीले रंग का नींबू जैसा दिखता है। यह पेड़ दक्षिण-पूर्व एशिया में पाया जाता है। इसका इस्तेमाल कई कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में भी किया जाता है। कई लोग इसकी चाय पीनी पसंद करते हैं। चाय के अलावा इसका तेल प्रयोग किया जाता है। औषधीय गुणों से भरपूर इसके तेल को खाने और ड्रिंक्स में फ्लेवर के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। ये हमारे स्वास्थ्य के लिए कई तरीकों से लाभदायक हो सकता है लेकिन, अगर इसे अनुचित तरीके से उपयोग किया जाता है, तो यह हानिकारक भी साबित हो सकता है।

बर्गमोट का उपयोग ​किस लिए किया जाता है?

बर्गमोट ऑयल के कई फायदे होते हैं, जिसकी रिसर्च में भी पुष्टि की गई है।

स्ट्रेस को करें कम – 2015 में जापान की औरतों पर एक शोध किया गया था और जिसमें उन्हें बर्गमोट ऑयल को पानी के साथ भांप में दिया गया। इससे उनमें स्ट्रेस, चिंता और थकान का स्तर कम देखने को मिला। इसी तरह 2013 में करेंट ड्रग टार्गेट (Current Drug Targets) में छपी एक रिपोर्ट में बताया गया था कि एरोमा थेरेपी में बर्गमोट का इस्तेमाल डिप्रेशन, स्ट्रेस और मूड डिसऑर्डर को ठीक करने के लिए किया जाता है। 

फूड पॉइजनिंग में मददगार– इसमें लिनालूल (Linalool) नाम का एक कंपाउंड पाया जाता है। जो कई बार फूड पॉइजनिंग के लिए जिम्मेदार बैक्टीरिया को नष्ट करने में कारगार होता है। 2006 में एक स्टडी में चिकन की स्किन और पत्ता गोभी से बैक्टीरिया को नष्ट करने में बर्गमोट को प्रभावी पाया गया।

कोलेस्ट्रॉल को कम करता है- 2016 में हुए मानवों और पशुओं पर एक अध्ययन किया गया जिसमें सामने आया कि बर्गमोट में फ्लेवोनोइड होता है जो लिपिड के स्तर को कम करने में मदद करता है। 2018 में हुए एक एनिमल स्टडी में वैज्ञानिकों ने चूहों पर परीक्षण किया, जिसमें पाया गया कि इसके सेवन से चूहों में फैटी लिवर का विकास रुक गया।

घावों को भरने में असरदार- घावों को भरने में भी ये काफी असरदार है। इसका उपयोग त्वचा रोग एक्जिमा, सोरायसिस, जलन, चकत्ते, मुंहासे, अल्सर और दाद के इलाज के लिए किया जाता है। कॉस्मेटोलॉजी में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

कैसे काम करता है?

बर्गमोट ऑयल में बहुत सारे केमिकल्स होते हैं, जोकि त्वचा को धूप के प्रति संवेदनशील बना सकते हैं। कभी भी सनलाइट में बाहर जाने से पहले इसे शरीर पर न लगाएं। क्योंकि, इससे संवेदनशील त्वचा जल सकती है।

यह भी पढ़ें : धनिया क्या है?

उपयोग

कितना सुरक्षित है बर्गमोट का उपयोग ?

  • 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए इसकी खुशबू नुकसानदायक हो सकती है। 
  • जिन लोगों को खट्टे फलों से एलर्जी है वो बर्गमोट वाली दवाइयों को लेने से बचें।
  • प्रेग्नेंट और ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाओं भी इससे बनी दवाइयों का सेवन न करें।
  • अगर आप स्तनपान कराती हैं तो इस तेल का इस्तेमाल अपनी त्वचा पर न करें।
  • अगर आप कोई दूसरी दवाइयों का सेवन कर रहे हैं तो इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करें।

अगर आपकी कोई सर्जरी होने वाली है तो उसके दो हफ्ते पहले इसको लेना बंद कर दें।

यह भी पढ़ें : सहजन क्या है? 

साइड इफेक्ट्स

बर्गमोट के साइड इफेक्ट्स ?

कुछ लोगों में बर्गमोट का तेल इस्तेमाल करने से स्किन संबंधित परेशानियां हो सकती हैं। खासतौर पर तब जब इसे करियर ऑइल के साथ मिलाकर नहीं लगाया जाए। बर्गमोट तेल का इस्तेमाल कभी-कभी डर्मेटाइटिस (dermatitis) का कारण बन सकता है।

बर्गमोट से होने वाली एलर्जी के लक्षण-

  • त्वचा पर लाल धब्बे
  • त्वचा पर जलन
  • फफोले
  • दर्द होना

बर्गमोट तेल का प्रयोग करने से पहले एक बार इसका पैच टेस्ट जरूर करें। इसके लिए अपनी कलाई के छोटे हिस्से पर तेल को करियर तेल में मिलाकर लगाएं। अगर 24 घंटे तक आपको किसी तरह की कोई एलर्जी नहीं होती है तो आप इस तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। सर्नबर्न और रैशेज से प्रभावित हिस्सों के उपचार के लिए भी बर्गमोट के तेल का इस्तेमाल प्रभावकारी है।

यह भी पढ़ें : नारियल तेल क्या है?

डॉसेज

बर्गमोट को लेने की सही खुराक

बर्गमोट तेल की खुराक कई कारकों पर निर्भर करती है। ये मरीज की उम्र, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियों पर निर्भर करती है। फिलहाल इसकी निर्धारित खुराक को लेकर कोई वैज्ञानिक जानकारी नहीं है। एक बात का खास ख्याल रखें कि हर्बल सप्लीमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए इसके तेल का इस्तेमाल करने से पहले अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से एक बार जरूर संपर्क करें।

और पढ़ें : कैफीन क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

बर्गमोट ऑयल

रिव्यू की तारीख सितम्बर 14, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया अक्टूबर 21, 2019