home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

साफ घर है सेहत के लिए अच्छा, पर होम क्लीनर कर सकते हैं आपको बीमार, जानें कैसे?

साफ घर है सेहत के लिए अच्छा, पर होम क्लीनर कर सकते हैं आपको बीमार, जानें कैसे?

हमेशा एक बात हमें बचपन से सिखाई जाती है कि घर की सफाई सबसे जरूरी है। बड़े हो कर हम साफ घर में रहते हैं और उसकी सफाई भी करते हैं। साफ घर रखने के लिए होम क्लीनर का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि जो होम क्लीनर हम इस्तेमाल करते हैं, वे हमारे शरीर को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इस आर्टिकल में हम इसी बात की जानकारी देंगे कि आप होम क्लीनिंग हैक्स को अपना कर नेचुरल होम क्लीनर घर पर कैसे बना सकते हैं।

और पढ़ें : कैमिकल वाले क्लीनर को छोड़कर ऐसे घर पर खुद ही बनाएं नैचुरल टॉयलेट क्लीनर

साफ घर के लिए होम क्लीनर क्या है?

झाड़ू लगाना

घर में कई तरह के बैक्टीरिया जाने अनजाने आ जाते हैं, जो हमें बीमार बना सकते हैं। बीमारी से बचने के लिए हम घर को साफ करते हैं। साफ घर बैक्टीरिया और इंफेक्शियस चीजों से दूर रहता है। घर को साफ करने के लिए होम क्लीनर का इस्तेमाल किया जाता है। जो कई तरह के होते हैं, जैसे- फिनायल, फेलोर क्लीनर, विंडो ऐंड ग्लास क्लीनर, किचन क्लीनर आदि। ये होम क्लीनर केमिकल से बने होते हैं। जो कि घर को साफ करने से साथ सेहत को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। होम क्लीनर में निम्न तरह के केमिकल पाए जाते हैं :

परक्लोरोइथाइलिन (PERC)

परक्लोरोइथाइलिन होम क्लीनर मे पाए जाने वाला एक केमिकल है, जो पर्दों, कालीन और स्पॉट रिमूवर क्लीनर में पाया जाता है। परक्लोरोइथाइलिन एक न्यूरोटॉक्सिन केमिकल है। जो हमारी सांसों के द्वारा शरीर में पहुंचती है, जो चक्कर, सिरदर्दऔर बेहोशी की समस्या उत्पन्न कर सकता है।

यह भी पढ़े : घर पर आसानी से करें फ्रिज की सफाई, अपनाएं ये घरेलू उपाय

2- ब्यूटॉक्सीइथेनॉल (2-Butoxyethanol)

2- ब्यूटॉक्सीइथेनॉल विंडो, किचन और ग्लास क्लीनर में पाया जाता है। 2- ब्यूटॉक्सीइथेनॉल क्लीनर की स्मेल अच्छी लगती है, लेकिन ये सांस लेने की समस्या पैदा कर सकता है। 2- ब्यूटॉक्सीइथेनॉल के कारण थ्रॉट सोर, नार्कोसिस, पल्मोनरी एडिमा और लिवर किडनी डैमेज जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं।

अमोनिया (Ammonia)

अमोनिया ग्लास क्लीनर और फ्लोर क्लीनर में पाए जाने वाला केमिकल है। अमोनिया की प्रकृति है कि ये वाष्पित होता है। जिससे ये हमारी सांसों के जरिए शरीर में जाता है। अमोनिया एक इरिटेंट है, जो अस्थमा और सांस संबंधी समस्या पैदा करता है। कई बार ब्लीच के साथ अमोनिया का इस्तेमाल हम अनजाने में कर लेते हैं, जो कि सही नहीं है। अमोनिया और ब्लीच मिल कर जहरीली गैस बनाते हैं।

क्लोरीन (Chlorine)

क्लोरीन डिटर्जेंट, क्लॉथ क्लीनर, किचन क्लीनर आदि में पाया जाता है। क्लोरीन के संपर्क में त्वचा आती है तो उसे नुकसान हो सकता है, वहीं सांस संबंधी समस्याएं हो सकती है। इसके अलावा थायरॉएड की समस्या भी हो सकती है।

सोडियम हाइड्रॉक्साइड (Sodium Hydroxide)

सोडियम हाइड्रॉक्साइड ड्रेन क्लीनर के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। त्वचा या आंख के संपर्क में सोडियम हाइड्रॉक्साइड आने पर जलन होने लगती है। सोडियम हाइड्रॉक्साइड थ्रॉट सोर भी उत्पन्न करता है।

और पढ़ें: नेचुरल डिजास्टर से स्वास्थ्य पर पड़ता है बुरा असर, हो सकती हैं कई बीमारियां

साफ घर के लिए बनाएं नेचुरल होम क्लीनर

साफ घर के लिए आप खुद से नेचुरल होम क्लीनर बना सकते हैं, होम क्लीनिंग हैक्स को अपना कर आप हानिकारक केमिकल से बच सकते हैं। इसके लिए आप निम्न होम क्लीनिंग हैक्स अपना सकते हैं :

#1 होम क्लीनिंग हैक्स : नींबू का रस

नींबू एक एंटीसेप्टिक फल है और एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टी से भरपूर है। नींबू के रस का इस्तेमाल प्राचीन काल से बर्तन साफ करने के लिए होता आ रहा है। नींबू को हम निम्न तरीकों से इस्तेमाल कर सकते हैं :

  • नींबू के रस को पानी में मिला कर स्प्रे बॉटल में भरें और ग्लास की सफाई करें। ये एक डिसइंफेक्ट का काम भी करता है।
  • किचन में प्रयुक्तस होने वाले कटिंग बोर्ड पर आधा नींबू काट कर रगड़ें, इससे जर्म और स्टेन दोनों दूर हो जाते हैं।
  • 3 लीटर पानी में दो नींबू का रस काट कर मिलाएं और इस मिश्रण को आधे घंटे के लिए छोड़ दें। इसके बाद इस मिश्रण से पोछा लगाएं।
  • घर में लाए गए फलों और सब्जियों के लिए पानी में कुछ बूंद नींबू डाल कर साफ करने से उस पर मौजूद बैक्टीरिया और धूल के कण आदि साफ हो जाते हैं।
  • नींबू के छिलके को निकाल कर उसे वोदका में डाल कर रखने से एक एंटीबैक्टीरियल फ्लोर क्लीनर तैयार हो जाएगा। इसका इस्तेमाल आप पानी में मिला कर सकते हैं।

और पढ़ें : अरोमा थेरिपी क्या है? जानें इसके फायदे के बारे में

#2 होम क्लीनिंग हैक्स : विनेगर

टॉयलेट क्लीनर

विनेगर का इस्तेमाल खाने से लेकर साफ घर रखने तक में होता है। विनेगर बहुत प्रचलित ऑर्गेनिक हाउस क्लीनिंग भी माना जाता है। विनेगर एक प्रकार का एसिड होता है, जो धूल मिट्टी से लेकर कई तरह के होम क्लीनिंग हैक्स में काम आता है। विनेगर को आप निम्न तरीकों से इस्तेमाल कर सकते हैं :

  • मिरर और ग्लास को साफ करने के लिए न्यूजपेपर पर विनेगर डालें और उससे सफाई करें।
  • विनेगर से वॉश बेसिन और सिंक को साफ कर के डिसइंफेक्ट किया जा सकता है।
  • पानी में कुछ बूंदें विनेगर की मिला कर आप फ्लोर क्लीनर और फर्नीचर क्लीनर बना सकते हैं।

और पढ़ें: घर के कोने-कोने की सफाई बेहद जरूरी, नहीं तो पड़ेंगे बीमार

#3 होम क्लीनिंग हैक्स : बेकिंग सोडा

टॉयलेट क्लीनर

बेकिंग सोडा ना सिर्फ खाने के काम आता है, बल्कि सफाई के काम भी आता है। बेकिंग सोडा का इस्तेमाल कर के साफ घर को डिओडराइज और फ्रेश किया जा सकता है। बेकिंग सोडा में बैक्टीरिया और वायरस को खत्म करने का गुण होता है। साथ ही ये ग्रीस जैसी चीजों को भी साफ कर सकता है।

  • साफ घर में एयर फ्रेशनर के इस्तेमाल के लिए आप बेकिंग सोडा का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप पानी में मिला कर घर में स्प्रे करें।
  • किसी भी बर्तन या फर्श पर पानी के निशान को साथ करने के लिए हल्का सा पानी डाल कर बेकिंग सोडा को छिकड़ दें। इसे आधा घंटा के लिए छोड़ दें और फिर रगड़ कर साफ करें।
  • आप रेफ्रिजरेटर को साफ करने के लिए पानी में बेकिंग सोडा मिला कर इस्तेमाल कर सकते हैं।

और पढ़ें : त्वचा से लेकर दिल तक के लिए हैं नारंगी के छिलके फायदेमंद

#4 होम क्लीनिंग हैक्स : ऑलिव ऑयल

Oils For Body Massage

ऑलिव ऑयल सेहत के साथ ही साफ घर का भी ख्याल रखता है। ऑलिव ऑयल होम क्लीनिंग हैक्स के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। ऑलिव ऑयल एक अच्छा क्लीनिंग टूल है, जो दाग धब्बों को छुड़ाने में मदद करता है। वहीं, अगर लकड़ी का फर्नीचर है तो उसकी सफाई के लिए आप ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं, जिससे लकड़ी की पॉलिशिंग भी हो जाती है। आप निम्न तरीकों से भी ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं :

  • ऑलिव ऑयल में नमक मिला कर एक गाढ़ा पेस्ट बना लें, जिसे फर्श पर पड़े किसी भी तरह के दाग पर रगड़ें। इससे दाग साफ हो जाएगा।
  • स्टेनलेस स्टील को भी आप इसकी मदद से साफ कर सकते हैं।

इस तरह से नेचुरल होम क्लीनिंग हैक्स का इस्तेमाल कर के आप साफ घर पा सकते हैं। उम्मीद है कि यो आर्टिकल आपके लिए मददगार साबित होगा। अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Hazardous substances in frequently used professional cleaning products https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4096065/ Accessed on 13/5/2020

Traditional and environmentally preferable cleaning product exposure and health symptoms in custodians https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4976595/ Accessed on 13/5/2020

Reducing chemical exposures at home: opportunities for action https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5561392/ Accessed on 13/5/2020

The Long-Term Effects of Cleaning on the Lungs https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6726387/ Accessed on 13/5/2020

How can cleaning supplies, household products affect health? https://www.lung.org/clean-air/at-home/indoor-air-pollutants/cleaning-supplies-household-chem Accessed on 13/5/2020

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/02/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड