आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Angina difference in men and women: पुरुषों और महिलाओं में अलग हो सकते हैं एंजाइना के लक्षण!

    Angina difference in men and women: पुरुषों और महिलाओं में अलग हो सकते हैं एंजाइना के लक्षण!

    एंजाइना को एंजाइना पेक्टोरिस (Angina Pectoris) के नाम से भी जाना जाता है। यह एक तरह की चेस्ट पेन है, जो हार्ट तक ब्लड फ्लो के कम होने पर होती है। यह कोरोनरी आर्टरी डिजीज (coronary artery disease) का एक लक्षण भी हो सकती है। एंजाइना पेन को छाती में स्क्वीजिंग, प्रेशर, कसाव या दर्द के रूप में पारिभाषित किया जाता है। इससे प्रभावित व्यक्ति को ऐसा लग सकता है जैसे उसकी छाती में कोई भारी वजन रखा गया हो। ऐसा पाया गया है कि पुरुषों और महिलाओं में यह समस्या अलग हो सकती है। आज हम बात करने वाले हैं पुरुषों और महिलाओं में एंजाइना डिफरेंस (Angina difference in men and women) के बारे में। पुरुषों और महिलाओं में एंजाइना डिफरेंस (Angina difference in men and women) जानने से पहले इस समस्या के बारे में थोड़ा और जान लेते हैं।

    एंजाइना के बारे में पाएं जानकारी

    जैसा कि पहले ही बताया गया है कि यह छाती में होने वाली दर्द है, जो सामान्यतया कॉमन होती है। अन्य तरह की चेस्ट पेन और एंजाइना में अंतर करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। अगर आपको अनएक्सप्लेंड चेस्ट पेन है, तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। छाती में दर्द (Chest pain) के साथ ही इस परेशानी के अन्य लक्षण इस तरह से हैं:

    • छाती में बर्निंग सेंसेशन (Burning sensation in chest)
    • भारीपन (Heaviness)
    • प्रेशर (Pressure)
    • स्क्वीजिंग (Squeezing)

    और पढ़ें: Angina: एंजाइना क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

    इस दर्द को बाजू, गर्दन, जबड़ों, कंधे और पीठ में भी अनुभव किया जा सकता है। इसके साथ ही इसके अन्य कुछ लक्षण भी रोगी में नजर आ सकते हैं, जैसे:

    • डिजिनेस (Dizziness)
    • थकावट (Fatigue)
    • जी मिचलाना (Nausea)
    • सांस लेने में समस्या (Shortness of breath)
    • पसीना आना (Sweating)

    एंजाइना (Angina) की गम्भीरता, ड्यूरेशन और टाइप अलग हो सकते हैं। इसके नए या अलग लक्षण एंजाइना (Angina) के अधिक गंभीर प्रकार या हार्ट अटैक (Heart attack) का सिग्नल भी हो सकते हैं। ऐसे में, तुरंत डॉक्टर की सलाह लेना आवश्यक है। ऐसा माना जाता है कि पुरुषों और महिलाओं में एंजाइना डिफरेंस (Angina difference in men and women) होता है। महिलाओं में इसके लक्षणों में जी मिचलाना, उल्टी, गर्दन, जबड़े, पीठ आदि में दर्द शामिल है। महिलाओं में इन लक्षणों को हमेशा हार्ट कंडिशंस के लक्षणों के रूप में नहीं पहचाना जाता है। जिसके परिणामस्वरूप, महिलाओं में ट्रीटमेंट में देरी हो सकती है। अब जानते हैं पुरुषों और महिलाओं में एंजाइना डिफरेंस (Angina difference in men and women) क्यों होता है?

    और पढ़ें: Prinzmetal Angina: चेस्ट पेन हो सकता है प्रिंजमेटल एंजाइना का संकेत, जानिए इस समस्या के बारे में विस्तार से

    पुरुषों और महिलाओं में एंजाइना डिफरेंस (Angina difference in men and women) क्या है, जानिए

    पुरुषों में हार्ट डिजीज अधिकतर कोरोनरी आर्टरीज के ब्लॉक होने के कारण होती हैं, जिन्हें ऑब्सट्रक्टिव कोरोनरी आर्टरी डिजीज (obstructive Coronary artery disease) कहा जाता है। महिलाओं में कोरोनरी आर्टरीज से निकलने वाली बहुत छोटी आर्टरीज के भीतर हार्ट डिजीज विकसित होती हैं। इन्हें मायक्रोवैस्कुलर डिजीज ( microvascular disease) कहा जाता है और यह समस्या अधिकतर कम उम्र की महिलाओं को होती है।

    एंजाइना (Angina) के लक्षणों वाली पचास प्रतिशत महिलाएं, जो कार्डिएक कैथेटेराइजेशन (Cardiac catheterization) से गुजरती हैं, उनमें ऑब्सट्रक्टिव कोरोनरी आर्टरी डिजीज (obstructive Coronary artery disease) की समस्या नहीं होती है। महिलाओं में कार्डियोवैस्कुलर डिजीज (Cardiovascular disease) को सबसे अधिक खतरनाक माना गया है। अब जानते हैं कि एंजाइना के महिलाओं और पुरुषों में कौन-कौन से अलग लक्षण नजर आते हैं।

    और पढ़ें: Angina Pectoris: छाती में दर्द हो सकती है एंजाइना पेक्टरिस के कारण, जानिए कैसे करें इससे बचाव?

    पुरुषों और महिलाओं में एंजाइना डिफरेंस (Angina difference in men and women): कौन से हो सकते हैं इसके लक्षण?

    एंजाइना (Angina) हार्ट मसल तक कम ब्लड फ्लो के कारण होने वाली परेशानी है। ब्लड ऑक्सीजन को कैरी करता है, जो हार्ट मसल्स को सर्वाइव करने के लिए चाहिए होता है। पुरुषों में इसके निम्नलिखित लक्षण नजर आते हैं:

    • छाती में दर्द, जो प्रेशर की तरह लगता है (Chest pain)
    • जी मिचलाना (Nausea)
    • थकावट (Fatigue)
    • सांस लेने में समस्या (Shortness of breath)
    • एंग्जायटी (Anxiety)
    • पसीना आना (Sweating)
    • चक्कर आना (Dizziness)
    • बाजू, पीठ, जबड़े, कंधे आदि में दर्द (Pain)

    और पढ़ें: हार्ट डिजीज में इन एंजाइना साइन्स को पहचानिए, ताकि सही समय पर हो सके बचाव!

    यह तो थे पुरुषों में नजर आने वाले इस परेशानी के लक्षण। अब जानते हैं कि महिलाओं इसके लक्षण क्या हो सकते हैं? जैसा कि पहले ही बताया गया है कि महिलाओं में इसके लक्षण अलग हो सके हैं जिससे उपचार में देरी हो सकती है। पुरुषों और महिलाओं में एंजाइना डिफरेंस (Angina difference in men and women) के बारे में यह जानकारी जरूरी है। महिलाओं में इस परेशानी के लक्षण इस प्रकार हैं:

    • एक शार्प चेस्ट पेन (Sharp chest pain) यह दर्द पुरुषों को महसूस होने वाली दर्द से अलग हो सकती है।
    • पेट में दर्द
    • गले और जबड़े में समस्या
    • जी मिचलाना और सांस लेने में समस्या
    • उल्टी आना
    • अपच

    यह तो आप समझ ही गए होंगे कि पुरुषों और महिलाओं में एंजाइना डिफरेंस (Angina difference in men and women) होता है। महिलाओं में इसके लक्षण अन्य कंडिशंस जैसे हो सकते हैं। ऐसे में इसका निदान करना मुश्किल हो सकता है। जानिए ऐसे में महिलाओं के लिए क्यों जरूरी है रिस्क फैक्टर्स को पहचानना?

    पुरुषों और महिलाओं में एंजाइना डिफरेंस, Angina difference in men and women

    और पढ़ें: सीने में दर्द? हो सकती है स्टेबल एंजाइना की दस्तक!

    इसके रिस्क फैक्टर्स को पहचानें

    महिलाओं में कार्डियोवैस्कुलर डिजीज को बहुत भयानक माना गया है। ऐसा माना गया है कि महिलाओ की बड़ी संख्या इस समस्या से पीड़ित है। ऐसे में इसे इग्नोर बिलकुल भी न करें। इसके रिस्क फैक्टर्स को पहचानना बेहद जरूरी है। क्योंकि, अस्सी प्रतिशत मामलों में हार्ट डिजीज से बचाव संभव है। इसलिए न केवल महिलाओं के लिए इस समस्या के लक्षणों को पहचानना बल्कि एंजाइना और हार्ट डिजीज से जुड़े रिस्क फैक्टर्स के बारे में जानकारी होना भी जरूरी है। इसके रिस्क फैक्टर्स में एंजाइना (Angina) की फैमिली हिस्ट्री, डायबिटीज, स्मोकिंग, हाय ब्लड प्रेशर, ओबेसिटी, स्ट्रेस आदि शामिल हैं। यह तो थी जानकारी पुरुषों और महिलाओं में एंजाइना डिफरेंस (Angina difference in men and women) के बारे में। अब जानिए कि किस तरह से संभव है इस परेशानी का उपचार?

    और पढ़ें: चेस्ट और एब्डोमिनल पेन (Chest And Abdominal Pain) साथ में होने के 10 कारण जानें

    एंजाइना (Angina) का उपचार कैसे किया जा सकता है?

    इस समस्या के उपचार के लिए सबसे पहले इसके लक्षणों को पहचाना और निदान जरूरी है। इसके उपचार के तरीके इस प्रकार हैं:

    एंजाइना (Angina) के उपचार का लक्ष्य लक्षणों की फ्रेक्वेंसी और गंभीरता को कम करना और हार्ट अटैक (Heart attack) व डेथ के जोखिम को कम करना है। यदि आपको अनस्टेबल एंजाइना या एंजाइना पेन है, जो आपके सामान्य से अलग है, तो आपको तुरंत उपचार की जरूरत होगी। अब जान लेते हैं कि कैसे बचा जा सकता है इस समस्या से?

    और पढ़ें: छाती में दर्द से राहत के लिए डॉक्टर दे सकते हैं इन दवाओं को लेने की सलाह!

    एंजाइना (Angina) से कैसे बचें?

    महिला हो या पुरुष इस परेशानी से बचने के लिए उनके लिए अपनी जीवनशैली में बदलाव करना बेहद जरूरी है। इसके लिए निम्नलिखित चीजों को ध्यान में रखें:

    • स्मोकिंग करने से बचें
    • हार्ट हेल्दी डायट का सेवन करें
    • एल्कोहॉल को अवॉइड करें या सीमित मात्रा में इसका सेवन करें
    • रोजाना एक्सरसाइज करें
    • हेल्दी वेट मैंटेन रखें
    • हार्ट डिजीज से रिलेटेड अन्य हेल्थ कंडिशंस को मैनेज करें
    • स्ट्रेस से बचें
    • हार्ट कॉम्प्लीकेशन्स से बचाव के लिए डॉक्टर की सलाह के बाद सही वैक्सीन्स का इस्तेमाल करें

    और पढ़ें: कौन से हो सकते हैं छाती में अचानक और तेज दर्द के कारण?

    यह तो थी जानकारी पुरुषों और महिलाओं में एंजाइना डिफरेंस (Angina difference in men and women) के बारे में। इस समस्या के जल्दी इलाज के लिए इसके लक्षणों को पहचानना बेहद जरूरी है। इसके साथ ही इसके रिस्क फैक्टर्स के बारे में भी जानें जैसे फैमिली हिस्ट्री, ताकि समय-समय पर जांच से कॉम्प्लीकेशन्स से बचा जा सके। अगर आपके मन में इस बारे में कोई भी सवाल है, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें। आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हमारे एक्सपर्ट से जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

    health-tool-icon

    टार्गेट हार्ट रेट कैल्क्यूलेटर

    जानें अपना साधारण और अधिकतम रेस्टिंग हार्ट रेट,आपकी उम्र और रोजाना एक्टिविटीज और अन्य एक्टिविटीज के दौरान प्राभावित होने वाली हार्ट रेट के बारे में।

    पुरुष

    महिला

    क्या आप खोज रहे हैं?

    आपकी रेस्टिंग हार्ट रेट क्या है? (बीपीएम)

    60

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Angina in Women Can Be Different Than Men. https://www.heart.org/en/health-topics/heart-attack/angina-chest-pain/angina-in-women-can-be-different-than-men .Accessed on 18/5/22

    Gender differences in coronary heart disease. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3018605/ .Accessed on 18/5/22

    Heart Disease: Differences in Men and Women. https://www.hopkinsmedicine.org/health/conditions-and-diseases/heart-disease-differences-in-men-and-women .Accessed on 18/5/22

    Women or Men — Who Has a Higher Risk of Heart problems. https://health.clevelandclinic.org/women-men-higher-risk-heart-attack/ .Accessed on 18/5/22

    Angina in Women Can Be Different Than Men . https://www.healthdirect.gov.au/heart-attack-symptoms-men-vs-women

    .Accessed on 18/5/22

    Heart disease in women: Understand symptoms and risk factors. https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/heart-disease/in-depth/heart-disease/art-20046167

    .Accessed on 18/5/22

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 19/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: