home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Tuberculosis Disease: क्षय रोग के शिकार जल्द होते हैं पुरुष!

Tuberculosis Disease: क्षय रोग के शिकार जल्द होते हैं पुरुष!

क्षय रोग (TB) (तपेदिक, यक्ष्मा या ट्यूबरक्यूलॉसिस) महिलाओं की तुलना में पुरुषों पर ज्यादा प्रभावी होता है। ट्यूबरक्यूलॉसिस हवा में फैलने वाले बैक्टीरिया से होता है और पुरूष बाहर ज्यादा रहने की वजह से इसके ज्यादा शिकार बनते हैं। घर के बाहर हर प्रकार के वातावरण से पुरूषों का सामना होता है। इस वजह से पुरुषों की खान-पान और उनकी दिनचर्या पर ज्यादा असर पड़ता है। पुरुष धूम्रपान और तंबाकू का ज्यादा सेवन करते हैं जिसकी वजह से भी उनको टीबी होने की संभावना ज्यादा होती है। टीबी एक खतरनाक बीमारी होती है जिसका अगर इलाज नहीं कराया गया तो जानलेवा हो सकती है।

Tuberculosis Disease-क्षय रोग

पुरुषों में ऐसे नजर आते हैं क्षय रोग (Tuberculosis Disease) के लक्षण

पुरुषों में क्षय रोग (TB) के लक्षण पुरूषों और महिलाओं में क्षय रोग के लक्षण एक जैसे ही होते हैं लेकिन महिलाओं का इम्यून सिस्टम पुरुषों की तुलना में ज्यादा मजबूत होता है जिसकी वजह से उनपर टीबी या अन्य बीमारी का कम प्रभाव होता है। पुरुषों में टीबी के लक्षण ज्यादा दिखाई देते हैं, जो इस प्रकार हैं-

और पढ़ें : Pneumonitis: निमोनाइटिस क्या है?

खांसी आना:

टीबी फेफडे़ की बीमारी है और इसके शुरूआती लक्षण है खांसी आना । दो हफ्तों या उससे ज्यादा समय तक खांसी लगातार आना तपेदिक का लक्षण है। शुरुआत में सूखी खांसी आती है लेकिन बाद में खांसी के दौरान बलगम में खून भी आने लगता है। दो हफ्ते से ज्यादा खांसी आने पर स्वास्‍थ्‍य केंद्र जाकर बलगम की जांच करानी चाहिए। लगातार खांसी आने से पुरूषों को सांस संबंधित अन्य बीमारियां भी होने लगती है।

बुखार:

टीबी से संक्रमित होने वाले पुरुषों को बुखार रहता है। ट्यूबरक्यूलॉसिस का संक्रमण रहने पर आदमी को हमेशा बुखार (Fever) रहता है। शुरुआत में लो-ग्रेड फीवर होता है लेकिन बाद में संक्रमण ज्यादा फैलने पर बुखार तेज हो जाता है।

क्षय रोग को समझना नीचे दिए इस 3 D मॉडल पर क्लिक करें।

थकावट होना:

टीबी होने पर आदमी की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बहुत कम हो जाती है और उसकी ताकत भी समाप्ते होने लगती है। सामान्य दिनों की अपेक्षा टीबी होने पर हल्का और छोटा सा काम करने पर भी आदमी को थकान (Fatigue) होने लगती है।

वजन घटना:

टीबी होने पर व्यक्ति का वजन तेजी से कम होना। सामान्य खान-पान रखने पर भी आदमी का वजन कम होने लगता है।

पसीना आना:

टीबी ग्रस्त व्यक्ति को रात को सोते वक्त पसीना आता है। मौसम चाहे जैसा भी हो (जबरदस्त ठंड पड़ने के बावजूद) रात को तेज पसीना आता है।

भूख न लगना:

टीबी होने पर आदमी की खाने के प्रति रुचि समाप्त होने लगती है। टीबी होने पर आदमी को भूख कम लगती है जिसकी वजह से खाने के प्रति रुचि कम हो जाती है।

सांस लेने में परेशानी:

क्षय रोग होने पर जबरदस्त खांसी आती है जिससे सांस लेने में दिक्कत होती है। कई बार ज्यादा खांसी आने के वजह से आदमी की सांस भी फूलने लगती है। क्षय रोग होने पर आदमी के शरीर के अन्य भाग भी प्रभावित होते हैं। शरीर के जोड़ों, हड्डियों, मांसपेशियों और सेंट्रल नर्वस सिस्टम में दिक्‍कत शुरू हो जाती है।

निष्कर्ष

टीबी एक बेहद तेजी से फैलने वाली जानलेवा बीमारी है। कभी भी इसके जैसे लक्षणों को नजरअंदाज न करें। अगर आपको इन लक्षणों को लेकर मन में कोई भी शंका है तो अपने डॉक्टर संपर्क अवश्य करें।

तेजी से फैलने वाले क्षय रोग के लक्षणों को समझने के साथ-साथ इसके कारणों को भी समझना जरूरी है।

और पढ़ें : क्रॉनिक ब्रॉन्कायटिस के कारण हो सकती है सांस लेने में समस्या, अपनाएं ये सावधानियां

टीबी होने के कारण (TB Disease Causes)

निम्नलिखित कारणों की वजह से क्षय रोग की समस्या हो सकती है। जैसे:

  • यह माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरक्लोसिस (Mycobacterium tuberculosis) बैक्टीरिया के कारण होता है।
  • क्षय रोग के बैक्टीरिया इंफेक्टेड लोगों द्वारा आसानी से फैल जाता है और हेल्दी व्यक्ति के शरीर में सांस के माध्यम से प्रवेश कर जाता है।
  • जब क्षय रोग से पीड़ित लोग खांसते, छींकते, थूकते हैं या दूसरों के साथ जब बातें करते हैं, तो इंफेक्शन एयरोसोल बूंदों को बाहर निकालते हैं। ऐसा माना जाता है कि एक
  • बार छींकने पर तकरीबन 40,000 बूंदें निकल सकती हैं, जो क्षय रोग को आसानी से फैला देती है।

ये मुख्य कारण मानें जाते हैं। इसलिए अगर किसी क्षय रोग से पीड़ित व्यक्ति के संपर्क में आते हैं, तो साफ-सफाई का ध्यान रखें और पेशेंट से बात करने के दौरान मास्क का इस्तेमाल करें।

और पढ़ें : प्रति मिनट 6.5 लीटर हवा खींचते हैं हम, जानें सांसों (breathing) के बारे में ऐसे ही मजेदार फैक्ट्स

क्षय रोग (Tuberculosis Disease) के कारण क्या अन्य बीमारियों का भी खतरा हो सकता है?

टीबी रोग के कारण निम्नलिखित बीमारियां या शारीरिक परेशानी हो सकती हैं। जैसे:

क्षय रोग की वजह से ये ऊपर बताई गई समस्या हो सकती है। इसलिए क्षय रोग होने पर जल्द से जल्द डॉक्टर से इलाज करवाना शुरू करें।

और पढ़ें : हार्ट अटैक से बचा सकता है कैल्शियम स्कोरिंग टेस्ट (Calcium scoring test), जानिए कैसे

टीबी की समस्या होने पर किन बातों का ध्यान रखें? (Tips for Tuberculosis Disease)

अगर आप टीबी की समस्या से पीड़ित हैं, तो ऐसी स्थिति में निम्नलिखित बातों का ध्यान अवश्य रखें। जैसे:

  • ज्यादा से ज्यादा आराम करें और अत्यधिक मेहनत वाला काम ना करें।
  • अगर आपको खांसी या छींक आ रही है, तो मुंह और नाक पर टिशू पेपर रखें और फिर उसे डस्टबिन में फेंक दें। आप चाहें, तो इस दौरान
  • रुमाल या कपड़े का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन इसे कहीं भी ना रखें और इसकी सफाई पर भी ध्यान दें।
  • नियमित समय पर दवा का सेवन करें।
  • समय पर खाना खाएं।
  • डॉक्टर की सलाह का पालन ठीक से करें।
  • टीबी के मरीजों को तले हुए खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे दस्त (Diarrhea) और पेट दर्द (Stomach pain) जैसी अन्यपरेशानियां हो सकती हैं।
    ट्रांस फैट का सेवन ना करें।
  • चाय (Tea) और कॉफी (Coffee) का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • टीबी के मरीज ग्रीन-टी (Green Tea) का सेवन कर सकते हैं।
  • स्मोकिंग (Smoking) और एल्कोहॉल (Alcohol) के सेवन पर पूरी तरह से रोक लगा लें।

ट्यूबर क्लोसिस के पेशेंट को इन ऊपर बताई बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए।

अगर आप ट्यूबर क्लोसिस (क्षय रोग) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। ट्यूबर क्लोसिस (Tuberculosis Disease) की बीमारी को इग्नोर ना करें और जल्द से जल्द डॉक्टर से इलाज शुरू करवाएं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Piyush Singh Rajput द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 01/05/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x