स्टेमिना बढ़ाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

Medically reviewed by | By

Update Date मई 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

कई बार ऐसा होता है कि हम थोड़ा सा काम करते हुए बहुत थक जाते हैं। हालांकि, इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं जैसे आपका बीमार होना। लेकिन, अगर रोजाना ऐसा हो तो इसका अर्थ है कि आपका स्टेमिना कम है। स्टेमिना के कम होने से आपके शरीर के साथ-साथ दिमाग पर भी असर पड़ता है। स्टेमिना वो स्ट्रेंथ है, जिससे आप लम्बे समय तक अपने रोजाना के शारीरिक और मानसिक कार्य कर पाते हैं। इसके लिए लोग प्रोटीन शेक और एनर्जी बार का सहारा लेते हैं। किंतु, आज हम आपको स्टेमिना बढ़ाने के उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं। जानिए स्टेमिना कैसे बढ़ाएं।

इसे पढ़ें: पुरुषों का सेक्स स्टेमिना बढ़ाने के लिए बेस्ट हैं ये ड्रिंक्स

स्टेमिना बढ़ाने के घरेलू उपाय

नाश्ता जरूर करें

अपने दिन की शुरुआत स्वस्थ तरीके से करें। आपको भी यह जानकारी होगी कि नाश्ता दिन का मुख्य भोजन होता है। इससे शरीर का मेटाबोलिज्म बढ़ता है। इसलिए अपने नाश्ते को कभी भी न छोड़ें। यही नहीं, फल, ओट्स, अंडो आदि को अपने नाश्ते का हिस्सा बना लें। इससे आपके आहार में अच्छी कैलोरी शामिल होंगी और आपकी एनर्जी व स्टेमिना दोनों बढ़ेंगे।

स्टेमिना बढ़ाने के लिए शरीर में पानी की कमी न होने दें 

शरीर में एनर्जी के कम होने का एक कारण डिहाइड्रेशन भी है। इसलिए रोजाना तरल पदार्थों या पानी को पर्याप्त मात्रा में पीना बहुत आवश्यक है। सुबह उठ कर गर्म पानी पीने से भी मेटाबोलिज्म बढ़ता है और पाचन क्रिया सुधरती है। चुकंदर का जूस भी स्टेमिना बढ़ाने में सहायक है।

नींद पूरी करें – स्टेमिना बढ़ाने में नींद है महत्वपूर्ण

हर मनुष्य के लिए सात से आठ घंटे सोना बेहद आवश्यक है। इससे दिमागी और शारीरिक परफॉरमेंस बढ़ती है। अगर आपको अच्छी नींद नहीं आती, तो दिन में कुछ समय ध्यान या योग करें। इससे आपको चिंता और दिमागी थकावट से छुटकारा मिलेगा। शाम को जल्दी और हल्का खाना खाएं ताकि वो अच्छे से पच जाए और आपको अच्छी नींद आये।

इसे पढ़ें: खाएं हेल्दी ब्रेकफास्ट जिससे मिले पूरे दिन एनर्जी

स्टेमिना बढ़ाने के उपाय में एक्सरसाइज है महत्वपूर्ण

एक्सरसाइज व्यक्ति का शारीरिक और मानसिक स्टेमिना बढ़ाने में मददगार होती है। जो लोग नियमित रूप से एक्सरसाइज करते हैं वो शारीरिक और दिमागी काम के दौरान स्वयं को ज्यादा ऊर्जावान महसूस करते हैं। ट्रेडमिल पर चलना, स्विमिंग, साइकिलिंग या एरोबिक्स आदि स्टेमिना बढ़ने में सहायक है। यही नहीं,इससे सहन-शक्ति, स्ट्रेंथ और फ्लेक्सिबिलिटी भी बढ़ती है जो उम्र के बढ़ने के साथ कमजोर होती जाती है। जो लोग दिमागी और शारीरिक रूप से कमजोर महसूस करते हैं तो रोजाना एक्सरसाइज करें। ध्यान और योग करना भी रिलैक्स करने और तनाव दूर करने का अच्छा तरीका है और इससे शारीरिक व मानसिक स्टेमिना भी बढ़ता है

संगीत सुनें

यह बात प्रमाणित हो चुकी है कि संगीत मनुष्य के मूड को सुधारने में फायदेमंद है। यही नहीं, ऐसा भी पाया गया है कि जो लोग एक्सरसाइज के दौरान संगीत सुनते हैं उनका हार्टरेट उन लोगों से कम होता है जो ऐसा नहीं करते हैं। इससे स्टेमिना भी बढ़ता है। 

स्टेमिना बढ़ाने के उपाय को अपनाने से पहले धूम्रपान छोड़ दें

धूम्रपान का प्रभाव हमारे शरीर की मानसिक और शारीरिक क्षमता और ऊर्जा पर पड़ता है।  इसलिए अगर आप स्टेमिना को बढ़ाना चाहते हैं तो धूम्रपान करना छोड़ दें। हेअल्दी लाइफस्टाइल अपनाने और पौष्टिक आहार खाने से भी हम अपने स्टेमिना को बढ़ा सकते हैं।

इसे पढ़ें: जानिए, संतुलित आहार स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करता है

संतुलित आहार लें

आपका स्टेमिना आपके आहार पर भी निर्भर करता है। आप क्या खा रहे हैं और क्या नहीं, इस बात का खास ध्यान रखें। आपके भोजन से आपके शरीर को अच्छी ऊर्जा प्राप्त होती है। दिन में चार और पांच बार थोड़ी-थोड़ी मात्रा में खाना खाएं।

कैफीन का सेवन

कैफीन के दिल पर स्टिमुलेटिंग प्रभाव के कारण इसके सवाब से अस्थायी रूप से एनर्जी बढ़ती है। इससे हमारे शरीर की शारीरिक गतिविधियों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। हालांकि आप चाहे कॉफी लें या चाय, इसका सेवन संतुलित मात्रा में ही करें। इसके साथ ही अधिक चीनी या फैट्स वाले पेय पदार्थों का सेवन करने से बचे।

कार्बोहाइड्रेट्स लें

अपने आहार में कार्बोहाइड्रेट्स को अवश्य शामिल करें जैसे शकरकंदी, ब्राउन ब्रेड आदि। इनसे हमारे शरीर को शुगर और स्टार्च प्राप्त होता है, जिससे शरीर को एनर्जी मिलती है और स्टेमिना बढ़ता है। इससे आप पूरा दिन एनर्जी से भरपूर महसूस करते हैं। 

स्टेमिना बढ़ाने के घरेलू नुस्खे

कुछ घरेलू नुस्खे भी हैं जिनसे स्टेमिना बढ़ने में मदद मिल सकती है जैसे :

स्टेमिना बढ़ाने के लिए अश्वगंधा है गुणकारी

अश्वगंधा एक हर्बल सप्लिमेंट है, जो स्टेमिना बढ़ाने का सबसे बेहतरीन घरेलू नुस्खों में से एक है। यही नहीं, यह इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मददगार है। हालांकि, इसे किस मात्रा में लेना है, यह जानने के लिए डॉक्टर से सलाह कर लें।

यह भी पढ़ें : कान का मैल निकालना चाहते हैं तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

स्टेमिना बढ़ाने के उपाय – ग्रीन टी

स्टेमिना और एनर्जी को बढ़ाने के लिए ग्रीन टी लाभदायक है। ग्रीन टी में पॉलीफेनोल्स होते हैं, जो थकावट और तनाव से लड़ने में भी मदद करते हैं। इसके साथ ही, सही नींद के लिए भी यह सहायक है।

स्टेमिना बढ़ाने के उपाय – नारियल का तेल

अपने आहार में नारियल तेल आवश्यक शामिल करें। यह पचने में आसान होता है और स्टेमिना बढ़ाने में भी यह लाभदायक है। 

स्टेमिना बढ़ाने के उपाय – हल्दी

हल्दी में एक केमिकल कंपाउंड होता है, जिसे करक्यूमिन कहा जाता है। इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण शरीर को थकावट से छुटकारा दिलाने में सहायक होते हैं। हल्दी को अपने आहार में शामिल करें इससे आपको एनर्जी प्राप्त होगी और स्टेमिना बढ़ेगा। इसे आप खाने या दूध में डाल कर ग्रहण कर सकते हैं।

स्टेमिना बढ़ाने के उपाय – केले

यह स्टेमिना बढ़ाने का बेहतरीन तरीका है। केले में मौजूद कार्बोहाइड्रेट्स शरीर में से कुछ खास हार्मोन्स को निकालने में मददगार होते हैं। यही नहीं इससे एनर्जी भी बढ़ती है।

स्टेमिना बढ़ाने के उपाय – अंडे

अंडे प्रोटीन और कैल्शियम का अच्छा स्त्रोत हैं। अगर आपको मसल्स बनाने हैं तो अपने आहार में अंडों को अवश्य शामिल करें। स्टेमिना बढ़ाने में भी यह मददगार हैं। रोजाना एक अंडा खाने से आप फिट और ऊर्जावान महसूस करेंगे।

उम्मीद है आपको स्टेमिना बढ़ाने के उपाय पसंद आएंगे। अगर आपको भी कम स्टेमिना की समस्या है, तो इन उपायों को अपना सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी मेडिकल एडवाइज, निदान या उपचार की सलाह खुद से नहीं देता।

और पढ़ें: 

जानें शरीर को डिटॉक्स करने के घरेलू उपाय

डाइजेशन खराब है तो न हों परेशान, अपनाएं ये घरेलू उपाय

सेक्स पॉवर बढ़ाने के लिए क्या करें ?

खरबों गंध (स्मैल) को पहचानने की ताकत रखती है हमारी नाक, जानें शरीर से जुड़े ऐसे ही रोचक तथ्य

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

REM sleep behavior disorder : रैपिड आई मूवमेंट स्लीप बिहेवियर डिसऑर्डर

रैपिड आई मूवमेंट(REM) स्लीप बिहेवियर डिसऑर्डर एक नींद की बीमारी है, जिसमें हम शारीरिक रूप से अप्रिय सपने या दुःस्वप्न में तेज आवाज़,बाते करना, या शारीरिक गत

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Siddharth Srivastav
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

स्वस्थ जीवन शैली के लाभ के लिए ऑफिस डायट ख्याल रखना है बेहद जरूरी, फॉलों करें ये टिप्स

स्वस्थ जीवन शैली के लाभ के लिए ऑफिस डायट को इग्नोर न करें, बल्कि उसे हेल्दी बनाएं। अगर आप रोजाना ऑफिस में हेल्दी फूड खाएंगे तो हमेशा एनर्जेटिक फील करेंगे

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Bhawana Awasthi
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन अप्रैल 14, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

क्या प्रेग्नेंसी में रोना गर्भ में पल रहे शिशु के लिए हो सकता है खतरनाक?

क्या प्रेग्नेंसी में रोना गर्भ में पल रहे शिशु के मानसिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है? प्रेगनेंसी में रोना डिप्रेशन का संकेत तो नहीं?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Nidhi Sinha
प्रेग्नेंसी स्टेजेस, प्रेग्नेंसी अप्रैल 13, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें

बच्चों के लिए नुकसानदायक फूड, जो भूल कर भी उन्हें न दे

जानिए बच्चों के लिए नुकसानदायक फूड की लिस्ट में कौन-से खाद्य पदार्थ शामिल हैं? एक साल से कम उम्र के बच्चों को अंडा और शहद क्यों नहीं देना चाहिए?

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Nidhi Sinha
बच्चों की देखभाल, पेरेंटिंग अप्रैल 6, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

Sugarcane Juice - गन्ने का रस

गन्ने का रस देता है कई स्वास्थ्यवर्धक फायदे, जानें

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Surender Aggarwal
Published on मई 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Diet in Piles - पाइल्स में डायट

पाइल्स में डायट पर ध्यान देना होता है जरूरी, इन फूड्स का करें सेवन

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Surender Aggarwal
Published on मई 26, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
सूजी का केक कैसे बनाते हैं?

जानिए बिना ओवन हेल्दी सूजी का केक कैसे बनाते हैं

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
Published on मई 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
सनस्क्रीन लोशन

सनस्क्रीन लोशन क्यों है जरूरी?

Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
Written by Bhawana Awasthi
Published on अप्रैल 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें