home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्या प्रेग्नेंसी के अंतिम दिनों में सेक्स से लेबर पेन शुरू हो सकता है?

क्या प्रेग्नेंसी के अंतिम दिनों में सेक्स से लेबर पेन शुरू हो सकता है?

सेक्स और लेबर पेन (Sex and labor pain) को लेकर कई तरह की थ्योरी है, लेकिन इस संबंध में बहुत अधिक साइंटिफिक रिसर्च नहीं हुए हैं। बहुत से लोगों को लगता है कि प्रेग्नेंसी के अंतिम सप्ताह में सेक्स से लेबर पेन शुरू हो सकता है और जल्दी लेबर शुरू करने का यह एक अच्छा तरीका है। हालांकि एक्सपर्ट्स इस बात से पूरी तरह सहमत नहीं है। आइए जानते हैं क्या है सेक्स और लेबर पेन (Sex and labor pain) में कनेक्शन? कुछ लोग सेक्स और लेबर पेन (Sex and labor pain) में गहरा संबंध मानते हैं। इसके पीछे कुछ तर्क है जैसे ऑर्गेज्म गर्भाशय को उत्तेजित करता है और इस दौरान ऑक्सीटोसिन हार्मोन रिलीज होता है जो लेबर के लिए संकुचन बढ़ाता है। साथ ही स्पर्म सर्विक्स की ओपनिंग को मुलायम करके लेबर को आसान बनाते हैं। हालांकि, सेक्स और लेबर पेन (Sex and labour pain) के संबंध का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है। मगर प्रेग्नेंसी के अंतिम दिनों तक सेक्स करने में कोई परेशानी नहीं है जब तक डॉक्टर इससे परहेज करने को न कहें। यहां तक कि सब ठीक होने पर लेबर शुरू होने के पहले यानी जब तक वॉटर ब्रेक न हो तब तक सेक्स किया जा सकता है।

क्या ऑर्गेज्म से लेबर पेन शुरू हो सकता है? (Orgasm induce labor)

एक थ्योरी के मुताबिक, सेक्स लेबर पेन में मदद कर सकता है, लेकिन माता-पिता बनने वाले कपल्स को यह समझना होगा कि इस बात का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है बस कुछ थ्योरी ही है। जानिए ऐसी ही कुछ थ्योरी (Theories) के बारे में-

  • सेक्स के दौरान होने वाला ऑर्गेज्म (Orgasm) गर्भाशय (Uterus) को उत्तेजित करके उसके काम में तेजी लाता है।
  • सेक्स से ऑक्सीटोसिन हार्मोन का स्राव शुरू हो सकता है, यह हार्मोन संकुचन (Contractions) में मदद करता है।
  • सीमेन (Semen) गर्भाशय की गर्दन को सॉफ्ट करने और जब लेबर शुरू होता है तो उसे खोलने के लिए पूरी तरह से तैयार रहता है। सीमेन (Semen) में हाई प्रोस्टाग्लैंडीन (Prostaglandins) होता है। यह एक तरह का केमिकल है जो मांसपेशियों को रिलैक्स करता है।
ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

और पढ़ें- फर्टिलिटी को करना है बूस्ट, तो ये बेस्ट फर्टिलिटी सप्लिमेंट्स कर सकते हैं मदद

क्या लेबर पेन शुरू करने के लिए सेक्स सुरक्षित है?

हालांकि सेक्स और लेबर पेन (Sex and labor pain) के संबंध में बहुत कम अध्ययन या रिसर्च हुआ है, लेकिन विशेषज्ञों के मुताबिक, जब तक वॉटर ब्रेक (waters break) न हो तब तक प्रेग्नेंसी में सेक्स किया जा सकता है, लेकिन वॉटर ब्रेक (waters break) होने के बाद सेक्स करना सुरक्षित नहीं है, क्योंकि इससे संक्रमण का खतरा रहता है। साथ ही यदि आपका प्लेसेंटा (low-lying placenta ) नीचे है या आपको वजायनल ब्लीडिंग (vaginal bleeding) की समस्या है।

सेक्स से कब लेबर शुरू हो सकता है?

शोधकर्ताओं के मुताबिक, सामान्य, बिना किसी जटिलता वाली प्रेग्नेंसी में सेक्स और ऑर्गेज्म लेबर को ट्रिगर नहीं करता है जब तक कि प्रेग्नेंसी के पूरे हफ्ते पूरे न हो गए हों या ड्यू डेट निकल गई हो।

क्या प्रेग्नेंसी के अंतिम हफ्ते में सेक्स करना जोखिम भरा है? (Risk of having sex in the last weeks of pregnancy)

क्या आप इस बात को लेकर चिंतित है कि प्रेग्नेंसी के अंतिम हफ्तों में सेक्स से क्या लेबर जल्दी शुरू हो सकता है? तो आपको बता दें कि विशेषज्ञों का मानना है कि ऑर्गेज्म (orgasm) के बाद होने वाला संकुचन (contractions) लेबर का संकेत नहीं होता है, जब तक कि आपका शरीर इसके लिए तैयार हो। यदि आपको किसी कारण से प्रेग्नेंसी में सेक्स से मना किया गया है जैसे प्रीटर्म लेबर (Preterm labor), प्लेसेंटा की समस्या (Placenta problem) आदि, तो इस बारे में डॉक्टर आपको पहले ही सलाह दे सकते हैं। फिर भी यदि अंतिम हफ्ते में आपको सेक्स की इच्छा होती है और डॉक्टर आपको इस बात के लिए ग्रीन सिग्नल देते हैं तो आप बिना किसी चिंता के सेक्स का आनंद ले सकते हैं।

क्या लेबर पेन शुरू करने के लिए कोई बेस्ट सेक्स पोजीशन है? (Best sex position to get labor started)

सेक्स और लेबर पेन (Sex and labor pain) के संबंधों में रिसर्च की कमी है, इसलिए यह नहीं कहा जा सकता है कि लेबर पेन शुरू करने के लिए कौन-सी सेक्स पोजीशन (which sex positions) बेस्ट है।

हालांकि यदि सब सामान्य है तो आप इस दौरान सेक्स एंजॉय कर सकते हैं और जिस भी पोजीशन में सहज महसूस करें अंतरंग पलों का आनंद ले सकते हैं। आमतौर पर प्रेग्नेंसी में ये सेक्स पोजीशन सुरक्षित मानी जाती है- सेक्स फ्रॉम बिहाइंड, सीटेड प्रेग्नेंसी सेक्स, वुमन ऑन टॉप, स्टैंडिंग पोजीशन, रिवर्स काउगर्ल, स्पूनिंग पोजीशन , काउगर्ल पोजीशन। इस दौरान फोरप्ले और निप्पल स्टिम्यूलेशन (nipple stimulation) भी कर सकते हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक, निप्पल स्टिम्यूलेशन (nipple stimulation) से लेबर शुरू होने में मदद मिलती है।

और पढ़ें- पेनफुल इंटरकोर्स से राहत दिला सकता है लुब्रिकेंट्स का उपयोग, जानें आपके लिए कौन सा है बेस्ट?

लेबर शुरू करने के कुदरती तरीके कितने कारगर है? (Natural Ways to Induce Labor)

आपने भी बहुत सी महिलाओं के मुंह से सुना होगा कि प्रेग्नेंसी के अंतिम हफ्ते में घी पीने या पाइनेप्प्ल खाने से लेबर जल्दी शुरू हो जाता है, लेकिन इन कुदरती तरीकों में कितनी सच्चाई है? आइए, जानते हैं।

कैस्टर ऑयल (Castor oil)

बहुत से लोगों का मानना है कि कैस्टर ऑयल पीने से प्रेग्नेंसी के अंतिम दिनों में लेबर जल्दी शुरू करने में मदद मिलती है, क्योंकि कैस्टर ऑयल लैक्सेटिव (laxative) होता है जो गर्भाशय में संकुचन पैदा करता है। हालांकि डॉक्टर्स का मानना है कि कैस्टर ऑयल पीने से लेबर तो नहीं होता, मगर डायरिया जरूर हो सकता है। कई अध्ययन से भी यह साबित हुआ है कि कैस्टर ऑयल का सेवन करने वाली महिलाओं में लेबर ऐसा न करने वाली महिलाओं की तुलना में जल्दी शुरू नहीं हुआ है।

एक्सरसाइज (Exercise)

कुछ लोगों को लगता है गर्भावस्था (Pregnancy) के अंतिम दिनों में ज्यादा एक्सरसाइज करने से लेबर पेन जल्दी शुरू हो सकता है, हालांकि डॉक्टर्स इसकी सलाह नहीं देते हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान (During pregnancy) हमेशा सामान्य एक्सरसाइज की ही सलाह दी जाती है। जहां तक लेबर का सवाल है तो अभी तक ऐसी किसी एक्सरसाइज के बारे में पता नहीं चलता है जिससे जल्दी लेबर शुरू हो जाए।

एक्यूपंक्चर और प्रेशर (Acupuncture or pressure)

सामान्य अध्ययन में इस बात के कोई सबूत नहीं मिलत हैं कि एक्यूपंक्चर या प्रेशर जैसे मसाज करने से लेबर जल्दी शुरू होता है। इसलिए डॉक्टर आपको कभी ऐसी कोई सलाह नहीं देते हैं।

पाइनेप्पल (Pineapple)

पाइनेप्पल में ब्रोमलेन (bromelain) नामक एंजाइम्स होता है, जो सर्विक्स को मुलायम बनाकर संकुचन पैदा करता है। एक पाइनेप्पल में ब्रोमलेन (bromelain) की मात्रा बहुत कम होती है इसलिए आपको ढेर सारे पाइनेप्पल खाने होंगे और जाहिर सी बात है कि यह आपके पेट के लिए अच्छा नहीं होगा। वैसे भी इस थ्योरी को सही साबित करने के लिए कोई प्रमाण नहीं है। हालांकि आप थोड़ी मात्रा में इस फल का आनंद ले सकते हैं, लेकिन ज्यादा खाने से हार्टबर्न हो सकता है।

डेट्स (Dates)

कुछ लोग डेट्स खाने की सलाह देते हैं, उनके अनुसार ड्यू डेट के कुछ हफ्ते पहले से ही खजूर (dates) खाने से गर्भाशय (cervix) का मुंह खुलने में आसानी होती है। हालांकि, इस बात का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है।

और पढ़ें-क्या आप जानते हैं सेक्शुअल रिस्पॉन्स साइकल के बारे में?

हर्बल रेमेडीज (Herbal remedies)

रास्पबेरी लीफ टी और इवनिंग प्राइमरोज ऑयल के बारे में कहा जाजता है कि यह गर्भाशय को लेबर के लिए तैयार करता है। हालांकि इस संबंध में हुए कुछ अध्ययन इसे सही नहीं मानते हैं। इसलिए गर्भावस्था के दौरान डॉक्टर इन चीजों के इस्तेमाल से परहेज की सलाह देते हैं।

निप्पल स्टीम्यूलेशन (Nipple stimulation)

निप्पल स्टीम्यूलेशन (Nipple stimulation) से ऑक्सिटोसीन (oxytocin) हार्मोन का स्राव होता है। जिससे गर्भाशय का संकुचन होता है और फिर सामान्य गर्भाशय का आकार (जिसे “इनवोल्यूशन” कहा जाता है) लौट आता है। यही वजह है कि बोतल से दूध पिलाने वाली महिलाओं की तुलना में ब्रेस्टफीड कराने वाली महिलाओं में थोड़े समय के लिए बहुत अधिक ब्लीडिंग होती है। प्रेग्नेंसी के दौरान निप्पल स्टीम्यूलेशन गर्भाशय में संकुचन होता है, लेकिन यह लेबर जल्दी शुरू करने में मदद नहीं करता है। इतना ही नहीं यह संकुचन को लंबा खींच सकता है जो भ्रूण के लिए हानिकारक हो सकात है।

मसालेदार खाना (Spicy food)

भले ही कुछ लोग आपको जल्दी लेबर के लिए खूब मिर्च-मसाले वाला खाना खाने के लिए कहे, लेकिन आंख मूंदकर उनकी बातों पर यकीन न करें, क्योंकि यह आपका डाइजेशन सिस्टम को बिगाड़ सकता है। और कैस्टर ऑयल की तरह ही यह सचमुच लेबर शुरू करने में मदद नहीं करता है। इतना ही नहीं मसालेदार भोजन (Spicy food) से आपको हार्टबर्न (heartburn) की समस्या हो सकती है।

लेबर पेन शुरू होने के लक्षण (Labor pain symptoms)

कई महिलाओं इस बात को लेकर परेशान रहती हैं कि उन्हें कैसे पता चलेगा कि लेबर पेन शुरू हो गया है, क्योंकि प्रेग्नेंसी के अंतिम दिनों में गर्भाशय में कई बार संकुचन होता है, लेकिन यह संकुचन लेबर पेन का संकेत हो जरूरी नहीं। आमतौर पर गर्भावस्था के 37वें हफ्ते से 40वें हफ्ते के बीच कभी भी लेबर पेन शुरू हो सकता है। यदि किसी महिला को 40वें हफ्ते के बाद भी डिलीवरी नहीं होती है तो आर्टिफिशियल तरीक से लेबर पेन शुरू कराके डिलिवरी कराई जाती है जिसे इंड्यूस लेबर (Induced labor) कहा जाता है। लेबर पेन के कुछ संकेतों में शामिल है-

बच्चे का नीचे आना- डिलीवरी (Delivery) का टाइम पास आने पर बच्चा गर्भ में निचले हिस्से में मौजूद पेल्विक एरिया (Pelvic area) की ओर खिसकने लगता है। इससे आपको पेट और सीने में हल्का महसूस होगा। ऐसा लेबर पेन शुरू होने के कुछ देर पहले हो सकता है।

तेज संकुचन होना- यदि आपको गर्भाशय (Cervix) में तेज संकुचन (Contraction) हो रहा है और यह लगातार होता रहता है तो समझ लीजिए कि डिलीवरी जल्द होने वाली है। संकुचन लेबर पेन शुरू होने का संकेत है। इसमें शुरुआत में धीरे और फिर तेजी से संकुचन होने लगता है। वैसे प्रेग्नेंट महिलाओं को लेबर पेन (Labor pain) शुरू होने से कुछ दिनों पहले भी संकुचन भी महसूस हो सकता है, जिसे प्रोड्रोमल लेबर कहा जाता है। हालांकि यह संकुचन (Contraction) कुछ समय के लिए होता है और फिर ठीक हो जाता है। इसे फॉल्स लेबर पेन (Falls labor pain) कहा जाता है।

और पढ़ें- ट्राइकोमोनिएसिस टेस्ट के नेगेटिव रिजल्ट के बारे में ये जानकारी जरूर पढ़ें!

पीठ दर्द व पेल्विक पर दबाव – जब बच्चा नीचे आ जाता है तो आपको पेल्विक (Pelvic) के हिस्से में लगातार प्रेशर महसूस होगा और पेल्विक लिगामेंट (Pelvic ligament) में खिंचाव की वजह से पीठ में लगाकर दर्द होगा।

वॉटर ब्रेक होना- यदि वजायना (Vagina) से पानी जैसा तरल लगातार बाहर आने लगे तो इसका मतलब है कि एमनियोटिक थैली (Amniotic fluid) फट गई है। ऐसा होने पर समझ लीजिए कि डिलीवरी का समय नजदीक है और आपको तुरंत अस्पताल जाने की जरूरत है।

बार-बार पेशाब आना- डिलीवरी का समय (Delivery) नजदीक आने पर पेल्विक पर प्रेशर पड़ता है जिससे आपको आपको बार-बार पेशाब (Urine) जाना पड़ता है। यदि हर 10 मिनट में बाथरूम की ओर भागती हैं, तो समझ लीजिए कि आपके बच्चे के आने का समय करीब है।

सेक्स और लेबर पेन (Sex and labor pain) के संबंधों के बारे में भले ही स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कहा जा सकता है, लेकिन जब तक प्रेग्नेंसी में कोई समस्या न हो और डॉक्टर मना न करें, तो कपल्स अंतिम सप्ताह तक सेक्स एंजॉय कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Toshini Rathod द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/09/2021 को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड