home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Quiz : फिट रहने के लिए कितना % प्रोटीन रोजाना लेना है जरूरी?

Quiz : फिट रहने के लिए कितना % प्रोटीन रोजाना लेना है जरूरी?

प्रोटीन मनुष्य के शरीर के लिए अत्यधिक आवश्यक है। प्रोटीन का संतुलित मात्रा में सेवन करना लाभकारी होता है। इससे शरीर फिट रहता है। हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार शरीर का 18 से 20 प्रतिशत हिस्सा प्रोटीन का ही बना होता है। हालांकि इसके बावजूद आपको रोजाना 55 ग्राम प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। ऐसा करने से आप हेल्दी रहने में सफल हो सकते हैं। हरी सब्जियों में शामिल मटर में प्रोटीन की मात्रा उच्च होती है। अगर बच्चों को सुबह-सुबह ब्राउन ब्रेड के साथ पीनट बटर खाने के लिए दिया जाए तो इससे बच्चे का विकास सही तरह से होता है। सामान्य लोगों के साथ-साथ गर्भवती महिलों को भी प्रोटीन का सेवन जरूर करना चाहिए। दरअसल प्रोटीन मां और शिशु दोनों की कोशिकाओं के ठीक तरह से विकास, ब्लड के निर्माण और गर्भ में पल रहे शिशु की जरूरतों को पूरा करता है। शिशु के एम्नियोटिक टिशूज की वृद्धि आदि मां के प्रोटीन युक्त आहार के सेवन पर निर्भर करती है। गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन की कमी उचित विकास में रुकावट बन सकती है। इसके परिणामस्वरूप शिशु के कम वजन के साथ अन्य खतरे बढ़ सकते हैं। गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन की कमी शिशु के मस्तिष्क पर भी नकारात्मक प्रभाव डाल सकती है। प्रतिदिन 60 ग्राम प्रोटीन शिशु के उचित विकास के लिए जरूरी होता है।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 20/05/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x