नींबू पानी के 11 फायदे ऐसे जो नहीं सुने होंगे आप ने कभी

Medically reviewed by | By

Update Date जनवरी 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

नींबू सबसे लोकप्रिय और अनेक गुणों से भरे खट्टे फल में से एक है। इसकी लोकप्रियता इसके ताज़ा स्वाद के कारण है। नींबू विटामिन सी का एक प्रमुख स्रोत है। नींबू में न केवल एंटीबैक्टीरीयल (anti-bacterial) और एंटीवायरल गुण हैं बल्कि यह एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर है। यह पाचन तंत्र को मज़बूत करने के साथ-साथ फैट को भी कुछ हद तक घटाने में मदद करता है। लेकिन, नींबू के फायदे सिर्फ इतने तक ही सीमित नहीं हैं। सुबह-सुबह खाली पेट गर्म नींबू पानी पीने से गैस और पेट की समस्या ठीक होने में मदद मिलती है और आप ताज़गी का अनुभव करते है। 

नींबू पानी के और क्या फायदे है यह हम विस्तार में बताएंगे

1.नींबू पानी करता है लिवर को डीटॉक्सीफाइ (Detoxify):

नींबू के रस में साइट्रिक एसिड (citric acid) होता है। साइट्रिक एसिड लिवर में मौजूद एंजाईम्स को बेहतर कार्य करने में मदद करता है। यह लिवर के डीटॉक्सिफिकेशन (Detoxification) की प्रक्रिया को बढ़ावा देता है ताकि हमारे लिवर से सारे टॉक्सिक (toxic) यौगिक निकल जायें।

यह भी पढ़ें : अडूसा के फायदे : कफ से लेकर गठिया में फायदेमंद है यह जड़ी बूटी

2.नींबू का असर, संतुलित रखे पीएच का स्तर:

हमारे शरीर में एसिडिटी (acidity) का ज्यादा स्तर हानिकारक हो सकता है। नींबू पानी इसे कम करने में काफी मदद करता है। ऐसे तो नींबू में साइट्रिक एसिड होता है, लेकिन उसमें मौजूद पोषक तत्व और खनिज पदार्थ होते हैं। साइट्रिक एसिड एक बहुत मजबूत एसिड नहीं है और इस वजह से वो हमारे शरीर से पसीने के रास्ते निकल जाता है।

यह भी पढ़ें : लौंग से केले तक ये 10 चीजें हाइपरएसिडिटी में दे सकती हैं राहत

3.नींबू पानी से शरीर में कैल्शियम कार्बोनेट के फार्मेशन को मिलता है बढ़ावा:

कैल्शियम कार्बोनेट शरीर में  मौजूद अन्य मजबूत एसिड को बेअसर करता है। अगर आप अपने आहार में ज्यादातार मांस और पनीर जैसे प्रोटीन युक्त भोजन का सेवन करते हैं तो विशेषज्ञों के अनुसार नींबू का उपयोग आपके रक्त के पीएच संतुलन (Ph balance) को बदलने में मदद हो सकता है और पेशाब के रास्ते से संक्रमण निपटने में भी मदद कर सकता है।

यह भी पढ़ें : प्रोटीन सप्लिमेंट्स लेना सही या गलत? आप भी हैं कंफ्यूज्ड तो पढ़ें ये आर्टिकल

4.इम्यून सिस्टम को करता है मजबूत:

नींबू विटामिन सी (vitamin c) का एक भंडार हैं। विटामिन-सी सर्दी-जुकाम से लड़ने के लिए जाना जाता है और आपके इम्यून सिस्टम के लिए अच्छा होता है। नींबू में पोटेशियम भी होता है, जो दिमाग और नर्वस सिस्टम के काम को बेहतर करता है और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है।

यह भी पढ़ें : इस तरह जानिए कि शरीर में हो गई है विटामिन-सी (Vitamin C) की कमी

5.वजन घटाने में मददगार:

सुबह नींबू पानी पीने से भोजन की इच्छा कम होती है। इसके अलावा, कुछ अध्ययन में यह पाया गया है कि जो लोग ऐल्कलाइन आहार का सेवन ज्यादा करते हैं और नींबू पानी पीते हैं वो दूसरों की तुलना में अधिक तेज़ी से अपना वजन घटाते हैं।

यह भी पढ़ें : क्या ग्रीन टी (Green Tea) घटा सकती है मोटापा?

6.नींबू करता है त्वचा को तरोताजा:

विशेषज्ञों का मानना है कि विटामिन-सी युवा त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद है क्योंकि विटामिन-सी कोलेजन के उत्पादन में मदद करता है। नींबू में पाये जाने वाले एंटीऑक्सिडेंट डल स्किन को फिर से तरोताजा करते हैं और स्वस्थ रखते हैं। गर्म नींबू पानी खून से टॉक्सिक काम्पाउंड को निकालता है। 

यह भी पढ़ें : कॉस्टमे​टिक (Cosmetics) कैसे चुनें?

7. नींबू पानी करे गले में संक्रमण का इलाज

गले में इंफेक्शन और खराश या फिर टॉन्सिलिटिस (tonsillitis) जैसी समस्याओं से लड़ने में नींबू अत्यंत सहायक हैं। जो लोग गर्म पानी में नींबू का रस डालकर प्रतिदिन सेवन करते हैं, उनमें गले का संक्रमण कम ही देखने को मिलता है। यह हेल्दी पेय अस्थमा जैसी श्वसन समस्याओं को भी रोकने में भी मदद करता है।

यह भी पढ़ें : अस्थमा से राहत पाने के लिए ये घरेलू उपाय हैं कारगर

8. नींबू पानी पीने के फायदे दिलाएं सांस की बदबू से छुटकारा

नींबू पानी के औषधीय गुण, सांस की दुर्गंध को दूर करने में बहित ही सहायक साबित होते हैं। यह मुंह को साफ करता है और लार के उत्पादन को सक्रिय करके गंध पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारता है।

यह भी पढ़ें : जीभ की सही पुजिशन न होने से हो सकती हैं ये समस्याएं

9. नींबू पानी भरे शरीर में ऊर्जा

नींबू में मौजूद विटामिन बी और सी, कार्बोहाइड्रेट, फास्फोरस और प्रोटीन जैसे पौष्टिक तत्व शरीर में एनर्जी का लेवल हाई रखने में मददगार होते हैं। यह बॉडी को हाइड्रेट रखने के साथ ही शरीर में ऑक्सीजन की आपूर्ति करता है पूरे दिन फ्रेश-फ्रेश महसूस होता है।

यह भी पढ़ें : कोकोनट वॉटर से वेट लॉस होता है, क्या आप इस बारे में जानते हैं?

10. नींबू पानी यूरिन संक्रमण में उपयोगी

नींबू पानी यूरिनरी ट्रैक्ट के पी.एच. स्तर को मेंटेन रखने में सहायक होता है। लेमन वॉटर खराब बैक्टीरिया को बाहर निकालता है। नींबू में साइट्रिक एसिड डिटॉक्सिफिकैशन प्रोसेस में सहायक होता है जो मूत्र पथ के संक्रमण को दूर करने के लिए आवश्यक है। जो महिलाएं अक्सर यू.टी.आई से पीड़ित रहती हैं, उन्हें यूरिन इंफेक्शन के इलाज के लिए नींबू पानी का सेवन करना चाहिए।

प्रेग्नेंसी में STD (Sexually Transmitted Diseases): जानें इसके लक्षण और बचाव

11. किडनी स्टोन करे दूर

गुर्दे की पथरी हटाने के लिए दवाओं के साथ घरेलू उपाय के रूप में नींबू पानी का सेवन किया जा सकता है। नींबू में मौजूद सिट्रिक एसिड किडनी स्टोन को बनने से रोकता है।

यह भी पढ़ें : डेंगू ही नहीं इन 5 बीमारियों पर भी असरदार है कीवी के फायदे

नींबू पानी के नुकसान

भले ही नींबू खाने के फायदे और नींबू पानी के स्वास्थ्य लाभ कई हों लेकिन, यह साइड-इफेक्ट्स से रहित नहीं है। ज्यादा मात्रा में लंबे समय तक नींबू पानी का सेवन करने से आपको निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स का सामना करना पड़ सकता है।

  • कच्चे नींबू के रस का एक ही दिन में ज्यादा इस्तेमाल पेट को खराब कर सकता है।
  • लेमन में स्वाभाविक रूप से एसिड होता है और पेट में अम्ल की ज्यादा मात्रा डाइजेस्टिव सिस्टम के श्लेष्म झिल्ली में समस्या पैदा कर सकता है जिससे पेट-दर्द या दस्त की समस्या हो सकती है।
  • नींबू पानी का ज्यादा सेवन दांतों को नुकसान पहुंचा सकता है।
  • नींबू का अत्यधिक सेवन से पेट को बहुत ज्यादा अम्लीय बना सकता है। इससे पेप्टिक अल्सर के कुछ लक्षण दिख सकते हैं।
  • जानकार हैरानी होगी कि नींबू का अत्यधिक इस्तेमाल माइग्रेन के लक्षणों को प्रेरित कर सकता है।

नीबू पानी सेहत के लिए बहुत लाभकारी है। यह बॉडी से विषाक्त पदार्थो को बाहर निकालता है। इसके साथ ही शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिहाज से भी उपयोगी है। लेकिन, सभी को इसके लाभ मिले ऐसा जरूरी नहीं है। यदि आप कुछ गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहे है तो नींबू पानी के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह जरूर लेनी चाहिए। ऊपर दिए गए सारे फायदे नींबू के प्रयोग पर निर्भर करते हैं। कभी भी नींबू को अधिक प्रयोग ना करें। इसलिए कि नींबू पानी से आप एक हद तक वजन कम कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :-

भिंडी के फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान, दिल से लेकर दिमाग के लिए फायदेमंद

पुरुषों में इनफर्टिलिटी के ये 5 लक्षण, न करें इग्नोर

चेहरे के सौंदर्य और निखार के लिए वरदान है नींबू

बालों के विकार, दूर करे नींबू का रस (Lemon Juice) हर बार

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"
    सूत्र

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    Swollen Knee : घुटनों में सूजन क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    घुटनों में सूजन की वजह से चलने-फिरने में समस्या हो सकती है। कई बार इसके वजह से घुटने भी बदलवाने पड़ते हैं। आइए, जानते हैं कि समस्या का कारण और बचने के उपाय।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Surender Aggarwal
    हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z जून 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    Ostocalcium: ओस्टोकैल्शियम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    जानिए ओस्टोकैल्शियम ( Ostocalcium)की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितनी खुराक लें, ओस्टोकैल्शियम डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Bhawana Awasthi
    दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 9, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

    Becadexamin: बेकाडेक्सामिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    जानिए बेकाडेक्सामिन (Becadexamin) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितनी खुराक लें, बेकाडेक्सामिन डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Bhawana Awasthi
    दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 2, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    गोखरू के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Gokhru (Gokshura)

    जानिए गोखरू की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, गोखरू उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कितना लें, Gokshura डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां, गोखरू का पौधा कैसा होता है।

    Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
    Written by Ankita Mishra
    जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 1, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें