बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट के बारे में यह जानकारी है महत्वपूर्ण

    बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट के बारे में यह जानकारी है महत्वपूर्ण

    डायरिया और उल्टी की कंडिशन को स्टमक फ्लू कहा जाता है। यह लक्षण आमतौर पर गैस्ट्रोएंटेराइटिस के कारण नजर आते हैं। गैस्ट्रोएंटेराइटिस की स्थिति में रोगी के पेट और इंटेस्टाइन में समस्या होती है और वो इंफ्लेमड हो जाते हैं। गैस्ट्रोएंटेराइटिस का कारण वायरल या बैक्टीरियल इंफेक्शन को माना जाता है। यानी, बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस की समस्या तब होती है, जब बैक्टीरिया पेट और इंटेस्टाइन में इंफेक्शन का कारण बनते हैं। लोग इस परेशानी को फूड पॉइजनिंग भी कहते हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट (Bacterial Gastroenteritis Treatment) के बारे में बात करने वाले हैं। किंतु, बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट (Bacterial Gastroenteritis Treatment) से पहले बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस (Bacterial Gastroenteritis) के बारे में जान लेते हैं।

    बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस क्या है? (Bacterial Gastroenteritis)

    जैसा नाम से ही पता चल रहा है, यह बैक्टीरिया के कारण होने वाली समस्या है। बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस (Bacterial Gastroenteritis) की समस्या सामान्यतया ऐसे दूषित भोजन या पानी का सेवन करने से होती है, जिनमें बैक्टीरिया या अन्य टॉक्सिन होते हैं। इस समस्या से कई लक्षण नजर आ सकते हैं। लेकिन ,इसका उपचार भी संभव है। इस रोग के लक्षण उस बैक्टीरिया के प्रकार पर निर्भर करते हैं, जो इस बीमारी का कारण बनते हैं। सभी तरह की फूड पॉइजनिंग, डायरिया का कारण बन सकती है। इस बीमारी के अन्य लक्षण इस प्रकार हैं:

    जैसा की पहले ही बताया गया है कि बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट (Bacterial Gastroenteritis Treatment) संभव है। लेकिन इससे पहले इसके कारणों के बारे में जानना भी आवश्यक है। जानिए क्या हैं बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस के कारण?

    और पढ़ें: कैसे शरीर को प्रभावित करता है बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस?

    बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस के कारण (Causes of Bacterial Gastroenteritis)

    बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस (Bacterial Gastroenteritis) की परेशानी उस एक व्यक्ति या लोगों के ग्रुप को प्रभावित कर सकती हैं, जिन्होंने दूषित भोजन का सेवन किया है या पानी पिया है। यह समस्या अक्सर किसी पिकनिक, लार्ज गैदरिंग या रेस्टॉरेंट्स आदि में भोजन के बाद होती है। हमारा भोजन कई तरह से इंफेक्टेड हो सकता है, जैसे:

    • मीट या पोल्ट्री बैक्टीरिया के कांटेक्ट में आ सकते हैं, जब एनिमल्स को प्रोसेस्ड किया जाता है।
    • पानी जो उगाने या शिपिंग के दौरान उपयोग किया जाता है, उसमें एनिमल या ह्यूमन वेस्ट हो सकता है। इससे वो दूषित हो सकता है और इस रोग की वजह बन सकता है
    • ग्रोसरी स्टोर, रेस्टोरेंट्स या घर में इम्प्रॉपर फूड हैंडलिंग या प्रिपरेशन के कारण भी यह समस्या हो सकती है।

    और पढ़ें: अच्छे पाचन से लेकर हेल्दी लिवर तक, गन्ने का रस देता है कई स्वास्थ्यवर्धक फायदे!

    इसके अलावा फूड पॉइजनिंग अक्सर इन वजहों से भी हो सकती है:

    • ऐसे लोगों द्वारा फूड तैयार करना, जिन्होंने अपने हाथों को न धोया हो।
    • भोजन को गंदे बर्तनों, कटिंग बोर्ड या अन्य टूल्स की मदद से तैयार करना।
    • डेयरी प्रोडक्ट या अन्य चीजों को लम्बे समय तक रेफ्रिजरेट में रखने के बाद इस्तेमाल करना।
    • फ्रोजन और रेफ्रिजरेटेड फूड, जिसे सही तापमान में अच्छे से स्टोर न किया या हो या सही से रिहीट न किया गया हो।
    • कच्चे फलों या सब्जियों का सेवन करना, जिन्हे अच्छे से न धोया गया हो।
    • अधपके मीट या अंडों का सेवन।

    बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट (Bacterial Gastroenteritis Treatment) से पहले यह जानकारी होना भी जरूरी है कि कौन से बैक्टीरिया इस समस्या का कारण बन सकते हैं। कई तरह के बैक्टीरिया, बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस (Bacterial Gastroenteritis) के कारण बन सकते हैं, जिनमें कुछ इस प्रकार हैं:

    • कैंपाइलोबेक्टर जेजुनी (Campylobacter jejuni)
    • इ. कोलाई (E. coli)
    • साल्मोनेला (Salmonella)
    • शिगेला (Shigella)
    • स्टैफिलोकॉकस (Staphylococcus)

    बैक्टीरिया के प्रकार के अनुसार रोगी के इस रोग के अलग लक्षण नजर आ सकते हैं। अब जानते हैं बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट(Bacterial Gastroenteritis Treatment) के बारे में विस्तार से।

    बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट (Bacterial Gastroenteritis Treatment )
    बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट (Bacterial Gastroenteritis Treatment )

    और पढ़ें: प्रोटीन का पाचन और अवशोषण शरीर में कैसे होता है? जानें प्रोटीन की कमी को दूर करना क्यों है जरूरी

    बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट कैसे संभव है?(Bacterial Gastroenteritis Treatment)

    बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट (Bacterial Gastroenteritis Treatment) का अर्थ है रोगी का हायड्रेटेड रहना और इसके जोखिमों से बचना। इसके साथ ही रोगी के लिए अधिकतर न्यूट्रिएंट जैसे सोडियम और पोटैशियम आदि को लूज न करना भी जरूरी है। हमारे शरीर के लिए इन न्यूट्रिएंट्स की खास मात्रा में जरूरत होती है, ताकि हमारा शरीर सही से काम कर सके। किसी गंभीर मामले में बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट (Bacterial Gastroenteritis Treatment) के लिए अस्पताल में एडमिट करना पड़ सकता है। यही नहीं, उसे इंट्रावेनसली फ्लूइड या साल्ट्स भी दिए जा सकते हैं। बहुत अधिक गंभीर मामलों में रोगी को एंटीबायोटिक्स देने की सलाह दी जा सकती है। लेकिन, माइल्ड केसेस में होम रेमेडीज से ही इस बीमारी का इलाज संभव है। आइए जानें इन होम रेमेडीज के बारे में।

    और पढ़ें: बच्चों में डायजेस्टिव प्रॉब्लम्स के कारण सिर्फ एक नहीं

    बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट में होम रेमेडीज (Home remedies)

    जैसा की पहले ही बताया गया है कि अगर किसी व्यक्ति में बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस माइल्ड है, तो उसका उपचार होम रेमेडीज से किया जा सकता है। इसके लिए इन चीजों की सलाह दी जाती है:

    • रोगी जितना अधिक हो सके, उतना अधिक पानी पिएं। खासतौर पर अगर उसे डायरिया की समस्या है।
    • रोगी कम मात्रा में और समय पर भोजन करें और अपने आहार में कुछ नमकीन चीजों को शामिल करें।
    • पोटैशियम युक्त आहार और ड्रिंक्स का सेवन करें जैसे फ्रूट जूस, केला आदि।
    • रोगी अधिक से अधिक आराम करें और स्थिति गंभीर होने पर डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।

    इन चीजों और अपने खानपान का ध्यान रख कर आपको घर पर ही शरीर में इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस को सही बनाए रखने और डायरिया के उपचार में मदद मिल सकती है। इसके साथ ही इस कंडिशन में डायरिया होने पर डेयरी प्रोडक्ट्स, फल या हाय फाइबर फूड्स आदि का सेवन करने से बचें, ताकि डायरिया की बदतर स्थिति से बचा जा सके। बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट (Bacterial Gastroenteritis Treatment) में वो ओवर-द-काउंटर मेडिकेशन्स भी काम आ सकती हैं, जो स्टमक एसिड को न्युट्रलायज कर सकें। इस समस्या के अन्य लक्षणों जैसे जी मिचलाना, पेट दर्द में कुछ अन्य दवाइयों की सलाह भी डॉक्टर रोगी को दे सकते हैं। ताकि, इंफेक्शन के कारण होने वाली दर्द या अन्य समस्याओं से राहत मिल सके।

    हालांकि, इन ओवर-द-काउंटर ट्रीटमेंट्स का इस्तेमाल तभी करें, जब डॉक्टर ने इनकी सलाह दी हो। इस स्थिति में कोई भी गंभीर लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। यह तो थी बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट (Bacterial Gastroenteritis Treatment) के बारे में जानकारी। लेकिन, कुछ आसान तरीकों को अपना कर आप इस समस्या से बच सकते हैं। अब जानते हैं इससे बचाव के बारे में।

    और पढ़ें: डायजेस्टिव हेल्थ से हैं परेशान, तो अपनाएं इस लो FODMAP डायट को

    बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस से कैसे बचें? (Prevention of Bacterial Gastroenteritis)

    अगर आप बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस (Bacterial Gastroenteritis) की समस्या से बचना चाहते हैं, तो आपको कुछ सावधानियों को बरतना चाहिए ताकि बैक्टीरिया ट्रांसमिट न हों। यह तरीके इस प्रकार हैं:

    • टॉयलेट के इस्तेमाल के बाद और खाना खाने से पहले अपने हाथों को अच्छे से धोएं।
    • अगर आपको यह समस्या है या जिसको भी यह रोग है, वो दूसरों के लिए तब तक खाना बनाने से बचें, जब तक उनके लक्षण सुधर न जाएं।
    • इस बीमारी के दौरान अन्य लोगों के क्लोज कांटेक्ट में आने से भी बचें। ताकि यह रोग न फैले।
    • इस इंफेक्शन से बचने के लिए आप अनपाश्चराइज्ड दूध, कच्चे मीट या अंडे आदि का सेवन न करें। इसके साथ ही साफ-सफाई का खास ध्यान रखें।
    • अगर आप अपने भोजन को अधिक समय के लिए स्टोर कर रहे हैं, तो ध्यान रखें इन्हें बहुत अधिक गर्म या ठंडे तापमान पर ही स्टोर करें।
    • अगर आप किसी अन्य जगह या देश की यात्रा कर रहे हैं तो बॉटल्ड वॉटर का ही इस्तेमाल करें और डॉक्टर की सलाह के अनुसार वैक्सीनेशन अवश्य कराएं।

    और पढ़ें: टॉप डायजेस्टिव एंजाइम्स : यह एंजाइम्स निभाएं पाचन से जुड़ी परेशानियों को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका

    उम्मीद है कि आपको बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट (Bacterial Gastroenteritis Treatment) के बारे में यह जानकारी पसंद आई होगी। बैक्टीरिया के कारण होने वाली इस समस्या का उपचार आप घर पर ही कर सकते हैं। इसके लिए साफ-सफाई और अपने खानपान का ध्यान रखना जरूरी है। लेकिन, अगर इसके लक्षण बदतर हो, तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें। आपके मन में बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट (Bacterial Gastroenteritis Treatment) के बारे में कोई भी सवाल या शंका है ,तो अपने डॉक्टर से इस बारे में अवश्य जानें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Bacterial Gastroenteritis. https://www.hopkinsmedicine.org/health/conditions-and-diseases/bacterial-gastroenteritis .Accessed on 16/1/22

    Guideline for the Antibiotic Use in Acute Gastroenteritis. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6609748/ .Accessed on 16/1/22

    Bacterial gastroenteritis. https://medlineplus.gov/ency/article/000254.htm .Accessed on 16/1/22

    Medications for Gastroenteritis. https://www.drugs.com/condition/gastroenteritis.html .Accessed on 16/1/22

    infectious gastroenteritis. https://www.cdc.gov/nceh/vsp/pub/faq/faq.htm .Accessed on 16/1/22

    Gastroenteritis. https://www.mayoclinic.org/first-aid/first-aid-gastroenteritis/basics/art-20056595

    .Accessed on 16/1/22

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 19/01/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड