न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट टिप्स, आ सकती हैं काम

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 27, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

न्यू मॉम बनना जहां एक ओर खुशी लाता है, वही दूसरी ओर मां के लिए चैलेंज लेकर भी आता है। मेरे लिए मां बनना और फिर से अपने काम (जॉब) को शुरू करना बेहद कठिन रहा है। ये बात सच है कि न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट टिप्स की जानकारी न होने पर दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। अगर सब कुछ पहले से प्लान किया जाए और परिस्थितियां अपने पक्ष में हो तो काम आसान लगने लगता है। बच्चे को संभालना, घर की जिम्मेदारी और वर्कलोड, इन सभी को पूरी तरह से बिना समस्या के निपटाना मुश्किल होता है। इस आर्टिकल के माध्यम से न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट टिप्स की जानकारी आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है।

यह भी पढ़ें : बच्चे का वैक्सिनेशन, जानें कब और कौन सा वैक्सीन है जरूरी?

समय की कीमत समझें

न्यू मॉम को बहुत कुछ फेस करना पड़ता है। एक वर्किंग मां को बच्चे की देखभाल के साथ ही ऑफिस की ट्रेनिंग, पोषण का ध्यान, हाइड्रेशन, रिकवरी, स्ट्रेंथ ट्रेनिंग, बॉडी हीलिंग, अपने पति के साथ समय बिताना, दोस्त और परिवार के लोगों को समय देना, बिजनेस डीलिंग, स्पॉन्सर ड्यूटी और अच्छी नींद के लिए मेहनत करना होता है। बाकी सब के साथ ही न्यू मॉम के पास भी दिन में तय घंटे ही होते हैं। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट करना बहुत जरूरी होता है।

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट ऑर्गनाइजेशन के साथ आगे बढ़ने की चाहत को पूरा कर सकता है। अगर एक मां टाइम को ठीक से मैनेज नहीं कर पाएगी तो उसके लिए घर और बाहर की जिम्मेदारी निभा पाना मुश्किल हो जाएगा। समय की कीमत को समझना और फिर उस पर मेहनत करने से उचित परिणाम मिल सकते हैं। अगर समय पर जरूरी काम नहीं किया बाकी बचे हुए काम भी प्रभावित होते हैं और जरूरी काम करने का समय नहीं मिल पाता है।

उद्देश्य का होना है जरूरी

आपने सुना होगा की टाइम को फालतू मत गंवाओ। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट में ये बात बहुत मायने रखती है।  न्यू मॉम के पास चीजों को करने के लिए ज्यादा टाइम की जरूरत होती है। जैसे कि बच्चे को फीड कराना, बच्चे के लिए खाना तैयार करना आदि। अगर आप टाइम को मैनेज करके सब काम करती हैं तो रात में पति के साथ बैठ कर एक घंटे का शो देख सकती है। सोशल मीडिया के युग में हो सकता है कि आपका बहुत सा समय कट जाता हो। सोशल मीडिया से दूर रहकर आप अपना कीमती समय जरूरी कामों में लगा सकती हैं। महत्वपूर्ण कामों को करने की लिस्ट बनाएं। अपने ओवरऑल गोल को पूरा करने के लिए न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट बहुत जरूरी हो जाता है।

यह भी पढ़ें : गर्भनाल की सफाई से लेकर शिशु को उठाने के सही तरीके तक जरूरी हैं ये बातें, न करें इग्नोर

शेड्यूलिंग है जरूरी

मैं चाहती हूं कि हफ्ते में रोजाना एक टाइम मैं बच्चे को अपने हाथ से खाना खिलाऊं। मेरे लिए ये तब बहुत मुश्किल हो जाता है जब मैं काम में व्यस्त होती हूं। सारे कामों की शेड्यूलिंग करने के बाद मेरे लिए काम आसान हो जाता है। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट के साथ ही जरूरी कामों को शेड्यूल करना भी बहुत जरूरी होता है।

वर्किंग मॉम के लिए काम के दौरान बच्चों की देखभाल करना भी महत्वपूर्ण मुद्दा हो सकता है। इसके लिए बेबी के सोने की टाइमिंग और अपने काम की शेड्यूलिंग करना बहुत जरूरी है। जब बच्चा सो रहा होता है तो मां को काम करने के लिए आसानी से समय मिल जाता है। हो सकता है कि रोजाना टाइमटेबल के अनुसार चलना आपको परेशान कर दें, लेकिन कुछ समय बाद आपको इसकी आदत हो जाएगी। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट करके किसी भी काम को करना आधी परेशानियों को दूर कर सकता है।

काम के दौरान धैर्य बनाएं रखें

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट के दौरान एक और समस्या आती है, जो कि टाइट शेड्यूल की वजह से होती है। दिन में हर घंटे में कोई न कोई काम करना जरूरी होता है। ऐसे में मां बहुत ज्यादा थक जाती है। हो सकता है कि परेशान भी हो जाए। ऐसे समय में 10 मिनट का रिलैक्स लेकर लंबी सांस खींचे और फिर बाहर की ओर सांस छोड़े। आपको बहुत आराम मिलेगा और आसपास से नकारात्मक ऊर्जा भी चली जाएगी। काम के दौरान धैर्य बनाए रखना बहुत जरूरी है। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट के साथ ही खुद को इमोशनल तौर पर संभालना भी जरूरी होता है।

यह भी पढ़ें: कभी आपने अपने बच्चे की जीभ के नीचे देखा? कहीं वो ऐसी तो नहीं?

जीवन की प्राथमिकता क्या है ?

आपके जीवन का प्राथमिकता क्या है ? बच्चे की अच्छी देखभाल, फैमिली के लिए हेल्दी फूड और पति के साथ क्वालिटी टाइम, बेहतरीन करियर। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट के तहत इन्हीं बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है। फेसबुक में आने वाले नोटिफिकेशन, बिना जान पहचान के लोगों की शादी का न्यौता स्वीकार करना, सोशल मीडिया में फालतू का समय बिताना आदि न्यू मॉम की प्राथमिकता नहीं होनी चाहिए।

न्यू मॉम को अपनी प्रियॉरिटी को सेट करना बहुत जरूरी होता है। ऐसा न करने से समय कब गुजर जाएगा, पता ही नहीं चेलेगा। समय बर्बाद होने से प्राथमिकता वाले काम अधूरे रह सकते हैं। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट का पाठ अच्छी तरह याद कर लेना बेहद जरूरी है तभी वह घर और ऑफिस से तालमेल मिलाकर चल पाएगी।

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट पार्टनर भी करेगा

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट का काम सिर्फ महिला के लिए ही महत्वपूर्ण नहीं है। पार्टनर के लिए भी इसमें हिस्सा लेना जरूरी है। अगर कपल वर्किंग है तो दोनों के लिए साथ में टाइम मैनेज करना बहुत जरूरी है। कठिन समय में पार्टनर का साथ काम आसान कर देता है। दोनों लोगों को अपने काम के अनुसार बच्चे के लिए भी टाइम सुनिश्चित कर लेना चाहिए। हो सके तो आप पार्टनर के ऑफिस टाइम के पहले या बाद में अपने काम का समय तय कर सकती हैं। ऐसा करने से दोनों लोगों को सुविधा होगी। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट में अगर पार्टनर का साथ मिल जाए तो मुश्किलें हल हो जाती हैं।

यह भी पढ़ें : शिशु की मालिश से हो सकते हैं इतने फायदे, जान लें इसका सही तरीका

बढ़ा दें ऑनलाइन डिपेंडेंसी

न्यू मॉम को एक साथ कई सारे काम मैनेज करने पड़ते हैं। ऐसे में बहुत से काम होते हैं जो अधिक समय लेते हैं। हो सकता है कि आपको प्रेग्नेंसी के पहले सारा जरूरी सामान शॉप जाकर ही खरीदना पसंद हो। अब इस आदत को बदलना सही रहेगा। बच्चे के लिए जरूरी सामान से लेकर रोजाना यूज होने वाले सामान की लिस्ट बनाएं। ये सभी जरूरी सामान ऑनलाइन ही परचेज करें।

ऐसा करने से आपका बहुत सा समय बच जाएगा। अगर घर के काम को करने में समस्या आ रही हो तो ऐसे में मेड रखना उचित रहेगा। सभी कामों को एक साथ करने की कोशिश न करें। उन कामों को प्राथमिकता की लिस्ट में आगे रखें जो बहुत जरूरी है। बाकी काम को वीकेंड के लिए छोड़ा जा सकता है। काम से ब्रेक लेकर घूमने जाना भी बेहतरीन ऑप्शन है। इससे आपका मूड कुछ ही समय में फ्रेश हो जाएगा।

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट करना बहुत जरूरी होता है। अगर पार्टनर के साथ मिलकर काम किया जाए तो चीजों को मैनेज करने में समय नहीं लगता है। आप इसके लिए किसी जानकार की मदद भी लें सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

और पढ़ें

इन 5 ऑयल्स से करें शिशु की मसाज, मिलेंगे बेहतर रिजल्ट

प्रसव के बाद फिट रहने के लिए फॉलो करें ये 5 Tips

शिशुओं में विटामिन डी कमी से हो सकते हैं ये खतरनाक परिणाम

मां का ऑफिस जाना बच्चे को दिला सकता है सफलता, जानें कैसे?

बच्चे को कैसे और कब करें दूध से सॉलिड फूड पर शिफ्ट

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

संबंधित लेख:

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    मैटरनिटी लीव एक्ट के बारे में अगर जानते हैं आप तो खेलें क्विज

    मैटरनिटी लीव क्विज के माध्यम से आप मैटरनिटी के जरूरी सवालों का जवाब दे सकते हैं। जानिए मातृत्व अवकाश से संबंधित जरूरी प्रश्न..... maternity leave quiz

    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    क्विज अगस्त 24, 2020 . 2 मिनट में पढ़ें

    गर्भावस्था में खाएं सूरजमुखी के बीज और पाएं ढेरों लाभ

    सूरजमुखी के बीज के लाभ, सूरजमुखी के बीज को गर्भावस्था में खाना सुरक्षित है या नहीं पाएं इस बारे में पूरी जानकारी, Sunflower Seed Pregnancy Benefits in hindi

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Anu sharma
    प्रेग्नेंसी स्टेजेस, प्रेग्नेंसी अगस्त 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    बाल अनुकूल अवकाश गंतव्य की प्लानिंग कर रहे हैं जो इन जगहों का बनाए प्लान

    बाल अनुकूल अवकाश गंतव्य की प्लानिंग कर रहे हैं तो जानें कौन कौन सी जगहों पर जा सकते हैं। बच्चों की पसंद और ना पसंद के हिसाब से करें डेस्टिनेशन प्लान।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Satish singh
    पेरेंटिंग टिप्स, पेरेंटिंग अगस्त 13, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

    गर्भावस्था में आप अखरोट खा सकती हैं या नहीं ?

    गर्भावस्था के दौरान अखरोट खाने के लाभ , गर्भावस्था के दौरान अखरोट खाना गर्भ में पल रहे शिशु के लिए क्या फायदेमंद है, Benefit of walnut during pregnancy.

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Anu sharma
    प्रेग्नेंसी स्टेजेस, प्रेग्नेंसी अगस्त 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    Recommended for you

    ट्विंस प्रेग्नेंसी क्विज, twins

    क्विज : क्या जुड़वा बच्चे या ट्विंस होने के कई कारण हो सकते हैं ?

    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    प्रकाशित हुआ अक्टूबर 31, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
    प्रेग्नेंसी में वैक्सिनेशन क्विज,pregnancy me vaccines

    प्रेग्नेंसी में टीकाकरण की क्यों होती है जरूरत ?

    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    प्रकाशित हुआ अक्टूबर 31, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
    बेबी किक,baby kick

    क्विज : बच्चा गर्भ में लात (बेबी किक) क्यों मारता है ?

    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    प्रकाशित हुआ अक्टूबर 30, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
    गर्भावस्था के दौरान चीज खाना चाहिए या नहीं जानिए

    क्या गर्भावस्था के दौरान चीज का सेवन करना सुरक्षित है?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Anu sharma
    प्रकाशित हुआ अगस्त 27, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें