home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

T2DM के साथ वयस्कों में सेक्शुअलिटी की समस्या इन कारणों से हो सकती है, जानिए यहां...

T2DM के साथ वयस्कों में सेक्शुअलिटी की समस्या इन कारणों से हो सकती है, जानिए यहां...

मधुमेह के रोगियों को सामान्य लोगों की तुलना में रेटिनोपैथी, नेफ्रोपैथी, न्यूरोपैथी और यौन रोग का अधिक खतरा होता है। डायबिटीज एक क्रॉनिक और लाइफस्टाइल डिजीज है और यह तीन प्रकार की होती है, जैसे कि डायबिटीज टाइप-1, डायबिटीज टाइप-2 और जेस्टेशनल डायबिटीज। लेकिन लोगों में सबसे ज्यादा टाइप 2 डायबिटीज की समसया देखी जाती है। जिसे हम T2DM के साथ वयस्कों में सेक्शुअलिटी की समस्या (Sexuality Among Middle Aged And Older Adults With T2DM ) भी कहते हैं। डायबिटीज के बढ़ें हुए स्तर के कारण डायबिटीज के मरीजों की सेक्शुअल लाइफ को भी प्रभावित करती है। तो आइए जानते हैं T2DM के साथ वयस्कों में सेक्शुअलिटी की समस्या (Sexuality Among Middle Aged And Older Adults With T2DM ) के बारे में।

और पढ़ें:डायबिटीज और हायपरटेंशन में क्या संबंध है? बचाव के लिए इन बातों का रखें ध्यान

सेक्शुअलिटी क्या है (What is sexuality) ?

T2DM के साथ वयस्कों में सेक्शुअलिटी की समस्या के बारे में जानने से पहले जान लेते हैं कि सेक्शुअलिटी क्या है? एक व्यक्ति की कामुकता, या यौन अभिविन्यास, यह निर्धारित करता है कि वे किसके प्रति आकर्षण महसूस करते हैं या नहीं करते हैं। यह आकर्षण आमतौर पर यौन आकर्षण से संबंधित होता है। यौन आकर्षण आमतौर पर किसी व्यक्ति की यौन संबंध बनाने या अन्य लोगों के साथ यौन संबंध बनाने की इच्छा का वर्णन करता है। यह अक्सर दूसरों के प्रति शारीरिक आकर्षण, या उसके अभाव का भी वर्णन करता है। यह आकर्षण किसी व्यक्ति के रिश्ते के भीतर प्यार की अभिव्यक्ति का वर्णन कर सकता है।

और पढ़ें: बच्चों में टाइप 1 डायबिटीज के लिए HCHF डायट के बारे में यह इंफॉर्मेशन है बड़े काम की

T2DM के साथ वयस्कों में सेक्शुअलिटी की समस्या : डायबिटीज टाइप 2 और सेक्शुलिटी में संबंध (The relationship between diabetes type 2 and sexuality)

T2DM के साथ वयस्कों में सेक्शुअलिटी की समस्या के बारे में जानना बहुत जरूरी है। टाइप 2 मधुमेह एक क्रॉनिक डिजीज है, जिसका शिकार किसी भी उम्र के लोग हो सकते हैं। वैसे तो डायबिटीज तीन प्रकार की होती है, लेकिन इनमें से टाइप 2 डायबिटीज लोगों में ज्यादा देखी जाती है। इसमें शरीर इंसुलिन का इस्तेमाल नहीं कर पाता है, जिस कारण ब्लड में शुगर का लेवल बढ़ने लगता है। विश्व स्तर पर, 285 मिलियन लोग टाइप 2 मधुमेह से प्रभावित हैं, जिसके 2030 तक 438 मिलियन तक पहुंचने का अनुमान है। टाइप 2 मधुमेह की व्यापकता> 40 वर्ष 24% बताई गई है जहाँ महिलाओं में जोखिम पुरुषों की तुलना में अधिक है। इसके अलावा, टाइप 2 डायबिटीज में माइक्रोवैस्कुलर क्षति जैसी जटिलताएं हो सकती हैं, जिसमें रेटिनोपैथी, नेफ्रोपैथी, और न्यूरोपैथी आदि शामिल हैं। अनियंत्रित मधुमेह में नसों और रक्त वाहिकाओं को नुकसान होने के कारण पुरुषों और महिलाओं में यौन रोग का खतरा भी बढ़ जाता है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ईडी) डायबिटीज की एक सामान्य जटिलता है, जिसकी व्यापकता 27 से 75% के बीच देखी गयी है। वास्तव में, मधुमेह रोगियों ईडी के प्रभाव के बारे में बहुत कम जानकारी होती है। आज तक, एक एकल अध्ययन किया गया है जिसमें मधुमेह से पीड़ित नपुंसक पुरुषों में विशेष रूप से स्वास्थ्य संबंधी जीवन की गुणवत्ता (HRQOL) की जांच की गई है। मधुमेह वाले 1,460 पुरुषों में सामान्य एचआरक्यूओएल का अध्ययन करने के लिए शॉर्ट फॉर्म 36 (एसएफ-36) का इस्तेमाल किया।

और पढ़ें: टाइप 1 डायबिटीज और हेरिडिटी: जानिए पेरेंट्स को डायबिटीज होने पर बच्चों में कितना बढ़ जाता है इसका रिस्क

T2DM के साथ वयस्कों में सेक्शुअलिटी की समस्या : सेक्शुअल डिसफंक्शन क्या होता है (The relationship between diabetes type 2 and sexuality)?

सेक्शुअल डिसफंक्शन एक ऐसी समस्या है, जो सेक्स के प्रति उत्तेजना और सेक्शुअल एक्टिविटी की भावनाओं को कम करता है। इससे अक्सर डायबिटीज के मरीजों की सेक्शुअल लाइफ भी प्रभावित हाेने लगती है। अक्सर इसकी वजह से सेक्स अधूरा रह जाता है। सेक्शुअल डिसफंक्शन में इस तरह की परेशानियां हो सकती हैं:

  • सेक्स के प्रति दिलचस्पी कम होना
  • सेक्शुअल तौर पर उत्तेजित होने की क्षमता ख़त्म हो जाना
  • सेक्स के दौरान क्लाइमेक्स तक पहुंचने में नाकाम रहना या देर होना
  • सेक्स के दौरान दर्द का अनुभव

और पढ़ें: टाइप 1 डायबिटीज में एंटीडिप्रेसेंट का यूज करने से हो सकता है हायपोग्लाइसिमिया, और भी हैं खतरे

पुरुषों और महिलाओं दोनों को प्रभावित करने वाली यौन स्वास्थ्य समस्याएं (sexual health problems affecting both men and women)

टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों में देखी जाने वाली एक सामान्य यौन स्वास्थ्य समस्या कामेच्छा में कमी और सेक्स ड्राइव में कमी है। यह मरीज के लिए निराशाजनक हो सकता है, खासतौर पर तब, जब किसी का टाइप 2 डायबिटीज से पहले एक संपन्न कामेच्छा और संतोषजनक यौन जीवन था। T2DM के साथ वयस्कों में सेक्शुअलिटी की समस्या के कारणों में शामिल हैं:

  • उच्च रक्तचाप या अवसाद के लिए दवाओं के दुष्प्रभाव
  • शक्ति की कमी
  • डिप्रेशन
  • हॉर्मोनल परिवर्तन
  • तनाव, चिंता आदि

मधुमेही न्यूरोपैथी (Diabetic neuropathy)

मधुमेह न्यूरोपैथी, मधुमेह से जुड़ी एक प्रकार की तंत्रिका क्षति, यौन समस्याओं का कारण बन सकती है। इसके कारण जननांगों में सुन्नपन की समसया, दर्द या उत्तेजना की कमी भी हो सकती है। इससे इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ईडी) हो सकता है। न्यूरोपैथी भी संभोग में बाधा का कारण बन सकती है या यौन उत्तेजना को महसूस करना मुश्किल बना सकती है। ये दुष्प्रभाव सेक्स को दर्दनाक भी बना सकते हैं।

और पढ़ें: डायबिटीज टाइप 1 की रिवर्स वैक्सीन क्यों मानी जाती है असरदार?

डायबिटीज से प्रभावित पुरुषों में सेक्स से जुड़ी आम समस्याएं (Common sex problems in men with diabetes)

डायबिटीज वाले पुरुषों में यौन स्वास्थ्य समस्या में सबसे ज्यादा ईडी की समस्या देखी जाती है। क्लीवलैंड क्लिनिक के अनुसार, डायबिटीज वाले लगभग आधे पुरुष किसी न किसी समय ईडी की समस्या देखने को मिलती है। कुछ दवाओं के दुष्प्रभाव टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बदल सकते हैं, जिससे ईडी भी हो सकता है। मधुमेह के साथ आने वाली अन्य स्थितियां भी ईडी में योगदान कर सकती हैं। T2DM के साथ वयस्कों में सेक्शुअलिटी की समस्या हैं:

  • मोटापा
  • उच्च रक्त चाप
  • अवसाद, कम आत्मसम्मान और चिंता
  • निष्क्रिय होना या पर्याप्त व्यायाम न करना

डायबिटीज से प्रभावित पुरुषों में सेक्स से जुड़ी नीचे बताई गई समस्याएं हो सकती हैं:

और पढ़ें:हायपरटेंशन को मैनेज करने के लिए यह खास फ्रूट्स और फ्रूट जूस हो सकते हैं फायदेमंद!

डायबिटीज से प्रभावित महिलाओं में सेक्स से जुड़ी आम समस्याएं (Common sex problems in women with diabetes)

महिलाओं के लिए, टाइप 2 मधुमेह के साथ आने वाली सबसे आम यौन स्वास्थ्य समस्या योनि का सूखापन है। यह हार्मोनल परिवर्तन या जननांगों में रक्त के प्रवाह में कमी का परिणाम हो सकता है। जिन महिलाओं को मधुमेह है, उनमें योनि में संक्रमण और सूजन की की समस्या भी देखने को मिलती है। ये दोनों ही सेक्स को दर्दनाक बनाने का कारण बन सकते हैं। मधुमेह से पीड़ित महिलाओं में भी बार-बार यूरिन इंफेक्शन (यूटीआई) होने की संभावना अधिक होती है। यह सेक्स को दर्दनाक और असहज भी कर सकता है। T2DM के साथ वयस्कों में सेक्शुअलिटी की समस्या हो सकती हैं:

  • सेक्स उत्तेजना में कमी
  • योनी में सूखेपन की समस्या का होना
  • और्गज्म तक न पहुंचना
  • बांझपन की समस्या का होना
  • सेक्स के दौरान दर्द महसूस करना
  • योनी में बार-बार इन्फेक्शन होने की समसया आदि।

और पढ़ें: हायपरटेंशन में एक्यूप्रेशर भी पहुंचा सकता है आराम, जानिए ब्लड प्रेशर को कम करने वाले पॉइंट्स के बारे में

टाइप 2 मधुमेह को अपने यौन जीवन को कैसे बेहतर बनाएं (How to make type 2 diabetes better your sex life)

टाइप 2 मधुमेह के साथ होने वाली यौन समस्याएं निराशाजनक हो सकती हैं और उनके जीवन में चिंता का कारण भी बन सकती हैं। इसलिए आपकी डायबिटीज का कंट्रोल होना बहुत जरूरी है। इसके लिए आप डॉक्टर द्वारा बताएं गए मेडिकेशन का पालन करें। समय पर दवा करें। जब डायबिटीज कंट्रोल होगी, तो आपके इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज भी आसान हो जाएगा। इसका इलाज आपकी स्थिति और डायबिटीज के स्तर पर निर्भर करता है। हालांकि, आप टाइप 2 मधुमेह होने के बावजूद सक्रिय यौन जीवन को बनाए रखने का प्रयास कर सकते हैं। जीवनशैली में बदलाव, दवाएं, और अपने साथी के साथ बेहतर रिश्ते बनाने में बनाने की काेशिश करें। इसके अलावा, T2DM के साथ वयस्कों में सेक्शुअलिटी की समस्या की अधिक जानकारी के लिए अपने डाॅक्टर से बात करें।

 

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड