home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

हैंगओवर में वर्कआउट करने से करें तौबा, शरीर को हो सकते हैं ये नुकसान

हैंगओवर में वर्कआउट करने से करें तौबा, शरीर को हो सकते हैं ये नुकसान

रात को यदि आप ज्यादा शराब पी लें तो सुबह आपको हैंगओवर हो जाता है। दरअसल हैंगओवर एक आम परेशानी है। ज्यादा एल्कोहॉल पी लेने के बाद अक्सर लोगों को हैंगओवर की शिकायत होती है। इस स्थिति में आमतौर पर लोगों को सिरदर्द, सिर भारी होना, घबराहट, सीने में जलन और उल्टी आदि आने की शिकायत होती है। शराब सेहत के लिए हानिकारक है लेकिन इसके बावजूद भी लोग इस खराब लत को नहीं छोड़ते। नींद आना, सिर दर्द या सिर में भारीपन, उल्टी आना हैंगओवर के लक्षण हैं। शराब के बाद हैंगओवर को दूर करने के लिए दही, नारियल पानी, अदरक, नींबू पानी आदि घरेलू नुस्खों को अपनाया जाता है। इस हैंगओवर में वर्कआउट करना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। हैलो स्वास्थ्य से बात करते हुए गोल्डन जिम के ट्रेनर शुभम पटेल ने बताया हैंगओवर में वर्कआउट करने के नुकसानों के बारें में।

हैंगओवर में वर्कआउट का सेहत पर क्या असर पड़ता है?

दरअसल, एल्कोहॉल की वजह से शरीर में कई सारे बदलाव होते हैं। हैंगओवर में वर्कआउट करने से मसल सोरनेस यानी मांसपेशियों में सूजन का खतरा बढ़ जाता है। इसके साथ ही निम्नलिखित परेशानी भी हो सकती है।

[mc4wp_form id=”183492″]

डिहाइड्रेशन ज्यादा होता है

एल्कोहॉल के कारण डिहाइड्रेशन बहुत ज्यादा होता है और जब आप एक्सरसाइज करते हैं तो इससे और भी ज्यादा डिहाइड्रेशन होने लगता है। एल्कोहॉल से डिहाइड्रेशन का कारण यह है कि एल्कोहॉल शरीर के सारे फ्लूइड को निकालकर यूरिन या पसीने के माध्यम से बाहर निकाल देता है। इसके कारण शरीर में पानी की कमी बहुत ज्यादा मात्रा में हो जाती है। यदि आप एक्सरसाइज करते हैं तो डिहाइड्रेशन की समस्या और भी ज्यादा बढ़ जाती है। यह स्थिति आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकती है। इसलिए अगर आपने ड्रिंक किया है और हैंगओवर महसूस हो रहा है, तो ऐसे में एक्सरसाइज न करें।

मसल स्ट्रेन से लेकर क्रैंप तक आ सकता है

हैंगओवर के दौरान इंजरी का खतरा बढ़ जाता है। हैंगओवर में वर्कआउट करने से मसल स्ट्रेन, क्रैंप, इलेक्ट्रोलाइट इंम्बेलेंस और मसल पूल की समस्या हो सकती है।

और पढ़ेंलो कैलोरी एल्कोहॉलिक ड्रिंक्स के साथ सेलिब्रेट करें यह दीपावली

कैफीन से दूर रहें

हैंगओवर से एक तो पहले ही आप डिहाइड्रेट होते हैं ऐसे में यदि हैंगओवर में वर्कआउट करें तो यह आपके शरीर में पानी की कमी को और भी बढ़ा देता है। इसके साथ ही यदि आप दिन भर कैफीन आदि का उपयोग करते हैं तो डिहाइड्रेशन दुगुनी तेजी से होने लगता है। इसका असर रात के समय ज्यादा होता है। यानी आप स्लीप डिहाइड्रेशन का शिकार हो सकते हैं। ​स्लीप डिहाइड्रेशन के कारण रात को बार-बार उठने से लेकर दूसरे दिन की सुबह आलस और सिर दर्द का शिकार आप बन जाते हैं।

योग और मानसिक स्वास्थ्य को जानने के लिए वीडियो देख लें एक्सपर्ट की राय

हैंगओवर में वर्कआउट करने के ये खतरे

एनर्जी बहुत डाउन रहती है

शराब पीने के बाद आपको लगता है कि बहुत अच्छी नींद आती है लेकिन यह सच नहीं है। एल्कोहॉल के बाद बॉडी बहुत अच्छी तरह रिकवर या रिलेक्स नहीं कर पाती और आपकी नींद अधूरी सी रहती है। आपका शरीर एल्कोहॉल में मौजूद टॉक्सिन से लड़ने और डिहाइड्रेशन की वजह से रात भर सक्रिय रहता है यानी आपको भरपूर नींद नहीं मिल पाती है। शरीर को आराम नहीं मिलने के कारण जब आप दूसरे दिन हैंगओवर में वर्कआउट करते हैं तो वर्कआउट फायदा पहुंचाने के जगह नुकसान पहुंचा देती है। इस दौरान आपका एनर्जी लेवल भी कम होता है जिस कारण आप यदि हैवी वर्कआउट करते हैं तो यह आपको और ज्यादा थका देता है।

मसल टू माइंड का कनेक्शन नहीं हो पाता

वर्कआउट सिर्फ फिजिकल वर्कआउट नहीं होता है। इसका सीधा कनेक्शन माइंड के साथ होता है। यदि आपका माइंड शांत ना हो तो आप सही से वर्कआउट नहीं कर पाते हैं। यानी मसल टू माइंड का कनेक्शन नहीं हो पाता और आपकी एक्सरसाइज का आपकी मसल्स पर नकरात्मक असर पड़ता है।

और पढ़ें— वीकैंड पर करो जमकर पार्टी और सोमवार से ऐसे घटाओ वजन

लक्ष्य प्राप्त नहीं कर पाते

यदि हर दूसरे-तीसरे दिन आप हैंगओवर के नशे में रहते हैं तो यह आपको अपनी लक्ष्य प्राप्ती से भी रोकता है। हैंगओवर में वर्कआउट कारगर साबित नहीं हो सकता क्योंकि एल्कोहॉल में एम्पटी कैलोरी होती हैं। यह एम्पटी कैलोरी आपके फैट को कम करने के बजाए बढ़ा देती हैं।

हैंगओवर में वर्कआउट का कोई परिणाम प्राप्त नहीं होता उल्टा यह नुकसान ही करता है। इसलिए यदि आप हैंगओवर को आदत ना बनाए तो अच्छा होगा। इसके साथ ही यदि हैंगओवर में वर्कआउट कर रहे हैं तो इसके नियम फॉलो करें।

हार्ट के लिए है खतरनाक

हैंगओवर में वर्कआउट करने से इसका असर दिल पर भी पड़ता है। दरअसल, एल्कोहॉल के सेवन से शरीर में कॉर्टिसोल हॉर्मोन लेवल सामान्य से ज्यादा हो जाता है। ऐसी स्थिति में दिल की धड़कन भी सामान्य से ज्यादा तेज हो जाती है और व्यक्ति हांफने लग सकता है। इसका असर आर्ट्रिज पर भी पड़ सकता है। एक्सरसाइज करने के दौरान भी हृदय गति तेज हो जाती है। इसलिए हैंगओवर होने की स्थिति में वर्कआउट न करें।

नींद पर पड़ता है नकारात्मक प्रभाव

वैसे तो कई लोगों का मानना है की ड्रिंक करने के बाद नींद आ जाती है लेकिन, सच तो ये है की एल्कोहॉल का नींद पर बुरा असर पड़ता है। रिसर्च के अनुसार डिहाइड्रेट होने की वजह से नींद न आने की या बार-बार नींद टूटने की परेशानी हो सकती है।

हैंगओवर में वर्कआउट करने से ये सारी परेशानी हो सकती है। इसलिए हैंगओवर में वर्कआउट न करें। अगर कोई व्यक्ति सामान्य से ज्यादा एल्कोहॉल का सेवन कर लेता है, तो हैंगओवर जैसी स्थिति हो जाती है। यहां कुछ आसान उपाय दिए जा रहें हैं, जिससे हैंगओवर से बचा जा सकता है। जैसे:-

  • ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं
  • नारियल पानी पीएं
  • हैंगओवर की स्थिति होने पर जब आप सुबह जागें तो हैवी ब्रेकफास्ट करें
  • भूखे न रहें। इसलिए समय-समय पर खाना खाते रहें
  • नींबू पानी का सेवन करें
  • साउंड स्लीप लेने की कोशिश करें
  • बेहतर होगा की एल्कोहॉल का सेवन न करें या कम से कम करें

इसलिए अगर आपको हैंगओवर की समस्या होती है, तो ऊपर बताये गए उपायों को अपना सकते हैं और रोजाना किये जाने वाले वर्कआउट को स्किप करने से बच सकते हैं।

क्यों होता है हैंगओवर

शराब में एक खास प्रकार का तत्व पाया जाता है, जिसे एथेनॉल कहा जाता है। यदि आप शराब का सेवन करते हैं तो आपका स्टमक करीब 20 फीसदी एथनॉल एब्जॉर्म कर लेता है। बाकी का अन्य स्मॉल इंटेस्टाइल एब्जॉर्ब करता है। एथनॉल रक्तकोशिकाओं से होते हुए पूरे शरीर यहां तक कि दिमाग में भी चला जाता है। एथनॉल में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो व्यक्ति को तुरंत डिहाइड्रेट कर देता है। सिर दर्द के कारण कई अन्य लक्षण भी दिखने लगते हैं। रक्तकोशिकाओं में एथनॉल के जाते ही यह सिर दर्द जैसे लक्षण पैदा करता है। यह ब्लड वैसल्स को फैलने के कारण होता है। इस प्रक्रिया का असर दिमाग की नसों पर भी पड़ता है और सिर दर्द करता है। शराब का सेवन करने की वजह से कैमिकल्स और हार्मोन पर भी असर पड़ता है।

शरीर में इन लक्षणों को महसूस करें तो तुरंत डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए

  • कंफ्यूड होने की स्थिति में
  • स्किन का रंग डार्क ब्लू और पर्पल होने पर
  • सांस लेने में परेशानी और ज्यादा सांस लेने पर
  • सांस लेते लेते रुकने पर
  • ठंड लगने पर
  • बेसुध होने की स्थिति में

कुल मिलाकर कहा जाए तो शराब का नियमित मात्रा में ही सेवन करना चाहिए। वहीं जब स्थिति बिगड़ जाए तो जल्द से जल्द डॉक्टरी सलाह भी लेना चाहिए। अगर आप हैंगओवर में वर्कआउट से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

The Hangover Workout/https://www.mensjournal.com/health-fitness/the-hangover-workout-w466968/Accessed on 22/04/2020

How To Work Out with a Hangover: Your Expert Guide to Safe-Sweating/https://www.womenshealthmag.com/uk/fitness/strength-training/a703344/hangover-workout/Accessed on 22/04/2020

Hangover/https://www.medicalnewstoday.com/articles/324178.php/Accessed on 22/04/2020

Hangover Headache/https://www.healthline.com/health/headache/hangover-headache/Accessed on 22/04/2020

Hangover reasons study/https://www.health.harvard.edu/staying-healthy/7-steps-to-cure-your-hangover-and-ginkgo-biloba-whats-the-verdict/Accessed on 22/04/2020

 

 

 

 

लेखक की तस्वीर badge
Hema Dhoulakhandi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/09/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड