home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

डायबिटीज में गंभीर समस्याओं से बचने में मदद करेंगे ये 10 उपाय

डायबिटीज में गंभीर समस्याओं से बचने में मदद करेंगे ये 10 उपाय

डायबिटीज बहुत ही गंभीर और घातक बीमारी है। भलें यह एक लाइफस्टाइल डिजीज हो, लेकिन अगर इस बीमारी में कुछ एहतियात बरती जाएं, तो आने वाले खतरों से बचा जा सकता है। डायबिटीज में लाइफस्टाइल की बहुत महत्वपूर्ण होती है। जिसका सही होना बहुत जरूरी है। इसलिए यहां, कुछ ऐसी टिप्स बताई जा रही हैं जिन्हें अपने जीवन में शामिल करके आप अपनी डायबिटीज का ख्याल रख सकते हैं ओर डायबिटीज से बचाव कर सकते हैं।

कैसे करें डायबिटीज से बचाव (Precautions for diabetes)

1. स्वस्थ जीवन जीने के तरीके अपनाएं

डायबिटीज से बचाव के लिए स्वस्थ जीवन जीने के तरीकों को अपनाएं। डायबिटीज के बारे में सभी जानकारी प्राप्त लें कि किस तरह के खाद्य पदार्थ और शरीरिक गतिविधियों को अपने जीवन शैली में शामिल किया जाए। इसके अलावा, अपने खून में शुगर का स्तर समय-समय से जांचते रहें और डॉक्टर की सलाह लेकर उसे नियंत्रित करने की कोशिश करें। जब भी जरुरत पड़े, खुद नए अनुभव करने के बजाय डॉक्टर की सलाह लें।

और पढ़ें: Quiz : फिटनेस क्विज में हिस्सा लेकर डायबिटीज के बारे में सब कुछ जानें।

2. धूम्रपान न करें (No Smoking):

धूम्रपान से डायबिटीज के साथ कई समस्याएं बढ़ जाती हैं। जैसे हार्ट अटैक, स्ट्रोक, रक्त वाहिकाओं का डैमेज होना और गुर्दे की बीमारियां होने का खतरा रहता है। इसलिए, धूम्रपान छोड़ देना ही बेहतर है। अगर आप शुरू में नाकाम भी हों तो हार न मानें, तब तक कोशिश करते रहे हैं जब तक कामयाब न हो जाएं।

3.रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल स्तर को नियंत्रण में रखें:

डायबिटीज की तरह, उच्च रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल बढ़ना भी कई बिमारियों का घर है, यह आप की रक्त वाहिकाओं को खराब कर सकता है। अगर आप डायबिटीज का शिकार हैं तो यह खतरे बढ़ कर दुगने हो जाते हैं। यह सभी मिल कर हार्ट अटैक, स्ट्रोक या दूसरी किसी जानलेवा स्तिथि का कारण बन सकते हैं। इन स्तिथियों से बचने और डायबिटीज से बचाव के लिए अपने ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल स्तर नियमित तौर पर जांचते रहें, उतार-चढ़ाव होने पर डॉक्टर की सलाह लें।

और पढ़ें: सिंपल से दिखने वाले ओट्स के फायदे जानकर रह जाएंगे हैरान, आज ही डायट में कर लेंगे शामिल

4.आंखों की जांच करवाएं (Eye Checkup):

डायबिटीज में आंखों की पुतलियों का खराब होना, मोतियाबंद और ग्लूकोमा के अलावा आंखों की रौशनी कम होने जैसी कई समस्याएं सामने आती हैं। समय-समय से आँखों डॉक्टर से अपनी आँखों की जांच करवाते रहें और भविष्य में आँखों की रौशनी गँवा देने के खतरे से बचे रहें।

5.टीके लेने में देरी न करें (Vaccination):

खून में शकर की मात्रा ज्यादा होने से बिमारियों से लड़ने की क्षमता कमज़ोर पड़ जाती है, यही कारण है कि डॉक्टर टीका लगवाने की सलाह देते हैं। अपने डॉक्टर की सलाह से बुखार, निमोनिया, हेपेटाइटिस बी और दूसरी बिमारियों से एहतियात के टीके ले लें।

और पढ़ें: वेट लॉस डायट चार्ट: जरूर ट्राई करें ये आसान और असरदार चार्ट

6.दांतों पर ध्यान दें (oral care):

डायबिटीज के कारण मसूढ़ों पर इंफेक्शन का खतरा होता है इसीलिए, दिन में कम से कम 2 बार ब्रश करें कोशिश करें कि साल में 2 बार दांतों की जांच के लिए अप्पॉइंमेंट लें अगर आप के मसूढ़े अधिक लाल या सूजे हुए नजर आ रहे हों या उनसे खून बह रहा हो तो फ़ौरन अपने डेंटिस्ट से मिलें

7.पैरों पर ध्यान दें (Foot care):

डायबिटीज में न्यूरोपैथी की स्तिथि पैदा हो सकती है जो पैरों की नसों को प्रभावित करके पैरों तक खून के बहाव को कम कर देती है। पैरों की चोट, छाले और कट्स सही इलाज न किए जाने पर गंभीर इंफेक्शन का कारण बन सकते हैं।

8.बहुत ज्यादा शराब न पिएं (No Alcohol):

अगर आप शराब पीते हैं तो इसे एहतियात से पिएं। जब भी शराब पीनी हो खली पेट न पिएं, खाने के साथ पिएं। शराब के कारण खून में शकर का स्तर कम हो सकता है, लेकिन यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितनी मात्रा में क्या पी रहे हैं और पीने के साथ-साथ क्या खा रहे हैं।

और पढ़ें: जानें ऐसी 7 न्यूट्रिशन मिस्टेक जिनकी वजह से वेट लॉस डायट प्लान पर फिर रहा है पानी

9.तनाव से दूर रहें (Tension free):

डायबिटीज से बचाव के लिए तनाव को खुद से कोसों दूर रखें। तनाव से खून की नलिकाओं पर गहरा असर पड़ता है जिसके कारण दिल की बिमारियों और स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। गाने, आर्ट, एक्सरसाइज, आराम और योगा के जरिए स्ट्रेस कम करके दिल की सेहत को बेहतर बनाया जा सकता है।

10. डायट में करें ये बदलाव (Diet changes)

डायट से शुगर प्रोडक्ट और प्रोसेस्ड फूड को करें बाहर:

डायट में व्हाइट फ्लोर और व्हाइट राइस को शामिल न करें। शुगर ड्रिंक, सोडा और जूस को भी डायट से बाहर करें। डायबिटीज से बचाव के लिए सबसे बेस्ट है कि जितना हो सके पानी पीएं और चाय या कॉफी लें तो बिना शुगर के लें।

और पढ़ें: पाइल्स में डायट पर ध्यान देना होता है जरूरी, इन फूड्स का करें सेवन

डायट में होल ग्रेन चीजों को शामिल करें:

डायट में होल ग्रेन जैसे किनोवा, कॉरन, ओटमील और ब्राउन राइस को शामिल करें। इसके अलावा डायट में फाइबर की मात्रा को बढ़ाएं। इसके लिए आप सब्जियों और फलों का सेवन करें। फलियों में उच्च मात्रा में फाइबर होता है। आप दाल, बीन्स, छोले, मटर और सोया को डायट में शामिल कर सकते हैं। जो लोग उच्च मात्रा में फाइबर लेते हैं वो कम कैलोरी लेते हैं, जिससे उनका वजन नहीं बढ़ता साथ ही शुगर बढ़ने की संभावना भी कम होती है।

फलों और सब्जियों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें (Fruits & Vegetables):

हम दिनभर में जितना खाना खाते हैं उसमें कम से कम आधा खाना स्टार्चयुक्त नहीं होना चाहिए। डायबिटीज से बचाव के लिए आपकी खाने की प्लेट जितनी रंगों से भरी होगी उतना बेहतर होगा। आपकी खाने के प्लेट में ब्रोकली, फूलगोभी और ब्रसेल्स स्प्राउट्स और उच्च फाइबर वाले फल विशेष रूप से होने चाहिए।

मीट का सेवन न करें :

कई शोध के अनुसार मीट हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता है। खासतौर पर प्रोसेस्ड रेड मीट डायबिटीज का कारण हो सकता है। डायबिटीज से बचाव के लिए रेड मीट से खास दूरी बनाकर रखें।

और पढ़ें: डायट एंड इटिंग प्लान- ए-जेड : वेट लॉस और वेट मैनेजमेंट की पूरी जानकारी

हेल्दी डायट युक्त चीजों का सेवन करें:

हमारे शरीर को फैट की भी जरूरत होती है, लेकिन हम कैसा फैट ले रहे हैं यह भी मायने रखता है। डायबिटीज से बचाव के लिए खासतौर से मीट का सेवन न करें। क्योंकि इससे डायबिटीज और हृदय संबंधित रोगों के होने की संभावना बढ़ती है। ओमेगा-3 फैट के लिए आप वॉलनट, फ्लैक्स सीड का सेवन कर सकते हैं।

डायबिटीज के कारण जीवन भर सिर्फ समस्याएं ही नहीं रहतीं बल्कि अगर उन समस्याओं का हल ढूंढ लिया जाए तो आप आगे आने वाले सभी खतरों को टाल सकते हैं और डायबिटीज से बचाव कर सकते हैं। हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। डायबिटीज से बचाव से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए आप अपने चिकित्सक या हेल्थ एक्सपर्ट से कंसल्ट कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Living Healthy with Diabetes: https://www.heart.org/en/health-topics/diabetes/prevention–treatment-of-diabetes/living-healthy-with-diabetes Accessed July 09, 2020

Lifestyle Management for Diabetes Management: https://care.diabetesjournals.org/content/40/Supplement_1/S33 Accessed July 09, 2020

Healthy lifestyle can prevent diabetes: https://www.health.harvard.edu/blog/healthy-lifestyle-can-prevent-diabetes-and-even-reverse-it-2018090514698 Accessed July 09, 2020

Lifestyle Changes to Manage Type 2 Diabetes: https://www.aafp.org/afp/2009/0101/p42.html Accessed July 09, 2020

Lifestyle Changes After a Diagnosis of Type 2 Diabetes: https://spectrum.diabetesjournals.org/content/30/1/43 Accessed July 09, 2020

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Mubasshera Usmani द्वारा लिखित
अपडेटेड 10/07/2019
x