home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय अपनाएं और रहें एक्टिव

बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय अपनाएं और रहें एक्टिव

उम्र बढ़ते ही बुजुर्गों में काम करने की इच्छा धीरे-धीरे कम होने लगती है। उनके शारीरिक बल के साथ ही उनका मानसिक बल भी धीरे-धीरे घटने लगता है। जिससे वे अकेलापन और उदासी महसूस करने लगते हैं। ऐसे में बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय अपनाने चाहिए। बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय से आप उन्हें प्रोऐक्टिवली हेल्दी रहने के लिए प्रोत्साहित कर सकते हैं। नहीं तो बुजुर्गो में डिप्रेशन जिसे अवसाद कहते है, बढ़ने की आशंका अधिक हो सकती है। आज कल बुजुर्गों को व्यस्त रखने के लिए बहुत से तरीके हैं, जो उन्हें इस उदासी से बचने में मदद करती है।

क्यों जरूरी है बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय

देखभाल करने वालों के लिए यह एक बढ़िया विचार है कि वे घर पर मौजूद वृद्ध लोगों के साथ एक्टिव रहकर उन्हें हेल्दी और एक्टिव बना सकते हैं। समय के साथ-साथ घटती ताकत व अन्य शारीरिक दुर्बलता जीवन को नीरस बना सकती हैं। ऐसे में बुजुर्गों के बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय उनके जीवन को और रोमांचक बना सकते हैं।

जानिए बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय

हम अपने पूरे जीवन में कई परिवर्तनाें से गुजरते रहते हैं। लेकिन यह महत्वपूर्ण है कि हम जीवन में जागरुकता और सक्रियता विकसित करें। इस तरह, हम चुनौतियों और अवसरों का आनंद ले सकते हैं। वृद्धों को विशेष चुनौतियों को स्वीकार और उनका सामना करना पड़ता है, इस कारण उतना ही वे उनके सामने वास्तविक अवसरों को पहचानने में भी सक्षम होंगे।

यह भी पढ़े: बुजुर्गों के लिए योगासन, जो उन्हें रखेंगे फिट एंड फाइन

अलगाव होने पर सामाजीकरण को प्राथमिकता दें

सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक वरिष्ठ नागरिकों का अलगाव है – चाहे वे अकेले रहते हों या वे एक समुदाय में रहते हों, लेकिन अपने अनुभवों और जीवन में बदलाव के साथ संपर्क से बाहर महसूस करते हैं। और अलगाव शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक जटिलताओं को प्रभावित कर सकता है। बुजुर्गों के लिए प्रो-एक्टिव टिप्स में शामिल हैं कुछ विविध सुझाव:

  • अलगाव का मुकाबला करने के लिए एक अच्छी सकारात्मक दृष्टिकोण का उपयोग करें।
  • स्थानीय सामाजिक समूहों का पता लगाएं जो रुचि पे आधारित और इंटरैक्टिव हों।
  • उनके साथ सेलिब्रेशन करें
  • जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में स्वस्थ आदतों को प्रोत्साहित करने के कुछ उपयोगी तरीके यहां दिए गए हैं:
  • वरिष्ठ पोषण और भोजन तैयार करने के नए दृष्टिकोण पर विचार करें।
  • स्मृति और मानसिक स्वास्थ्य के लिए अधिक मस्तिष्क खाद्य पदार्थों को शामिल करें।
  • अच्छे स्वस्थ का अनुभव और स्मृति के लिए कुछ व्यायाम करें।
  • इंद्रियों का विस्तार करने के लिए रचनात्मक तरीके खोजें।
  • अवसाद जैसी कठिन चुनौतियों से सावधान रहें।
  • सक्रिय रहें।

यह भी पढ़ें: क्या बढ़ती उम्र में होने वाली ये बीमारी है आम ?

अगर आप एक सक्रिय जीवन शैली के अभ्यास से जुड़ा हुआ महसूस नहीं करते तो फिर से जुड़ने के लिए अतिरिक्त चुनौतीपूर्ण महसूस कर सकते हैं। लेकिन ऐसा करने के लिए बहुत सारे मजेदार तरीके हैं। बहुत सारे सेवानिवृत्त वयस्क अपने पूरे जीवन के दौरानखुद को अधिक खाली समय के साथ पाते हैं, इस समय को भरने का एक शानदार तरीका है, रोमांचक शारीरिक गतिविधि। और यह एक बार में इन सभी पांच स्वस्थ रहने की युक्तियों को पूरा करने में मदद करता है। बुजुर्गों के लिए प्रो-एक्टिव टिप्स में शामिल हैं:

  • संगीत के साथ फिटनेस,
  • तैराकी और पानी एरोबिक्स को कम प्रभाव वाले व्यायाम
  • माइंडफुलनेस और सौम्य मूवमेंट के लिए कुर्सी योग का अभ्यास
  • एक बड़े वयस्क को समूह फिटनेस कक्षाओं में शामिल होने में मदद।

बुजुर्गों के लिए प्रो-एक्टिव टिप्स में शामिल हैं:

  • अपनी जीवन कहानी कहने और लिखने का अभ्यास करें।
  • ताज़े भोजन और फूलों के लिए स्थानीय बागवानी का पता लगाएं, और इसे एक देखभाल करने वाले और एक साथ काम करने वाले वरिष्ठ के साथ मिलकर करें।
  • क्लास लें और नया इंस्ट्रूमेंट सीखें।
  • एक मानसिक कसरत के लिए वीडियो गेम खेलें
  • देखभाल करने वाला एक वृद्ध वयस्क की स्वस्थ जीवन शैली के साथ कैसे मदद कर सकता है

अगर आप किसी प्रियजन की देखभाल करने वाले हैं, तो आप उन्हें उनके द्वारा किए गए परिवर्तनों को स्वीकार करने और समाधान और रणनीतियों की तलाश करने के लिए प्रोत्साहित करके एक महत्वपूर्ण भूमिका भर सकते हैं जो उन्हें एक उज्ज्वल और संपन्न जीवन जीने में मदद करेगा।

यह भी पढ़ेंः कैसे प्लान करें अपने लिए एक हेल्दी और हैप्पी रिटायरमेंट?

बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय के साथ ही डायट पर भी ध्यान दें

बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय अगर अपना रहे हैं, तो साथ ही आपको उनके खाने-पीने का समय भी फिक्स करना चाहिए। ताकि, उनके शरीर को समय-समय पर उचित मात्रा में एनर्जी मिलती रहे।

संतुलित भोजन खिलाएं

सबसे पहले उनके भोजन पर ध्यान दें। उन्हें हमेशा संतुलित भोजन ही खिलाएं। भोजन ऐसा हो जो आसानी से पच सके। एक बार में पेट भर कर खाना खाने की बजाय उन्हें थोड़ी-थोड़ी मात्रा में करके कुछ अंतराल पर भोजन खिलाएं। आप उनके खाने के लिए नीचे दिए गए टाइम टेबल को भी फॉलो कर सकते हैंः

सुबह का नाश्ता

प्रात: 7.30 से 8.30 बजे के बीच। निम्र में से कोई एक या दो चीज मौसमी फल, अंकुरित अनाज, मलाई निकला हुआ दूध, दलिया या खिचड़ी।

दोपहर का भोजन

दिन के 12 से 1 बजे के बीच। हरी सब्जियों या टमाटर का सूप, सलाद जैसे ककड़ी, खीरा, टमाटर, मूली, गाजर, चुकंदर आदि खाने के आधे घंटे पहले दें। हरी सब्जी उबली हुई या पकाई हुई, चोकर सहित आटे की एक या दो रोटी के साथ दिन में एक बार दही।

शाम का भोजन

शाम के 6 से 7 बजे के बीच। पतली दाल दें, साथ ही, दाल कम ही प्रयोग करें। पकाई या उबली हुई सब्जी, चोकर सहित आटे की एक या दो रोटी।

[mc4wp_form id=”183492″]

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें:-

बुजुर्ग यात्री ध्यान में रखें ये टिप्स, जिससे ट्रेवलिंग होगी आसान

8 ऐसी बातें जो वृद्धावस्था से पहले जान लेनी चाहिए

जानिए 60 की उम्र के बाद भी कैसे कायम रखें सेक्स

सनडाउन सिंड्रोम (Sundown Syndrome) क्या है ?

बुजुर्गों में डिहाइड्रेशन होने पर करें ये उपाय

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

The Senior’s Guide to Staying Healthy Year-Round. https://www.healthline.com/health/flu/seniors-guide-to-staying-healthy. Accessed on 24 April, 2020.

ten healthy eating tips seniors. https://womhealth.org.au/healthy-lifestyle/ten-healthy-eating-tips-seniors. Accessed on 24 April, 2020.

Healthy Aging in Action. https://www.cdc.gov/aging/pdf/healthy-aging-in-action508.pdf. Accessed on 24 April, 2020.

[Proactive and structured care for the elderly in primary care]. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/23494688. Accessed on 24 April, 2020.

Seniors’ health. https://www.healthdirect.gov.au/seniors-health. Accessed on 24 April, 2020.

लेखक की तस्वीर
Shilpa Khopade द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 06/01/2021 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड