home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

बच्चों का स्कूल जाना होगा आसान, पेरेंट्स फॉलो करें ये टिप्स

बच्चों का स्कूल जाना होगा आसान, पेरेंट्स फॉलो करें ये टिप्स

छोटे बच्चे अक्सर स्कूल जाते समय रोते हैं, क्योंकि उन्हें अपनी मां के बिना रहना पसंद नहीं होता है। इसलिए बच्चे के स्कूल के शुरूआती दिनों में पेरेंट्स को काफी तरह की दिक्कतें आती हैं। जब बात बच्चे की स्कूलिंग की आती है, तो कई पेरेंट्स को समझ में नहीं आता है कि वे क्या करें कि बच्चों का स्कूल जाना (Kid school first day) आसान हो सके। अचानक से बच्चे को घर से अलग दूसरे वातावरण में किस तरह ढ़ाला जाए। इस बारे में पांडिचेरी यूनिवर्सिटी से क्लिनिकल साइकोलॉजी में रिसर्च कर रही श्रेयसी सिंह कहती हैं कि बच्चों को पहली बार स्कूल भेजना हर पेरेंट्स के लिए चिंता का विषय होता है। अगर आप बच्चे का एडमिशन कराने जा रही हैं, तो उसके पहले कुछ खास बातों पर ध्यान दें।

बच्चों का स्कूल जाना पेरेंट्स करें आसान इन टिप्स से

बच्चों का स्कूल जाना (Kid school first day) आसान हो सके इसके लिए पेरेंट्स नीचे बताए गए टिप्स अपनाएं-

कुछ देर बैठकर पढ़ने की आदत डालें

बच्चों का स्कूल जाना (children go to school) शुरू करने से पहले, उनमें घर पर बैठ कर पढ़ने की आदत विकसित करें। बच्चों की पढ़ाई से संबंधित कई बेसिक चीजें हैं, जो आपको बच्चे को सिखानी चाहिए, जैसे कि, उसे वर्णमाला और अक्षरों का ज्ञान, काउंटिंग और कुछ आसान कविताएं भी सिखा सकते हैं। ऐसा करने से बच्चा स्कूल में जाने पर एकदम से ब्लैंक नहीं होगा और कुछ चीजें पहले से आते रहने से उसमें कॉन्फिडेंस बना रहेगा। इससे बच्चों का स्कूल जाना (Kid school first day) जब शुरू होगा तो वे क्लासरूम में सहज महसूस करेंगे।

आप चाहे तो बच्चे को बताएं कि क्लास में जाने के बाद उसे कितना मजा आएगा या फिर बहुत सारे बच्चे उनके नए दोस्त बनेंगे और उनके साथ खेलेंगे भी और साथ में भी पढ़ेगे भी। आपको बच्चे को शेयर करने के बारे में सिखाना चाहिए।

और पढ़ें: बच्चों के अंदर किताबें पढ़ने की आदत कैसे विकसित करें ?

पर्सनल हाइजीन की सीख दें

बच्चों को न सिर्फ बाहर या स्कूल के लिए बल्कि उन्हें खुद के लिए भी हाइजीन मेंटेन करना सिखाएं। बच्चे को स्कूलिंग की शुरूआत करवाने से पहले उन्हें साफ-सफाई का महत्व जरूर समझाएं। जैसा कि बच्चे छोटे होते हैं तो उन्हें समझाएं जैसे कि स्कूल में उसे टॉयलेट लगे या बाथरूम जाना हो, तो वह क्लास के टीचर को बताएं। बाथरूम के बाद उन्हें हैंड-वाश करना जरूर सिखाएं। साफ-सफाई न होने पर इंफेक्शन हो सकता है, ये भी उन्हें बताएं। बच्चों का स्कूल जाना(Kid school first day) शुरू हो, उससे पहले ही माता-पिता को चाहिए कि बच्चों में पर्सनल हाइजीन को डेवलप कर सके।

बच्चों का स्कूल जाना: स्कूल में सुरक्षा की पैमाने को जांच लें

आज माता-पिता की चिंता तब और भी बढ़ जाती है, जब बच्चों का स्कूल जाना(Kid school first day) या स्कूलिंग शुरू हो चुका होता है। पिछले कुछ सालों में जिस तरह स्कूलों में डरा देने वाली घटनाएं सामने आई हैं, उससे पेरेंट्स का यह चिंता जायज है। बच्चे के लिए स्कूल का चुनाव करते समय तथा एडमिशन कराते समय वहां सुरक्षा को लेकर इंतजाम जरुर देख लें।

और पढ़ें: जानें बच्चे में होने वाली आयरन की कमी को कैसे पूरा करें

बच्चों का स्कूल जाना (Kid school first day): स्कूल के ट्रांसपोर्टेशन सर्विस का पता लगा लें

अपने बच्चे को स्कूल भेजना एक बहुत बड़ी चुनौती है। घर से स्कूल के बीच यह जरूरी नहीं कि, आप बच्चों के साथ हों। यह भी संभव है कि आप वर्किंग प्रोफेसनल हो सकते हैं। इसलिए बच्चों के स्कूल जाने का इंतजाम का अच्छे तरीके से परख कर लें। हो सकता है कि स्कूल प्रशासन खुद की बस रखी हो, जिस वे बच्चों को सुरक्षित स्कूल तक ला सकें। इसलिए, बच्चों के आने और जाने के साधनों का पहले से ही व्यवस्था कर लें।

और पढ़ें: बच्चे के सुसाइड थॉट को अनदेखा न करें, इन बातों का रखें ध्यान

क्लास में लड़ाई से दूर रहने का निर्देश दें

पेरेंट्स तो बच्चो के घर से बाहर रहने के नाम से ही चिंतित हो जाते हैं। यहां तो हम बात कर रहे हैं पहली बार बच्चे को स्कूल भेजने के बारे में। जाहिर है, आप चिंतित होंगे कि उनका स्कूल का टाइम किस तरह बीतेगा? स्कूल में सीखने के साथ अच्छा टाइम बीताने के लिए उन्हें बताना चाहिए कि वह किसी के साथ भी लड़ाई-झगड़ा न करें, ना ही किसी के साथ गलत व्यवहार करें। साथ ही यह भरोसा भी दें कि, अगर कोई दूसरा उनके साथ बुरा व्यवहार कर रहा है, तो टीचर के अलावा घर आकर आपको बताए।

बच्चे को अच्छे और बुरे व्यवहार के बारे में जानकारी होनी चाहिए, ताकि वो गलतियों को बार-बार न दोहराए।

और पढ़ें: बच्चों के पालन-पोषण के दौरान पेरेंट्स न करें ये 5 गलतियां

बच्चों का स्कूल जाना: पहली बार बच्चों का स्कूल जाना होगा हैप्पी मूमेंट

पहले दिन बच्चों को स्कूल जाना है और आपके मन में कई सवाल है कि बच्चे को खुशी-खुशी स्कूल कैसे भेजें? क्या करें कि बच्चा स्कूल जाते समय रोए नहीं? इसके लिए नीचे बताए गए कुछ टिप्स पेरेंट्स आजमा सकते हैं। जैसे-

  • बच्चे को स्कूल भेजने के लिए उसके लिए कुछ शॉपिंग जरूर करें। बच्चे को स्कूल बैग, टिफिन बॉक्स, वॉटर बोतल, शूज, स्टेशनरी आदि चीजें दिलवाएं। इससे बच्चे के अंदर एक्ससाइटमेंट आएगा। स्कूल के लिए शॉपिंग करते समय बच्चे को बताएं कि वो स्कूल जाने वाला है। उसके लिए आप शॉपिंग कर रहे हैं।
  • बच्चों का स्कूल जाना (Kid school first day) एक फन लगे इसके लिए आप स्कूल के एन्वायरमेंट, वहां के प्ले ग्राउंड और स्कूल की अच्छी-अच्छी बातें बताएं। ध्यान रहें, बच्चे को सकारात्मक बातें ही बताएं। उसे बताएं कि वो स्कूल में गेम्स खेलेगा, उसे बड़ा मजा आएगा। साथ ही उसके नए दोस्त बनेंगे।
  • बच्चे से उसकी भावनाएं जानने को भी कोशिश करें। उसे पहली बार पेरेंट्स के बिना किसी नई जगह जाना कैसा लग रहा है।
  • कल बच्चों का स्कूल जाना (Kid school first day) शुरू हो, उससे पहले ही पेरेंट्स बच्चे को उसके शेड्यूल के बारे में बताएं।
  • बच्चे को दिलासा दें कि स्कूल में कुछ भी होगा तो आप हैं उसकी प्रॉब्लम्स सुनने के लिए. उसकी हेल्प करने के लिए आप हरदम उसके साथ हैं।
  • बच्चों का स्कूल जाना (Kid school first day) या स्कूलिंग अगर बस से तय है तो उसके बारे में भी बताएं कि वह अकेले कितने सारे हम उम्र के बच्चों के साथ ट्रैवल करेगा।
  • बच्चे के लिए लंच बॉक्स में उसकी पसंद खाना दें।
  • बच्चा जब स्कूल से वापस आ जाए , तो उससे पूछें कि उसे पहले दिन स्कूल में क्या-क्या अच्छा लगा।
  • पॉसिबल हो तो स्कूल के ही एक-दो बच्चों से अपने बच्‍चे को मिलवाएं। जिससे बच्चे के स्कूल में दोस्त पहले से ही होंगे। हो सके तो अपने पड़ोस में ही उस स्कूल का बच्चा देखें।

अगर पेरेंट्स ऊपर बताए गए टिप्स फॉलो करेंगे तो बच्चों का स्कूल जाना (Kid school first day) या स्कूलिंग निश्चित रूप से सहज होगा। जिन पेरेंट्स की अक्सर यह शिकायत रहती हैं कि उनके बच्चे स्कूल नहीं जाते हैं उनके लिए ये टिप्स जरूर मददगार साबित होंगे। उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा इसके बारे में आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। साथ ही अगर आपके पास भी बच्चों को स्कूल भेजने से संबंधित कोई टिप्स हैं तो आप हमसे शेयर कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Nikhil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड