रिसर्च : टार्ट चेरी जूस (Tart Cherry Juice) से एक्सरसाइज परफॉर्मेंस में होता है इंप्रूवमेंट

    रिसर्च : टार्ट चेरी जूस (Tart Cherry Juice) से एक्सरसाइज परफॉर्मेंस में होता है इंप्रूवमेंट

    रिसर्च में ये बात सामने आई है कि जो लोग टार्ट चेरी जूस पीते हैं, उनकी बॉडी स्ट्रेंथ इंप्रूव होने के साथ ही एक्सरसाइज परफॉर्मेंस में भी सकारात्मक बदलाव होते हैं। अमेरिकन कॉलेज ऑफ न्यूट्रिशन में छपे जर्नल के मुताबिक टार्ट चेरी जूस के सेवन से एक्सरसाइज परफॉर्मेंस में सुधार होता है। साथ ही इस जूस के सेवन से मसल रिकवरी भी जल्दी होती है। कनाडा के सस्काचेवान विश्वविद्यालय (University of Saskatchewan in Canada) के को-ऑर्थर फिलिप चिलिबेक ने कहा है कि, “टार्ट चेरी जूस के कॉन्संट्रेट से बॉडी रिकवरी में बहुत मदद मिलती है, इस बात के हमें सबूत मिले हैं”।

    टार्ट चेरी जूस पर क्या कहती है रिसर्च?

    भले ही प्रमाण बहुत अधिक मात्रा में न मिले हों, लेकन कुछ प्रमाणों के आधार पर इसे अच्छा नतीजा माना जा रहा है। नई मेटा-एनालिसिस 10 पुरानी पब्लिश्ड इसके जूस पर की गई स्टडी में की गई थीं। सैंपल साइज का रैंज 8-27 था, वहीं स्टडी में शामिल किए गए लोगों की एवरेज एज 18.6 से 34.6 थी। आपको बताते चलें कि इसकी पॉपुलर वैराइटी यूनाइटेड स्टेट में उगाई जाती है। साथ ही यह चेरी फ्रोजन या फिर कॉन्संट्रेटेड फॉम में मिलती हैं। इसकी अन्य वैराइटी को इंपोर्ट किया जाता है और लोकल उगाया भी जाता है।

    और पढ़ें : पंपकिन (कद्दू) एक फायदे अनेक, जानें ये है कितना गुणकारी

    टार्ट चेरी जूस से परफॉर्मेंस में सुधार

    Tart Cherry Juice

    इसके जूस के मेटा-एनालिसिस के दौरान टार्ट चेरी के पाउडर और टार्ट चेरी के जूस का इस्तेमाल किया गया। टार्ट चेरी जूस के शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव को देखने के लिए एक्सरसाइज के पहले लोगों को टार्ट चेरी का जूस पीने के लिए दिया गया। ऐसा सात दिनों तक किया गया और साइकलिंग, स्वीमिंग और रनिंग करने के पांच घंटे पहले लोगों को जूस दिया गया। फिर टार्ट चेरी जूस के रिकवरी बेनीफिट्स का एनालिसिस किया गया।

    टार्ट चेरी जूस को लेकर ये बातें आई सामनें

    इसके जूस पर मिले नतीजों से ये बात सामने आई कि टार्ट चेरी एक्सरसाइज परफॉमेंस को बूस्ट करने का काम करती है। करीब 10 में से 9 स्टडी में टार्ट चेरी के कंजप्शन को पहले से जारी रखा गया। यानी एक्सरसाइज के पहले ही लोगों को टार्ट चेरी जूस का सेवन कराया गया। टार्ट इसके डोज को स्टडी के दौरान करीब 200 से 500 मिलीग्राम/डे कैप्सूल और पाउडर के रूप में दिया गया। साथ ही 60 से 90 एमएल / डे इसके जूस में 100 से 510 एमएल पानी मिलाकर 300 से 473 एमएल चेरी का जूस तैयार किया गया। एंथोसायनिन (anthocyanins) की कुल 66 से 2,760 मिलीग्राम तक की दैनिक खपत को भी दर्ज किया गया।

    टार्ट चेरी जूस के फायदे

    Tart Cherry Juice

    टार्ट चेरी जूस में प्रचुर मात्रा में न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं, जिसके कारण शरीर को टार्ट चेरी खाने के बाद फायदे पहुंचते हैं। टार्ट चेरी में कुछ मात्रा में विटामिन बी, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैट और एंटीऑक्सीडेंट्स भी पाए जाते हैं। साथ ही कुछ प्लांट्स कम्पाउंड भी होते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं।

    और पढ़ें : महुआ के फायदे : इन रोगों से निजात दिलाने में असरदार हैं इसके फूल

    मांसपेशियों की तकलीफ में कमी

    जो लोग शारीरिक रूप से खुद को कमजोर महसूस करते हैं, उनके लिए टार्ट चेरी का सेवन करना फायदेमंद साबित हो सकता है। चेरी के जूस को पीने से ताकत के साथ ही मसल्स में होने वाली तकलीफ में भी आराम मिलता है। इस बारे में स्टडी हो चुकी है और सामने ये बात आई है कि टार्ट चेरी का जूस शरीर को ताकत प्रदान करता है। पुरुषों को टार्ट चेरी का सप्लीमेंट स्ट्रेंथ बढ़ाने के लिए दिया जाता है जोकि मांसपेशियों की समस्या को कम करने में तेजी से काम करता है। इस विषय में अभी भी अधिक अध्ययन की जरूरत है।

    अच्छी नींद के लिए लें सकते हैं टार्ट जूस

    जिन लोगों को अनिद्रा की समस्या यानी नींद न आने की बीमारी होती है, उनके लिए भी टार्ट चेरी का जूस फायदेमंद हो सकता है। खट्टे और मीठे चेरी में नैचुरली मेलाटोनिन होता है, जो कि नींद के लिए जिम्मेदार हार्मोन होता है। टार्ट चेरी में ट्रिप्टोफैन और एंथोसायनिन की अच्छी मात्रा होती है जो कि शरीर को मेलाटोनिन बनाने में मदद करती है। स्टडी के दौरान 480 मिली टार्ट चेरी जूस की कुछ मात्रा को प्रति दिन कुछ अनिद्रा से पीड़ित लोगों को दिया गया। ऐसा दो सप्ताह तक किया गया। रस के सेवन के बाद रिकॉर्ड किया गया कि पीड़ित व्यक्तियों ने 85 मिनट की अधिक नींद ली।

    गठिया के लक्षणों को करता है कम

    टार्ट चेरी के जूस के सेवन से गठिया यानी अर्थराइटिस में आराम मिल सकता है। साथ ही जोड़ों के दर्द और सूजन में राहत मिलती है। अर्थराइटिस के साथ ही गठिया के आम प्रकार में भी टार्ट चेरी के जूस से राहत मिलती है। चेरी का रस पीने से यूरिक एसिड के बढ़े हुए लेवल में कमी होती है। गठिया की समस्या में यूरिक एसिड की मात्रा खून में बढ़ जाती है। जो लोग तीखी चेरी का प्रतिदिन सेवन करते हैं, उनमे गठिया की समस्या 50 प्रतिशत तक कम हो जाती है। इस विषय में कुछ ही स्टडी हुई हैं, जिनमे ये परिणाम सामने आए हैं।

    विजन इम्प्रूव करने के लिए टार्ट चेरी जूस

    3D Eye vision

    इस चेरी में मौजूद एंथोसायनिन (Anthocyanins) ग्लूकोमा के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है। ग्लूकोमा के कारण विजन लॉस की समस्या हो जाती है। ग्लूकोमा की समस्या में आंखों के अंदर तरल पदार्थ का दबाव पड़ता है, जिसके कारण आंखों की रोशनी भी जा सकती है। रिसर्च के दौरान ये देखा गया है कि जो लोगों ने ग्लूकोमा के लिए एंथोसायनिन ट्रीटमेंट लिया, उनके विजन में सुधार देखने को मिला।

    [mc4wp_form id=”183492″]

    शॉर्ट टर्म मेमोरी होती है बैटर

    इस बारे में एक और स्टडी की गई, जिसमें ये बात सामने आई है कि इसका जूस पीने से शॉर्ट टर्म मेमोरी में सुधार होता है। जो लोग रोजाना करीब 12 सप्ताह तक इसका जूस पीते हैं, उनकी मैमोरी तेज होती है।

    और पढ़ें : चावल के आटे के घरेलू उपयोग के बारे में कितना जानते हैं आप?

    कैसे बनाएं टार्ट चेरी जूस ?

    टार्ट चेरी का जूस पीने से कई फायदे होते हैं। अगर आपको यह जूस नहीं बनाना आता है तो नीचे इसकी रेसिपी दी गई है।

    • फ्रेश इस जूस बनाने के लिए चेरी को सबसे पहले पानी से धुलें
    • फिर एक कप चेरी में एक क्वार्टर पानी डालें।
    • अब फूड प्रोसेसर में चेरी का पल्प बना लें। अब इसे बाहर निकालने के बाद छान लें।
    • पांच दिनों के अंदर ही छने हुए जूस को पी लें।

    अगर आपने पहले कभी चेरी जूस न पिया हो तो बेहतर होगा कि चेरी का जूस पहले थोड़ी सी मात्रा में पी कर देखें कि आपको इससे कोई एलर्जी तो नहीं हो रही है। इसके अलावा आपको अगर कोई बीमारी है, तो बेहतर होगा कि एक बार अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Bhawana Awasthi द्वारा लिखित · अपडेटेड 20/07/2020

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement