home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

हार्ट ब्लॉकेज में योगा : इस कठिन समस्या का आसान समाधान

हार्ट ब्लॉकेज में योगा : इस कठिन समस्या का आसान समाधान

हमारा हार्ट (Heart) एक ऐसा अंग है जो लगातार काम करता है। जब हम सो रहे हों या आराम कर रहे हों तब भी। हमारी बॉडी में लगातार ब्लड को पंप करने के लिए हृदय का इस प्रकार काम करना जरूरी है, लेकिन हृदय के इस काम में व्यवधान तब आता है जब हार्ट में ब्लॉकेज (Blockage in heart) हो जाता है। इस परेशानी से बचने या परेशानी को मैनेज करने के कई तरीके हैं जिनमें से एक है हार्ट ब्लॉकेज में योगा। योगा ब्लड सर्क्युलेशन में सुधार करने और ब्लड कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने और प्लाक के बिल्ड अप को कम करने में प्रभावी बताया गया है। जिससे एथेरोस्क्लेरोसिस, हार्ट अटैक, स्ट्रोक और हार्ट ब्लॉकेज का खतरा कम हो जाता है।

हार्ट ब्लॉकेज में योगा (Yoga for heart blockage) पॉज कौन से किए जा सकते हैं और किनसे बचना चाहिए इसके बारे में इस आर्टिकल में जानकारी दी जा रही है, लेकिन इसके पहले जान लेते हैं। हार्ट ब्लॉकेज के बारें।

हार्ट ब्लॉकेज (Heart blockage) क्या होता है?

हार्ट ब्लॉकेज एक ऐसा शब्द है जो आमतौर पर कोरोनरी आर्टरी डिजीज का जिक्र करने वाले मरीजों द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। प्लाक का बिल्ड अप आर्टरीज के संकरे होने का कारण बनता है। यह हार्ट ब्लॉकेज अगर अधिक गंभीर है तो यह मांसपेशियों को कार्य करने के लिए आवश्यक रक्त प्राप्त करने से रोक सकता है। विशेष रूप से ऐसे समय में जब अधिक रक्त प्रवाह की आवश्यकता होती है जैसे कि एक्सरसाइज करते समय। ऐसे में सीने में दर्द और सांस लेने की तकलीफ जैसे लक्षण दिखाई देते हैं।

और पढ़ें: एंटीप्लेटलेट एजेंट और ड्युअल एंटीप्लेटलेट थेरिपी : हार्ट डिजीज में मानी जाती है बेहद कारगर

हार्ट ब्लॉकेज में योगा (Yoga in Heart blockage)

हार्ट ब्लॉकेज में योगा (Yoga for heart blockage) फायदेमंद हो सकता है। योगा के कई फॉर्म हैं जो ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करने के लिए साथ ही हार्ट ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करते हैं। जिससे हार्ट डिजीज का खतरा कम हो जाता है। साथ ही ये कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मददगार बताए गए हैं जो हार्ट ब्लॉकेज का कारण बन सकता है। यहां हम आपको हार्ट ब्लॉकेज के लिए कुछ ऐसे ही योगासनों के बारे में बता रहे हैं जो मददगार हो सकते हैं। इसके साथ ही ये यह अनिद्रा, डिप्रेशन और एंजायटी से भी राहत दिलाने में मदद करते हैं।

ताड़ासन (Mountain Pose)

हार्ट ब्लॉकेज में योगा

जमीन पर सीधे खड़े हो जाएं, एड़ियां एक-दूसरे को छूएं और पैरों को थोड़ा अलग रखें। तलवों को हर समय जमीन पर रखें और हाथों को दोनों तरफ सीधा रखें। आगे की दिशा में देखें और इस स्थिति में 5 मिनट तक रहें। एक मिनट का ब्रेक लें और इसे 3-4 बार दोहराएं।

हार्ट ब्लॉकेज में योगा (Yoga for heart blockage) पॉजेस की लिस्ट में इसको शामिल किया जा सकता है। यह आसान योगा पॉज ब्रीदिंग को सुधारने, टेंशन को कम करने और ब्लड सर्कुलेशन को सुधारने में मदद करता है। यह हार्ट को स्ट्रेंथ देने में भी मदद करता है

और पढ़ें: हार्ट डिजीज में बैलून थेरिपी किस तरह होती है मददगार?

वृक्षासन (Tree Pose)

हार्ट ब्लॉकेज में योगा

फर्श पर सीधे खड़े हो जाएं। अपनी दोनों हाथों को सीने के सामने लाएं और हथेलियों को प्रार्थना की मुद्रा में मिला लें। अब हथेलियों को आपस में जोड़कर रखते हुए अपने दोनों हाथों को ऊपर की ओर फैलाएं। अपने दाहिने घुटने को मोड़ें और अपने दाहिने पैर के तलवे को बाईं जांघ के अंदरूनी हिस्से पर रखें। अपने बाएं पैर को सीधा रखें और जितनी देर हो सके इस स्थिति में रहें। एक मिनट के लिए आराम करें और इसे दूसरी तरफ बाएं पैर से करें। 5 बार दोहराएं।

हार्ट ब्लॉकेज में योग की लिस्ट में आसन को भी आसानी से शामिल किया जा सकता है। यह ब्लड सर्क्युलेशन में सुधार करने के साथ ही स्पाइनल हेल्थ में भी सुधार करता है। हार्ट को हेल्दी रखने के लिए इस योगासन को रोजाना किया जा सकता है।

भुजंगासन (Cobra Pose)

हार्ट ब्लॉकेज में योगा (Yoga for heart blockage)

पेट के बल सीधे लेट जाएं और सिर को जमीन पर रख लें। अपने दोनों हाथों को अपने कंधों के दोनों ओर रखें। धीरे-धीरे, अपनी हथेलियों पर दबाव डालें और अपनी पीठ और पेट की मांसपेशियों को खींचते हुए अपने शरीर को धड़ से ऊपर उठाएं। अपनी बाहों को सीधा करें। छत पर एक बिंदु पर ध्यान स्थितर करें और लगभग 15-30 सेकंड के लिए इसी मुद्रा में रहें और सांस छोड़ते हुए प्रारंभिक स्थिति में लौट आएं।

हार्ट ब्लॉकेज में योगा (Yoga for heart blockage) की लिस्ट में इस पॉज को भी शामिल किया जा सकता है। यह एक ऐसा आसन है जो कई रोग स्थितियों से राहत दिलाने में मदद करता है। कोबरा मुद्रा न केवल पेट की चर्बी से छुटकारा पाने में मदद करती है बल्कि चेस्ट कैविटी (Chest cavity) को भी फैलाती है और हृदय की मांसपेशियों (Heart muscles) को मजबूत करती है।

और पढ़ें: कोलेस्ट्रॉल और हार्ट डिजीज: हाय कोलेस्ट्रॉल क्यों दावत दे सकता है हार्ट डिजीज को?

अर्ध मत्स्येन्द्रासन (Sitting Half Spinal Twist)

अपने पैरों को फैलाकर और पैरों को आपस में मिलाकर सीधे बैठें। अपने दाहिने पैर को मोड़ें और अपने दाहिने पैर की एड़ी को अपने बाएं कूल्हे के पास रखें। अब बाएं पैर को अपने दाहिने घुटने के ऊपर ले जाएं। अपने दाहिने हाथ को अपने बाएं पैर पर और अपने बाएं हाथ को अपने पीछे रखें। कमर, कंधों और गर्दन को बाईं ओर मोड़ें और बाईं ओर के कंधे के ऊपर देखें। इसी स्थिति में रहें और धीरे-धीरे सांस अंदर-बाहर करते रहें। धीरे-धीरे मूल प्रारंभिक स्थिति में वापस आएं और दूसरी तरफ भी इसी तरह दोहराएं।

हार्ट ब्लॉकेज में योगा (Yoga for heart blockage) की लिस्ट में इस आसन को शामिल करने की वजह ये है कि इसको करने से शरीर के ऊपरी हिस्से का स्ट्रेच पूरी रीढ़ पर काम करता है और बाएं और दाएं तरफ परफॉर्म करने पर छाती के किनारे ओपन होते हैं। यह हृदय की मांसपेशियों को भी उत्तेजित करता है, वर्टिब्रल कॉलम से स्टिफनेस को दूर करता है, और पल्स रेट को सामान्य करता है। इसका नियमित रूप से अभ्यास करने से रक्त में कोलेस्ट्रॉल का निर्माण नहीं होता है और दिल के दौरे और दिल के ब्लॉक होने का खतरा कम होता है।

यहां तक तो बात हुई कि हार्ट ब्लॉकेज में योगासनों (Yoga for heart blockage) की। अब उन योगासनों के बारे में भी जान लीजिए जो हार्ट हेल्थ के लिए अच्छे नहीं होते हैं।

और पढ़ें: हार्ट डिजीज में एसेंशियल ऑयल्स का प्रयोग कितना सुरक्षित है, जानिए

हार्ट डिजीज के मरीज हैं जो ना करें ये योगासन

निम्न योगासनों को हार्ट डिजीज के मरीजों को नहीं करना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए योगा एक्सपर्ट या फिटनेस एक्सपर्ट से सलाह ले सकते हैं।

चक्रासन (Wheel pose)

यह एक बैकएंड पोज है जिसमें अत्यधिक शक्ति और एक सिंक्रोनाइज्ड ब्रीदिंग पैटर्न की आवश्यकता होती है। इस मुद्रा का अभ्यास करने से हृदय पर बहुत अधिक दबाव पड़ सकता है, जिससे हृदय तेजी से ब्लड पंप कर सकता है।

हलासन (Plough pose)

इस प्रकार की मुद्रा में आप अपनी पीठ के बल लेट जाते हैं, अपने पैरों को उठाकर अपनी पीठ के पीछे रख लेते हैं। इससे हृदय आपके निचले शरीर में दबाव के साथ रक्त का संचार करता है क्योंकि यह गुरुत्वाकर्षण के विरुद्ध कार्य कर रहा है।

सर्वांगासन (Shoulder stand)

हार्ट डिजीज से ग्रसित होने पर इस आसन से पूरी तरह बचना चाहिए क्योंकि इसके लिए अपने कंधों पर खड़े होकर शरीर के ऊपरी हिस्से पर पूरी तरह दबाव डालना होता है। जिससे रक्त के संचलन के लिए हृदय गुरुत्वाकर्षण के विरुद्ध अधिक मेहनत करता है।

शीर्षासन (Head stand)

हार्ट डिजीज से पीड़ितों को इस आसन को भी पूरी तरह अवॉइड करना चाहिए। शीर्षासन एक उलटी स्थिति है, जहां शरीर को बाहों और सिर के सहारे फर्श को छूते हुए सीधा रखा जाता है। चूंकि पैर क्षैतिज स्थिति में होते हैं, हृदय निचले शरीर में रक्त पंप करने के लिए दबाव डालता है।

और पढ़ें: क्या महिलाओं में होने वाले हृदय रोग पुरुषों से अलग हैं?, क्या है फैक्ट, जानें एक्सपर्ट की राय!

हार्ट डिजीज से बचने के टिप्स? (What to do to avoid heart disease?)

स्वस्थ्य जीवनशैली के विकल्प हार्ट डिजीज को रोकने में मदद कर सकते हैं। वे आपको स्थिति का इलाज करने और इसे खराब होने से रोकने में भी मदद कर सकते हैं।

  • फलों और सब्जियों से भरपूर कम सोडियम, कम वसा वाला आहार आपको हृदय रोग की जटिलताओं के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।
  • आपका आहार उन पहले क्षेत्रों में से एक है जिसमें आप आसानी से बदलाव कर सकते हैं।
  • इसी तरह, नियमित व्यायाम करने और तंबाकू छोड़ने से हृदय रोग का इलाज करने में मदद मिल सकती है।
  • एल्कोहॉल इंटेक को भी कम करने के बारे में जरूर सोचें और निर्धारित मात्रा से अधिक इसका सेवन ना करें।

उम्मीद करते हैं कि आपको हार्ट ब्लॉकेज में योगा (Yoga for heart blockage) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

The Yoga-Heart Connection/https://www.hopkinsmedicine.org/health/wellness-and-prevention/the-yoga-heart-connection/ Accessed on 17th November 2021

Coronary artery disease/ https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/16898-coronary-artery-disease/ Accessed on 17th November 2021

The Role of Yoga in Cardiac Health/
https://yoga.ayush.gov.in/blog?q=71/ Accessed on 17th November 2021

Being active when you have heart disease
https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000094.htm/ Accessed on 17th November 2021

Keep your heart healthy/ https://health.gov/myhealthfinder/topics/health-conditions/heart-health/keep-your-heart-healthy/ Accessed on 17th November 2021

लेखक की तस्वीर badge
Sayali Chaudhari द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को