home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

बुजुर्ग यात्री ध्यान में रखें ये टिप्स, जिससे ट्रेवलिंग होगी आसान

बुजुर्ग यात्री ध्यान में रखें ये टिप्स, जिससे ट्रेवलिंग होगी आसान

बुजुर्ग होने का यह मतलब नहीं कि आप घूमना फिरना या लंबी यात्रा करना बंद कर दें। घूमने के लिए कोई उम्र नहीं होती है। उम्र का न सोचते हुए आपके अंदर घूमने को लेकर जोश होना चाहिए। हर किसी के पास घूमने फिरने की जगहों की लिस्ट होती है। हां, ये जरूर है कि ढलती उम्र के साथ-साथ यात्राओं में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। फिर चाहे वो शारीरिक समस्याएं हों, या सुरक्षा को लेकर डर हो। लेकिन यहीं वो समय है जब आपके पास न तो कोई काम की टेंशन होती है। यह समय सिर्फ आपका होता है और आप कहीं भी आराम से घूमने के लिए निकल सकते हैं। बड़ी उम्र में घूमने जाना किसी चुनौती से कम नहीं है लेकिन यहां दिए गए कुछ टिप्स की मदद से वृद्धास्था में भी यात्रा को बेहद आसान बनाया जा सकता है।

बुजुर्ग यात्रियों की यात्रा को आसान बनाने में मदद करेंगे ये टिप्स:

सबसे पहले बीमा करवाएं

यात्रा बीमा वृद्ध ही नहीं किसी भी उम्र के लोगों के लिए महत्वपूर्ण है। हालांकि, बुजुर्गों यात्री जिन्हें चोट पहुंचने या शारीरिक हानि का ज्यादा जोखिम होता है, उनहें भी बीमा करवाना बेहद जरूरी है। ऐसे में आपको यात्रा के दौरान किसी भी शारीरिक या स्वास्थ्य समस्या होने पर तुरंत जरूरी मदद मिल जाती है और आपकी यात्रा भी प्रभावित नहीं होगी।

मुंबई के सचिन ट्रेवल के ओनर, सचिन कहते हैं, “विदेशी यात्रा करना कठिन नहीं होता है। आपको उस स्थान की जानकारी न होने पर भी आपको ऐसी जगह काफी सहायता मिलती है। बीमा में आमतौर पर खर्च आता है, लेकिन इस बात की गारंटी होती है की अगर आपके साथ कुछ गलत हो जाए तो उस हानि को कवर किया जाएगा।

और पढ़ें : बच्चों और बुजुर्गों को दिवाली पर होने वाले प्रदूषण से ऐसें बचाएं

आप होटल से कब आ जा रहे हैं किसी से न कहें

यात्री मानते हैं कि होटल का स्थान सुरक्षित है, लेकिन सच्चाई यह है कि बुरे इरादे वाले लोग ज्यादातर होटलों को टारगेट करते हैं। कुछ असामाजिक तत्व होटलों के आसपास भटकते हैं और वृद्धों को अपना सॉफ्ट टारगेट रखते हैं। कई बार होटालों के आसपास लूटपाट या चोरी की घटनाएं सामने आती रही हैं। ऐसे में अपनी यात्रा के प्लान या आने-जाने के समया का जिक्र किसी से न करें।

खानपान का रखें ध्यान

जब भी आप यात्रा करते हैं तो आपको उस जगह का व्यंजन चखने का मौका मिलता है। घर से दूर रहते हुए डायट का पालन करना आसान नहीं होता, लेकिन ऐसा करने से दुष्प्रभाव हो सकते हैं। तो अपने खाने के तथ्यों का पालन करने की कोशिश करें। कई बार बाहरी खानपान आपकी दवाओं के असर को कम कर देता या उससे रिएक्शन हो सकते हैं। ऐसे में यात्रा के दौरान संतुलित आहार लें और जितना हो सके घर का बना ही अपने साथ लेकर जाएं।

और पढ़ें : स्टडी : PTSD के साथ ही बुजुर्गों में रेयर स्लीप डिसऑर्डर के मामलों में इजाफा

दवाइयां साथ रखें

वरिष्ठ यात्रियों को अपनी दवाओं का ध्यान रखने की आवश्यकता है। दवाइयों को चेक किए गए सामान में पैक न करें, उन्हें अलग से सुरक्षित जगह पैक करें, जिससे आकस्मिक परिस्थिति में आसानी से मिल जाए। दवाइयों को अपने होटल के कमरे में खुले में न रखें। हमेशा यह सुनिश्चित करें कि आप एक अतिरिक्त दिन या दो दिनों तक चलने के लिए पर्याप्त दवा साथ ले जा रहे हैं।

आपके द्वारा ली जाने वाली किसी भी आवश्यक दवा के नाम उनकी खुराक के साथ एक कागज पे लिखकर रखें। जिससे जरूरत पड़ने पर आप उन्हें नजदीकी डॉक्टर से ले सकते हैं।

महंगी ज्वैलरी/सामान न ले जाएं

अच्छे गहने, सोने की घड़ियां और महंगे कैमरे जैसी वस्तुओं को ले जाने से बचें। चोरों की नजरें अक्सर बुजुर्ग या कमजारे दिखने वाले लोगों पर होती है।

खुद का ख्याल रखें

पूरे दिन चलने और सैर करने के लिए आरामदायक जूते पहनें। फ्लैट जूते आपके पैरों को स्थिर रखने में मदद करेंगे। इसके अलावा लंबी सैर के बाद पर्याप्त आराम करना न भूलें।

82 वर्षीय वनती को घूमने का बहुत शौक है। वह हर साल तीन से चार ट्रिप के लिए जरूर जाती हैं। हमने उनसे बात कर यह जानने की कोशिश की कि ट्रैवलिंग के दौरान उन्हें किस तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही वो क्या बातें हैं जिन्हें वह घूमने जाने वालों को ध्यान रखने के लिए कहेंगी। आइए जानते हैं वनती द्वारा दिए गए टिप्स के बारे में…

वनती बताती हैं- किसी भी यात्रा पर जाने से पहले उसकी ठीक तरीके से प्लानिंग करना बेहद जरूरी है। इसके लिए सबसे पहले अपने परिवार में किसी को टिकट रिसर्वेशन की जिम्मेदारी दें। इससे आपके परिवार के पास भी यह जानकारी होगी कि आप किस ट्रेन या फ्लाइट में जा रहे हैं। साथ ही जब वह टिकट बुक करेंगे तो उसमें अपनी डिटेल्स भी भर पाएंगे। दूसरी बात जिसका आपको ध्यान रखना है वो है समय। आप कभी भी देर रात या सुबह सुबह ट्रैवल न करें। ऐसा इसलिए बुजुर्गों में अब उतनी हिम्मत नहीं होती है कि वो जल्दी सुबह की जर्नी करें या देर रात। हमेशा सुबह या दिन की बुकिंग्स करें, जिसमें उन्हें किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

अपनी दवाओं को साथ ले जाना न भूलें। ऐसा सिर्फ बुजुर्गों ही नहीं सभी के लिए जरूरी है। हमेशा अपनी जरूरी दवाओं को अपने हैंडबैग में कैरी करें। इसके अलावा एयरपोर्ट और स्टेशन पर व्हील चेयर के लिए निवेदन करें। आप भले ही चल पा रहे हो लेकिन ऐसा करने से आपको ज्यादा थकान नहीं होगी। अपनी एनर्जी को बाकी के ट्रिप के लिए संभाल कर रखें। अपने साथ कोई भारी बैग न लेकर जाएं। अपने बैग को हल्का से हल्का रखने की कोशिश करें। इसके अलावा उन्हें कहीं भी कुछ भी नहीं खाना चाहिए। बढ़ती उम्र में डायजेस्टिव सिस्टम बहुत सेंसिटिव हो जाता है। इसलिए कुछ भी खाने से बचें। हल्का और हेल्दी खाने की कोशिश करें।

आखिर में वनती ने एक सुझाव यह दिया कि जिस भी जगह पर घूमने जाने का प्लान करें वहां का वहां के हालात, मौसम इत्यादि की पूरी जानकारी ले लें। इससे आपको बाद में किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। आप जहां जा रहे हैं वहां के बारे में हर जानकारी जुटा लें। इससे आप अपने ट्रिप को यादगार बना सकते हैं।

न करें जल्दबाजी, परिजनों के साथ एक्सपर्ट की लें सलाह

यात्रा पर निकलने के लिए बुजुर्गों को जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए, उन्हें परिजनों के साथ एक्सपर्ट की सलाह लेनी चाहिए। यहां तक कि डॉक्टरों की सलाह भी लेनी चाहिए ताकि समय पर दवा आदि का सेवन कर सकें और उन्हें किसी प्रकार की समस्या न हो। बल्कि बाहर वो इंज्वाय कर सकें। यात्रा के समय बुजुर्गों को अपनी सेहत का ख्याल रखने के साथ अपने पार्टनर का भी पूरा ख्याल रखा होता है, ऐसे में यदि वो जाए तो किसी को जरूर बताकर जाए ताकि वो समय समय पर अपडेट लेता रहे और जरूरत पड़ने पर मदद कर सके।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Managing tremor in elderly people https://www.gmjournal.co.uk/managing-tremor-in-older-people Accessed on 12 December, 2019

Tremor in the Elderly: Essential and Aging-Related Tremor https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4779797/Accessed on 12 December, 2019

Are You Bound to Get Shaky Hands as You Age? https://health.clevelandclinic.org/are-you-bound-to-get-shaky-ands-as-you-age/ Accessed on 12 December, 2019

Essential Tremor https://www.healthline.com/health/essential-tremor Accessed on 12 December, 2019

The Brain and Essential Tremor https://www.webmd.com/brain/essential-tremor-basics#1 Accessed on 12 December, 2019

Are Signs of Old Age Really Something More Serious? https://www.webmd.com/healthy-aging/news/20110831/normal-aging-or-a-blockage-in-the-brain#1 Accessed on 12 December, 2019

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Shilpa Khopade द्वारा लिखित
अपडेटेड 11/09/2019
x