home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ में आती है कई परेशानियां, जानें इनके बारे में

डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ में आती है कई परेशानियां, जानें इनके बारे में

डायबिटीज आज के समय में सबसे आप समस्या हो गई है, हर चौथा व्यक्ति डायबिटीज का शिकार है। अब तो बड़ों के साथ-साथ बच्चों में भी डायबिटीज की समस्या देखने को मिल रही है। ऐसे में डायबिटीज का प्रभाव पूरे जीवन पर पड़ता है, चाहे वो हमारी सेक्स लाइफ ही क्यों ना हो। डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ को जीना एक डायबिटिक व्यक्ति के लिए आसान हीं होता है। डायबिटीज सीधे तौर पर मरीज की सेक्स लाइफ को प्रभावित करता है। इसके नकारात्मक प्रभाव दैनिक जीवन में समस्या पैदा करते हैं। ऐसे में आपको उन समस्याओं के बारे में जानना जरूरी है जो डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ में आ सकती है। इसके साथ ही डायबिटीज और सेक्स लाइफ में सामंजस्य आप अपने प्रयास से स्थापित कर सकते हैं।

और पढ़ें : त्वचा से लेकर डायबिटीज तक के लिए जानें आम के फायदे

डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ किस तरह से होती है प्रभावित?

डायबिटीज और सेक्स लाइफ हमेशा से चर्चा का विषय रही है, ऐसे में आपको इस विषय पर जागरूक होने की जरूरत है और अपने डॉक्टर से खुलकर इस बारे में बात करने की जरूरत है। अक्सर देखा गया है कि लोग सेक्स के विषय पर बात नहीं करते हैं और किसी स्वास्थ्य समस्या के साथ सेक्स लाइफ औक ज्यादा खराब कर लेते हैं। वर्ष 2010 में जॉर्नल ऑफ डायबिटीज केयर में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, डायबिटीज होने के बावजूद 50 प्रतिशत पुरुषों और 19 प्रतिशत महिलाओं ने अपनी सेक्स लाइफ में आ रही दिक्कतों का जिक्र डॉक्टर से नहीं किया है। ऐसे में ये बेहद जरूरी हो जाता है कि इस विषय में डॉक्टर को बेहिचक सच बताएं, जिससे आपका सही वक्त पर इलाज हो सके।

पुरुषों में डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ में क्या समस्याएं होती है?

डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ महिलाओं और पुरुषों में अलग-अलग समस्याएं हो सकती हैं। जिसमें सेक्स ना करने की इच्छा सबसे सामान्य है। आइए जानते हैं कि डायबिटीज और सेक्स लाइफ में पुरुषों को क्या समस्याएं हो सकती हैं?

सेक्स ड्राइव या कामेच्छा में कमी होना

डायबिटीज सेक्स की इच्छा को कम कर देती है। एक अध्ययन में ये बात सामने आई है कि डायबिटीज पुरुषों में सेक्स हॉर्मोन टेस्टोस्टेरॉन को कम करता है, जिससे डायबिटीज होने पर सेक्स के प्रति इच्छा कम हो जाती है। इसके साथ ही अगर सेक्स करना भी चाहें तो पेनिस इरेक्शन में समस्या आती है।

पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन (erectile dysfunction) की समस्या

डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ में पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन यानी कि पेनिस में इरेक्शन की कमी देखी जाती है। रिसर्च के अनुसार, डायबिटीज से जूझ रहे 20 से 75 प्रतिशत पुरुषों को ये समस्या आती है। वहीं, डायबिटिक पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन होने की संभावना सामान्य पुरुषों से दो से तीन गुना अधिक होती है। इसका सीधे तौर पर सेक्स लाइफ पर असर पड़ता है।

पुरुषों में सेक्स के दौरान दर्द होना

सेक्स आपको और आपके पार्टनर को सुख और आत्मसंतुष्टि प्रदान करता है। लेकिन, डायबिटीज के वजह से सेक्स के दौरान दर्द हो सकता है। डायबिटिक पुरुष के लिंग के स्कार टिशू से इरेक्शन में तकलीफ और पेनिस थोड़ा टेढ़ा इरेक्ट होता है। जिसे पीनियल कर्वेचर (Penile curvature) कहते हैं। पीनियल कर्वेचर होने पर सेक्स के दौरान सही से इंटरकोर्स नहीं हो पाता है और सेक्स में दर्द होता है।

और पढ़ें : हर दिन सेक्स करना कैसे फायदेमंद है, जानिए इसके 9 वजह

रेट्रोग्रेड इजैकुलेशन (Retrograde ejaculation) की समस्या

डायबिटीज से पीड़ित पुरुषों में रेट्रोग्रेड इजैकुलेशन नामक समस्या हो सकती है। यह एक ऐसी स्थिति होती है, जिसमें वीर्य निकलने के दौरान लिंग से न निकलर ब्लैडर में चला जाता है। स्पर्म इसके बाद यूरिन के साथ बाहर निकलता है। जिससे सेक्स लाइफ में समस्या होती है।

महिलाओं में डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ में क्या समस्याएं होती है?

जैसा की सभी जानते हैं कि महिला और पुरुष में सेक्स हॉर्मोन अलग-अलग होते हैं, लेकिन फिर भी दोनों में ही सेक्स हॉर्मोन प्रभावित होता है और सेक्स लाइफ को इफेक्ट करता है। आइए जानते हैं कि महिलाओं में डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ से जुड़ी क्या समस्याएं आती हैं :

और पढ़ें : डायबिटीज पैचेस : ये क्या है और किस प्रकार करता है काम?

सेक्स ड्राइव में कमी होना

महिलाओं में डायबिटीज के कारण से वजायना और क्लिटोरिस में ब्लड फ्लो ठीक तरह से नहीं हो पाता है, जिसके वजह से सेक्स लाइफ में दिक्कत आती है। इसके साथ ही वजायना में ड्राईनेस भी रहती है और सेक्स की इच्छा नहीं होती है। इसका प्रमुख कारण महिला के शरीर में डायबिटीज के कारण होने वाले हॉर्मोनल बदलाव हैं।

ऑर्गेज्म तक नहीं पहुंच पाती हैं महिलाएं

डायबिटीज में सेक्स लाइफ में महिलाएं ऑर्गेज्म यानि चरमोत्कर्ष तक नहीं पहुंच पाती हैं। हालांकि, पुरुषों की तुलना में महिलाओं में ऑर्गेज्म देरी से होता है या वे ऑर्गेज्म तक नहीं पहुंच पाती हैं। इसी क्रम में डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं को सेक्स के दौरान वजायना और क्लिटोरिस में ब्लड फ्लो सही से ना होने पर सेक्स के दौरान इंटरकोर्स अच्छे से महसूस नहीं होता है। जिस कारण से महिलाएं ऑर्गेज्म पर नहीं पहुंच पाती हैं।

और पढ़ें : सेक्स ड्राइव बढ़ाने के लिए महिलाएं खाएं ये फूड्स

सेक्स के दौरान दर्द होना

महिलाओं में योनि में सूखापन सेक्स के दौरान दर्द का प्रमुख कारण बनता है। ऐसे वक्त में लुब्रिकेंट्स का सहारा लिया जा सकता है। जिससे सेक्स को दौरान होने वाले दर्द को कम किया जा सकता है।

यीस्ट इंफेक्शन

डायबिटिक महिलाओं में वजायनल यीस्ट इंफेक्शन होना एक सामान्य बात है। यीस्ट इंफेक्शन एक प्रकार की फंफूद यानि कि फंगस से होने वाला इंफेक्शन है। जब किसी को डायबिटीज होता है तो शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है। वजायना में मौजूद ब्लड वेसेल्स में ब्लड ग्लूकोज लेवल हाई होने के कारण यीस्ट इंफेक्शन का रिस्क बढ़ जाता है। जिससे सेक्स करने के दौरान दर्द होता है और वजायना में खुजली और डिसचार्ज की समस्या होती है। इसके साथ ही सेक्स पार्टनर को भी ये इंफेक्शन होने का रिस्क बढ़ सकता है।

और पढ़ें : घर पर डायबिटीज टेस्ट कैसे करें?

डायबिटीज और सेक्स लाइफ को कैसे सुधारें?

डायबिटीज से इंसान के स्वास्थ्य पर काफी असर पड़ता है। साथ ही इससे लोगों के दैनिक जीवन पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। वहीं सेक्स लाइफ पर भी डायबिटीज का दुष्प्रभाव पड़ता है। ऐसे में कुछ टिप्स को अपनाकर डायबिटीज में सेक्स लाइफ को सुधारा जा सकता है।

महिलाएं अपने पीरियड साइकिल को जानें

डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ को सुधारने के लिए महिलाएं पीरियड शुरू होने के पहले, बाद में और पीरियड्स के दौरान अपने ब्लड शुगर लेवल की जांच करती रहें। पीरियड्स के दौरान होने वाले हॉर्मोनल बदलाव आपकी डायबिटिज को कंट्रोल करने की कोशिश में खलल डाल सकते हैं। इसके शुगर लेवल को ट्रेक करने से अगले पीरियड साइकिल में भी मदद मिलेगी। साथ ही रोजाना व्यायाम करना भी डायबिटीक महिलाओं के लिए लाभकारी साबित हो सकता है और उनकी सेक्स लाइफ सुधारने में मदद कर सकता है।

डायबिटीज के कारण इरेक्टाइल डिसफंक्शन में क्या करें?

डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ में पुरुषों को इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या होना बहुत आम बात है। ब्लड शुगर लेवल ठीक न होने के कारण यह समस्या होती है और इसमें नसों और रक्त वाहिकाओं को नुकसान होता है। यह समस्या सीधे तौर पर पुरुषों की सेक्स लाइफ पर बुरा असर डालती है। इस समस्या में किसी डॉक्टर से सलाह लें। इसके अलावा खुद भी अपने ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने की कोशिश करें।

डिप्रेशन से बचें

डायबिटीज से जूझ रहे लोगों में डिप्रेशन की समस्या होना बहुत आम है। डायबिटीज और डिप्रेशन दोनों मिलकर आपकी सेक्स लाइफ को बर्बाद कर सकते हैं। इसके अलावा कई मामलों में देखा जाता है कि इससे लोग बहुत अधिक चिंता करने लगते हैं और साथ ही उनकी आत्मविश्वास भी काफी कम हो जाता है। एक बात और जान लें कि सेक्स लाइफ और दिमाग का सीधा कनेक्शन है। जिस तरह शरीर के हर अंग के काम करने के लिए दिमाग की जरूरत है उसी तरह सेक्स के लिए भी इसकी जरूरत होती है। ऐसे में डिप्रेशन से बचने के लिए खुद को व्यस्त रखें और हेल्दी लाइफस्टाइल को फॉलो करें। साथ ही ऐसे लोग किसी मनोचिकित्सक की भी मदद ले सकते हैं।

और पढ़ें : कोरोना वायरस से जुड़े सवाल और उनके जवाब, डायबिटीज और बीपी के रोगी जरूर पढ़ें

वजन कम कर के टेस्टोस्टेरॉन हॉर्मोन बढ़ाएं

पुरुषों के टाइप 2 डायबिटीज से ग्रसित होने पर उनके अंदर टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम हो जाता है। ऐसे में इन पुरुषों में इंसुलिन रेजिस्टेंस और इंसुलिन सेंसिटिविटी प्रभावित होती है। ऐसे में यदि डायबिटिक पुरुष का वजन बढ़ा हुआ है, तो वजन कम करने से डायबिटीज और टेस्टोस्टेरोन दोनों का लेवल ठीक रखने में मदद मिलेगी। इसके अलावा हेल्दी डायट और एक्सरसाइज भी आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। इसके अलावा आप टेस्टोस्टेरोन के लेवल को ठीक रखने के लिए डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं। टेस्टोस्टेरोन रिप्लेसमेंट थेरेपी भी एक अच्छा ऑप्शन साबित हो सकता है।

डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं के लिए प्रेग्नेंसी भी कठिन समय साबित होता है। डायबिटीक महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। साथ ही उन्हें समय पर डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए और उसी के अनुसार अपनी डायट और लाइफस्टाइल तय करनी चाहिए। ऐसे में आप डायबिटीज के साथ सेक्स लाइफ का भरपूर आनंद ले सकते हैं। उम्मीद है कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और आपको इससे मदद भी मिली होगी। आप हमें कमेंट कर के अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें। वहीं, इस विषय में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Sex and chronic illness – https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/ServicesAndSupport/Sex-and-chronic-illness – accessed on 11/01/2020

Testosterone level and risk of type 2 diabetes in men: a systematic review and meta-analysis https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5793809/ Accessed on 2/9/2020

Diabetes and sexual and urological problems niddk.nih.gov/health-information/diabetes/overview/preventing-problems/sexual-bladder-problems Accessed on 2/9/2020

Sexual Dysfunction in Diabetes https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK279101/#:~:text=Diabetes%20has%20numerous%20end%20organ,compared%20to%20non%2Ddiabetic%20peers. Accessed on 2/9/2020

Sexual Dysfunction in Women with Type 2 Diabetes Mellitus https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4430881/ Accessed on 2/9/2020

लेखक की तस्वीर
Piyush Singh Rajput द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 04/05/2021 को
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x