home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

बच्चे के मानसिक विकास के लिए खिलाएं ये फूड्स

बच्चे के मानसिक विकास के लिए खिलाएं ये फूड्स

सभी पेरेंट्स चाहते हैं कि उनका बच्चा स्वस्थ और तंदुरुस्त रहे। इसके लिए वे कई प्रयत्न करते हैं। बच्चे का सम्पूर्ण विकास होने के लिए बच्चे के मानसिक विकास का होना भी जरुरी है। शारीरिक विकास के लिए बच्चों से एक्सरसाइज करवाई जाती है, लेकिन मानसिक विकास और पोषण पर इतना ध्यान दिया नहीं जाता है। शायद ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वह शारीरिक विकास की तरह प्रत्यक्ष दिखाई नहीं देता। जानिए बच्चे के मानसिक विकास के लिए फूड्स (Foods for child’s mental development) में क्या शामिल किया जा सकता है।

और पढ़ें : खाने में आनाकानी करना हो सकता है बच्चों में ईटिंग डिसऑर्डर का लक्षण

बच्चे के मानसिक विकास के लिए फूड्स (Foods for child’s mental development)

अगर आप चाहते हैं कि बच्चे का मानसिक विकास तेजी से हो,तो आपको उसके खानपान पर ध्यान देना होगा। जानिए बच्चे के मानसिक विकास के लिए फूड्स (Foods for child’s mental development) में क्या शामिल करें।

मानसिक विकास के लिए दूध (Milk for mental development)

बच्चे के मानसिक विकास में दूध को बच्चों के लिए सम्पूर्ण आहार कहा जाता है। क्योंकि दूध में कैल्शियम काफी मात्रा में पाया जाता है जो बच्चों के शारीरिक व मानसिक विकास के लिए जरूरी हैं। दूध पीने से बच्चे की हड्डियां भी मजबूत होती हैं। इसलिए अपने शिशु के सही विकास के लिए उसे दूध व दूध से बनी चीजों का सेवन जरूर करवाएं।

दही हेल्थ को रखता है तंदरुस्त

दही छोटे बच्चों के लिए अमृत के सामान है। इसमें दूध के मुकाबले ज्यादा कैल्शियम होता है और यह आसानी से पच भी जाता है। इसके अलावा दही विटामिन बी और प्रोटीन का एक बड़ा सोर्स है, जो मस्तिष्क के कार्य और विकास में सुधार करता है। उनमें प्रोबायोटिक बैक्टीरिया भी होते हैं जो पाचन में सुधार करते हैं। इसलिए बच्चे के मानसिक विकास के लिए बच्चे को जरूर दही दें।

और पढ़ें : बच्चों को सब्जियां खिलाना नहीं है आसान, यूज करें थोड़ी क्रिएटिविटी

बच्चे के मानसिक विकास के लिए फूड्स में शामिल करें अंडा

बच्चे के मानसिक विकास के लिए अंडा सबसे अच्छा आहार है। अंडा प्रोटीन का एक समृद्ध स्रोत हैं। अंडे में भरपूर मात्रा में कोलीन नामक पोषक तत्व पाया जाता है। कोलीन मस्तिष्क के उचित कार्य और विकास के लिए आवश्यक है। सबसे अच्छी बात यह है कि अंडे का आप अनेक तरीके से सेवन कर सकते है। सैंडविच और सलाद के साथ भी बच्चों को खिला सकते हैं।

हरी सब्जियां (Green vegetables)

बच्चे के मानसिक विकास के लिए फूड्स (Foods for child’s mental development) में हरी सब्जियां जरूर शामिल करें। बच्चों को अक्सर हरी सब्जियां ज्यादा पसंद नहीं होती। सब्जियों का नाम सुनते ही वे नाक-मुंह सिकोड़ने लगते हैं लेकिन बच्चे के मानसिक विकास के लिए हरी सब्जियां जरूरी हैं। सब्जियां विटामिन से भरपूर होती हैं। जो मस्तिष्क के विकास के लिए बेहद जरुरी है। इसलिए ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां अपने शिशु के आहार में शामिल करें।

और पढ़ें : बच्चों के लिए सिंपल बेबी फूड रेसिपी, जिन्हें सरपट खाते हैं टॉडलर्स

बच्चे के मानसिक विकास के लिए फूड्स: हल्दी

हल्दी एक नेचुरल एंटीबायोटिक है। जो बच्चों के इम्यून सिस्टम को स्ट्रॉन्ग बनाती है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी के साथ-साथ एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं। हल्दी में प्राकृतिक रूप से करक्यूमिन नामक तत्व पाया जाता है। यह मस्तिष्क की नसों में होने वाली सूजन से लड़ता है, और बच्चों को अल्जाइमर जैसे रोगों से लड़ने के लिए मजबूत बनाता है। इसलिए बच्चे के मानसिक विकास के लिए आप हल्दी को उसकी डायट में जरूर शामिल करें।

बीन्स और दाल

बीन्स और दालों में कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन की काफी अच्छी मात्रा पायी जाती है। बीन्स बच्चों को कार्बोहाइड्रेट प्रदान करता है, जो ऊर्जा के लिए बहुत जरूरी है। दाल में मौजूद प्रोटीन बच्चों में निरंतर ऊर्जा बनाए रखने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इनके सेवन से बच्चे के स्वास्थ्य और दिमागी क्षमता को बढ़ाने में बहुत मदद मिलती है। इसलिए कहा जाता है कि बच्चे के मानसिक विकास के लिए दाल बहुत जरूरी है।

और पढ़ें : 6 महीने के शिशु को कैसे दें सही भोजन?

बच्चे के मानसिक विकास के लिए फूड्स: स्‍ट्रॉबेरी

इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो कि दिमाग के सोचने की क्षमता को बढ़ाता है। इसके अलावा, ये मौजूद एंटी-ऑक्सिडेंट दिमाग के कार्य करने की क्षमता को भी तेज करता है, जो कि बच्चे के मानसिक विकास के लिए बेहद जरूरी है।

आलूबुखारा (Plum)

स्वाद में खट्टा-मीठा आलूबुखारा गर्मियों में एक मौसमी फल है। आलूबुखारा में बॉडी के लिए आवश्यक पोषक तत्व जैसे मिनरल्स और विटामिन की भरपूर मात्रा में पायी जाती है। इसमें एंटी-ऑक्सिडेंट भी होता है। बच्चे के मानसिक विकास के लिए दिए जाने वाले फूड्स में से एक है।

बच्चे के मानसिक विकास के लिए फूड्स: मसूर की दाल

मसूर की दाल बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद होती है क्योंकि इसमें कई तरह के पोषक तत्व उपलब्ध होते हैं और इसके कई फायदे भी हैं। मसूर की दाल में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती है और यह पाचन तंत्र को मजबूत करने में मदद करता है। मसूर दाल मेटाबॉलिज्म के साथ बच्चे के मानसिक विकास के लिए भी सही होता है। बच्चों के आहार में मसूर की दाल जरूर शामिल होनी चाहिए।

और पढ़ें : क्या आप अपने बच्चे को खिलाते हैं ये कलरफुल सुपरफूड ?

रागी (Ragi)

रागी एक सबसे महत्वपूर्ण और आम आहार है, लेकिन एक सुपर फूड है। जिसे ज्यादातर महिलाएं अपने बच्चों के आहार में जरूर शामिल करती हैं। यह खाने में बहुत ज्यादा स्वादिष्ट होता है। रागी खाने से बढ़ते बच्चों में कैल्शियम की कमी दूर होती है जिससे उनकी हड्डियों को मजबूती बनती है। यह शरीर में शुगर की मात्रा को भी नियंत्रण रखता है। यह बच्चों को मोटापे से भी बचा है। इसमें एंटी-ऑक्सिडेंट के गुण पाए जाते हैं जो बच्चों के लिए अच्छे होते हैं। शारीरिक विकास के साथ यह बच्चे के मानसिक विकास के लिए अच्छा होता है।

बच्चे के मानसिक विकास के लिए फूड्स: ब्लूबेरी

एक रिसर्च के अनुसार कई सब्जियों और फलों की तुलना में नीलबदरी (Blueberry) में एंटीऑक्सीडेंट सबसे अधिक होता है। यही वजह है कि ब्लूबेरी को सुपरफूड भी कहा जाता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लमेटरी तत्व कई तरह की बीमारियों जैसे बढ़ती उम्र में होने वाली परेशानी, ब्रेन से जुड़ी बीमारी जैसे अल्जाइमर, पार्किन्सन (Parkinson), डायबिटीज और हार्ट से संबंधित बीमारियों से रक्षा करने में सहायक है। इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ ही बच्चे के मानसिक विकास के लिए भी फायदेमंद होता है।

साबूत अनाज

साबूत अनाज में विटामिन-बी और मैग्निशियम की मात्रा पाई जाती है। दोनों हड्डियों, त्वचा और मांसपेशियों के लिए जरूरी होते हैं। इसलिए होल ग्रेन को बच्चे के आहार में जरूर शामिल करें। इससे बच्चे की लंबाई तो बढ़ेगी ही, साथ ही उसके मांसपेशियों को मजबूती भी मिलेगी।

बच्चे के मानसिक विकास के लिए फूड्स: सोयाबीन

बच्चे के आहार में सोयाबीन शामिल करें। बच्चे की हाईट बढ़ाने के साथ-साथ बच्चे के हड्डियों और मांसपेशियों की मजबूती देने में इसकी बहुत भूमिका होती है। सोयाबीन साबूत, बड़ी और कूटे हुए टुकड़ों में मिल जाएंगी। जिसकी सब्जी, पुलाव, बिरियानी आदि तरह के व्यंजन बना कर बच्चे को खाने में दें। सोयाबीन में सबसे ज्यादा प्रोटीन पाया जाता है। ये शरीर के विकास में मदद करता है। बच्चे के मानसिक विकास के लिए ये एक सुपर फूड का काम करता है।

मशरूम

बच्चे के मानसिक विकास के लिए फूड्स (Foods for child’s mental development) में मशरूम न भूलें। शायद ही कोई हो जिसे मशरूम न पसंद हो। इसलिए बच्चे को मशरूम से बने व्यंजन खिलाने से उसका इम्यून सिस्टम बढ़ेगा। मशरूम एक बहुत ही पौष्टिक आहार है। साथ ही उसमें एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल गुण भी पाए जाते हैं। मशरूम में सेलेनियम मिनरल पाया जाता है, जो एंटीऑक्सीडेंट का काम करता है। इसलिए अपने बच्चे के इम्यून सिस्टम के लिए उसे मशरूम जरूर खिलाएं।

शुरुआत से ही बच्चों को पौष्टिक आहार दिया जाए तो उनका शारीरिक और मानसिक विकास सही तरीके ढंग से होता है। यहां बताई गई चीजों के अलावा ड्राई फ्रूट्स, सेब, फिश और ओटमील भी बच्चों के लिए पोषक आहार होता है। इनसे उनकी बॉडी में जरूरी पोषक तत्वों की कमी पूरी होती है। इसको भी उनके डायट में शामिल किया जा सकता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

The crucial brain foods all children need https://www.health.harvard.edu/blog/brain-food-children-nutrition-2018012313168 Accessed 30/12/2019

Food for Thought: American Academy of Pediatrics Aims to Ensure Kids Get Key Nutrients for Brain Development During First 1,000 Days of Life https://www.healthychildren.org/English/news/Pages/AAP-aims-to-ensure-kids-get-nutrients-for-brain-development-policy.aspx  Accessed 30/12/2019

Brain foods: the effects of nutrients on brain function. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2805706/. Accessed on 7 September, 2020.

Children’s diet – fruit and vegetables. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/childrens-diet-fruit-and-vegetables. Accessed on 7 September, 2020.

Childhood Nutrition Facts. https://www.cdc.gov/healthyschools/nutrition/facts.htm. Accessed on 7 September, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Aamir Khan द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड