home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

ओरल हेल्थ इश्यूज का हल हैं यह होम रेमेडीज, जो तुरंत दिखाएं अपना असर

ओरल हेल्थ इश्यूज का हल हैं यह होम रेमेडीज, जो तुरंत दिखाएं अपना असर

हम सब शरीर के अन्य अंगों की अच्छे से देखभाल करते हैं। लेकिन, दांतों के स्वास्थ्य को हम सबसे बाद में रखते हैं। दांतों के स्वास्थ्य यानी ओरल हेल्थ का मतलब है दांतों, मसूड़ों और पूरे ओरल-फेशियल सिस्टम की हेल्थ, जिससे आपको मुस्कुराने, बोलने और चबाने आदि में मदद मिलती है। कुछ सबसे सामान्य रोग जो हमारे ओरल हेल्थ को प्रभावित करती हैं वो हैं कैविटीज, मसूड़ों की समस्याएं और ओरल कैंसर। दांतों की समस्याओं से बचना चाहते हैं तो ओरल समस्याओं के बारे में जानना बेहद जरूरी है। जानिए अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज (Other Oral Health Issues) के बारे में विस्तार से।

ओरल हेल्थ का महत्व (Importance of Oral Health)

अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज (Other Oral Health Issues) के बारे में जानने से पहले जानते हैं ओरल हेल्थ के महत्व के बारे में। डेंटल और ओरल हेल्थ हमारे पूरे स्वास्थ्य का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। पुअर ओरल हाइजीन के कारण डेंटल कैविटीज (Dental Cavities) और मसूड़ों से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। यही नहीं, इसे हार्ट रोग (Heart Problem), कैंसर (Cancer) और डायबिटीज (Diabetes) से भी जोड़ा जाता है। ऐसा माना जाता है कि मसूड़ों के रोगों के दौरान पैदा होने वाले बैक्टीरिया हार्ट तक जा सकते हैं और हार्ट अटैक (Heart Attack) का कारण बना सकते हैं। मसूड़ों में इंफेक्शन गर्भवती महिलाओं में प्रीमच्योर बर्थ या लौ बर्थ वेट का कारण बन सकता है। यानी, अगर आप स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं से बचना चाहते हैं तो अपने दांतों की देखभाल करना न भूलें। हेल्दी दांतों और मसूड़ों का पूरी उम्र ध्यान रखना जरूरी है।

यह भी पढ़ें: ओरल हाइजीन का रखेंगे ख्याल तो शरीर को भी होने लगेगा फायदा

ओरल हेल्थ से संबंधित अन्य बीमारियां कौन सी हैं?

शरीर के अन्य क्षेत्रों की तरह मुंह में भी बैक्टीरिया होते हैं, जो ज्यादातर नुकसानदायक नहीं होते। लेकिन, हमारा मुंह पाचन और रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट्स (Respiratory Tracts) का एंट्री पॉइंट है, और इनमें से कुछ बैक्टीरिया बीमारी का कारण बन सकते हैं। जानिए अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज (Other Oral Health Issues) कौन से हैं? पुअर ओरल हेल्थ विभिन्न रोगों और स्थितियों का कारण बन सकती है, जिसमें कुछ इस प्रकार से हैं:

अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज

  • एंडोकार्डाइटिस (Endocarditis) : हमारे हार्ट चैम्बर्स या वाल्वस (एंडोकार्डियम) की इनर लाइनिंग का यह संक्रमण आमतौर पर तब होता है। जब हमारे शरीर के किसी अन्य भाग से बैक्टीरिया या अन्य रोगाणु, जैसे आपके मुंह, आपके ब्लडस्ट्रीम के माध्यम से फैलते हैं और आपके दिल के कुछ क्षेत्रों में अटैच होते हैं।
  • कार्डियोवैस्कुलर डिजीज (Cardiovascular Disease) : हालांकि, कार्डियोवैस्कुलर डिजीज और ओरल हेल्थ के बीच में संबंध के बारे में अभी पूरी तरह से जानकारी नहीं है, लेकिन शोध के मुताबिक दिल संबंधी रोग और स्ट्रोक जैसी समस्याएं सूजन और इंफेक्शन से जुड़े हुई हैं। जिनका कारण ओरल बैक्टीरिया हो सकते हैं।
  • प्रेग्नेंसी और बर्थ कॉम्प्लीकेशन्स (Pregnancy and birth complications): पेरियोडोंटाइटिस (Periodontitis) को समय से पहले जन्म और लौ बर्थ वेट से जोड़ा गया है।
  • निमोनिया (Pneumonia) : मुंह में कुछ बैक्टीरिया फेफड़ों में जा सकते हैं, जिससे निमोनिया और अन्य श्वसन संबंधी बीमारियां हो सकती हैं।

कुछ अन्य समस्याएं भी ओरल हेल्थ को प्रभावित कर सकते हैं, जैसे:

  • डायबिटीज (Diabetes)
  • एच आई वी/एड्स (HIV/Aids)
  • ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis)
  • अल्जाइमर रोग (Alzheimer’s disease)

अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज (Other Oral Health Issues), जिन्हें ओरल स्वास्थ्य से जोड़ा जा सकता है। उनमें ईटिंग डिसऑर्डर (Eating Disorder), संधिशोथ (Rheumatoid Arthritis), कुछ कैंसर (Certain Cancers) और इम्यून सिस्टम डिसऑर्डर (Immune System Disorder) भी शामिल हैं जो ड्राय माउथ (Sjogren’s Syndrome) का कारण बनते हैं।

Quiz: क्विज खेलें और दांतों को रखें मजबूत

अन्य ओरल हेल्थ इश्यू से जुड़े रिस्क फैक्टर (Risk Factors of Oral Health Issues)

आम तौर पर शरीर की प्राकृतिक सुरक्षा और अच्छे मौखिक स्वास्थ्य देखभाल, जैसे कि दैनिक ब्रशिंग और फ्लॉसिंग (Brushing and flossing), बैक्टीरिया को नियंत्रण में रखते हैं। अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज (Other Oral Health Issues) से संबंधित कुछ रिस्क फैक्टर्स भी हैं। जो आपकी इस समस्या को बढ़ा सकते हैं, जैसे:

  • तंबाकू और अल्कोहल (Use of Tobacco and Alcohol)
  • ह्यूमन पेपिलोमा वायरस इंफेक्शन यानी HIV (Human Papillomavirus Infection)
  • जेंडर (Gender) : पुरुष तंबाकू और अल्कोहल का प्रयोग अधिक करते हैं, इसके कारण उनका अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज (Other Oral Health Issues) से पीड़ित होने की संभावना अधिक होती है
  • पर्याप्त न्यूट्रिशन न मिलना (Poor Nutrition)
  • कमजोर इम्यून सिस्टम (Weakened Immune System)
  • ग्राफ्ट-वेर्सिस-होस्ट डिजीज (Graft-Versus-Host Disease)
  • जेनेटिक सिंड्रोम (Genetic Syndromes)

अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज कौन से हैं और क्या हैं इसके लिए होम रेमेडीज? (Home Remedies for Other Oral health Issues)

एक बार इमेजिन करके देखिए कि आपके पास दांत नहीं हैं। तो ऐसे में आप उन सब चीजों को कैसे खा पाएंगे जिन्हें आप पसंद करते हैं? ऐसे में दांतों के स्वास्थ्य को बनाए रखने और कुछ अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज (Other Oral Health Issues) को दूर करने के लिए कुछ होम रेमेडीज आपके बहुत काम आने वाली हैं। जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं:

मसूड़े की सूजन के लिए होम रेमेडीज (Gingivitis)

मसूड़े की सूजन के इलाज के लिए घरेलू उपचार एक सस्ता और प्रभावी तरीका है। यदि आप प्रारंभिक अवस्था में ही इसका उपचार शुरू करते हैं, तो घरेलू उपचार आमतौर पर मसूड़े की सूजन को दूर करने में सक्षम होते हैं। इनमें से एक है नमक वाला पानी। ऐसा माना जाता है कि नमक वाले पानी से कुल्ला करना मसूडे की सूजन के कारण होने वाली सूजन को कम करने और मसूड़ों को स्वस्थ बनाये रखने में मददगार हो सकता है। नमक एक प्राकृतिक कीटाणुनाशक भी है। इसके अलावा आप इस समस्या से राहत पाने के लिए इन घरेलू उपचारों का भी प्रयोग कर सकते हैं, जैसे:

  • तिल का तेल (Sesame oil)
  • तुलसी (Tulsi)
  • बबूल (Babul)
  • बरगद के पेड़ की जड़ें(Roots of banyan tree)
  • विनेगर (Vinegar)

मुंह की दुर्गंध के लिए होम रेमेडीज (Home Remedies for Bad Breath)

मुंह की दुर्गंध आना शर्मिंदगी का कारण बन सकता है। अधिक पानी पीना, विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थ खाना और प्याज, लहसुन और मूली जैसे खाद्य पदार्थों से बचना इस समस्या से राहत पाने के कुछ टिप्स हैं। इसके अलावा आप पुदीना, लौंग, सौंफ के बीज, इलायची आदि का सेवन कर के भी इस परेशानी से कुछ हद तक बच सकते हैं।

यह भी पढ़ें: बच्चों की ओरल हाइजीन को ‘हाय’ कहने के लिए शुगर को कहें ‘बाय’

दांत दर्द का घरेलू उपचार (Home Remedies for Toothache)

दांत दर्द को संभालना बेहद मुश्किल हो सकता है, और यह सलाह दी जाती है कि जब भी आप इसे अनुभव करते हैं, तो आप हर बार डेंटिस्ट से जांच कराएं। लेकिन, अगर इसके अलावा आप इन उपायों का प्रयोग करके तुरंत राहत के लिए आजमा सकते हैं।

Other Oral Health Issues

मुंह के छालों का घरेलू उपचार (Home Remedies for Mouth Ulcers)

मुंह के छालों यानी माउथ अलसर के कारण बहुत दर्द होता है ऐसे में उस जगह पर आइस क्यूब्स लगाने और मुंह को ठंडे पानी से धोने से आपको रहत मिल सकती है। इससे छाले दूर नहीं होते। लेकिन दर्द कम हो जाती है। इसके साथ ही आप अन्य घरेलू उपचार भी अपना सकते हैं, जैसे:

  • तुलसी (Tulsi)
  • शहद (Honey)
  • खसखस (Poppy Seeds)
  • नारियल (Coconut)

मसूड़ों की बीमारी से बचाव के घरेलू उपाय (Home Remedies to Prevent Gum Disease)

मसूड़ों की बीमारी से बचाव का अच्छा तरीका है मुंह को साफ रखना। ज्यादातर मामलों में मुंह को साफ रखने से आप इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। अपने दांतों को दिन में कम से कम दो बार ब्रश करें। रात के खाने के बाद दिन में एक या दो बार फ्लॉस करें। इसके साथ ही आप इन चीजों का सेवन करने से भी आपको राहत मिल सकती है, जैसे:

यह भी पढ़ें : जानिए क्या है प्रेग्नेंसी और ओरल हेल्थ कनेक्शन

अच्छी ओरल हेल्थ के लिए अपनी दिनचर्या या लाइफस्टाइल में क्या बदलाव करने जरूरी है? (Good Oral Health)?

अच्छे से ब्रश करें (Brush well)

यह तो आप जानते ही हैं कि दांतों को स्वस्थ बनाने और अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज (Other Oral Health Issues) से बचने के लिए दिन में दो बार ब्रश करना जरूरी है। लेकिन फिर भी कई लोग रात को ब्रश करने से बचते हैं। लेकिन ऐसा करने से जर्म्स से बचाव नहीं होता बल्कि दांतों की समस्याएं बढ़ जाती हैं। इसके साथ ही दांतों को सही तरीके से ब्रश करना भी जरूरी हैं।

जीभ को नजरअंदाज न करें (Don’t Neglect Your Tongue)

प्लाक (Plaque) जीभ में भी पैदा हो सकती है। इससे न केवल मुंह से दुर्गंध आएगी बल्कि यह अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज (Other Oral Health Issues) का कारण भी बनेगी। इसलिए जीभ को साफ करना न भूलें।

अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज

फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट का प्रयोग करें (Use a Fluoride Toothpaste)

जब बात टूथपेस्ट की आती है तो आप इस बात का अवश्य ध्यान रखें कि आपके टूथपेस्ट में नींबू या नमक बेशक न हो लेकिन फ्लोराइड अवश्य होना चाहिए। यह जर्म्स में दांतों को बचने में मदद करता है जिसके कारण दांतों में सड़न हो सकती है।

फ्लॉसिंग अवश्य करें (Flossing is Must)

फ्लॉसिंग भी ब्रश करने की तरह ही जरूरी है। इससे न केवल आपके दांतों में अटके खाद्य पदार्थ निकल जाते हैं बल्कि यह वास्तव में मसूड़ों को स्टिमुलेट करने, प्लाक को कम करने और सूजन कम में मदद करने का एक तरीका भी है। इसके साथ ही माउथवाश (Mouthwash) का प्रयोग भी अवश्य करें।

पारंपरिक खानपान, योग एवं स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी के लिए क्लिक करें

अधिक पानी पीएं (Drink more Water)

आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए पानी एक बेहतरीन पेय है। हर बार खाने के बाद पानी पीने से आपके दांतों में फंसे चिपचिपे और एसिडिक आहार के नकारात्मक प्रभाव कम हो सकते हैं।

फल और सब्जियां खाएं (Eat Fruits and Vegetables)

फल और सब्जियां पर्याप्त मात्रा में खाने से न केवल आपको हेल्दी फायबर प्राप्त होगा बल्कि दांतों के स्वास्थ्य के लिए भी यह लाभदायक है ।

साल में कम से कम दो बार डॉक्टर से जांच कराएं (See Your Dentist at least Twice a Year)

डेंटिस्ट न केवल कैलकुलस (Calculus) को हटा सकता है और कैविटी (Cavities) को कम करने में भी आपकी मदद कर सकते हैं। इसलिए अपने दांतों को स्वस्थ रखने के लिए साल में कम से कम दो बार डॉक्टर से जांच कराएं और उनकी सलाह लें।

यह भी पढ़ें : ओरल हाइजीन मिस्टेक: कहीं आप भी तो नहीं करते ये 9 गलतियां?

आपकी अपनी रोजमर्रा की आदतें आपके अन्य ओरल हेल्थ इश्यूज (Other Oral Health Issues) के लिए महत्वपूर्ण है। इसलिए, अपने दांतों की साफ-सफाई का खास ध्यान रखें। इसके साथ ही नियमित रूप से डॉक्टर की सलाह लें। अगर आपको कभी दांतों में कोई भी समस्या होती है तो उसे नजरअंदाज न करें। बल्कि, तुरंत मेडिकल हेल्प लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Oral Health Conditions. https://www.cdc.gov/oralhealth/conditions/index.html . Accessed on 20.3.21

Adult health. https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/adult-health/in-depth/dental/art-20047475 . Accessed on 20.3.21

Hidden dental dangers that may threaten your whole body.https://www.health.harvard.edu/staying-healthy/hidden-dental-dangers-that-may-threaten-your-whole-body . Accessed on 20.3.21

Concerns Gum disease. https://www.mouthhealthy.org/en/adults-40-60/concerns . Accessed on 20.3.21

Oral Health. https://www.healthypeople.gov/2020/topics-objectives/topic/oral-health . Accessed on 20.3.21

The importance of good dental hygiene. https://www.legacycommunityhealth.org/newsblog-importance-of-good-dental-hygiene/. Accessed on 20.3.21

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/03/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x