home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

लॉकडाउन में इन हेल्थ टिप्स की मदद से रखें अपनी सेहत का ख्याल

लॉकडाउन में इन हेल्थ टिप्स की मदद से रखें अपनी सेहत का ख्याल

कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के बीच सोशल डिस्टेंसिंग को ही एक मात्र समाधान माना जा रहा है। क्योंकि, सोशल डिस्टेंसिंग ही इस खतरनाक बीमारी को फैलने से रोक सकती है। हालांकि, विशेषज्ञों का मानना है कि पूरे देश में सोशल डिस्टेंसिंग के कारण लोग डिप्रेशन में जा रहे हैं। ऐसे लोगों में कई तरह की अजीब आदतें विकसित हो रही हैं, जिसमें ठूस-ठूस के खाने की आदत का विकास शामिल है। ठूस-ठूस कर खाने के कारण हॉर्मोनल इम्बैलेंस हो जाता है- लेप्टिन और घ्रेलिन। इसलिए आपको लॉकडाउन में हेल्थ टिप्स अपनाने की बहुत जरूरत है।

यह भी पढ़ें: UV LED लाइट सतहों को कर सकती है साफ, कोरोना हो सकता है खत्म

ठूस-ठूस कर खाना क्या ईटिंग डिसऑर्डर है?

विटाबायोटिक्स के वाइस प्रेसिडेंट और फिटनेस व न्यूट्रिशन एक्सपर्ट रोहित शेलात्कर के अनुसार ठूस-ठूस कर खाना एक ईटिंग डिसऑर्डर है। जिसमें कम समय में खाना की ज्यादा मात्रा को ठूस-ठूस कर खाया जाता है। स्ट्रेस और तनाव के कारण हमारे शरीर में कॉर्टिसोल हॉर्मोन स्रावित होता है, जिससे हमें ज्यादा दबाव और टेंशन महसूस होता है। कॉर्टिसोल के स्रावण के कारण ही व्यक्ति के अंदर ठूस-ठूस के खाने की आदत विकसित हो जाती है। इस ईटिंग डिसऑर्डर से ग्रसित व्यक्ति कम समय में ज्यादा खा लेता है और फिर ज्यादा पेट भरने से उसे ग्लानि महसूस होती है।

यह भी पढ़ें: अब यह समस्या भी हो सकती है कोरोना का नया लक्षण, हो जाएं सावधान

लॉकडाउन में हेल्थ टिप्स को अपनाएं, जिससे आपको इन ठूस-ठूस कर खाना खाने की इस हानिकारक आदत से छुटकारा मिल सके :

लॉकडाउन में हेल्थ टिप्स: अपना रूटीन बनाएं

लॉकडाउन का सबसे बुरा असर लोगों की दिनचर्या पर पड़ रहा है। लॉकडाउन के दौरान कई लोगों ने देर से सोने की आदतों और देरी से सुबह उठने की बात कही है। यह पैटर्न स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा नहीं है और ठूस-ठूस कर खाना खाने की आदत को विकसित करता है। उसी से बचने के लिए, आपको एक दिनचर्या बनानी चाहिए और उसका पालन पूरी तरह इमानदारी से करना चाहिए। घर के सभी कामों के लिए एक शेड्यूल तय करें। शारीरिक गतिविधियों को करने के लिए आपको हमेशा एक्टिव रहना चाहिए। इसके अलावा, आप इस बात का विशेष ध्यान रखें कि आपकी दिनचर्या लॉकडाउन शुरू होने के पहले जैसी हो। बस आप घर में रहें और अपना रूटीन फॉलो करें।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस के मुश्किल समय में जीवन रक्षक बन रही है भारतीय डाक सेवा

लॉकडाउन में हेल्थ टिप्स: हेल्दी खाएं

कोई फर्क नहीं पड़ता है कि खाना कितना स्वादिष्ट दिखता हैं, बस आप ये समझ लीजिए कि आपको उतना ही खाना है, जितनी भूख है। चॉकलेट, कैंडी, चिप्स और अन्य जंक फूड से खाने से लॉकडाउन के दौरान बचना चाहिए। चावल, दाल, फलियां, बाजरा और सब्जियों जैसे हेल्दी फूड्स को अपनी थाली का हिस्सा बनाएं। इसका उपयोग करके घर पर पकाए गए भोजन को एक निश्चित मात्रा में खाने की सलाह दी जाती है। स्नैकिंग के लिए आप मूंगफली, भुने हुए छोले, विभिन्न प्रकार के भुने हुए बीज और फलों जैसे स्वास्थ्यप्रद विकल्पों पर स्विच कर सकते हैं। लॉकडाउन में हेल्दी टिप्स को अपना कर आप ईटिंग डिसऑर्डर से बच सकते हैं।

लॉकडाउन में हेल्थ टिप्स: सकारात्मक रहें

कोरोना के समय में ये लॉकडाउन का दौर बेहद उबाने वाला साबित हो सकता है। हालांकि, हर किसी को यह समझना चाहिए कि यह लॉकडाउन सभी की भलाई के लिए एक अस्थायी व्यवस्था है। जब भी आपको तनाव हो तो संगीत सुनने या व्यायाम करने जैसी एक्टिविटी कर के अपना माइंड डायवर्ट करना चाहिए। इसके अलावा, अगर कोई परेशानी महसूस हो रही है, तो दोस्त या करीबी रिश्तेदार से बात करना सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है। इस दौरान डिप्रेशन से बचे। इसलिए बात करने से आप सकारात्मक महसूस करेंगे, इसलिए आपको महसूस होगा कि आपकी तरह अन्य लोग भी लॉकडाउन में कैसे जी रहे हैं।

यह भी पढ़ें: चेहरे के जरिए हो सकता है इंफेक्शन, कोरोना से बचने के लिए चेहरा न छूना

लॉकडाउन में हेल्थ टिप्स: नई हॉबी विकसित करें

कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आप हर समय कितना व्यस्त है, आपको ये सोचना चाहिए कि आप किस तरह से अपनी हॉबी विकसित कर सकते हैं। आप को अपने जीवन का शुक्रगुजार होना चाहिए कि आपको जीवन में इतना समय मिला है और आप इन घंटों का सबसे अच्छा उपयोग कैसे कर सकते हैं आपको ये सोचना चाहिए। आप एक नया शौक अपना कर अपनी प्रतिभाओं को बढ़ा सकते हैं। ऐसी एक्टिविटीज करें कि आप खुद को व्यस्त रख सकें, जैसे- किताबें पढ़ना, खाना पकाने, एक नई भाषा सीखने, ऑनलाइन स्टडी में नामांकन और कई अन्य कामों में खुद को लगा सकते हैं।

लॉकडाउन में हेल्थ टिप्स: एक्सरसाइज करें

लॉकडाउन में हेल्थ टिप्स में इस बात को भी ध्यान रखें कि आपको फिटनेस को नहीं भूलना चाहिए। आप घर पर हैं और ठूस-ठूस के खाना खाने की आदत को किसी भी तरह से खुद को अगर दूर करना है तो एक्सरसाइज से अच्छा जरिया कोई हो ही नहीं सकता है। इसके लिए आप रोजाना अपने शेड्यूल में एक्सरसाइज को शामिल करें। इसके अलावा आप योगा कर सकते हैं या ध्यान (Meditation) कर सकते हैं।

लॉकडाउन में कुछ अच्छा खाएं

  • लॉकडाउन में हमेशा खाने की आदत है तो कुछ अच्छा खाएं। इससे आपका स्वास्थ्य अच्छा होगा। आप लॉकडाउन के दौरान हेल्दी रेसिपी बनाना सीखें। इससे आप बोरिंग भी नहीं महसूस करेंगे और आप हेल्दी खाना खाने के कारण ठूस-ठूस कर खाना खाने से भी बचेंगे।
  • हल्दी का दूध पीना इस समय अच्छा विकल्प है। इसके लिए आप रोजाना रात में सोने से पहले हल्दी डाल कर दूध पी सकते हैं। इससे लॉकडाउन फैटिग से आपको राहत मिलेगी। वहीं, ज्यादा मूवमेंट ना होने के कारण आप ज्यादा मूवमेंट नहीं करते हैं तो आपके मांसपेशियों और हड्डियों में जकड़न हो सकती है। इसलिए हल्दी का दूध आपको फायदा पहुंचा सकता है।
  • बादाम, काजू, किशमिश, अखरोट आदि का सेवन करें। ड्राई फ्रूट का सेवन करने से हमें गुड फैट्स मिलता है। इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड दिल के लिए अच्छा होता है।
  • विटामिन और मिनरल से भरपूर फूड्स का सेवन करें। खास कर के विटामिन सी और विटामिन डी को जरूर अपनी थाली में शामिल करें। क्योंकि विटामिन सी इम्यून सिस्टम को दुरुस्त करती है और वहीं लॉकडाउन में घर में रहने के कारण हम किसी भी तरह से धूप के संपर्क में नहीं आ पाते हैं तो विटामिन डी के लिए सप्लीमेंट्स खाएं।
      • सुबह उठ कर नींबू पानी में शहद मिला कर पीने से आपकी बॉडी डिटॉक्स हो जाएगी। इसलिए आप अपने रूटीन में लॉकडाउन में हेल्थ टिप्स को फॉलो करें। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा सलाह, उपचार और निदान प्रदान नहीं करता।

और पढ़ें :-

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coronavirus:Why are we all feeling so tired right now?https://timesofindia.indiatimes.com/life-style/health-fitness/de-stress/why-are-we-all-feeling-so-tired-right-now-we-tell-you-the-reason/articleshow/75051504.cms Accessed on 5/5/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.html – Accessed on 5/5/2020

Why You Shouldn’t Stress About Lockdown Weight Gain – https://blogs.webmd.com/food-fitness/20200415/why-you-shouldnt-stress-about-lockdown-weight-gain -Accessed on 5/5/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.nhs.uk/conditions/coronavirus-covid-19/Accessed on 5/5/2020

लेखक की तस्वीर badge
डॉ. रोहित शेलात्कर द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/06/2020 को
x