home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

क्या व्हाइट डिस्चार्ज होना कोई बीमारी है?

क्या व्हाइट डिस्चार्ज होना कोई बीमारी है?

व्हाइट डिस्चार्ज से हर महिला वाकिफ है। लेकिन कई बार महिलाओं के मन में ये सवाल आता है कि कहीं ये कोई बीमारी तो नहीं है। आइए जानें कि व्हाइट डिस्चार्ज होना कितना सामान्य है?

यह भी पढ़ें : व्हाइट डिस्चार्ज (सफेद पानी) की समस्या से राहत पाने के 10 घरेलू उपाय

सवाल: मुझे कई बार व्हाइट डिस्चार्ज होता है। क्या ये बार-बार होना सामान्य बात है या ये कोई बीमारी है?

जवाब:

व्हाइट डिस्चार्ज होना सामान्य बात है। ये ज्यादातर महिलाओं को होता है। मेडिकल भाषा में इसे ल्यूकोरिया कहते हैं। व्हाइट डिस्चार्ज पीला या हरा रंग का होता है। अगर डिस्चार्ज के साथ आपके योनि में खुजली होती है या लालपन, सिरदर्द, कमजोरी या दुर्गंध आती है तो गायनिकोलॉजिस्ट से परामर्श लेना चाहिए। व्हाइट डिस्चार्ज होने के कई कारण हो सकते हैं। जैसे- हॉर्मोनल बदलाव, डायबिटीज, एनीमिया, प्रेग्नेंसी, असुरक्षित सेक्स, सफाई का ध्यान न रखना, पोषण की कमी, यूरेनिरी ट्रैक्ट इंफेक्शन और अपाचन या कब्ज के कारण ये समस्या होती है। इसके साथ अगर कुछ अन्य लक्षण भी सामने आते हैं तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए।

व्हाइट डिस्चार्ज (सफेद पानी) होने के कारण:

  • प्राइवेट पार्ट की ठीक तरह से सफाई न रखना
  • किसी स्थिति में ज्यादा घबराहट होना
  • बार-बार अबॉर्शन की स्थिति होना
  • किसी तरह के संक्रमण के कारण
  • शरीर में पोषक तत्वों की कमी होना
  • बहुत ज्यादा तनाव में रहना

यह भी पढ़ें : पीरियड्स के दौरान दर्द को कहना है बाय तो खाएं ये फूड

व्हाइट डिस्चार्ज (सफेद पानी) आने के लक्षण:

  • चक्कर आने की परेशानी लगातार होना
  • हमेशा थका हुआ महसूस होना
  • किसी कारण प्राइवेट पार्ट में खुजली होना
  • कमजोरी होना
  • प्राइवेट पार्ट से बदबू आना और जलन महसूस होना
  • कब्ज होना
  • सिरदर्द होना
  • बार-बार यूरिन में समस्या होना

(व्हाइट डिस्चार्ज) सफेद पानी से राहत पाने के घरेलू उपाय

1. व्हाइट डिस्चार्ज से राहत: भिंडी

व्हाइट डिस्चार्ज या सफेद पानी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए भिंडी का इस्तेमाल करें। सबसे पहले 100 ग्राम भिंडी को आधा लीटर पानी में डालकर अच्छे से उबाल लें। इसे तब तक उबालते रहे जब तक की पानी आधा न रह जाए। पानी को ठंडा होने के बाद इसमें शहद मिलाकर पिएं। ऐसा करने से आपको सफेद पानी की समस्या से राहत मिलेगी।

2. व्हाइट डिस्चार्ज से राहत: गुलाब के फूल

व्हाइट डिस्चार्ज से राहत दिलाने में गुलाब के फूल बहुत फायदेमंद हो सकते हैं। गुलाब की पत्तियों को सुखाकर इन्हें अच्छी तरह पीस लें। अब सुबह-शाम गुलाब के चूर्ण को दूध में मिलाकर पिएं। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में सफेद पानी की समस्या दूर हो सकती है।

यह भी पढ़ें : अनियमित पीरियड्स को नियमित करने के 7 घरेलू नुस्खे

3.व्हाइट डिस्चार्ज से राहत: मुलेठी

सफेद पानी की समस्या से राहत पाने के लिए आप मुलेठी का सहारा भी ले सकते हैं। इसके लिए मुलेठी को पीसकर बारीक चूर्ण के रूप में तैयार कर लें। उसके बाद नियमित रूप से कुछ दिनों तक सुबह-शाम एक चम्मच चूर्ण को एक गिलास पानी के साथ मिलाकर पिएं। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या दूर हो जाएगी।

4.व्हाइट डिस्चार्ज से राहत: केला

केले का सेवन करने से भी कुछ ही दिनों में व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या दूर हो जाती है। आप सफेद पानी से निजात पाने के लिए एक गिलास दूध में आधा चम्मच घी डालकर पिएं। इसके तुरंत बाद केले का सेवन करें।

5.व्हाइट डिस्चार्ज से राहत: चावल का पानी

सफेद पानी की समस्या से राहत पाने के लिए आप चावल के पानी का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। इसके लिए चावल को पानी में उबाल लें। फिर, उस पानी को ठंडा कर के पी लें। कुछ ही दिनों में सफेद पानी की समस्या से राहत मिल सकती है।

6.व्हाइट डिस्चार्ज से राहत: अदरक

एक लीटर पानी में अदरक को अच्छी तरह उबाल लें। जब यह उबल कर आधा रह जाए, तो इसका सेवन करें। आप चाहें तो, अदरक का सेवन खसखस के साथ भी कर सकते हैं। इससे सफेद पानी की समस्या जल्दी दूर हो सकती है।

7.व्हाइट डिस्चार्ज से राहत: सब्जियों का रस

रोजाना इस जूस का सेवन सफेद पानी की समस्या को जड़ से खत्म कर सकता है। इसके लिए आप गाजर, पालक, गोभी और चुकंदर को मिला कर जूस बना लें। दिन में दो या तीन बार इसका सेवन करें। इसे नियमित रूप से पीने से जल्द ही आपको राहत मिल सकती है।

ये भी पढ़ें- जानिए क्या है ब्रेस्ट मिल्क पंप और कितना सुरक्षित है इसका प्रयोग?

8.व्हाइट डिस्चार्ज से राहत: मेथी दाने

मेथी दाने भी सफेद पानी की समस्या से राहत दिलाने में मदद करते हैं। इस दौरान, आप गर्म पानी में मेथी दाने भिगोकर कुछ घंटों के लिए रखें, फिर इसे छानकर इसका पानी पी लें। रोजाना ऐसा करने से आपको सफेद पानी की समस्या से राहत मिलेगी।

9.व्हाइट डिस्चार्ज से राहत: टी ट्री ऑयल

इस समस्या में आप टी ट्री ऑयल का सेवन भी कर सकते हैं। इसके लिए आप टी ट्री ऑयल को एसेंशियल ऑयल जैसे जोजोबा ऑयल या नारियल के तेल में मिलाकर सेवन कर सकते हैं। इसका सेवन आप वैजाइनल सपोसिटरी के तौर पर कर सकते हैं।

सफेद पानी की समस्या समझने के बाद ये जानना भी जरूरी है की वजायना से कितने तरह का डिस्चार्ज होता है? हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार वजायना से 5 अलग-अलग तरह का डिस्चार्ज होता है।

1. वाइट डिस्चार्ज- वजायना से सफेद और गाढ़ा डिस्चार्ज होना सामान्य माना जाता है। हालांकि इन सबके साथ अगर जलन, खुजली और अन्य परेशानी महसूस होने पर यीस्ट इंफेक्शन होने की संभावना हो सकती है।

2. येल्लो डिस्चार्ज- यह सामान्य नहीं होता है। दरअसल ऐसा बैक्टेरियल इंफेक्शन की ओर इशारा करता है। कभी-कभी यह सेक्शुअल ट्रांसमिटेड इंफेक्शन के कारण भी हो सकता है।

3. ब्राउन डिस्चार्ज- ब्राउन डिस्चार्ज पीरियड्स ठीक तरह से और समय पर नहीं आने की स्थिति में होता है। किसी भी महिला को अगर ब्राउन डिस्चार्ज हो रहा है, तो डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। क्योंकि कभी-कभी ये यूट्रस या सर्वाइकल कैंसर की ओर इशारा करता है।

4. ग्रीन डिस्चार्ज- यह सामान्य नहीं है। ऐसा बैक्टेरियल इंफेक्शन या सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन के कारण होता है।

5. यीस्ट इंफेक्शन यीस्ट इंफेक्शन होने पर महिला को सतर्क हो जाना चाहिए। दरअसल अगर डिस्चार्ज गाढ़ा हो, अत्यधिक खुजली हो, वजायना रेड हो जाये, परेशानी महसूस होने के साथ-साथ जलन महसूस होने पर डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए।

इन पांच तरह के डिस्चार्ज समझने के बाद अगर आप वजायनल डिस्चार्ज को नजरअंदाज कर रहीं हैं, तो ऐसा न करें। क्योंकि इसका इलाज जरूर करवाना चाहिए। हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

और पढ़ें :

प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले इंफेक्शन हो सकते हैं खतरनाक, न करें इग्नोर

प्यूबर्टी के दौरान लड़कियों में क्या शारीरिक बदलाव होते हैं?

प्रेग्नेंसी के दौरान बॉडी में दिखाई देते हैं ऐसे 6 बदलाव, न हो परेशान

प्रेग्नेंसी के शुरूआती दौर में होने वाले डिस्चार्ज और उनके संकेत

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

How to get rid of a yeast infection/https://www.medicalnewstoday.com/articles/317935.php/Accessed on 09/01/2020

Home Remedies for Yeast Infections/https://www.healthline.com/health/Accessed on 09/01/2020

5 Types of Vaginal Discharge & What They Mean (Infographic)/https://www.unitypoint.org/Accessed on 09/01/2020

Traditional Herbal Remedies for Primary Health Care/http://apps.who.int/Accessed on 09/01/2020

HERBAL REMEDIES USED IN TREATMENT OF BACTERIAL VAGINITIS: A MINI-REVIEW/https://www.researchgate.net/Accessed on 09/01/2020

Do Home Remedies Actually Work for Yeast Infections?/https://health.clevelandclinic.org/Accessed on 09/01/2020

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 02/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड