38 साल की महिला 20वीं बार हुई प्रेग्नेंट, पहली बार हॉस्पिटल में होगी डिलिवरी

By

महाराष्ट्र की खानाबदोश गोपाल समुदाय से आने वाली लंकाबाई खराट नाम की महिला ने 20वीं बार गर्भधारण किया है। बता दें कि अभी तक उसके 16 सफल प्रसव रहें हैं। जिनमें से सभी नॉर्मल डिलिवरी रहीं हैं और वे घर पर ही हुई। बीड जिले के सिविल सर्जन डॉ. अशोक थोराट ने बताया कि, ”38 वर्षीय यह महिला सात माह से प्रेग्नेंट है और 38 साल की उम्र में वह 20वीं बार मां बनने वाली है।’’ इस वक्त उसके 11 बच्चे हैं जबकि अभी तक उसके तीन गर्भपात (miscarriage) भी हो चुके हैं। ये गर्भपात गर्भ ठहरने के तीन महीने के बाद हुए। 16 सफल प्रसव उसके पांच बच्चों की मौत प्रसव के कुछ घंटों या कुछ दिनों के अंदर ही हो गई थी।

मिसकैरिज : ये 4 लक्षण हो सकते हैं खतरे की घंटी, गर्भपात के बाद खुद को कैसे संभालें?

पहली बात हॉस्पिटल में होगी डिलिवरी

अन्य स्थानीय डॉक्टर ने बताया कि गर्भावस्था का पता लगने पर उसे सरकारी अस्पताल लाया गया और सभी जरूरी जांच की गई। जच्चा और बच्चा अब तक स्वस्थ हैं। उसे दवाइयां दी गई हैं और संक्रमण से बचने के लिए स्वच्छता और अन्य बातों की सलाह दी गई है। थोराट ने कहा, “पहली बार वह अस्पताल में बच्चे को जन्म देगी। इससे पहले उसने घर पर ही बच्चे को जन्म दिया था। किसी भी खतरे से बचने के लिए हमने उसे स्थानीय सरकारी अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी है।”

बच्चे की डिलिवरी पेरेंट्स के लिए खुशियों के साथ ला सकती है डिप्रेशन भी

घुमंतू समुदाय से आती है महिला

बीड जिले के एक अधिकारी ने बताया कि लंकाबाई गोपाल समुदाय (घुमंतू) से संबंधित है जो आमतौर पर भीख मांगने या मजदूरी या फिर छोटे-मोटे काम करते हैं। वे एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाते रहते हैं।

ये भी पढ़ें-

सिजेरियन डिलिवरी के बाद ऐसे करें टांकों की देखभाल

सिजेरियन के बाद क्या हो सकती है नॉर्मल डिलिवरी?

प्रेग्नेंसी में पपीता खाना सुरक्षित है या नहीं?

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख सितम्बर 10, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया सितम्बर 10, 2019