home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

MR-Vac Vaccine: रूबेला और मीजल्स के लिए वैक्सिनेशन को न करें नजरअंदाज, क्योंकि वैक्सिनेशन में ही है बचाव!

MR-Vac Vaccine: रूबेला और मीजल्स के लिए वैक्सिनेशन को न करें नजरअंदाज, क्योंकि वैक्सिनेशन में ही है बचाव!

MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) एक प्रिस्क्रिप्शन मेडिसिन है। यह दो वैक्सीन्स का कॉम्बिनेशन है जिसका प्रयोग रूबेला और मीजल्स इंफेक्शन से बचाव के लिए किया जाता है। यह दवाई मायक्रोऑर्गैनिस्मस (Microorganisms) के खिलाफ इम्यून सिस्टम को काम करने के लिए प्रेरित करती हैं ताकि इस इंफेक्शन से बचा जा सके। यह इंफेक्शन अक्सर बच्चों को ही होता है। MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) की सलाह डॉक्टर द्वारा दी जाती है। आज हम बात करने वाले हैं MR-वैक वैक्सीन और MR-वैक वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स (MR-Vac Vaccine Side effects) के बारें में। आइए जानते हैं MR-वैक वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स (MR-Vac Vaccine Side effects) के बारें में विस्तार से। MR-वैक वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स (MR-Vac Vaccine Side effects) से पहले इसके फायदों के बारें में जान लेते हैं।

इस वैक्सीन को लेने के बाद रोगी कुछ माइल्ड समस्याओं का अनुभव कर सकता है जैसे इंजेक्शन वाली जगह पर लालिमा, दर्द या सूजन। लेकिन यह सब अस्थायी है और यह समस्याएं खुद ही ठीक हो जाती हैं।

MR-वैक वैक्सीन के फायदे (Benefits of MR-Vac Vaccine)

ऐसा माना जाता है कि MR-वैक वैक्सीन साइड इफेक्ट्स (MR-Vac Vaccine Side effects) से ज्यादा इसके फायदे हैं। जैसा की पहले ही बताया गया है कि यह दवाई बचपन में दी जाती है ताकि बच्चों को रूबेला और मीजल्स इंफेक्शन से बचाया जा सके। अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं। इस वैक्सीन के फायदे इस प्रकार हैं:

और पढ़ें: प्रिजर्वेटिव फ्री फ्लू वैक्सीन लेना सही है क्या? इसके बारे में आपका जानना बहुत जरूरी है….

मीजल्स से बचाव (Protection against Measles)

मीजल्स एक वायरल इंफेक्शन (Viral Infection) जो रेस्पिरेटरी सिस्टम में शुरू होता है। इसके कारण पूरे शरीर में रैशेज हो सकते हैं। यह इंफेक्शन एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक डायरेक्ट कांटेक्ट या हवा के माध्यम से भी फैल सकता है। यह दवाई शरीर को अपनी प्रोटेक्शन यानी एंटीबाडीज को बनाने का काम करती हैं ताकि हमारा इम्यून सिस्टम इस समस्या के अगेंस्ट लड़ सके। MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) की पहली डोज बच्चे के बारह महीने के होने पर दी जाती है और दूसरी डोज चार साल के होने पर। वैक्सीनेशन शेड्यूल के बारें में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर की सलाह जरूरी है। MR-वैक वैक्सीन साइड इफेक्ट्स (MR-Vac Vaccine Side effects) और फायदों के बारें में भी पहले से ही जान लेना एक अच्छा विचार है।

रूबेला से बचाव (Protection against Rubella)

रूबेला भी एक वायरल इंफेक्शन (Viral Infection) जिसके कारण शरीर में रैशेज हो जाते हैं। यह इंफेक्शन एयरबोर्न ड्रॉप्लेट्स के माध्यम से फैलता है जब संक्रमित व्यक्ति छींकता या खांसी करता है। यह समस्या बच्चों और किशोरों को अधिक होती है। अगर गर्भवती महिला को यह समस्या हो तो यह गर्भपात या अन्य गंभीर बर्थ डिफेक्ट्स का कारण बन सकता है। MR-वैक वैक्सीन(MR-Vac Vaccine) को सही समय पर लेने से इस इंफेक्शन से बचाव में मदद मिलती है। अब जा लेते हैं कि यह वैक्सीन काम कैसे करती हैं?

और पढ़ें: रिसर्च के अनुसार ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाएं भी ले सकती हैं कोविड 19 वैक्सीन, लेकिन पहले डॉक्टर से जरूर करें कंसल्ट

MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) कैसे काम करती है?

यू.एस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन (U.S.National Library of Medicine) के अनुसार MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) दो वैक्सीन्स का कॉम्बिनेशन है जो रूबेला और मीजल्स से राहत पाने के लिए प्रयोग कि जाती है। यह वैक्सीन, इंफेक्शन के खिलाफ लड़ने के लिए इम्युनिटी विकसित करने में मदद करती है। इस तरह के इंफेक्शन से कोई बीमारी नहीं होती। यह मेडिसिन शरीर के इम्यून सिस्टम को प्रेरित करती है ताकि वो एंटीबॉडीज़ बना सके और भविष्य में इन इंफेक्शंस से बचाव हो सके। यह वैक्सीन नवजात शिशुओं को दी जाती है। वैक्सीनेशन के 7 – 12 दिनों के बाद कुछ बच्चों को बुखार या एक या दिन तक रैशेज हो सकते हैं। किशोरों को वयस्कों को इस वैक्सीनेशन के बाद जोड़ों में भी दर्द हो सकती है।

अगर आपको किसी अन्य वायरस के लिए वैक्सीन दी गयी है तो इसे एक महीने पहले या बाद में इस वैक्सीन को न दिए जाने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा भी इस वैक्सीन के कुछ अन्य साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) को जानने से पहले अब जान लेते हैं कि MR-वैक वैक्सीन के दौरान किन चीजों का ध्यान रखना चाहिए?

और पढ़ें: बच्चों को फ्लू से बचाने में मदद करती है वैक्सीग्रिप वैक्सीन, लेकिन इसके साइड इफेक्ट्स भी जान लें

MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) के लिए किन सावधानियों को बरतना है जरूरी?

MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) लेने से पहले आपको अपने डॉक्टर को उन सभी दवाईयों, हर्बल उत्पाद या सप्लीमेंट्स के बारें में बता देना चाहिए, जिन्हें आप ले रहे हैं। इसके अलावा भी आपके लिए कुछ सावधानियों को बरतना बेहद जरूरी है, जैसे:

1. अगर आपको कोई भी हेल्थ समस्या है जैसे कोई बीमारी, एलर्जी आदि तो वैक्सीनेशन से पहले ही अपने डॉक्टर को बता दें। क्योंकि इसकी डोज रोगी कि स्थिति पर निर्भर करती है। इसलिए आप अच्छा महसूस नहीं कर रहे हैं तो पहले ही डॉक्टर को बताना सही रहेगा। यह स्थितियां इस प्रकार हो सकती हैं:

  • अगर आपने ह्यूमन गामा ग्लोब्युलिन (Hyuman Gamma globulin) या ब्लड ट्रांसफ्यूज़न ( blood transfusion) का प्रयोग किया हो
  • कन्वल्शंज़ का इतिहास होना History of convulsions
  • बुखार के साथ गंभीर बीमारी होना Severe illness with a Fever

2.इस बात के बारें में भी अधिक जानकारी नहीं है कि इस वैक्सीन के बाद आपको ड्राइव करना चाहिए या नहीं। लेकिन, अगर इस वैक्सीन के बाद आपको कोई लक्षण नजर आते हैं या आप ध्यान लगाने में सक्षम न हों। तो ड्राइव करने में बचें। यही आपको इसके बाद कोई भी MR-वैक वैक्सीन साइड इफेक्ट्स (MR-Vac Vaccine Side effects) नजर आते हैं तो डॉक्टर को अवश्य बताएं।

3.MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) का किडनी डिजीज के रोगियों पर क्या प्रभाव पड़ता है इसके बारें में भी सीमित जानकारी मौजूद है। इसके लिए अपने डॉक्टर से पूछें।
4. प्रेग्नेंसी के दौरान इस वैक्सीन को पूरी तरह से सुरक्षित नहीं माना जाता है। एनिमल स्टडीज के अनुसार इसका भ्रूण पर कोई भी बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है। हालांकि, इस पर किया गया शोध सीमित है। इसलिए इसे इस दौरान लेने से बचना जरूरी है। अब जानते हैं कि यह वैक्सीन किन ड्रग्स के साथ इंटरैक्ट कर सकती है?

MR-वैक वैक्सीन साइड इफेक्ट्स

और पढ़ें: Combe five vaccine: पांच बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करती है ये वैक्सीन!

MR-वैक वैक्सीन का हो सकता है इन ड्रग्स के साथ इंटरेक्शन

अगर आप अन्य ड्रग्स या ओवर द काउंटर प्रोडक्ट्स को एक साथ ले रहे हैं तो MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) का प्रभाव बदल सकता है। इससे आपके साइड इफेक्ट्स का जोखिम बढ़ जाता है। जिसके कारण ड्रग सही से काम नहीं कर पाती हैं। इसीलिए इस वैक्सीनेशन से पहले ही डॉक्टर को उन ड्रग्स, विटामिन्स और हर्बल सप्लीमेंट्स के बारें में बता देना चाहिए जिन्हें आप ले रहे हैं। यह वैक्सीन निम्नलिखित उत्पादों और ड्रग्स के साथ इंटरैक्ट कर सकती है:

  • अजैथायोप्रीन (Azathioprine)
  • बेसिलिक्सिमैब (Basiliximab)
  • साइक्लोस्पोरिन (Cyclosporine)
  • एटेनेरसेप्ट (Etanercept)
  • जेलाटीन (Gelatin)
  • लेफ्लुनोमाइड (Leflunomide)
  • नियोमायसिन (Neomycin)
  • ऑर्थोक्लोन (Orthoclone)

इसके अलावा भी कुछ अन्य ड्रग्स या प्रोडक्ट्स को सकते हैं जिनके साथ प्रयोग करके यह वैक्सीन इंटरैक्ट करे। इसलिए अपने डॉक्टर से इस बारें में बात करना न भूलें। MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) से पहले अब जानिए किन स्थितियों में इस वैक्सीनेशन को नहीं लेना चाहिए?

और पढ़ें: इंफ्लूवैक वैक्सीन: बच्चों को इंफ्लुएंजा से बचाने में करती है मदद, इस उम्र में दी जाती है पहली डोज

किन स्थितियों में MR-वैक वैक्सीन को नहीं लेना चाहिए और MR-वैक वैक्सीन साइड इफेक्ट्स?

कुछ कंडीशंस में भी इस वैक्सीन को न लेने की सलाह दी जाती है। इन स्थितियों में इस वैक्सीनेशन का प्रयोग हानिकारक सिद्ध हो सकता है। जानिए कौन सी हैं यह हेल्दी कंडीशंस?

  • इम्यूनोडेफिशियेंसी सिंड्रोम या एड्स (Immunodeficiency Syndrome or AIDS )
  • एनीमिया (Anemia)
  • अस्थमा (Asthma)
  • ब्रीदिंग डिसऑर्डर (Breathing disorder)
  • डायबिटीज (Diabetes)
  • ह्यूमन इम्यूनोडिफिशिएंसी वायरस या HIV (Human immunodeficiency virus or HIV)
  • हायपरसेंसिटिविटी (Hypersensitivity)
  • किडनी डिजीज (Kidney disease)
  • जानलेवा एलर्जिक रिएक्शन (Life threatening allergic reaction)

यह तो थी MR-वैक वैक्सीन के बारें में पूरी जानकारी। अब जानिए MR-वैक वैक्सीन साइड इफेक्ट्स (MR-Vac Vaccine Side effects) के बारें में।

और पढ़ें: पेंटावैलेंट वैक्सीन बच्चों को इन 5 बीमारियों से बचाने में करती है मदद, जानिए किस उम्र में दी जाती है

MR-वैक वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स (MR-Vac Vaccine Side effects)

MR-वैक वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स (MR-Vac Vaccine Side effects) की स्थिति में सामान्यतया मेडिकल हेल्प की जरूरत नहीं होती है। जब आपके शरीर को इस वैक्सीन की प्रतिक्रिया से ऐंटीबाडीज़ उत्पन होने लगती, है तो यह साइड इफेक्ट्स खुद गायब हो जाते हैं। यह साइड इफेक्ट्स इस वैक्सीन में मौजूद इंग्रीडिएंट्स के कारण हो सकते हैं। नीचे दी गयी लिस्ट इस वैक्सीन के साइड-इफेक्ट्स की पूरी लिस्ट नहीं है। ऐसा भी जरुरी नहीं है कि इस वैक्सीन को लेने वाले सभी लोगों को यह दुष्प्रभाव हों। कुछ साइड इफेक्ट्स दुर्लभ हो सकते हैं लेकिन यह गंभीर हो सकते हैं। MR-वैक वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं:

  • रैशेज (Rashes)
  • इंजेक्शन वाली जगह पर दर्द (Injection site soreness)
  • बुखार (Fever)
  • सुनने या देखने में समस्या (Problems with hearing or vision)
  • चक्कर आना Drowsiness)
  • बेहोशी (Fainting)
  • इंजेक्शन वाली जगह नील आना या ब्लीडिंग (Bruising or bleeding)
  • असामान्य कमजोरी (Unusual weakness)
  • सीज़र (Seizure)

हालांकि, यह समस्याएं माइल्ड होती हैं लेकिन आपको अधिक समस्या हो रही हो। तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें। MR-वैक वैक्सीन साइड इफेक्ट्स (MR-Vac Vaccine Side effects) को कभी भी हल्के में न लें। अब जानते हैं कि किन लोगों को इसे नहीं लेना चाहिए?

और पढ़ें: क्या बच्चों के लिए फ्लू और कोविड वैक्सीन एक ही है : जानें इस पर एक्सपर्ट की राय

MR-वैक वैक्सीन साइड इफेक्ट्स के साथ किन लोगों को यह वैक्सीनेशन नहीं लेनी चाहिए?

हालांकि, MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) को सुरक्षित माना जाता है। इसकी सलाह हर बच्चे को दी जाती है। इस वैक्सीनेशन की ऑप्टिमल एज शिशु के 12-15 महीनों के बीच की मानी जाती है। लेकिन, कुछ लोगों को इसकी सलाह नहीं दी जाती है, जैसे:

  • जिन्हें इस वैक्सीन से एलर्जी हो: अगर किसी को पता है कि MR वैक्सीन या इसके किसी अन्य कॉम्पोनेन्ट से एलर्जी है, तो उसे यह वैक्सीन को न लेने के लिए कहा जाता है।
  • गर्भवती महिला: अगर कोई महिला गर्भवती हैं या स्तनपान करा रही है। तो उसे यह दवा को लेने से बचना चाहिए क्योंकि हो सकता है कि इससे आपके शिशु के विकास में बाधा पैदा हो या अन्य कोई समस्या हो। इसके लिए आप पहले ही डॉक्टर की सलाह लें।
  • अगर किसी व्यक्ति का कैंसर या अन्य डिजीज के कारण इम्यून सिस्टम कमजोर हो।
  • AIDS or HIV इंफेक्शन की स्थिति में भी इसे न लें।
  • अगर कोई व्यक्ति रेडिएशन (Radiation), इम्यूनोथेरेपी (Immunotherapy), स्टेरॉइड्स (Steroids) या कीमोथेरेपी (Chemotherapy) से गुजर रहा हो, तो उसकी इम्युनिटी भी कमजोर होगी। ऐसे में उसे भी इस वैक्सीन को न लेने के लिए कहा जाता है।
  • अगर आपके किसी करीबी जैसे माता-पिता, भाई या बहन को इम्यून सिस्टम संबंधी समस्याओं की हिस्ट्री हो। तो उस स्थिति में भी आपको MR-वैक वैक्सीन (MR-Vac Vaccine) को लेने से बचना चाहिए।
  • अगर किसी को ऐसी कोई समस्या है। जिससे उन्हें जल्दी नील पड़ना या ब्लीडिंग की समस्या हो तो उसे भी इस वैक्सीन का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • अगर आप हाल ही में ब्लड ट्रांसफ्यूजन (Blood transfusion) से गुजरे हों तो भी आपको तीन महीनों तक इस वैक्सीनेशन को न कराने के लिए कहा जाता है।

Quiz: प्रेग्नेंसी में हेपेटाइटिस-बी संक्रमण क्या बच्चे के लिए जोखिम भरा हो सकता है?

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id=”typef_orm”, b=”https://embed.typeform.com/”; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,”script”); js.id=id; js.src=b+”embed.js”; q=gt.call(d,”script”)[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()

और पढ़ें: बच्चों को DTaP वैक्सीन के लिए दिए जाते हैं ये डोज, जानिए क्यों हैं ये जरूरी?

यह तो थी इस वैक्सीन और MR-वैक वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स (MR-Vac Vaccine Side effects) के बारें में पूरी जानकारी। हालांकि, इस वैक्सीनेशन को जरुरी और प्रभावी माना गया है। लेकिन, फिर भी कुछ लोग इसके साइड इफेक्ट्स का अनुभव कर सकते हैं। यह साइड इफेक्ट्स आमतौर पर घातक नहीं होते। ऐसा भी माना जाता है कि कुछ ही दिनों में यह साइड इफेक्ट्स खुद ही दूर हो जाते हैं। लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो मेडिकल हेल्प लेना जरूरी है। इस वैक्सीन को लगवाने से पहले भी अपने डॉक्टर से पूरी जानकारी ले लें। ताकि, आपको कोई समस्या न हो। डॉक्टर से यह भी जान लें कि आपको अपने बच्चे को यह वैक्सीन कब लगवानी चाहिए और किन स्थितियों में इसे लगवाने से बचना चाहिए। उम्मीद है कि आप इस वैक्सीन और MR-वैक वैक्सीन साइड इफेक्ट्स (MR-Vac Vaccine Side effects) के बारें में अच्छे से जान गए होंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Measles – Rubella Combined Vaccine (MRVAC) .https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT03713359.Accessed on 6/8/21

Rubella (German Measles) Vaccination. https://www.cdc.gov/vaccines/vpd/rubella/index.html .Accessed on 6/8/21

MR vaccine,vial. https://supply.unicef.org/s359348.html .Accessed on 6/8/21

MR vaccination  campaign. https://www.pmc.gov.in/sites/default/files/11.%20FAQs%20on%20MR%20VC..pdf .Accessed on 6/8/21

Clinical Trial of Measles and Rubella . https://www.scirp.org/journal/paperinformation.aspx?paperid=85419 .Accessed on 6/8/21

Adverse Effects of Vaccines. https://vaccine-safety-training.org/tl_files/vs/pdf/13164.pdf .Accessed on 6/8/21

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/08/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x