home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जानें इन कारणों से हो सकती हैं मेंस में हॉर्मोनल होर्मोनल इम्बैलेंस की समस्या और उपचार

जानें इन कारणों से हो सकती हैं मेंस में हॉर्मोनल होर्मोनल इम्बैलेंस की समस्या और उपचार

अक्सर हॉर्मोनल प्रॉब्लम काे महिलाओं से जोड़ा जाता है,लेकिन ऐसा नहीं है। हॉर्मोनल प्रॉब्लम पुरुषों को भी होती हैं। ऐसे कई हॉर्मोन है, जो महिलाओं और पुरुषों दोनों में पाया जाता है, जैसे की ईस्ट्रोजन, थायराइड प्रॉब्लम और टेस्ट्रोजन की प्रॉब्ल्म आदि। हॉर्मोन का शरीर में कई प्रकार की भूमिका होती है। अगर किसी एक हॉर्मोन का संतुलन बिगड़ जाए, तो शरीर में कई तरह की दिक्कते हो सकती हैं। अगर देखा जाए तो पुरुषों में हॉर्मोंस के असंतुलन सबसे ज्यादा देखा जाता है। लेकिन सबसे पहले जानें की पुरुषों में हॉर्मोनल असंतुलन का क्या कारण है। जानें पुरुषों में होने वाले हॉर्मोनल प्रॉब्लम के बारे में-

शरीर में होने वाले हॉर्मोनल असंतुलन के प्रकार (Types of Hormonal Imbalance)

हमारे शरीर में हॉर्मोन की अगल-अलग भूमिका होती है। ऐसे कई हॉर्मोन हैं। पुरुषों के शरीर में हाॅर्मोन की बात करें तो सबसे अच्छे हॉर्मोन उनमें 20 साल की उम्र में होते हैं। उसके बाद 40 वर्ष की आयु तक, अधिकांश पुरुषों में हॉर्मोनल प्रॉब्लम अधिक देखी जाती है। इसके बाद 80 साल की उम्र तक आते-आते शरीर के अधिकतर हॉर्मोन बिगड़ चुके होते हैं। इसके होने वाले असंतुलन के कारण पुरुषों में इस तरह की समस्या देखने को मिल सकती है।

  • सेक्स लाइफ का खराब होना (Bed Sex Life)
  • चोट लगने में कई तरह की समस्याएं
  • तनाव और अवसाद आदि (Tension)

और पढ़ें: पुरुषों के लिए हॉर्मोन डायट क्यों जरूरी है?

पुरुषों में हाॅर्मोनल असंतुलन के प्रकार

पुरुष हाॅर्मोनल असंतुलन तीन प्रकार के देखे जाते हैं, जोकि इस प्रकार हैं:

एंड्रोपॉज (Andropause): इसे पुरुषों में रजोनिवृत्ति यानि कि मेल मेनोपॉज के रूप में भी जाना जाता है, यह पुरुषों में हाेने वाले हार्मोनल असंतुलन का सबसे सामान्य कारण है।

हायपोथायरायडिज्म (Hypothyroidism): यह स्थिति तब होती है जब थायरॉयड ग्रंथि अंडरएक्टिव हो जाती है।

और पढ़ें : Peyronies : लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपायऔर पढ़ें:

पुरुष हाॅर्मोनल असंतुलन के लक्षण (Symptoms of Hormonal Imbalance)

हॉर्मोंस का असंतुलन शरीर को कई प्रकार से प्रभावित करता है। शरीर में होने वाले हाॅर्मोनल प्रॉबल का कारण बढ़ती उम्र और अधिक वजन होता है।पुरुषों में होने वाले हाॅर्मोनल असंतुलन के लक्षणों में शामिल हैं, जैसे कि:

  • नपुंसकता की समस्या
  • थकान महसूस होना
  • डिप्रेशन होना
  • मांसपेशियों में दिक्कत महसूस होना
  • बालों का झड़ना
  • मानसिक तनाव और अन्य समस्या
  • इमोशनल प्राॅब्लम

और पढ़ें : Diphtheria : डिप्थीरिया (गलाघोंटू) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

हार्मोन्स असंतुलित होने के कारण (Causes Of A Hormonal Imbalance)

अगर पुरुषों में होने वाले हॉर्मोनल असंतुलन के कारणों की बात करें, तो ऐसे कई कारण हैं, जिनके होने पर हॉर्मोनल ग्रंथियां प्रभावित होती हैं, जैसे कि

  • डायबिटीज की समस्या
  • हायपोथायराइडिज्म
  • शरीर में किसी प्रकार का टयूमर
  • जेनेटिक प्रॉब्लम होने पर
  • किसी प्रकार की दवाओं का सेवन
  • अधिक तनाव लेना
  • एड्रीनल प्रॉब्लम
  • कैंसर का ट्रीटमेंट
  • पिटयूटरी टयूमर
  • यौवनावस्था का दौर
  • वृद्धावस्था का चरण

और पढ़ें: पुरुषों में हॉर्मोन रिप्लेसमेंट थेरिपी के फायदे और नुकसान क्या हैं?

पुरुषों में हार्मोन असंतुलन (Hormonal Imbalance) के लक्षण

पुरुष विकास के शारीरिक और मानिसक विकास में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अगर पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन प्रभावित होता है, तो उनमें निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • पुरुषों के स्तन ऊतक का विकास होना, जिसे मेन्स बूब्स (Gynecomastia) की स्थिति कही जाती है
  • नपुंसकता
  • मांसपेशियों का घटना
  • सेक्स ड्राइव में कमी होना
  • बांझपन
  • दाढ़ी और शरीर के बालों की वृद्धि में कमी होना
  • ऑस्टियोपरोसिस डिजीज, हड्डी में पाए जाने वाले तरल पदार्थ का कम होना

और पढ़ें : BHRT: बायो-आइडेंटिकल हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी क्या होता है? क्या यह सेफ है?

लड़कों में हार्मोन असंतुलन (Hormonal Imbalance) के लक्षण

सामान्य तौर पर यौवन शुरू होने के दौरान ही लड़के और लड़कियों के शरीर में सेक्स हार्मोन का उत्पादन शुरू होता है। कुछ बच्चों में यौवन की शुरूआत जल्दी, तो कुछ बच्चों में देरी से हो सकती है। अगर उनके यौवन में देरी का कारण हार्मोन अंसतुलन है, तो उनमें हाइपोगोनाडिज्म (Hypogonadism) नामक स्वास्थ्य स्थिति की समस्या हो सकती है, हाइपोगोनाडिज्म के लक्षणों में शामिल हैं:

लड़कों में हाइपोगोनाडिज्म के लक्षण

  • मांसपेशियों का विकास नहीं होना
  • आवाज में भारीपन नहीं आना, जिसके कारण लड़कों के आवाज लड़कियों की तरह ही पलती हो सकती है
  • शरीर के बाल कम उगते हैं, जैसे- दाढ़ी न आने की समस्या
  • लिंग और अंडकोष का विकास प्रभावित होना
  • शरीर के धड़ के मुताबिक हाथों-पैरों का अधिक लंबा होना
  • स्तन ऊतक का विकास होना, मेन्स बूब्स (Gynecomastia) की स्थिति

और पढ़ें :जानें मेल मेनोपॉज क्या है? महिलाओं की तरह पुरुषों में भी होता है मेनोपॉज

पुरुषों में होने वाले हॉर्मोनल अंसतुलन प्रॉब्लम का उपचार

पुरुषों में होने वाले हॉर्मोनल प्राॅब्लम के कई कारण हो सकते हैं। लेकिन इसके उपचार के लिए जरूरी है कि दवाओं के साथ अपने लाइफस्टाइल में बदलाव लाएं। अच्छी लाइफस्टाइल आपको शरीर में हॉर्मोनल असंतुलन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। जोने कैसी हो आपकी लाइफ स्टाइल।

वेट कंट्राेल होना है जरूरी

इस बारे में सेक्सोलॉजिस्ट डॉक्टर एस के शर्मा का कहना है कि अक्सर जब हाॅर्मोन्स में असंतुलन का सबसे बड़ा कारण अधिक कम या अधिक बढ़ा हुआ वजन पाया गया है। सबसे ज्यादा ओवर वेट हॉर्मोनल प्रॉब्लम का कारण होता है। जिसकी वजह से कई शरीर में डायबिटी और थायराइड होने का रिस्क बढ़ जाता है। थॉयरायड भी एक हॉर्मोन है, जो बिगड़ती लाइफस्टाइल का कारण होता है। अपने लाइफस्टाइल में खानपान और डायट की तरह अच्छे से ध्यान दें। सही लाइफस्टाइल का अर्थ सही समय में खानपान से भी है।

टेस्टोस्टेरोन थेरिपी (Testosterone Therapy)

टेस्टोस्टेरोन के लेवल को बढ़ाने के लिए पुरुषों को टेस्टोस्टेरोन की ओरल खुराक दी जा सकती है। इसके सेवन की सलाह डॉक्टर उन किशोरों को दे सकते हैं, जिनके यौवनावस्था आने में देरी हो रही हो। ये दवाएं उनमें यौवनावस्था की प्रक्रिया को उत्तेजित करने में मदद कर सकती है। ओरल खुराक के साथ इसके इंजेक्शन, पैच और जेल का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

और पढ़ें :जानें मेल मेनोपॉज क्या है? महिलाओं की तरह पुरुषों में भी होता है मेनोपॉज

इसके साथ ही, आपके डॉक्टर कुछ तरह के खाद्य पदार्थों के सेवन की भी सलाह दे सकते हैं, तो आपके हार्मोन को संतुलित बनाए रखने में आपके शरीर की मदद कर सकते हैं, जिसमें शामिल हो सकते हैंः

हाॅर्मोन संतुलन करने के लिए आहार (Food for Hormonal Imbalance)

डायट का शरीर में होने वाले केवल हॉर्मोनल प्रॉब्ल्म के लिए ही नहीं बल्कि कई बीमारियों का कारण भी खराब डायट हो सकती है। पूरे शरीर में डायट की अहम भूमिका होती है। डायट में प्रोटीन और विटामनि यक्त खानपान

साथ ही, कुछ तरह की स्थितियों में कुछ औषधियों का सेवन भी कर सकते हैं, जैसेः

  • रजोनिवृत्ति के कारण होने वाली गर्म चमक के लिए काला कोहोश (Black Cohosh), डोंग क्वाई (Dong Quai), लाल तिपतिया घास (रेड क्लोवर) (Red Clover) का सेवन कर सकते हैं।
  • मेनोपॉज के चरण के दौरान महिलाओं में होने वाले चिड़चिड़ापन, चिंता और नींद की गड़बड़ी को कम करने के लिए और पुरुषों में स्तंभंन दोष की समस्या को दूर करने के लिए जिनसेंग (Ginseng) का सेवन किया जा सकता है।हालांकि, किसी भी औषधि या आहार का सेवन आपको अपने डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए।
अगर आपका इससे जुड़ा किसी तरह का कोई सवाल है, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Causes of Hormone Imbalance. https://womeninbalance.org/seventh-woman/causes/.
Common signs of a hormonal imbalance. https://patient.info/news-and-features/common-signs-of-a-hormonal-imbalance.
Hormonal Imbalance. https://www.longdom.org/scholarly/hormonal-imbalance-journals-articles-ppts-list-2162.html.
Stress and hormones. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3079864/.
Chronic Hormonal Imbalance and Adipose Redistribution Is Associated with Hypothalamic Neuropathology following

लेखक की तस्वीर badge
Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कल को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x