home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

डायबिटीज पेशेंट के लिए केले का फूल एक नहीं, बल्कि कई फायदों से है भरपूर!

डायबिटीज पेशेंट के लिए केले का फूल एक नहीं, बल्कि कई फायदों से है भरपूर!

डायबिटीज क्रॉनिक हेल्थ कंडीशन है, जो किसी भी व्यक्ति को हो सकती है। खानपान में खराबी या फिर खराब लाइफस्टाइल डायबिटीज का कारण बन सकती है। जो लोग हेल्दी फूड्स नहीं खाते हैं या फिर प्रॉपर एक्सरसाइज नहीं करते हैं और मोटापे का शिकार होते हैं, उनमें इस बीमारी की संभावना अधिक होती है। प्रॉपर डायट मैनेजमेंट और लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव पेशेंट के शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में मदद करता है। कई मेडिकल और आयुर्वेदिक तरीकों का इस्तेमाल कर ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल किया जा सकता है। इनमें से एक तरीका है डायबिटीज में केले के फूल (Banana flower in diabetes) का इस्तेमाल। हो सकता है कि आपने इस बारे में पहली बार सुना हो। अगर आप डायबिटीज के पेशेंट हैं या फिर आपके घर में किसी को मधुमेह की समस्या है, तो आपको डायबिटीज में केले का फूल क्यों जरूरी होता है, इस बारे में जानना चाहिए। इस आर्टिकल हम आपको मधुमेह में केले के फूल के इस्तेमाल के बारे में जानकारी देंगे।

और पढ़ें: बुजुर्गों में टाइप 2 डायबिटीज के लक्षण और देखभाल के उपाय

डायबिटीज में केले का फूल (Banana flower in diabetes)

बनाना यानी केला आम के बाद लोगों का पसंदीदा फल है। बच्चे भी इस फल को बड़े चाव से खाते हैं। केले में एक नहीं बल्कि बहुत से गुण होते हैं। लोग कच्चे केले के साथ ही पके केले का सेवन भी करते हैं। वहीं कुछ स्थानों में केले के फूल का सेवन भी बड़े चाव से किया जाता है। डायबिटीज में केले का फूल (Banana flower in diabetes) के बारे में कई रिसर्च हो चुकी हैं, जिसमें ये बात सामने आई है कि डायबिटीज में केले के फूल का सेवन कई लक्षणों में सुधार करता है। केले के ज्यादातर पार्ट का इस्तेमाल किसी न किसी चीज में किया जाता है। दक्षिण भारत में तो केले के पत्तों में खाना भी खाया जाता है। केले के पत्तों में भी कई गुण होते हैं, जो शरीर को स्वस्थ रखने का काम करते हैं।

केले के फ्लावर, फ्रूट और स्टेम को खाने में इस्तेमाल किया जाता है। वहीं केले की छाल का इस्तेमाल पेपर बनाने में प्रयोग किया जाता है। बनाना फ्लावर में फाइबर, प्रोटीन (Protein), पोटैशियम (Potassium,), कैल्शियम (Calcium), कॉपर, फॉस्फोरस, आयरन (Iron), मैग्नीशियम, विटामिन ई (Vitamin E) पाया जाता है। केले का फूल या तो कच्चा खाया जाता है या फिर इसका सूप या ग्रेवी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। स्टडी में ये बात सामने आई है कि डायबिटीज में केले का फूल (Banana flower in diabetes) खाने से इंसुलिन के स्तर में सुधार आता है। हालांकि, अध्ययन अभी तक चिकित्सकीय रूप से सिद्ध नहीं हुआ है। अगर आप डायबिटीज के पेशेंट हैं और केले का फूल खाना चाहते हैं, तो एक बार डॉक्टर से इस संबंध में जानकारी जरूर लें। हैलो स्वास्थ्य किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह उपलब्ध नहीं कराता है।

और पढ़ें: डायबिटीज के हैं पेशेंट, तो स्किन की बीमारियों को न करें नजरअंदाज!

जानना चाहते हैं डायबिटीज के बारे में, तो देखें ये 3डी मॉडल-

केले के फूल से संबंधित ये बात सामने आई रिचर्स में

डायबिटीज में केले का फूल (Banana flower in diabetes) खाने से क्या लाभ होता है, इस जानकारी के लिए नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन ने साल 2013 में रिसर्च की और पाया कि केले के फूल और स्यूडोस्टेम से मधुमेह की जटिलताएं कम हुई। एडवांस ग्लाइकेशन एंड-प्रोडक्ट्स (AGEs) के फॉर्मेशन को कम किया गया, जो कि प्रोटीन या लिपिड के बने होते हैं । ये शुगर के कॉन्टेक्ट में आने के बाद ग्लाइकेटेड ( Glycated) हो जाते हैं। उम्र बढ़ने और कई बीमारियों जैसे कि मधुमेह यानी डायबिटीज, एथेरोस्क्लेरोसिस (Atherosclerosis), क्रोनिक किडनी डिजीज (Chronic kidney disease) और अल्जाइमर डिजीज (Alzheimer’s disease) का कारण बनते हैं। इस तरह से केले के फूल का सेवन भविष्य में होने वाली डायबिटीज के खतरे को कम करने का काम करता है।

साल 2011 में डायबिटिक चूहों में हुई एक अन्य स्टडी में ये बात सामने आई कि केले के फूल का सेवन करने के बाद डायबिटिज़ के लक्षण जैसे कि हाइपरग्लाईसेमिया (Hyperglycemia), पॉल्यूरिया (Polyuria), यूरिन शुगर (Urine sugar), शरीर का वजन, कम हो जाते है। केले के फूल का सेवन कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वैल्यू और अधिक फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट युक्त होता है।

और पढ़ें: डायबिटीज को करना है कंट्रोल, तो टिप्स आ सकते हैं आपके काम!

केले का फूल इन समस्याओं से भी दिलाता है राहत

केले का फूल केवल डायबिटीज पेशेंट के लिए ही नहीं बल्कि सभी के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। अगर आपको मधुमेह की समस्या नहीं है, फिर भी आप इस फूल का सेवन कर सकते हैं। केले के फूल में मैग्नीशियम पर्याप्त मात्रा में होता है, जो मूड को इंप्रूव करने का काम करता है। साथ ही ये स्ट्रेस लेवल को भी कम करता है।

हमारे शरीर में फ्री रेडिकल्स हेल्दी सेल्स में अटैक करते हैं और उन्हें नुकसान पहुंचाने का काम करते हैं। ये हार्ट प्रॉब्लम को भी बढ़ाने का काम करता है। केले के फूल में एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो फ्री रेडिकल्स (Free radicals) से लड़ने में मदद करता है। ये कैंसर के खतरे को कम करने के साथ ही स्किन एजिंग (Skin aging) यानी बढ़ती उम्र में स्किन संबंधी समस्याओं को दूर करता है। केले का फूल खाने से एसिडिटी (Acidity) की समस्या से भी छुटकारा मिलता है। ये आसानी से पच जाता है और पेट दर्द (Abdominal pain) की समस्या से भी राहत प्रदान करता है।

जिन महिलाओं को पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) की समस्या होती है, उनके लिए केले के फूल का सेवन लाभदायक होता है। अगर आपको पीसीओएस है, तो पहले डॉक्टर से इस बारे में जानकारी लें और फिर केले के फूल का सेवन करें। हैलो स्वास्थ्य किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह उपलब्ध नहीं कराता है।

और पढ़ें: डायबिटीज पेशेंट और थेराप्यूटिक इंटरवेंशन में क्या संबंध है, जानें इस पर एक्सपर्ट की राय

डायबिटीज में केले का फूल खाने के साथ ही आपको डायट के दौरान अधिक सावधानी रखने की जरूरत है। अगर आप डायबिटीज की बीमारी के दौरान किसी भी आयुर्वेदिक उपचार को अपनाने जा रहे हैं, तो डॉक्टर से इस बारे में जानकारी जरूर लें। कई बार बिना जानकारी के आयुर्वेदिक उपचार आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है। अगर आप आयुर्वेद एक्सपर्ट से जानकारी लेने के बाद इसका सेवन करेंगे, तो अधिक बेहतर होगा। खाने में शुगर की मात्रा को कंट्रोल करने के लिए ऐसे फूड्स का चयन करें, जिसमें शुगर कम हो या फिर नैचुरल शुगर हो। समय-समय पर शुगर लेवल चेक जरूर कराएं। किसी प्रकार की समस्या होने पर केवल डॉक्टर की राय लें और सावधानी बरतें। आप खुद ही कुछ समय बाद महसूस करेंगे कि आपकी ब्लड शुगर अब कंट्रोल में है।

और पढ़ें: Heart Disease: हार्ट डिजीज बन सकती हैं मौत का कारण, रखें ये सावधानियां

हैलो स्वास्थ्य किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह उपलब्ध नहीं कराता है। हम उम्मीद करते हैं कि आपको इस आर्टिकल के माध्यम से डायबिटीज में केले का फूल (Banana flower in diabetes) के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी मिल गई होगी। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं।

डायबिटीज के बारे में अधिक जानकारी है, तो खेलें क्विज –

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id=”typef_orm”, b=”https://embed.typeform.com/”; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,”script”); js.id=id; js.src=b+”embed.js”; q=gt.call(d,”script”)[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()

powered by Typeform
health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 04/08/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x