home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

जान लें नोज पियर्सिंग बंप से राहत दिलाने के उपाय

जान लें नोज पियर्सिंग बंप से राहत दिलाने के उपाय

नाक छिदवाने का क्रेज इन दिनों काफी है। नाक छेदना और उसमें तरह-तरह की ज्वैलरी पहनना अब फैशन हो गया है। हालांकि, भारत में नाक छेदना एक पुरानी परंपरा है। आयुर्वेद में बाईं तरफ नाक छेदना इसलिए सही माना जाता है, क्योंकि आयुर्वेद का मानना है कि नाक छिदवाने से डिलिवरी में दर्द कम होता है, लेकिन नोज पियर्सिंग बंप होने के बाद काफी दर्द होता है। नोज पियर्सिंग बंप नाक छिदवाने के बाद होने वाला फोड़ा होता है। जिससे या तो खून रिसता रहता है या तो वह पक जाता है और उसमें से पस निकलता रहता है। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि नाक छिदवाने के बाद नोज पियर्सिंग बंप होने पर इसे कैसे ठीक करें। नोज पियर्सिंग बंप के घरेलू इलाज के बारे में भी जानेंगे।

और पढ़ें : स्टेप-बाय-स्टेप जानें हेयर स्ट्रेटनर से घर पर बाल सीधा करने का सही तरीका

नाक छिदवाने के प्रकार क्या हैं?

नाक को दो प्रकार से छिदवाया जाता है :

नॉस्ट्रिल पियर्सिंग : नॉस्ट्रिल पियर्सिंग में नाक के बगल वाले मांसल भाग को छेदा जाता है, जिसे ठीक होने में दो से चार महीने का समय लगता है।

सेप्टम पियर्सिंग : सेप्टम पियर्सिंग में दोनों नथुनों को अलग करने वाले सेप्टा को छेदा जाता है। इसमें ज्वैलरी को नाक के बीच वाले हिस्से में पहनते हैं। इसे ठीक होने पर 6 से 8 महीने का वक्त लगता है।

नोज पियर्सिंग बंप क्या है?

नोज पियर्सिंग कराने के बाद नाक छिदे हुए स्ठान पर सूजन, लालपन, ब्लीडिंग आदि कई हफ्तों के लिए नजर आते हैं। नाक छिदवाने के बाद नोज पियर्सिंग बंप होने पर निम्न परेशानियां हो सकती हैं :

  • नाक छिदवाए हुई जगह पर खुजली होना
  • नोज पियर्सिंग बंप से सफेद पस निकलना
  • नाक छिदवाने के बाद जब आप ज्वैलरी पहनती हैं तो उसके आस पास क्रस्ट सा जमा हो जाना।

नाक छेदाने के छह महीने के बाद नाक पूरी तरह से ठीक होती है, लेकिन अगर आपका नोज पियर्सिंग बंप ठीक न हो तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए।

नोज पियर्सिंग बंप में निम्न चीजें सामान्य होती हैं :

  • नोज पियर्सिंग बंप में पिंपल की तरह पस होता है।
  • ग्रेन्यूलोमा, एक प्रकार का घाव होता है जो नाक छेदने के छह हफ्ते बाद विकसित हो जाता है।
  • केलॉएड, एक प्रकार का स्कार होता है जो नाक छेदाने वाले स्थान पर हो जाता है।

और पढ़ें : चारकोल फेस मास्क के फायदे : ब्लैकहेड्स की होगी छुट्टी तो निखरेगी त्वचा चुटकियों में

[mc4wp_form id=”183492″]

नोज पियर्सिंग बंप कितने प्रकार के होते हैं?

नोज पियर्सिंग बंप दो प्रकार के होते हैं :

बिना इंफेक्शन का नोज पियर्सिंग बंप

नाक छेदाने के बाद कोई संक्रमण नहीं होता है। नोज बंप में ग्रेन्युलोमा हो सकता है, जो एक नॉन कैंसरस ओवर ग्रोथ होती है। ग्रेन्यूलोमा से पीले रंग का डिस्चार्ज निकल सकता है। कभी-कभी इससे ब्लीडिंग भी हो सकती है।

इंफेक्शन वाला नोज पियर्सिंग बंप

अगर आपका नोज बंप संक्रमित रहता है तो इसमें जलन होती है, यह पक कर मुलायम हो जाता है। इससे पस निकलती रहती है, जो कि संक्रमण का संकेत होता है। आगे चल कर यह बड़ा फोड़ा बन सकता है।

और पढ़ें : कर्ली बालों का रखना है ख्याल तो जरूर याद रखें ये टिप्स

नोज पियर्सिंग बंप होने के कारण क्या हैं?

नोज बंप होने का कारण निम्न बातों पर निर्भर करता है :

  • खराब तरीके से नाक छेदना।
  • गंदे हाथों से नाक छेदे हुए स्थान पर छूना।
  • नाक छेदे हुए स्थान को गलत प्रोडक्ट से साफ करना।
  • ज्वैलरी से एलर्जिक रिएक्शन होना।

खुद से कोई भी बंप को निकाले नहीं। जब उसकी स्थिति ठीक होने वाली न दिखाई दे, तब डॉक्टर से मिलें।

नाक छिदवाने के बाद देखभाल किस तरह करें?

नाक छिदवाने के बाद आप अगर निम्न बातों का ध्यान रखेंगे तो आपको नोज पियर्सिंग बंप नहीं होंगे :

ज्वैलरी सही मेटल की पहनें

ज्यादातर ज्वैलरी निकिल मेटल की बनी होती है, जिससे लोगों को एलर्जी हो सकती है और नोज पियर्सिंग बंप हो सकता है। जिस कारण खुजली, लालपन आदि समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में अपने नोज ज्वैलरी को बदल लें। आप निम्न मेटल की ज्वैलरी पहन सकते हैं :

  • 18 या 24 कैरट गोल्ड
  • स्टेनलेस स्टील
  • टाइटेनियम
  • नोइबियम

नाक छिदवाने के बाद दिन में दो से तीन बार साफ करें

जब आपने अभी-अभी नाक छिदवाई हैं तो रोजाना कम से कम दो से तीन बार उसे जरूर साफ करें। नाक को छूने से पहले अपने हाथ अच्छे से धो लें। हाथों को अच्छे तरह से सुखाने के बाद ही नाक को छुएं। इसके अलावा आपके नाक छेदने वाले द्वारा दिए गए क्लीनजर से ही नाक को साफ करें। निम्न चीजों से नाक को कतई न साफ करें।

  • प्रोविडोन- आयोडीन (बेटाडीन)
  • क्लोरेक्साइडिन
  • आइसोप्रोपिल एल्कोहॉल
  • हाइड्रोजन पराक्साइड

और पढ़ें : हेयर कलर आईडिया : ट्रेंड में हैं ये 7 कलर्स, ऐसे पाएं एकदम नया लुक

नोज पियर्सिंग बंप के लिए घरेलू उपाय क्या हैं?

नाक छिदे हुए स्थान को सी सॉल्ट सोक से क्लीन करें

  • नाक छेदने वाला एक स्पेशल साबुन देता है, जिसमें सॉल्ट सॉल्यूशन मिलाकर इस्तेमाल करना चाहिए। आप एक सॉल्यूशन बनाएं, जिसमें ¼ चम्मच नॉन-आयोडाइज्ड समुद्री नमक में लगभग 30 मिलीलीटर पानी मिलाएं।
  • उस सॉल्यूशन में पेपर टॉवेल का एक छोटा टुकड़ा भिगाएं।
  • इस पेपर टॉवेल को सॉल्यूशन में से निकालें और नाक छेदे गए स्थान पर 5 से 10 मिनट तक रखें। इस प्रक्रिया को वार्म कम्प्रेस कहते हैं। इससे बंप पर हल्की सनसनाहट महसूस हो सकती है।
  • इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार दोहराएं।

केमोमाइल कम्प्रेश का इस्तेमाल करें

केमोमाइल में ऐसा कम्पाउंड पाया जाता है, जो घाव को तेजी से भरने में सक्षम होता है। अगर आप सॉल्ट के सॉल्यूशन का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं तो आप केमोमाइल सॉल्यूशन का इस्तेमाल कर सकते हैं। केमोमाइल कम्प्रेस निम्न तरीके से बनाएं :

  • केमोमाइल टी बैग को एक कप गर्म पानी में भिगा लें।
  • इसके बाद केमोमाइल टी बैग को हल्का गर्म रखते हुए नाक छिदे हुए स्थान पर 5 से 10 मिनट तक रख कर सिंकाई करें।
  • इसे दिन में कम से कम दो से तीन बार करें।

टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल करें

टी ट्री ऑयल में प्राकृतिक तौर पर एंटीफंगल, एंटीसेप्टिक और एंटीमाइक्रॉबियल एजेंट मौजूद होते हैं। टी ट्री ऑयल नाक छिदवाने के बाद होने वाले फोड़े पर काफी कारगर साबित हो सकता है। इससे नोज बंप तेजी से ठीक हो सकता है। साथ ही इंफेक्शन का खतरा भी कम होता है। टी ट्री ऑयल रिएक्शन कर सकता है, इसके लिए आप एक पैच टेस्ट जरूर कर लें।

टी ट्री ऑयल की चार बूंदे ऑलिव ऑयल, नारियल के तेल या बादाम के तेल में मिलाएं और नाक छिदवाए हुए स्थान पर लगाएं।

और पढ़ें : यह वैक्सिंग टिप्स (waxing tips) फॉलो कर पाएं वैक्सिंग के बाद होने वाली समस्याओं से निजात

हल्दी कम करेगी बंप की सूजन

हल्दी एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक औषधि है। इसमें मौजूद एंटीमाइक्रॉबियल गुण के कारण नोज पियर्सिंग बंप जल्दी ठीक हो जाता है।

एलोवेरा पहुंचाएगा ठंडक

एलोवेरा में खुजली और जलन के कम करने के गुण होते हैं। साथ ही ये स्कार को पड़ने से भी रोकता है। नोज पियर्सिंग बंप को ठीक करने के लिए उस स्थान पर एलोवेरा का जेल निकाल कर रूई की मदद से लगाएं। ऐसा दिन में दो से चार बार करें।

नोज पियर्सिंग के बाद होने वाले बंप को कैसे ठीक करना है आप समझ ही गए होंगे। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Common complications of body piercing https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1071670/. Accessed On 23 September, 2020.

Piercings: How to prevent complications https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/adult-health/in-depth/piercings/art-20047317. Accessed On 23 September, 2020.

Piercings. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/piercings. Accessed On 23 September, 2020.

Piercing and Tattoos. https://medlineplus.gov/piercingandtattoos.html. Accessed On 23 September, 2020.

Body piercing. https://www.healthdirect.gov.au/body-piercing. Accessed On 23 September, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 15/07/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड