अगर आपको भी बार-बार लगती है भूख, तो हो जाएं सावधान!

    अगर आपको भी बार-बार लगती है भूख, तो हो जाएं सावधान!

    भूख लगना या किसी चीज को खाने की इच्छा होना कोई असामान्य बात नहीं है। खाना हमारे शरीर को स्वस्थ और ऊर्जावान बनाए रखने के लिए बहुत आवश्यक है। परेशानी तब होती है जब हमें बार-बार भूख लगती है। अगर आपको बार-बार भूख लगती है या आप हमेशा खाली पेट महसूस करतें हैं, तो जरूरी नहीं इसका अर्थ यह हो कि आपको भूख लगी है। इसके कई और कारण भी हो सकते हैं। जरूरत से ज्यादा भूख लगना किसी बीमारी का संकेत भी हो सकते हैं। ध्यान रखें कि अगर खाने के बाद भी आपको बार-बार भूख लगती है, तो इस बात को नजरअंदाज न करें।

    बार-बार भूख लगती है, जानें इसके कारण और उपायों के बारे में

    बार-बार भूख लगती है, तो इसके कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

    1. डायबिटीज (Diabetes)

    डायबिटीज खासतौर पर टाइप-2 डायबिटीज, एक ऐसी बीमारी है, जिसमें आपको हमेशा भूख लग सकती है। डायबिटीज के कारण, ग्लूकोस, जो हमारी ऊर्जा का स्त्रोत है, वो हमारे खून में ही रहता और हमारे शरीर में फैल नहीं पाता है। ऐसे में बार-बार भूख लगती है। अगर आपको बार-बार भूख लगती है, तो यह डायबिटीज की ओर इशारा करती है। अगर आपको या आपके किसी करीबी भी ऐसा महसूस करते हैं, तो डॉक्टर से संपर्क करें और ब्लड टेस्ट जरूर करवाएं।

    और पढ़ें : क्या आपको भी है भूख न लगने की परेशानी ?

    2) तनाव (Stress)

    जब इंसान ज्यादा तनाव में होता है, तो ऐसी स्थिति में भी बार-बार भूख लगती है। तनाव का हमारे पूरे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है, उनमें से एक हमारी भूख भी है। तनाव में अधिक खाना एक बहुत ही सामान्य विकार है। दरअसल चिंता या तनाव होने से हमारे शरीर के हॉर्मोन असंतुलित हो जाते हैं। इससे हमें ज्याद से ज्यादा खाने की इच्छा होती है। लंबे या ज्यादा वक्त तक ऐसा होना खतरे की निशानी है। इसलिए ऐसा होने पर भी डॉक्टर की सलाह लेना आवश्यक है।

    और पढ़ें : कुछ इस तरह स्ट्रेस मैनेजमेंट की मदद से करें तनाव को कम

    3) ज्यादा वर्कआउट करना

    अधिक वर्कआउट या कसरत करने से भी आपको बार-बार भूख लगती है। अगर आप बहुत अधिक वर्कआउट करते हैं, तो आपके शरीर से बहुत अधिक कैलोरी खर्च हो जाती है। इससे आपको और भी अधिक कैलोरी की आवश्यकता पड़ती है। जो लोग रोजाना और लम्बे समय तक कसरत करते हैं, उनका मेटाबोलिज्म बेहतर होता है और पाचन क्रिया भी ठीक रहती है। इसमें ध्यान देने वाली बात यह है कि कब और कितना खाया जाए। एक अध्ययन के अनुसार एक्सरसाइज से पहले पोषक तत्वों को खाने से शरीर की कार्यक्षमता बढ़ती है और चोट लगने की संभावना भी कम होती है।

    अगर आपभी इन सवालों में उलझें रहते हैं हैं कि क्या खाएं और कब खाएं? तो नीचे दिए यह वीडियो आपके लिए बेहद हो सकते हैं।

    और पढ़ें : वर्कआउट मोटिवेशन म्यूजिक क्या है? जानें इसके फायदे

    4) रिफाइंड कार्बोहायड्रेट्स

    रिफाइंड कार्बोहायड्रेट्स जैसे मैगी, पास्ता, जंक फूड, मैदे से बनी चीजें। इनमें फाइबर, विटामिन और मिनरल कम मात्रा में होते हैं। फाइबर की मात्रा कम होने से यह जल्दी पच जाते हैं, जिससे बार-बार भूख लगती है। इससे बचने के लिए अपने भोजन में कार्बोहाइड्रेट्स की जगह फाइबर युक्त आहार को शामिल करें। रिफाइंड कार्बोहायड्रेट्स की जगह फल, सब्जियां और होल वीट आहार जैसे ब्राउन राइस, साबुत अनाज, दालों आदि का इस्तेमाल करें। जल्दी ही आप फर्क महसूस करेंगे।

    5) नींद में समस्या

    भूख लगने वाले हॉर्मोन, जिन्हें घ्रेलिन (Ghrelin) कहा जाता है, वो हमारे दिमाग में हमारी भूख की भावना को नियंत्रित करते हैं। नींद पूरी होने का हमारे जीवन में बहुत महत्व है, क्योंकि नींद की कमी घ्रेलिन के स्तर को बढ़ाती है। इसके कारण बार-बार भूख लगती है। कम से कम आठ घंटे की नींद लेने से न केवल आपका हॉर्मोन लेवल संतुलित रहता है, बल्कि आपको भी इससे अच्छा महसूस होता है। यही नहीं अच्छी नींद लेने से हमारा दिमाग भी ठीक तरह से काम करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।

    और पढ़ें : किन वजहों से हमें रातों को नींद नहीं आती है?

    6) मेनोपॉज और गर्भावस्था

    जिन महिलाओं को बार-बार भूख लगती है, उनमें (PMS), मेनोपॉज या गर्भावस्था का एक संकेत है। पीरियड्स के दिनों में महिलाओं को भूख अधिक लगती है या खाने की इच्छा सामान्य से ज्यादा बढ़ सकती है। यही चीज तब भी होती है, जब महिलाएं मेनोपॉज से गुजरती हैं। हॉर्मोन में बदलाव के कारण बार-बार भूख लगती है। गर्भावस्था के समय महिला को गर्भ में पल रहे शिशु के लिए भी खाना पड़ता है, ऐसे में अधिक भूख लगना स्वभाविक है। इस समस्या से बचने के लिए फल, सब्जियों को अपने आहार का हिस्सा बनाएं और अधिक पानी पीएं। इसके साथ ही व्यायाम भी करें। लेकिन अगर आप गर्भवती हैं, तो आपको एक्सरसाइज अपने हेल्थ एक्सपर्ट के सलाह अनुसार करना करना चाहिए।

    7) प्रोटीन और वसा (Fat) की कमी

    अगर आहार में वसा की कमी हो, तो यह समस्या बढ़ सकती है। जब आप अधिक वसा वाला आहार खाते हैं, तो आपका पेट भरा हुआ रहता है। अध्ययन से यह भी साबित हो चुका है कि कम वसा वाले खाने को खाने से आपकी भूख कम नहीं होती। ऐसे ही आहार में प्रोटीन की कमी होने से भी भूख ज्यादा या बार-बार लगती है। अगर आपकी भी ऐसी ही कुछ स्थिति है, तो इसके लिए आपको अपने आहार में अंडे, मछली, दूध से बने पदार्थ और सब्जियां व दालें आदि शामिल करना चाहिए।

    और पढ़ें : प्रोटीन सप्लिमेंट्स लेना सही या गलत? आप भी हैं कंफ्यूज्ड तो पढ़ें ये आर्टिकल

    8) कम पानी पीना की वजह से भी बार-बार भूख लगती है

    पानी पीने के फायदों से हम सभी वाकिफ हैं। हमारे स्वास्थ्य के लिए पानी पीना बहुत लाभदायक है। इससे हमारा पाचन तंत्र मजबूत होता है। दिल, दिमाग और अच्छी त्वचा के लिए भी पानी पीना सहायक होता है। भूख को कम करने के लिए भी पानी पीना सहायक है। एक अध्ययन के अनुसार जो लोग खाने से पहले पानी पीते हैं और कम कैलोरी लेते हैं, उन्हें ऐसा लगता है, जैसे उनका पेट भरा हुआ है और बार-बार भूख नहीं लगती। ऐसा सुनना अजीब लग सकता है, लेकिन यह सच है। इसलिए दो से तीन लीटर पानी रोजाना पीएं और अपने आहार में पानी युक्त खाद्य पदार्थों को भी शामिल करें।

    9) खाना स्किप करना

    नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन एजिंग इंट्राम्यूरल रिसर्च प्रोग्राम के शोधकर्ताओं के अनुसार खाने को स्किप करने की आदत भी बार-बार भूख लगने के कारणों में से एक है। दरअसल जब आप भोजन नहीं करते हैं, तो आपका शरीर अपने रक्त शर्करा के लेवल को कम कर सकता है, जिससे बार-बार भूख लग सकती है। खाना स्किप करने से बेहतर होगा कि आप बैलेंस डायट फॉलो करें।

    अगर आप किसी रोग के कारण कोई दवाई ले रहे हैं, तो उसके कारण भी बार-बार भूख लगती है। भूख के बढ़ने का एक कारण अधिक एल्कोहॉल का सेवन भी हो सकता है।

    इन टिप्स को भी फॉलो करें:

    • डायट में मीठे को शामिल न करें
    • रोजाना एक्सरसाइज करें
    • स्मोकिंग न करें
    • स्वीट ड्रिंक का सेवन न करें
    • खाने को अच्छी तरह से चबाएं
    • तेजी से खाना न खाएं

    इस लेख में हमने आपको बार-बार भूख लगने से जुड़े कारणों के बारे में बताया है। कारण चाहे कोई भी हो, लेकिन इस समस्या को हल्के में न लें। पहले अधिक भूख लगने के कारण को पहचाने और उसके बाद इस परेशानी को दूर करने का तरीका ढूंढ़े। हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। यदि आप इससे जुड़ी कोई अन्य जानकारी चाहते हैं, तो एक्सपर्ट से सलाह लें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. हेमाक्षी जत्तानी

    डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


    Anu sharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 09/12/2020

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement