home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय

वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय

वैरिकोज वेन्स की समस्या तब उत्पन्न होती है जब किसी के शरीर में वेन्स में सूजन आई हो या फिर वेन्स सामान्य से बड़ी हो जाए तब परेशानी होती है। कुछ लोगों में वैरिकोज वेन्स के कारण उन्हें दर्द के साथ असहज महसूस होता है। बता दें कि मौजूदा समय में वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय को आजमाकर इस समस्या से राहत पाया जा सकता है।

वर्तमान में करीब 20 फीसदी युवा वैरिकोज वेन्स की समस्या का सामना करते हैं। अभी के दौर की बात करें तो कई मेडिकल ट्रीटमेंट के साथ कई नेचुरल घरेलू उपचार को आजमाकर इस समस्या से राहत पाया जा सकता है। वहीं वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय को आजमाकर इस समस्या के लक्षणों को काफी हद तक कम किया जा सकता है। तो आइए इस आर्टिकल में हम वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय के बारे में जानते हैं, ताकि उसे आजमाकर समस्या से निजात पा सके।

वैरिकोज वेन्स क्या है?

वैरिकोज वेन्स तब डेवलप होते हैं जब वेन्स के छोटे वाल्व कमजोर पड़ जाते हैं। ये वाल्व आमतौर पर नसों के माध्यम से पीछे की ओर बहने वाले रक्त को रोकने का काम करते हैं और जब वे क्षतिग्रस्त होते हैं तो रक्त नसों में रूक जाता है। इसके कारण नसें मुड़ जाती हैं व कई मामलों में उसमें सूजन आता है। इनमें से ज्यादातर स्किन के बाहर से ही दिखाई देते हैं। यह नसें डार्क ब्लू, पर्पल रंग की होती हैं। यह अक्सर त्वचा के नीचे उभरे हुए होते हैं।

वैरिकोज वेन्स के अन्य लक्षणों पर नजर

  • वैरिकोज वेन्स के ऊपर ड्राई स्किन का होना, खुजली होना
  • एंकल और पैर में सूजन आना
  • रात के समय में मसल्स क्रैंप होना
  • पैर में असहज महसूस करना, पैर में भारीपन का एहसास होना
  • पैर में बर्निंग सेनसेशन का एहसास होना

वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय को आजमाकर पा सकते हैं समस्या से निजात

मौजूदा समय में कुछ उपाय है जिसके जरिए वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय को आजमाकर हम इस समस्या से निजात पा सकते हैं, इन उपाय को आजमाने के लिए जानें क्या-क्या करें।

ज्यादा से ज्यादा फ्लेवोनॉयड्स का सेवन करें

वैसे खाद्य पदार्थ जिसमें ज्यादा फ्लेवोनॉयड्स होते हैं उसका सेवन कर वैरिकोज वेन्स को सिकुड़ने में मदद मिलती है। आप चाहें तो वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय में इसे शामिल कर सकते हैं। फ्लेवोनॉयड्स का सेवन करने से ब्लड सर्कुलेशन में सुधार होता है, वहीं रक्त हमारे रक्तकोशिकाओं में आसानी से प्रवाह कर सकती है, इससे नसों में खून के जमने की संभावना भी कम होती है। यह धमनियों में ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करने के साथ ब्लड वेसल्स को रिलेक्स करने में मदद करते हैं। ऐसा कर वैरिकोज वेन्स से छुटकारा पाया जा सकता है।

वैसे खाद्य पदार्थ जिसमें फ्लेवोनॉयड्स होते हैं

  • अदरक
  • कोकोआ
  • सिट्रस फ्रूट जैसे अंगूर, चेरी, सेब और ब्लू बेरीज
  • सब्जियों में जैसे प्याज, बेल पेपर्स, पालक और गोभी

प्लांट एक्सट्रैक्ट का कर सकते हैं इस्तेमाल

वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय के तहत प्लांट एक्सट्रैक्ट का इस्तेमाल कर समस्या से निदान पाया जा सकता है। 2006 में हुए शोध के अनुसार हॉर्स चीज एक्सट्रैक्ट जो एस्कुलस हिप्पोकैस्टेनम एल ( Aesculus hippocastanum L) प्लांट से मिलता है, इसमें काफी औषधीय गुण होते हैं। यह क्रॉनिक वेन्स इंसफिशिएंसी के कारण वैरिकोज वेन्स बनता है, उससे ग्रसित लोगों को पैर के दर्द, भारीपन, खुजली जैसी समस्याओं से राहत दिलाया जा सकता है। यह दवा मेडिकल स्टोर के साथ भारत के बाजार में आसानी से उपलब्ध है।

2010 के शोध के अनुसार सी पाइन एक्सट्रैक्ट (sea pine extract), पिनस मेरिटिमा (Pinus maritima) भी पैर का दर्द, सूजन और एडिमा जैसी बीमारी से निजात दिलाता है। वहीं वैरिकोज वेन्स के घरेल उपाय में इसका इस्तेमाल कर समस्या से निजात पा सकते हैं।

इन औषधियों का इस्तेमाल करने के लिए जरूरी है कि पहले इनसे तेल निकाल लिया जाता है, फिर उसे प्रभावित पैर में लगाया जााता है। ऐसा कर समस्या को नियंत्रण में लाया जा सकता है। इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए डाक्टरी सलाह लें। हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

और पढ़ें : रक्त से जुड़े रोचक तथ्य

खानपान में बदलाव कर

वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय में खानपान में बदलाव कर समस्या से निजात पाया जा सकता है। हाई पोटेशियम युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन कर शरीर में पानी की मात्रा को बैलेंस किया जा सकता है। इसके लिए आप इन खाद्य पदार्थों का सेवन कर सकते हैं, जैसे

फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन कर बावेल मुवमेंट को ठीक रखने के साथ कब्जियत की समस्या से निपटा जा सकता है। यह काफी अहम है, क्योंकि मांसपेशियों में तनाव के कारण वाल्व बढ़ सकते हैं यहां तक कि वो खराब हो सकते हैं।

हाई फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों में इनका करें सेवन

  • होल ग्रेन फूड्स
  • ओट्स, वीट और फ्लेक्स सीड्स
  • नट, बीज और फलियां

मोटापे से ग्रसित लोगों में वैरिकोज वेन्स होने की ज्यादा संभावनाएं होती है। इसलिए जरूरी है कि वजन कम कर इस बीमारी से जितना संभव हो बचाव किया जा सके।

कम्प्रेशन स्टॉकिंग्स पहनकर

ज्यादातर फार्मासिस्ट की दुकानों में कम्प्रेशन स्टॉकिंग्स ( Compression stockings) मिलता है। इसे पहनकर पैर पर प्रेशर डाला जा सकता है। इसकी मदद से वेन्स के जरिए ब्लड फ्लो आसानी से हो पाता है। 2018 में हुए शोध के अनुसार जिन्होंने नी हाई कम्प्रेशन स्टॉकिंग्स का इस्तेमाल किया, उन्होंने 18 से लेकर 21 एमएमएचजी का प्रेशर अपने पैरों में करीब एक सप्ताह के लिए दिया, वैसे लोगों में वैरिकोज वेन्स से जुड़े दर्द में कमी देखने को मिली

और पढ़ें : मुझे अक्सर मांसपेशियों में ऐंठन रहती है, इसका क्या उपाय है?

एक्सरसाइज को करें दिनचर्या में शामिल

वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय के लिए रेगुलर एक्सरसाइज को अपनाना होगा। क्योंकि एक्सरसाइज से ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है। वहीं वेन्स में जमे ब्लड को आगे की ओर धक्का देने का काम करता है। एक्सरसाइज की मदद से व्यक्ति अपना ब्लड प्रेशर भी सामान्य कर सकता है। क्योंकि ब्लड प्रेशर के कारण भी वैरिकोज वेन्स की बीमारी हो सकती है।

वहीं कम तनाव वाले व्यायाम को कर मांसपेशियों के अत्यधिक तनाव को कम किया जा सकता है, इन एक्सरसाइज के तहत आप इसे कर सकते हैं, जैसे

  • स्विमिंग
  • योग
  • साइकिलिंग
  • वॉकिंग

और पढ़ें : मांसपेशियों में दर्द की समस्या क्यों होती है, क्या है इसका इलाज?

हर्बल उपचार का कर सकते हैं इस्तेमाल

वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय में आप चाहें तो हर्बल उपचार का इस्तेमाल कर सकते हैं। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार अंगूर सीड एक्सट्रैक्ट्स जैसे विटिस विनिफेरा (Vitis vinifera) का मुंह से सेवन कर पैर के सूजन से निजात पाया जा सकता है। वहीं क्रॉनिक वेन्स इनसफिशिएंसी से निजात पाया जा सकता है। लेकिन मौजूदा समय में इसको लेकर बेहद कम ही शोध हुए हैं।

ध्यान देने वाली बात यह है कि वैसे लोग जो अंगूर के सीड एक्सट्रैक्ट के साथ खून को पतला करने वाली दवाओं का सेवन करते हैं। उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए, क्योंकि ब्लीडिंग होने की संभावनाएं काफी ज्यादा रहती है। इसलिए जरूरी है कि हर्बल उपचार की ओर रूख करने को लेकर डॉक्टरी सलाह जरूर लेनी चाहिए।

योगा को दिनचर्या में शामिल कर दर्द से पा सकते हैं निजात, वीडियो देख लें एक्सपर्ट की राय

टाइट फिटिंग कपड़े पहनने से बचें

वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय के तहत टाइट कपड़े पहनने से बचाव करना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि टाइट फिटिंग कपड़े ब्लड फ्लो को कम करते हैं। ऐसे में लूज फिटिंग कपड़ों को ट्राई कर ब्लड सर्कुलेशन को ठीक कर सकते हैं। इस तरह शरीर के निचले भाग में ब्लड सप्लाई को ठीक किया जा सकता है।

हाई हील्स सैंडल पहनने की बजाय फ्लैट शूज-सैंडल पहनना चाहिए। ऐसा कर वैरिकोज वेन्स के लक्षणों से बचाव किया जा सकता है।

और पढ़ें : Varicose veins: वैरिकोज वेन्स क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

लंबे समय तक बैठने के लिए पैर को उठाकर रखें

यदि कोई व्यक्ति लंबे समय तक पैर को नीचे लटकाकर बैठता है तो जरूरी है कि उसे अपनी आदतों में बदलाव लाना चाहिए। संभव है कि ऐसा करने से वैरिकोज वेन्स की बीमारी हो सकती है। इसलिए वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय के तहत यदि कोई लंबे समय तक बैठकर काम करता है तो जरूरी है कि वो पैर को ऊपर उठाकर रखें। इससे ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है।

समय-समय पर करें मसाज

वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय के तहत मसाज भी कारगर उपाय है, इसे आजमाकर इस समस्या से निजात पाया जा सकता है। मसाज करने से ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है।

चलते रहने से होता है आराम

यदि कोई व्यक्ति घंटों बैठकर काम करता है तो जरूरी है कि उसे समय-समय पर अपनी पुजिशन बदलते रहनी चाहिए। क्योंकि संभव है कि हमेशा बैठे रहने से ब्लड सर्कुलेशन सही से नहीं हो पाता। इस कारण उन्हें परेशानी हो सकती है। इसके अलावा पैर के ऊपर पैर चढ़ाकर बैठने से भी परहेज करना चाहिए, ऐसा करने से ब्लड सर्कुलेशन से संबंधित परेशानी हो सकती है।

दर्द के बारे में जानने के लिए खेलें क्विज : Quiz: दर्द से जुड़े मिथ्स एंड फैक्ट्स के बीच सिर चकरा जाएगा आपका, खेलें क्विज

वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय के तहत लें सलाह

जरूरी है कि यदि आप पहले से ही किसी प्रकार की दवा का सेवन कर रहे हो तो ऐसे में हर्बल प्रोडक्ट का सेवन करने से पहले आपको डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। वहीं यदि आपको खून से जुड़ी किसी प्रकार की बीमारी है तब भी आपको डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। इसके अलावा आप इन घरेलू उपायों को आजमाकर वैरिकोज वेन्स के घरेलू उपाय के तहत समस्या से राहत पा सकते हैं। वहीं बताई गई सावधानियों को आजमाकर समस्या से बच भी सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Varicose Veins/ https://www.nhlbi.nih.gov/health-topics/varicose-veins / Accessed on 19th August 2020

Varicose veins/ https://www.nhs.uk/conditions/varicose-veins/ / Accessed on 19th August 2020

Varicose veins: Overview/ https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK279247/ / Accessed on 19th August 2020

Varicose veins and spider veins/ https://www.womenshealth.gov/a-z-topics/varicose-veins-and-spider-veins /Accessed on 19th August 2020

Clinical manifestations of lower extremity chronic venous disease/ https://www.uptodate.com/contents/clinical-manifestations-of-lower-extremity-chronic-venous-disease / Accessed on 19th August 2020

Varicose Veins/ https://www.merckmanuals.com/professional/cardiovascular-disorders/peripheral-venous-disorders/varicose-veins. / Accessed on 19th August 2020

The care of patients with varicose veins and associated chronic venous diseases: clinical practice guidelines of the Society for Vascular Surgery and the American Venous Forum/ https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/21536172/ / Accessed on 19th August 2020

Grape Seed Extract/ https://www.nccih.nih.gov/health/grape-seed-extract / Accessed on 19th August 2020

Flavonoids/ https://lpi.oregonstate.edu/mic/dietary-factors/phytochemicals/flavonoids / Accessed on 19th August 2020

Acute Effects of Graduated Elastic/ https://www.sciencedirect.com/science/article/pii/S1078588417306421 / Accessed on 19th August 2020

Which plant for which skin disease?/ https://onlinelibrary.wiley.com/doi/full/10.1111/j.1610-0387.2010.07472.x / Accessed on 19th August 2020

 

Treatment of patients with venous insufficiency/ https://link.springer.com/article/10.1007/BF02850359 / Accessed on 19th August 2020

 

 

 

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Satish singh द्वारा लिखित
अपडेटेड 19/08/2020
x