बच्चों के लिए सुपर फूड खाना क्यों है जरूरी?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट July 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

जब भी स्वास्थ्य संबंधित डाइट या फूड की बात होती है तो उसमें “सुपरफूड” का नाम सबसे पहले लिया जाता है। हालांकि, ऐसा कोई वैज्ञानिक मापदंड नहीं है जो किसी सामान्य खाद्य पदार्थ को सुपरफूड कह सके। लेकिन, जिन खाद्य पदार्थ में एक या एक से ज्यादा महत्वपूर्ण विटामिन या मिनरल उच्च स्तर में पाए जाते हैं तो उन्हें सुपरफूड की श्रेणी में रखा जाता है। आप बच्चों के लिए सुपर फूड में कई तरह के फल और सब्जियां शामिल कर सकते हैं जिससे उन्हें स्वास्थ्य लाभ होगा। आज हम आपको ऐसे ही बच्चों के लिए सुपर फूड बताने जा रहे हैं जो बच्चों के पसंदीदा हैं और उनके स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक हैं।

आपने देखा होगा कि बच्चे जब बाहर जाते हैं तो खाने की ऐसी चीजों की तरफ उनका ध्यान ज्यादा जाता है जो रंग-बिरंगी होती हैं। बच्चों को हेल्दी चीजें खिलाना कठिन होता है। ऐसे में बच्चों के लिए सुपर फूड में गाजर, लाल-पीली शिमला मिर्च, स्ट्रॉबेरीज, एवोकाडो, मटर आदि को शामिल करें। बच्चों को कलरफुल सुपर फूड खिलाने से कई फायदे होते हैं।

बच्चों के लिए सुपर फूड: क्या है ये कलरफुल सुपरफूड?

कलरफुल सुपर फूड ऐसे खाद्य पदार्थ होते हैं जो हमारे शरीर में आहार के जरूरी तत्व जैसे कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और वसा की आपूर्ति के अलावा अन्य काम भी करते हैं। ये शरीर की ऊर्जा और मस्तिष्क की शक्ति को बढ़ाने से लेकर बीमारी की रोकथाम में भी मदद करते है। कई शोध से यह पता चला है कि एक तिहाई कैंसर के मामलों में रोगी वो होते हैं जो सुपर फूड का सेवन नहीं करते। शोधकर्ताओं का अनुमान है कि व्यायाम के साथ-साथ फलों और सब्जियों से भरे आहार का सेवन 30 से 40 प्रतिशत तक कैंसर की घटनाओं को कम कर सकता हैं।

और पढ़ें : क्या आप जानते है शिशुओं के लिए हल्दी के फायदे कितने होते हैं? जाने विस्तार से!

कलरफुल सुपर फूड खाने के फायदे :

सुपर फूड के इतने स्वास्थ्य लाभ का एक बड़ा कारण है उसमें एंटीऑक्सिडेंट की उपस्थिति। सुपरफूड में निम्नलिखित पदार्थों का समूह भी पाया जाता हैं:

एंटीऑक्सिडेंट हमारे शरीर को विभिन्न नुकसान से बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं जो आगे चलकर गंभीर बीमारी, विशेष रूप से हृदय रोग और कैंसर का कारण बन सकते हैं। कई फल और सब्जियां एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर हैं। आप अपने बच्चों को प्रत्येक दिन खाने के लिए कलरफुल सुपरफूड दे सकते हैं। बचपन से ही ऐसे बच्चों के लिए सुपर फूड का सेवन आपके बच्चे की इम्यूनिटी को और भी बेहतर करता है।

और पढ़ें : पिकी ईटर्स के लिए रेसिपी, जो उनको देगीं भरपूर पोषण

कौन से हैं वो कलरफुल सुपर फूड जिसे आप अपने बच्चों को खिला सकते हैं ?

रंगों के आधार पर आप अपने बच्चों के लिए सुपर फूड में ये निम्नलिखित सुपर फूड खिला सकते हैं :

कलरफुल सुपर फूड लाल रंग :

  • बीन
  • चेरी
  • अंगूर
  • अमरूद
  • पपीता
  • बेर
  • रास्पबेरी
  • लाल शिमला मिर्च
  • लाल / गुलाबी अंगूर
  • स्ट्रॉबेरीज
  • टमाटर
  • तरबूज

और पढ़ें : इन फूड्स की वजह से बच्चों को हो सकता है कब्ज, ऐसे करें दूर

नारंगी / पीला रंग :

  • गाजर
  • नींबू
  • आम
  • संतरा
  • कद्दू
  • मीठे आलू

और पढ़ें : बॉडी पार्ट जैसे दिखने वाले फूड, उन्हीं अंगों के लिए होते हैं फायदेमंद भी

हरा रंग :

  • ऐवोकाडो
  • ब्रोकोली
  • स्प्राउट
  • गोभी
  • सलाद
  • मटर
  • पालक

और पढ़ें : बच्चों को सब्जियां खिलाना नहीं है आसान, यूज करें थोड़ी क्रिएटिविटी

गहरा नीला / बैंगनी रंग :

  • बीटरूट
  • ब्लैकबेरी
  • ब्लू बैरीज़
  • बैंगन
  • अंगूर
  • बेर

और पढ़ें :बच्चों के लिए घी : कब और कैसे दें, जानें बच्चों को घी खिलाने के फायदे

सफेद रंग :

  • सेब
  • गोभी
  • मशरूम
  • प्याज
  • आलू

इन 3 सुपर फूड्स से बनेगी बात

बच्चों की सेहत की देखभाल सही तरीके से हो सके। इसके लिए बच्चे के शरीर में उचित पोषक तत्व होने चाहिए। इससे बच्चे का विकास ठीक से होगा। बच्चों के शरीर के उचित विकास के लिए विटामिन और मिनरल्स बहुत आवश्यक होते हैं। सुपर फूड ऐसे ही प्राकृतिक खाद्य पदार्थ होते हैं जिनके सेवन से बच्चों को उचित पोषण मिलता है। आइये जानते हैं बच्चों के लिए सुपर फूड में कौन-कौन से फूड्स शामिल करने चाहिए।

और पढ़ें : बच्चों के लिए फूड प्रोडक्ट खरीदने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

बच्चों के लिए हेल्दी फूड: दूध और दूध से बने खाद्य पदार्थ

दूध में पाए जाने वाले दो मिनरल्स, कैल्शियम और फास्फोरस स्वस्थ हड्डी, नाखूनों और दांत के विकास के लिए जरूरी होते हैं। इसमें विटामिन-डी की भी प्रचुर मात्रा होती है जो हड्डी के स्वास्थ्य के लिए एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है। दूध में विटामिन-बी6, आयोडिन, नियासिन, विटामिन-ए, बी2 (राइबोफ्लैविन), जिंक जैसे कई तत्व भी पाए जाते हैं। ये सारे तत्व बच्चों के विकास के लिए जरूरी आवश्यक है।

बच्चों के लिए हेल्दी फूड:  केला

बच्चों के लिए सुपर फूड के रूप में केले को भी शामिल करें। इसमें पाया जाने वाला विटामिन B6, मैग्निशियम, पोटैशियम, बाओटिन, विटामिन C, विटामिन A, फाइबर होने के साथ ही केला लो-फैट और ग्लूकोज में प्रचुर होता है। तुरंत एनर्जी देने के साथ-साथ डाइजेशन को भी सही रखता है। इसलिए छह महीने से ऊपर के बच्चों के लिए सुपर फूड लिस्ट में केले काे जरूर शामिल करें।

बच्चों के लिए सुपर फूड: अंडे

बच्चों के उचित विकास के लिए अंडे आवश्यक होते हैं क्योंकि इसमें प्रोटीन उच्च मात्रा पाई जाती है। इसमें पाया जाने वाला विटामिन-बी, विटामिन-डी, ओमेगा-3 फैटी एसिड, फॉलेट आदि बच्चे के दिमाग के विकास और उसकी कार्य क्षमता को बढ़ाने के लिए बहुत जरूरी होता है। कहा जा सकता है कि अंडा बच्चे के लिए सुपर फूड का काम करता है।

और पढ़ें :घर में आसानी से बनने वाले बच्चों के लिए हेल्थ ड्रिंक

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

बच्चों को सुपर फूड खिलाने के टिप्स

बच्चों को हेल्दी खाना खिलाना काफी कठिन होता है। ऐसे में पेरेंट्स अक्सर परेशान रहते हैं कि बच्चों को कैसे संतुलित और उचित खाना खिलाया जा सके। नीचे कुछ ऐसे टिप्स बताएं जा रहे हैं जिनको अपनाकर बच्चों को हेल्दी फूड या पौष्टिक भोजन खिलाना आसान हो जाएगा-

  • ध्यान दें बच्चों को खाना खिलाने के कम से कम 30-45 मिनट पहले पानी, दूध या कोई लिक्विड न दें।
  • बच्चों को थोड़ा-थोड़ा करके ही खाना खिलाएं। एक साथ ज्यादा खाने पर जोर न दें।
  • आप चाहते हैं कि बच्चों के लिए सुपर फूड का चुनाव जो आपने किया है उसे बच्चा पूरे इंटरेस्ट के साथ खाए तो बच्चों को खाने-पीने में वैरायटी दें। बार बार एक ही तरह का खाना उसके सामने मत परोसें।
  • खाना परोसते समय कोशिश करें कि उसे प्रेसेंटेबल तरीके से परोसे। क्योंकि जब तक खाना टेम्पटिंग नहीं दिखेगा बच्चा खाना नहीं खाएगा या मन मार कर खाएगा।
  • बच्चों को रंग-बिरंगी चीजें अट्रैक्ट करती हैं। इसलिए, उसे कोई एक फ्रूट काट कर खाने के लिए देने की बजाय अलग-अलग रंगों के तीन से चार फ्रूट्स का सलाद बनाकर दें। फ्रूट सैलड को खूबसूरत दिखाने के लिए उन्हें अलग-अलग शेप और डिजाइन में भी काट सकते हैं।
  • बच्चे अक्सर दूसरे बच्चे को देखकर जंक फूड खाने की जिद्द करते हैं। ऐसे में बच्चों को फास्ट फूड से दूर रखना कठिन हो जाता है। इसके लिए आप कभी-कभी
  • घर में उसी तरह का खाना बनाएं। इससे हाइजीन मेंटेन रहेगा और आप नुट्रिशन का भी ख्याल रख सकती हैं।

आप अपनी सुविधा और बच्चे के टेस्ट के हिसाब से ही बच्चों के लिए सुपर फूड का चयन करें। बच्चों के लिए सुपर फूड से संबंधित अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर का परामर्श जरूर लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

कई लोगों के साथ ओरल सेक्स करने से काफी बढ़ जाता है सिर और गले के कैंसर का खतरा

ह्यूमन पैपीलोमा वायरस (HPV) में रोगी को कान में दर्द, निगलने में परेशानी, आवाज़ बदल जाने या वज़न कम होने जैसे लक्षणों का सामना करना पड़ता है।

के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
सिर और गर्दन का कैंसर, कैंसर February 4, 2021 . 6 मिनट में पढ़ें

बच्चों के लिए विटामिन्स की जरूरत और सप्लीमेंटस के बारे में जानिए जरूरी बातें

बच्चों के लिए विटामिन्स और मिनरल्स किस तरह से उपयोगी हैं? जानें बच्चों के लिए विटामिन सप्लीमेंटस जरूरी हैं या नहीं, Vitamins for kids in Hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
बच्चों का पोषण, पेरेंटिंग February 2, 2021 . 6 मिनट में पढ़ें

दिल के दर्द में दवा नहीं, दुआ की तरह काम करेगा आयुर्वेद!

इस लेख में जानें सायलेंट हार्ट अटैक क्या होता है और कैसे इससे बचा जा सकता है। आयुर्वेद की मदद से जाने सायलेंट हार्ट अटैक का उपचार और सही ट्रीटमेंट।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi

वर्ल्ड वेजीटेरियन डे : ये 10 शाकाहारी खाद्य पदार्थ मीट से कहीं ज्यादा ताकतवर

वेजीटेरियन डायट में आमतौर पर पर्याप्त प्रोटीन और कैल्शियम (डेयरी उत्पादों में पाया जाता है) कम होता है। लेकिन यदि सही तरीके से डाइट प्लान की जाए तो आप आवश्यक पोषक तत्वों को प्राप्त कर सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
आहार और पोषण, पोषण तथ्य September 4, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

बच्चों का स्वास्थ्य (1-3 साल)

जानिए टॉडलर्स और प्रीस्कूलर्स बच्चों के स्वास्थ्य और देखभाल के बारे में

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ February 20, 2021 . 7 मिनट में पढ़ें
cancer remission/ कैंसर रेमिशन क्या होता है

कैंसर रेमिशन (Cancer remission) को ना समझें कैंसर का ठीक होना, जानिए इसके बारे में पूरी जानकारी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ February 17, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
सीटू में सर्वाइकल कार्सिनोमा (Cervical Carcinoma In Situ)

स्टेज-0 सर्वाइकल कार्सिनोमा क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ February 10, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
फाइबर और कोलन कैंसर

क्या कोलन कैंसर को रोकने में फाइबर की कोई भूमिका है?

के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
प्रकाशित हुआ February 5, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें