बच्चों का चीजें निगलना/गले में फंसना हो सकता है खतरनाक, कैसे दें फर्स्ट एड

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 1, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

अक्सर छोटे बच्चे कुछ न कुछ निगलने की कोशिश करते रहते हैं। छोटे बच्चों के हाथों में अगर कोई खिलौना या कोई भी वस्तु दी जाए, तो वे उससे खेलने के लिए सबसे पहले अपने मुंह में डालने की कोशिश करते हैं। ऐसे में कई बार अगर वो चीज आकार में छोटी होती है, तो बच्चे के गले में भी फंस सकती है। चीजें निगलना बच्चों की सबसे फेवरेट आदत मानी जाती है, जिसे रोका भी नहीं जा सकता है। हालांकि, चीजें निगलना जैसी समस्या से बचने के लिए कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। ताकि, बच्चे के जान को खतरा होने की स्थिति से बचाया जा सके।

और पढ़ेंः बच्चे की स्तनपान की आदत कब और कैसे छुड़ाएं? जानिए 7 आसान उपाय

चीज निगलना कब बन सकता है बच्चे के लिए जोखिम भरा?

छोटे बच्चों के साथ ही, कभी-कभी, बड़े बच्चे और वयस्क लोग भी कई तरह की चीजें निगल सकते हैं। जिसमें खिलौने, सिक्के, सेफ्टी पिन, बटन, हड्डियां, लकड़ी, कांच का छोटा टुकड़ा, छोटे आकार का चुंबक, बैटरी या अन्य छोटी वस्तुएं भी शामिल हो सकती हैं। हालांकि, इनमें से ऐसी कई वस्तुएं भी हैं, तो 24 से 48 घंटों में पाचन तंत्र से गुजरती हैं और टॉयलेट की क्रिया के दौरान पेट से बाहर निकल जाती हैं।

हालांकि, चीजें निगलना कई स्थितियों में एक गंभीर समस्या भी बन सकती हैं। अगर कोई ऑब्जेक्ट या वस्तु बच्चे ने निगल तो लिया हो, और वह उसके गले में फंसा ही रह जाए। इसके अलावा चीजें निगलने के लंबे समय बाद भी वह शरीर में भी फंसा रहे। ऐसी चीजें निगलना भी जीवन के लिए जोखिम भरा हो जाता है, जो नुकीली हों, धारदार हो या गले में चिपकने वाली वस्तु हो। इसके कारण अन्नप्रणाली यानी पेट और मुंह को जोड़ने वाली नली में सॉल्ट वॉटर, घुटकी में इंफेक्शन जैसी गंभीर स्थितियां हो सकती हैं।

किस तरह की चीजें निगलना मेरे बच्चे के लिए जोखिम भरा हो सकता है?

अगर बच्चे ने 1 इंच (25 मिमी) या इसे बड़े आकार की चीज निगल ली हैं, तो यह जोखिम भरा हो सकता है। आमतौर पर बच्चे के घुटकी 24 मिमी से भी छोटी हो सकती है। इसलिए इससे बड़े आकार की वस्तुएं घेघा (घुटकी) में फंस सकती हैं। घुटकी मुंह और पेट के बीच की नली है। इसलिए अगर आपका बच्चा दो साल से अधिक छोटा है, तो उसके आस-पास के खिलौनों और वस्तुओं के बारे में आपको सतर्क रहना चाहिए।

और पढ़ेंः MTHFR गर्भावस्था: पोषक तत्व से वंचित रह सकता है आपका शिशु!

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

चीजें निगलना गले के किन हिस्सों में अधिक समय के लिए फंस सकती हैं?

चीजें निगलना घुटकी में यानी गर्दन के बीच में अगर फंस जाए, तो यह अधिक जोखिम भरा हो सकता है। घुटकी के तीन क्षेत्र चीजें निगलना के लिए सबसे अधिक संभावना वाले स्थान माने जाते हैं, जिसमें शामिल हैंः

  • कॉलरबोन के स्तर पर, शरीर का यह हिस्सा सबसे आम माना जाता है, जहां पर चीजें निगनले के बाद आसानी से फंस सकती हैं
  • छाती के केंद्र में
  • रिब केज, यह हिस्सा घुटकी के एकदम ऊपर होता है जहां गले की ट्यूब अन्नप्रणाली से होते हुए पेट से कनेक्ट होती है।

इसके अलावा अगर कोई चीज घुटकी में पहले से ही फंसी है, तो वह वस्तु गले की नीचे घुटकी से होकर नहीं गुजर सकती , इससे बच्चे का आसानी से दम घुट सकता है।

अगर कोई वस्तु घुटकी में फंस जाए, तो उसके लक्षण क्या होते हैं?

निम्न स्थितियों से आप इस बात का पता लगा सकते हैं, कि आपके बच्चे ने कोई वस्तु निगल ली हैंः

इन स्थितियों में चीजें निगलना गंभीर लक्षण हो सकते हैं, जिनमें शामिल हैंः

अगर कोई वस्तु निगलने के बाद आंत में फंस गई हो या आंत की दीवारों को फाड़ दिया हो, तो निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैंः

और पढ़ेंः नवजात शिशु का मल उसके स्वास्थ्य के बारे में क्या बताता है?

नवजात शिशु का चीजें निगलना: इसका निदान कैसे किया जा सकता है?

अगर ऊपर बताए गए किसी भी तरह के लक्षण आपको किसी छोटे बच्चे या वयस्क में दिखाई दें, तो तुरंत अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। जिसकी पुष्टी और  उससे निजात पाने के लिए डॉक्टर आपको उचित सलाह दे सकते हैं।

  • सबसे पहले डॉक्टर आपसे कुछ सवाल पूछ सकते हैं, जैसे- बच्चे के आस-पास किस तरह की चीजें रखी हुई थी। जिसमें खाने-पीने की चीजें, सजने-सवरने की चीजें या अन्य वस्तुएं जिसे बच्चा आसानी से निगल सकता हो।
  • इसके बाद डॉक्टर लक्षणों को देखते हुए एक्स-रे कराने की सालह दे सकते हैं, ताकि गले में फंसी वस्तु की पहचान की जा सके।
  • कुछ चीजों को एक्स-रे के दौरान भी नहीं देखा जा सकता है। एक्स-रे सिर्फ उन्हीं वस्तुओं की जानकारी दे सकता है जो पेट या अंत में हो। अगर कोई वस्तु गले या घुटकी में ही फंसा है, तो उसका पता लगाने के लिए डॉक्टर टोमोग्राफी (सीटी) स्कैन या अन्य रेडियोलॉजिक परीक्षणों की सलाह दे सकते हैं।

नवजात शिशु का चीजें निगलना: अगर बच्चे ने कोई वस्तु निगल ली हो, तो उसके लिए फर्स्ट एड

अगर बच्चे ने कोई वस्तु निगल ली हो, तो सबसे पहले फर्स्ट एड के तौर पर आप ही बच्चे की मदद कर सकते हैं, जिसके लिए आपको इन बातों को फॉलो करना चाहिएः

  • अगर बच्चे ने कोई चीज निगल ली है, तो उसे पानी पीने के लिए दें
  • अगर पानी पीने में बच्चे को कोई तकलीफ न हो, तो उसे ब्रेड खाने के लिए दें। ब्रेड का टुकड़ा निगली हुई चीज के ऊपर अटक सकता है। जिससे लार बनेगा और लार में पाए जाने वाले एंजाइम निगली हुई चीजों को आसानी से घुला सकते हैं।

लेकिन बच्चा चीजें निगलने के बाद खांस या रो रहा तो, इस बातों को फॉलों करेंः

  • बच्चे की गर्दन को नीचे की तरफ लटकाते हुए उसे अपनी जांघ पर लिटाएं। फिर उसकी पीठ पर चार से पांच बार जोर-जोर थपथाएं। ऐसा करने से अगर कोई चीज बच्चे के गले में फंसी होगी, तो आसानी से बाहर निकल सकती है।
  • इसके बाद बच्चे के मुंह की जांच करें। अगर गले या मुंह में कोई वस्तु दिखाई दे, तो उसे अपनी दो उंगलियों का इस्तेमाल करके बाहर निकालें। कभी भी बच्चे के मुंह में पूरा हाथ न डालें।
  • अगर इससे भी समस्या हल नहीं होती है, तो बच्चे के गर्दन को नीचे की तरफ करके उसे खुद से ही उल्टी कराने की कोशिश करें। बिना डॉक्टर की सलाह के अपनी उंगलियों से बच्चे को उल्टी कराने की कोशिश न करें।

अगर ऐसा करने से भी गले में फंसी हुई वस्तु बाहर नहीं निकलती है, तो तुरंत आपातकालीन चिकित्सक की मदद लें। डॉक्टर आपको फोन पर इसके अन्य तरीके बता सकते हैं और मदद के लिए सुविधा भी भेज सकते हैं।

और पढ़ेंः ऐसे जानें आपका नवजात शिशु स्वस्थ्य है या नहीं? जरूरी टिप्स

नवजात शिशु का चीजें निगलना: क्या न करें?

उल्टी न कराएं

अक्सर लोग गलें में कुछ भी फंस जाने पर उल्टी कराने की कोशिश करते हैं, लेकिन ऐसा नहीं कराना चाहिए। इससे दम घुटने की संभावना अधिक बढ़ जाती है। इसलिए बच्चे को उल्टी कराने की कोशिश न करें।

घबराएं नहीं

अगर बच्चे ने कुछ निगल लिया है, तो घबराएं नहीं और न ही बच्चे की सामने रोएं। आपको रोता हुआ देखकर बच्चा भी डर सकता है और रोना शुरू कर सकता है जो स्थिति को गंभीर बना सकती है।

बच्चे के टूल यानि मल का परीक्षण करें

अगर बच्चे ने कुछ निगल लिया हो, लेकिन उसके बाद भी उसे किसी तरह की परेशानी न हो रही हो, तो 2 से तीन दिनों तक बच्चे के टूल की जांच करें। आमतौर पर अगर बच्चे ने गोली के आकार में छोटी चीजें निगली होंगी, तो वह 24 से 48 घंटों में टूल के जरिए बाहर निकल जाता है। अगर इसके बाद भी बच्चे के टूल में कोई वस्तु नहीं दिखाई देती है, तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

नन्हे-मुन्ने के आधे-अधूरे शब्दों को ऐसे समझें और डेवलप करें उसकी लैंग्वेज स्किल्स

बच्चों के साथ संवाद अच्छा करने के लिए क्या करें? बच्चा कब बोलना शुरू करता है? बेबी टॉक के फायदे क्या हैं? ...how to communicate with new born in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
बच्चों की देखभाल, पेरेंटिंग मई 5, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

शिशु को तैरना सिखाने के होते हैं कई फायदे, जानें किस उम्र से सिखाएं और क्यों

शिशु को तैरना सिखाना महज फैशन भर नहीं है बल्कि कई फायदे हैं। बच्चे को शारीरिक और मानसिक रूप से दूसरों बच्चों से आगे करता है। शिशु को तैरना सिखाना in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
पेरेंटिंग टिप्स, पेरेंटिंग मई 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

बच्चों में कान के इंफेक्शन के लिए घरेलू उपचार

छोटे बच्चों में कान के इंफेक्शन in Hindi. कान का संक्रमण होने के कारण जानें। कान के संक्रमण से राहत पाने के सुरक्षित उपाय।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
बच्चों की देखभाल, पेरेंटिंग अप्रैल 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

बच्चों में पिनवॉर्म की समस्या और इसके घरेलू उपाय

जानिए बच्चों में पिनवॉर्म in Hindi, बच्चों में पिनवॉर्म क्या है, बच्चों के पेट में कीड़े के कारण, बच्चों के पेट में कीड़े के लक्षण, bachcho me Pinworm के घरेलू उपाय।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
बच्चों की देखभाल, पेरेंटिंग अप्रैल 13, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

बाल अनुकूल अवकाश गंतव्य

बाल अनुकूल अवकाश गंतव्य की प्लानिंग कर रहे हैं जो इन जगहों का बनाए प्लान

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 13, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
How to Care for your Newborn during the First Month - नवजात की पहले महीने में देखभाल वीडियो

पहले महीने में नवजात को कैसी मिले देखभाल

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
प्रकाशित हुआ अगस्त 1, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
बच्चों को जानवरों के लिए दयालु कैसे बनाएं/teach children kind to animals

अपने बच्चों को जानवरों के लिए दयालु कैसे बनाएं

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ जुलाई 21, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
नवजात शिशु का रोना- navjat shishu ka rona colic baby

नवजात शिशु का रोना इन 5 तरीकों से करें शांत

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Shruthi Shridhar
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
प्रकाशित हुआ मई 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें