home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

डांस बीट्स पर थिरकने के एक नहीं ब्लकि अनेक हैं फायदे

डांस बीट्स पर थिरकने के एक नहीं ब्लकि अनेक हैं फायदे

खुशी के हर मौके पर डांस का नाम सुनते ही हमारे कदम थिरकने लगते हैं। हालांकि सच तो यह है कहीं भी डांस बीट्स सुनकर हमारे पांव थिरकते हैं। क्या आपने सोचा है कि कितना अच्छा होता अगर नाचते हुए आपकी सेहत भी सुधर जाती। डांस के बहुत से प्रकार होते हैं। खासकर भारत जैसे देश में जहां डांस के अनगिनत फॉर्म्स उपलब्ध हैं। डांस करते समय आप अपने शरीर के हर हिस्से का उपयोग करते हैं इसलिए ये व्यायाम का बहुत अच्छा तरीका बन जाता है। आज इस आर्टिकल में डांस बीट्स के फायदे को समझने की कोशिश करेंगे, जो हम सबको हेल्दी रखने के साथ ही तनाव मुक्त भी रखने में मददगार होगा।

डॉक्टर्स कहते हैं कि शारीरिक स्वास्थ्य के साथ डांस करने से मन खुश होता है जिससे मानसिक स्वास्थ्य में सुधार लाया जा सकता है। डांस की सबसे बड़ी खासियत है कि इसे किसी भी उम्र के लोग आसानी से कर सकते हैं। इसलिए डांस बीट्स के फायदे सभी को होते हैं। नियमित डांस करने के मूल रूप से यह फायदे हो सकते हैं :

डांस बीट्स के फायदे 1: डांस करने से आपके हृदय और फेफड़ों की स्थिति में सुधार आता है।

डांस बीट्स के फायदे 2: मांसपेशियां मजबूत होती हैं और मोटर फिटनेस भी बढ़ती है।

डांस बीट्स के फायदे 3: डांस करने से आप अपने वजन पर भी नियंत्रण पा सकते हैं

डांस बीट्स के फायदे 4: ऑस्टियोपोरोसिस पर भी किया जा सकता है नियंत्रण।

डांस बीट्स के फायदे 5: खासकर शारीरिक आत्मविश्वास में भी होती है वृद्धि।

डांस बीट्स के फायदे 6: सामाजिक सरोकार में भी होती है वृद्धि।

यह भी पढ़ें: स्पोर्ट्स स्टार्स की तरह करनी है फिटनेस लेकिन महंगे प्रोटीन पाउडर नहीं ले सकते? तो ऐसे घर पर बनाएं

डांस फॉर्म्स और उनसे जुड़े फायदे!

बॉलरूम डांसिंग

वाल्ट्ज, स्विंग, फॉक्सट्रॉट, रूंबा और टैंगो कुछ आम बॉलरूम डांसिंग स्टाइल हैं। इन स्टाइल्स में आपको एक पार्टनर की जरूरत पड़ेगी और ये डांस दोनों पार्टनर्स के लिए एक्सरसाइज का काम करेगा।

बेली डांसिंग

यह बहुत ही प्रचलित डांस फॉर्म है। इसकी शुरुआत मिडिल ईस्ट से हुई थी। यह भी पेट की सभी मांसपेशियों की एक्ससरसाइज का एक अच्छा और मजेदार विकल्प है। डांस बीट्स के फायदे कहें या बेली डांसिंग के दौरान प्रस्तुत किया जाने वाला म्यूजिक आपके मूड को अच्छा करता है और इसके साथ ही यह पेट के लिए बेहतरीन एक्सरसाइज भी होती है।

हिप – हॉप

डांस बीट्स के फायदे हिप-हॉप फॉर्म से मिल सकते हैं। देखा जाए तो यह शहरों में काफी प्रचलित है। ब्रेकिंग, पोप्पिंग, लॉकिंग और फ्रीस्टाइल कुछ आम प्रकार हैं। अगर आप अपने शरीर को लचीला बनाना चाहते हैं तो यकीन मानिए इससे अच्छा कोई भी तरीका नहीं है।

यह भी पढ़ें: आंखों की एक्सरसाइज के साथ ही कैलोरी बर्न भी करता है भारतीय नृत्य

भारतीय डांस बीट्स या फॉर्म के फायदे

भरतनाट्यम, ओडिसी, कथकली, कुचिपुड़ी, गरबा और मणिपुरी कुछ आम डांस फॉर्म्स हैं। इन सभी के भी कई स्वास्थ्य संबंधी लाभ हैं जैसे :

  1. शरीर में संतुलन का बढ़ना।

2 . शरीर में लचीलेपन का बढ़ना।

  1. शारीरिक क्षमता या स्टेमिना का बढ़ना।

4 . कार्यकुशलता और ध्यान में भी होती है बढ़ोत्तरी।

5 . स्वस्थ हृदय और खून के संचालन के लिए भी लाभकारी है भरतनाट्यम।

6 . भरतनाट्यम में डांसर आंखों, लिप्स और चेहरे के विभिन्न भागों के इस्तमाल से भावों को व्यक्त करता है। इसकी वजह से चेहरे की सभी मांसपेशियों की समान रूप से एक्ससरसाइज हो जाती है।

इसलिए अगर आपको भी जिम में घंटों बिताना नहीं पसंद है, लेकिन आप सुगंठित और स्वस्थ शरीर चाहते हैं तो डांस क्लास ज्वाॅइन करें। इससे आपका मन और शरीर दोनों ही स्वस्थ हो जाएगा। रोजाना थोड़ा वक्त निकालकर डांस करें। हालांकि डांस करने के दौरान कुछ बातों को ध्यान रखना बेहद जरूरी है। इसलिए निम्नलिखित टिप्स को फॉलो करें।

यह भी पढ़ें: थुलथुली बांहों को टोन करने के लिए करें ईजी आर्म्स एक्सरसाइज

वॉर्मअप करें- आप शायद यह सोच रहें हों कि वॉर्मअप तो वर्कआउट करने के पहले करना चाहिए, लेकिन डांस भी एक्सरसाइज से कम नहीं है। इसलिए डांस करने से पहले वॉर्मअप जरूर करें। इससे शरीर में डांस करने के दौरान होने वाले खिंचाव से बचा जा सकता है, बॉडी और मसल्स में दर्द नहीं होगा, बॉडी एक्टिव रहेगी, वॉर्मअप करने से व्यायाम या डांस का ज्यादा फायदा मिलता है। वहीं बॉडी का टेम्प्रेचर सामान्य से ज्यादा बढ़ सकता है। यही नहीं फिजिकली और मेंटली दोनों तरह से बॉडी वर्कआउट या डांस के लिए तैयार रहती है।

हाइड्रेट रहें- डांस करने के दौरान बॉडी डीहाइड्रेट होती है। इसलिए जिस तरह से एक्सरसाइज करने के दौरान आप पानी पीते हैं ठीक उसी तरह से डांस करने के दौरान भी बॉडी को डीहाइड्रेट होने न दें। अपने साथ पानी की बोतल कैरी करें। एक दिन में कम से कम ढ़ाई से तीन लीटर पानी का सेवन करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: ट्रैम्पोलिन एक्सरसाइज क्या है, ये कैसे किया जाता है और इसके क्या फायदे हैं

आरामदायक कपड़े- डांस करने के दौरान आरामदायक कपड़े पहनें। अगर जूते पहनकर डांस कर रहीं हैं या कर रहें हैं तो आरमदायक जूतों का चयन करें। ऐसा करने से डांस करने के दौरान आप परेशानी महसूस नहीं करेंगे और थोड़ा ज्यादा वक्त आप डांस को दे पाएंगे।

पौष्टिक आहार- हेल्दी और हैप्पी रहने के लिए पौष्टिक आहार का भी सेवन करना बेहद जरूरी है। रोजाना अपने डायट में मौसमी फल, हरी सब्जियां, साबूत अनाज, दाल, रोटी, सब्जी, चिकन, अंडे और दूध जैसे अन्य खाद्य पदार्थों के साथ-साथ पेय पदार्थों का सेवन करें।

आवाज ज्यादा तेज न रखें- डांस बीट्स के फायदे तो हैं, लेकिन आवाज को अत्यधिक तेज रखना सुनने की क्षमता पर नकारात्मक असर डाल सकता है। इसलिए 115 + डेसीबल से ज्यादा आवाज तेज न करें।

यह भी पढ़ें: हैंगओवर में वर्कआउट करने से करें तौबा, शरीर को हो सकते हैं ये नुकसान

साउंड स्लीप स्वस्थ रहने की कुंजी में से एक है साउंड स्लीप। रोजाना समय से सोने की आदत और समय से जागने की आदत डालनी चाहिए। सात से आठ घंटे की नींद भी रोजाना लेना शरीर को स्वस्थ रखने के लिए बेहद जरूरी है।

इसलिए अब भारी भरकम एक्सरसाइज या जिम में वजन कम करने की तकलीफ नहीं करनी पड़ेगी। सुबह-सुबह पार्क में जॉगिंग या रनिंग करने की जरूरत भी नहीं है। फिट रहने के लिए रोजाना डांस करने से भी शरीर को फिट बनाए रखा जा सकता है। डांस एक ऐसी एक्टिविटी है जो पूरे बॉडी को फिट रहने में मदद करती है और इसे हर उम्र के लोग कर सकते हैं।

इससे जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

[mc4wp_form id=”183492″]

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा उपचार व निदान प्रदान नहीं करता है।

और पढ़ें:

कहीं आपके पसीने से लथपथ कपड़े और जिम बैग से तो नहीं आता बदबू, जानें जिम किट की स्मेल कैसे करें कम

योगा या जिम शरीर के लिए कौन सी एक्सरसाइज थेरिपी है बेस्ट

जिम में जर्म्स भी होते हैं, संक्रमण से बचने के लिए इन बातों का रखें ध्यान

सिर्फ जिम जाना ही नहीं, जिम में बॉडी बनाने के तरीके भी जानना है जरूरी

 

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Dance – health benefits/https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/HealthyLiving/dance-health-benefits?viewAsPdf=true/Accessed on 14/05/2020

Dance – health benefits/https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/dance-health-benefits/Accessed on 14/05/2020

The Healing Powers of Dance/https://www.aarp.org/health/fitness/info-03-2011/dance-for-health.html/Accessed on 14/05/2020

Got to Dance: The Mental and Physical Benefits of Dance/https://www.walkitscience.org/physical-health-1/physical-activity/got-to-dance/Accessed on 14/05/2020

Aerobic exercise: Top 10 reasons to get physical/https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/fitness/in-depth/aerobic-exercise/art-20045541/Accessed on 14/05/2020

Top 10 Safety Tips from DanceSafe/https://dancesafe.org/top-10-safety-tips-from-dancesafe/Accessed on 14/05/2020

 

लेखक की तस्वीर badge
Suniti Tripathy द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 09/07/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड