home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

हैवी ड्रिंकिंग छोड़कर आप भी अपनाएं माइंडफुल ड्रिंकिंग, बदल जाएगी लाइफ

हैवी ड्रिंकिंग छोड़कर आप भी अपनाएं माइंडफुल ड्रिंकिंग, बदल जाएगी लाइफ

माइंडफुल ड्रिंकिंग क्या है?

शराब का नाम सुनकर आपके दिमाग में सबसे पहली बात क्या आती है? वैसे आमतौर पर शराब या कोई नशा करने वाले दो तरह के लोग होते हैं। पहला जिसमें आप शराब पीने के बाद भी अपने कंट्रोल में होते हैं,और दूसरा जिसमें शराब आपको कंट्रोल करती है। तो इस हिसाब से जब आप सोच समझकर एक प्लॉन के जरिए एल्कोहॉल को सेवन करते हैं।जैस की आपको कितना पीना है? क्यों पीना हैं? कौन सा ड्रिंक पीना है? जिसको पीने के बाद आप अपने आप पर कंट्रोल नियंत्रित कर पाएंगे। इसको ही माइंडफुल ड्रिंकिंग कहा जाता है।

-आपको बता दें कि माइंडफुल ड्रिंकिंग कोई बुरी आदत नहीं है।बल्कि यह आपके माइंड को फ्रेश और ज्वॉयफुल रखने में आपकी मदद करता है। आपको उदाहरण के तौर पर समझाएं तो यदि आप अपने जॉब,बिजनेस या किसी प्रकार के स्ट्रेस से जूझ रहे होते हैं। तो ऐसे में अकेले या दोस्तों के साथ माइंडफुल ड्रिकिंग आपके माइंड को फ्री और ताजा करने में मदद कर सकता है।माइंडफुल ड्रिंक करने वाले लोगों की कुछ खास बात होती है। जब उनका पीने का मन होता है। तो वो किसी खास त्योहार का फंग्शन का इंतजार नहीं करते हैं। लेकिन हां जिस दिन उनका पीने का मन होता है वो उस दिन को किसी अवसर जैसा ही बना देते हैं। माइंडफुल ड्रिंकिंग करने वाले लोगों के लिए सबसे बेहतर और हेल्दी उपाय हो सकता है।

ये भी पढ़े गुस्सा शांत करना है तो करें एक्सरसाइज, जानिए और ऐसे ही टिप्स

माइंडफुल ड्रिंकिंग क्यों जरुरी है?(Why is mindful drinking important?)

आपको सही मायने में बताएं तो माइंडफुल ड्रिंकिंग जागरूकता और आपकी पसंद पर निर्भर करती है। माइंडफुल ड्रिंकिंग के हिसाब से एल्कोहॉल पीना एक बुरी आदत नहीं मानी जाती है।इसमें आप एल्कोहॉल को नापतौल कर पीते हैं। इसमें आप अपने पुरे होश में रहते हैं। इस दौरान आप जब भी दूसरा पैग हाथ में लेते हैं। तो आप सोचते हैं कि क्या यह पैग पीने के बाद आप अपने कंट्रोल में रह पाएंगे। अगर माइंडफुल ड्रिंकिंग के बारे में एक शब्द कहें तो कम पीने वालों का एल्कोहॉल के साथ आपका एक हेल्दी रिलेशन बन जाता है।

-माइंडफुल ड्रिंकिंग पीने के प्रति जागरुक करने और इसका अभ्यास कराने में आपकी मदद करती है। जिससे आप पीने से पहले सोचते है कि आपको एल्कोहॉल क्यों और कितना पीना है। जो माइंडफुल ड्रिंकिंग करने वाले लोग आप कभी भी एल्कोहॉल पीने के बाद भटकते,गिरते नहीं है। माइंडफुल ड्रिंकिंग करने वाले लोग एल्कोहॉल को हेल्थ और माइंड दोनों के लिए फिट माना जाता हैं।

माइंडफुल ड्रिंकिंग पर”किंग्सफोर्ड का कहना

  • एक साक्षात्कार के दौरान “किंग्सफोर्ड ने कहा, माइंडफुल ड्रिंकिंग में आप एल्कोहॉल से जुड़े निर्णय खुद पूरे होश में लेते हैं। आपको कौन सी ड्रिंक और कितना लेना है इसको आप पहले से मन में तय कर चुके होते हैं।
  • मांइडफुल ड्रिंकिंग ये नहीं होता कि आप अपने आपको पूरी तरह से एल्कोहॉल में डुबा दें और आपको एल्कोहॉल से जुड़ी कोई समस्या है तो ऐसे में भी ये आपको फोर्सफुली पीने की सलाह नहीं देता है। ये पूरी तरह आपके च्वाइस पर निर्भर करता है।
  • “किंग्सफोर्ड ने कहा माइंडफुल ड्रिंकिंग से उन लोगों को समस्या होती है जिनको एल्कोहॉल पसंद नहीं है। आमतौर पर शराब पीना सामाजिक रुप से स्वीकार्य है,जैसे आपके यहां जन्मदिन पर केक काटना एक प्रथा है, उसी प्रकार शराब,शैंपेन हमारी संस्कृि का एक हिस्सा है।
  • क्योंकि ये हमारी सांस्कृतिक मानदंड हैं, इसलिए हमने अपने आपसे ये सवाल करना छोड़ दिया है कि क्या पीना गलत है, क्योंकि शायद हम ये सवाल करें तो इसका जवाब “नो” हो इसलिए ये सवाल हमने करना बंद कर दिया है।
  • माइंडफुल ड्रिंकिंग ने मनचाहे खाने के तरीके पर लागु नहीं होता है, लेकिन किंग्सफोर्ड का कहना है कि इसमें बदलाव होगा क्योंकि हम अपने शरीर को क्या दे रहे हैं कितना दे रहे हैं इसपर हमारा ध्यान होना जरुरी होता है।

माइंडफुल ड्रिंकिंग के फायदें

  • वैसे तो माइंडफुल ड्रिंकिंग से होने वाले अनेक फायदे हैं जिनके बारे में सभी का जानना जरुरी होता है, तो आइए माइंडफुल ड्रिंकिंग के कुछ खास फायदों के बारें में जानते हैं।
  • माइंडफुल ड्रिंकिंग से आपकी डिसिजन मेकिंग पावर बढ़ती है,आपको एक्टिव रखने में मदद करता है।आपकी एक्सरसाइज करने की शक्ति को बढ़ाता है।
  • जब आप बहुत स्ट्रेस में होते हैं तो आपकी नींद पूरी होने में समस्या होती है लेकिन माउंडफुल ड्रिंकिंग अच्छी नींद लेने में आपकी मदद कर सकता है। इससे आप अच्छी नींद ले सकते हैं।
  • कुछ लोगों को सोशल लाइफ से समस्या होती है। तो माइंडफुल ड्रिंकिंग आपको सोशल लाइफ को हैंडल करने में आपकी मदद करता है।
  • अगर आपकी पर्सनल लाइफ के बारें में बात करें तो माइंडफुल ड्रिंकिंग करने वाले लोगों में जल्दी पारिवारिक झगड़े नहीं होते हैं। अगर बात करें हैवी ड्रिंकिंग करने वालों की तो क्योंकि वो पीने के बाद अपने सोचने समझने की शक्ति खो देते हैं इसलिए उनके परिवार में उनका हैवी ड्रिंकिंग करना एक झगड़े का कारण बनता है।

ये भी पढ़े मसूड़ों में सूजन के लिए घरेलू उपाय के साथ ही जानिए प्राकृतिक माउथवॉश के बारे में

  • जब आप कुछ करने की सोचते हैं। जिसमें थोड़ा रिस्क होता है तो ऐसे में लोग बहुत कम समय में बहुत ज्यादा ड्रिंक करने लगते हैं। ऐसा करने से आप इस जल्दी इसके आदती हो जाएगें इसलिए माइंडफुल ड्रिंकिंग इस तथ्य की अवहेलना करता है।
  • बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो अपनी फिलिंग, अपना गुस्सा दबाने के लिए ड्रिंक करते हैं।लेकिन कभी-कभी इसका प्रभाव उल्टा हो जाता है। जिस कारण आप अपने अंदर की सारी भड़ास और गुस्सा बाहर निकाल देते हैं।
  • माइंडफुल ड्रिंकिंग करने वाले लोग जल्दी पैनिक नहीं होते हैं। वो आपको हमेशा खुश और चिल करते हुए दिखाई देगें।
  • माइंडफुल ड्रिंकिंग और आपके लक्ष्य के बीच में एक हेल्दी रिलेशन होता है।
  • यदि आपके लाइफ में बहुत सारे लक्ष्य है आपको बहुत कुछ करना है। लेकिन आपकी ड्रिंकिंग हैबिट के कारण आपके अंदर इतनी एनर्जी नही बचती है की आप अपने लक्ष्य को लेकर एकाग्रचित रह सके। तो ऐसे में माइंडफुल ड्रिंकिंग आपके लिए मददगार हो सकता है। इसमें आप दोनों चीजें साथ लेकर चल सकते हैं।

हैवी ड्रिंकिंग से कैसे बेहतर है माइंडफुल ड्रिंकिंग

कुछ लोग जो हैवी ड्रिंकिग करके अपना स्वास्थ और करियर दोनों ही खत्म कर देते हैं। ऐसे लोग भी माइंडफुल ड्रिंकिंग करके अपना स्वास्थ,करियर, शौख तीनों चीजों को एक साथ पूरा कर सकते हैं। माइंडफुल ड्रिंकिंग आपके लक्ष्य तक पहुंचने में भी मदद करता है। जब भी आप मानसिक तनाव से जूझ रहे हो तो ऐसे में माइंडफुल ड्रिंकिंग आपको एक्टिव करने में मदद करता है तो वहीं हैवी ड्रिंकिंग आपको अंदर से भी धीरे-धीरे हानि पहुंचाता है साथ ही आपके लक्ष्य से आपको दूर कर देता है।

नोट: जो लोग एल्कोहॉल को पीना बिल्कुल पसंद नहीं करते हैं। ऐसे लोगों के लिए माइंडफुल ड्रिंकिंग जैसी क्रियाएं समझना थोड़ा मुश्किल होता है।

हैवी ड्रिंकर से माइंडफुल ड्रिंकिंग में आने के लिए ऐसे करें प्रैक्टिस

पहले से तय करें कितना ड्रिंक करना है

जब भी आप किसी पार्टी,फंग्शन,बार कही भी गए हो। ड्रिंक करने से पहले अपनी कैपासिटी पर ध्यान देकर सोचे आपका शरीर कितना ड्रिंक करने के बाद भी अपने कंट्रोल में रह सकते है। इसके बाद नाप तौल कर ही ड्रिंक लेने के बारे में सोचे।कहने का मतलब ये है कि आपके दिमाग में ये बात पहले से तय होनी चाहिए की आपको कितना पैग लेना है। चाहे कोई कितना भी फोर्स करे आपने जो डिसाइड किया है आपको उसे फॉलो करना है।

एडवांस प्लान करें

जब भी आप बहुत सारे लोगों के साथ किसी पार्टी में होते हैं तो इसके लिए आपको एडवांस प्लानिंग करनी होती है, वहां जाने से पहले ही आपके दिमाग में यह तय होना चाहिए की आपको कितने एल्कोहॉल के बाद सॉफ्ट ड्रिंक पर आना है। यदि आप माइंडफुल ड्रिंकिग करना चाहते हैं तो ये मापदंड आपके दिमाग में पहले से फिट होना चाहिए।

तय करें कौन सी ड्रिंक पीना है

यदि आपने ध्यान दिया होगा तो जब आप किसी पार्टी में अधिक लोगों के साथ होते हैं, तो ड्रिंक ऑर्डर करते समय जो पहला व्यक्ति अपना ऑर्डर करता है ज्यादातर लोग वहीं सेम ड्रिंक अपने लिए ऑर्डर करते हैं, लेकिन यही गलती आपको करने से बचना है,आपको किसी को फॉलो नहीं करना है आपको अपनी पसंद का ख्याल रखना है आपने पहले से जो माइंड मेकअप किया है कि कौन सी ड्रिंक कितनी करनी है आपको वहीं ऑर्डर करना है,आप चाहे तो आप सबसे पहले अपनी ड्रिंक ऑर्डर कर सकते हैं जिससे बाकी लोग आपको फॉलो करके अपनी ड्रिंक ऑर्डर कर सके।

खुद ज्यादा रोक-टोक न करें

ये बात सभी मानते होंगे कि अपने आपको बहुत अधिक रोक-टोककर रखना हानिकारक हो सकता है,क्योंकि कभी न कभी ये उल्टा प्रभाव डाल देता है, जिसका आपके ऊपर काफी दुष्प्रभाव पड़ सकता हैं।इसलिए अपने आपको ज्यादा बाउंड्री से घेरने से बेहतर है कि आप पहले से ये माइंड मेकअप करके रखें कि आपको कितना ड्रिंक करना है।

न कहने प्रैक्टिस करें

जब भी आप किसी पार्टी में जाते हैं, उसके पहले आपको ये प्रैक्टिस कर लेना चाहिए की अगर आपको दूसरी ड्रिंक या और ज्यादा पीने के लिए फोर्स करता है तो ऐसे में आप उनको मना कैसे करें। जैसे, आपने सोचा की आपको सॉफ्ट ड्रिंक लेनी है लेकिन कोई आपको बहुत फोर्स करता है कि आप कोई और ड्रींक पीएं तो ऐसे आपको मुश्किल होती है कि आप उन्हें मना कैसे करें इसलिए आपको पहले ही इसकी प्रैक्टिस होनी चाहिए।वैसे जरुरी बात ये है की आपको उसको इसलिए मना नहीं करना है। की आपको अपनी इज्जत दिखानी है बल्कि इसलिए मना करना है की आपने पहले ये तय किया था कि आपको कितना और कौन सी ड्रिंक करनी है। तो इसके लिए आपको प्रैक्टिस कर लेनी चाहिए की आप उसे प्यार से मना करे जिससे उसको बुरा भी न लगे।

पल को एंज्वाय करना सीखें

माइंडफुल ड्रिंकिंग अपने आपमें बहुत मजेदार हो सकता है। आपको जरुरत है आप उस लम्हे को फिल करें, इसके अलावा आपको अपनी ड्रिंक को सेवर करने की जरुरत होती है। यदि आप ड्रिंक कर रहें हैं तो देखें यह कौन सा ड्रिंक है क्या फ्लेवर है इसके अलावा इस खूबसूरत से रेस्ट्रो की खूबसूरती,म्यूजिक को भी एंज्वाय कर सकते हैं।

अपने आदर्शों का पालन करना सीखें

यदि आप माइंडफुल ड्रिंकिंग चाहते हैं तो आपको अपनी पसंद न पसंद को जानना और अपनी पसंद के बारे में खुलकर बोलना बेहद जरुरी है। आपको प्यार से ही लेकिन लोगों को मना करना आना चाहिए। जिससे आप अपने तय किए हुए आदर्शों का पालन कर सकें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा, उपचार और निदान प्रदान नहीं करता। ये भी पढ़े…

एक्सरसाइज के बारे में ये फैक्ट्स पढ़कर कल से ही शुरू कर देंगे कसरत

क्या आपका जीभ साफ करने का तरीका सही है?

डिनर के बाद फल खाने चाहिए या नहीं?

जानें शरीर को डिटॉक्स करने के घरेलू उपाय

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
shalu द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/12/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x