स्टमक फ्लू की कंडिशन में यह रेमेडीज आ सकती हैं आपके काम, अपनाना न भूलें

    स्टमक फ्लू की कंडिशन में यह रेमेडीज आ सकती हैं आपके काम, अपनाना न भूलें

    स्टमक फ्लू को गैस्ट्रोएंटेराइटिस (Gastroenteritis) के नाम से भी जाना जाता है। यह इंटेस्टाइनल इंफेक्शन है जिसमें डायरिया, स्टमक क्रैंप्स, जी मिचलाना या उल्टी आना और कई बार बुखार जैसी परेशानियां हो सकती है। यह समस्या अधिकतर तब होती है, जब आप किसी इंफेक्टेड पर्सन के कांटैक्ट में आते हैं या दूषित फूड व पानी का सेवन करते हैं। स्वस्थ व्यक्ति इस स्थिति से बिना किसी कॉम्प्लिकेशन्स के रिकवर हो सकता है। नवजात शिशु, वृद्ध और कमजोर इम्यून सिस्टम से पीड़ित लोगों के लिए यह बीमारी हानिकारक हो सकती है। स्टमक फ्लू (Stomach Flu) का कोई प्रभावी ट्राटमेंट नहीं है, लेकिन कुछ स्टमक फ्लू रेमेडीज (Stomach Flu Remedies) इसमें आपके लिए लाभदायक सिद्ध हो सकती हैं। आइए जानें स्टमक फ्लू रेमेडीज (Stomach Flu Remedies) के बारे में। किंतु, सबसे पहले स्टमक फ्लू के बारे में जान लेते हैं।

    स्टमक फ्लू के बारे में जानें (Stomach Flu)

    जैसा की पहले ही बताया गया है कि गैस्ट्रोएंटेराइटिस यानी स्टमक फ्लू (Stomach Flu) एक हायली इंटेस्टाइनल इंफेक्शन है। हालांकि, इसे फ्लू कहा जाता है, लेकिन यह इन्फ्लूएंजा के जैसा नहीं होता है। इस समस्या का सबसे सामान्य कारण वायरस है। लेकिन, यह बैक्टीरिया और पैरासाइट के कारण भी होता है। ओवर-द-काउंटर मेडिकेशन्स के बिना भी स्टमक फ्लू रेमेडीज (Stomach Flu Remedies) से इस समस्या से राहत पाई जा सकती है। इससे वायरस से छुटकारा तो नहीं पाया जा सकता लेकिन मरीज को इनसे अच्छा महसूस होता है और लक्षणों से भी राहत मिलती है। स्टमक फ्लू रेमेडीज (Stomach Flu Remedies) से पहले इसके लक्षणों के बारे में जान लेते हैं।

    और पढ़ें: फूड पॉइजनिंग और स्टमक इंफेक्शन में क्या अंतर है? समझें इनके कारणों को

    क्या हैं स्टमक फ्लू के लक्षण? (Symptoms of Stomach Flu)

    जैसा की पहले ही बताया गया है कि स्टमक फ्लू की समस्या अधिकतर गंभीर नहीं होती है। हालांकि, इसके लक्षणों के बारे में जानकारी होना आवश्यक है, ताकि इसका उपचार सही समय पा सके। इसके लक्षण इस प्रकार हैं:

    • वॉटरी, लेकिन नॉनब्लडी डायरिया (Watery, usually non bloody diarrhea)
    • जी मिचलाना, उल्टी आना या दोनों समस्याएं होना (Nausea, vomiting or both)
    • पेट में क्रैम्प्स और दर्द (Stomach cramps and pain)
    • कभी कभी मसल्स दर्द या सिरदर्द (Occasional muscle aches or headache)
    • लो-ग्रेड फीवर (Low-grade fever)

    हालांकि इसके लक्षण स्टमक फ्लू (Stomach Flu) यानी गैस्ट्रोएंटेराइटिस के कारणों पर निर्भर करते हैं। लेकिन व्यक्ति के इस समस्या से इंफेक्टेड होने के एक से तीन दिनों के बीच में लक्षण नजर आते हैं और यह माइल्ड से गंभीर तक हो सकते हैं। इसके लक्षण आमतौर पर एक से दो दिनों तक रहते हैं और कई बार यह अधिक दिनों तक भी रह सकते हैं। कई बार इन समस्याओं को वायरल डायरिया या बैक्टीरिया के कारण होने वाले डायरिया के साथ कंफ्यूज किया जा सकता है। ऐसे में इसका सही निदान होना आवश्यक है। आइए अब जानें, स्टमक फ्लू रेमेडीज (Stomach Flu Remedies) के बारे में।

    स्टमक फ्लू रेमेडीज, Stomach Flu Remedies
    स्टमक फ्लू रेमेडीज, Stomach Flu Remedies

    और पढ़ें: स्टमक इंफेक्शन दूर करने के लिए आजमाएं ये घरेलू उपाय

    स्टमक फ्लू रेमेडीज (Stomach Flu Remedies): ये हैं लाभ पहुंचाने वाले नुस्खे

    स्टमक फ्लू के लिए कोई भी खास मेडिकल ट्रीटमेंट मौजूद नहीं है। एंटीबायोटिक्स, वायरस के अगेंस्ट भी प्रभावी साबित नहीं हो पाती हैं। स्टमक फ्लू रेमेडीज (Stomach Flu Remedies) इस प्रकार हैं:

    तरल पदार्थों का सेवन करें (Take liquid diet)

    स्टमक फ्लू होने पर रोगी पसीने, उल्टी आना और डायरिया का सामना करता है, जिसके कारण बड़ी संख्या में फ्लूइड उसके शरीर से बाहर निकल जाता है। इस दौरान रोगी को इन तरल पदार्थों को लेने की सलाह दी जाती है:

    • क्लियर लिक्विड्स जैसे पानी
    • ओवर-द-काउंटर प्रिपरेशन जैसे पीडियालाइट (Pedialyte)
    • स्पोर्ट ड्रिंक्स, जो इलेक्ट्रोलाइट रिप्लेसमेंट में मदद कर सकते हैं।
    • कुछ चाय जैसे जैसे अदरक और पुदीने की चाय, जिससे पेट को आराम मिलता है और मतली कम होती है।

    स्टमक फ्लू रेमेडीज (Stomach Flu Remedies) में इन चीजों का भी ध्यान रखना चाहिए कि इस दौरान किन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए, ताकि आपको यह परेशानी न हो। यह ड्रिंक्स इस प्रकार हैं:

    • कैफीन युक्त ड्रिंक्स जैसे कॉफी,स्ट्रांग ब्लैक चाय और चॉकलेट
    • एल्कोहॉल क्योंकि, इन चीजों से पेट में परेशानी हो सकती है।

    और पढ़ें: डायबिटीज के लिए नारियल पानी फायदेमंद है, जानिए इसके हेल्थ बेनिफिट्स के बारे में

    स्टमक फ्लू रेमेडीज में BRAT डायट (BRAT diet)

    स्टमक फ्लू (Stomach Flu) होने पर आपको अपने आहार का खास ख्याल रखना चाहिए। इसके लिए खास डायट की सलाह दी जाती है, जो इस प्रकार है:

    • केला (Bananas): केले को पचाना बेहद आसान होता है और इससे बीमारी में उल्टी या डायरिया के माध्यम से रोगी ने जो पोटैशियम को लूज किया है, उसकी भरपाई भी की जा सकती है और स्टमक लायनिंग मजबूत होती है।
      चावल (Rice): स्टमक फ्लू (Stomach Flu) की स्थिति में सफेद चावल शरीर के लिए सही है और कार्ब्स से ऊर्जा मिलती है। लेकिन, ब्राउन राइस में बहुत अधिक फाइबर होता है और यह अतिरिक्त गैस पैदा कर सकता है।
    • एप्पल सॉस (Apple sauce): एप्पल सॉस में मौजूद कार्ब्स और शुगर के कारण एनर्जी बूस्ट होता है और इसमें पेक्टिन (Pectin) होता है, जिससे डायरिया को दूर करने में मदद मिलती है। यही नहीं, यह पचाने में भी आसान है।
    • टोस्ट (Toast): स्टमक फ्लू (Stomach Flu) की स्थिति में होल-वीट ब्रेड को नजरअंदाज करें। क्योंकि, हमारे डायजेस्टिव सिस्टम के लिए फाइबर को पचा पाना मुश्किल हो सकता है। वाइट ब्रेड प्रोसेस्ड होती है और पचाने में भी आसान है।

    लेकिन, अपनी डायट में फाइबर युक्त फूड्स, डेयरी, फैटी या स्पाइसी फूड आदि को शामिल करने से बचें।

    और पढ़ें: गैस्ट्राइटिस डायट: इस स्थिति में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं?

    एक्यूप्रेशर भी है फायदेमंद (Acupressure)

    इस दौरान होने वाली जी-मिचलाने की समस्या को दूर करने के लिए एक्यूप्रेशर को बेहद फायदेमंद माना जाता है। शरीर में ट्रिगर पॉइंट्स को स्टिमुलेट करने के लिए फिंगर प्रेशर का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे जी-मिचलाना और उल्टी से राहत मिलती है। खासतौर पर प्रेशर पॉइंट P-6 जिसे निगान (Neiguan) कहा जाता है। इसमें कलाई के अंदरूनी हिस्से पर मालिश की जा सकती है।

    स्टमक फ्लू रेमेडीज में पर्याप्त आराम करें (Get plenty of rest)

    अगर आपको स्टमक फ्लू की समस्या है, तो आपके शरीर को इंफेक्शन से लड़ने के लिए पर्याप्त आराम करने की जरूरत हो सकती है। पर्याप्त नींद लें और जितना आप रोजाना शारीरिक एक्टिविटी करते हैं, उससे कम एक्टिविटी करें। जब हम आराम कर रहे होते हैं, तो हमारा शरीर इंफेक्शन से लड़ने और सेलुलर लेवल पर डैमेज की रिपेयरिंग करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा होता है।

    और पढ़ें: मधुमेह रोगियों में शारीरिक फिटनेस बिहेवियर का होना क्यों जरूरी है‌?

    दवा लेते हुए रखें सावधानी (Take right medication)

    स्टमक फ्लू (Stomach Flu) का दवाइयों से उपचार नहीं हो सकता है। अगर इस समस्या का कारण वायरस हो तो एंटीबायोटिक्स से फायदा नहीं हो सकता है। आप इस समस्या के लक्षणों के उपचार के लिए ओवर-द-काउंटर दवाइयां ले सकते हैं जैसे फीवर या खुजली के लिए आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) स्टमक फ्लू (Stomach Flu) के लिए एसिटामिनोफेन (Acetaminophen) की सलाह दी जा सकती है। लेकिन, लिवर प्रॉब्लम की स्थिति में इसका सेवन न करें। अगर आप जी-मिचलाना और डायरिया की स्थिति में कुछ अन्य दवाईयों की सलाह भी दी जा सकती है, ताकि आपको लक्षणों से आराम मिल सके।

    इसके साथ ही ओवर-द-काउंटर एंटीडायरियल दवाइयों (Antidiarrheal medication) जैसे लेपोरामाइड हाइड्रोक्लोराइड (loperamide hydrochloride) की सलाह दी जा सकती है। लेकिन, इन दवाइयों को लेने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। यह तो थी स्टमक फ्लू रेमेडीज (Stomach Flu Remedies) के बारे में जानकारी। अब जानते हैं कुछ अन्य उपायों के बारे में, जिनसे इस समस्या से बचा जा सकता है।

    और पढ़ें: स्ट्रेस इंड्यूस्ड गैस्ट्राइटिस: तनाव के कारण होने वाले गैस्ट्राइटिस के लक्षणों और उपचार के बारे में जानें

    स्टमक फ्लू से कैसे बचें (Prevention of stomach flu)

    स्टमक फ्लू रेमेडीज (Stomach Flu Remedies) से इस समस्या से काफी हद तक राहत पा जा सकती है। इसके साथ ही अतिरिक्त सावधानी बरतने की भी जरूरत है। आइए जानें इन बचावों के बारे में:

    • स्टमक फ्लू (Stomach Flu) से बचने के लिए सबसे जरूरी है इंफेक्टेड लोगों के कांटेक्ट में आने से बचें और अपने हाथों को लगातार धोते रहें। अगर आपको यह समस्या है तो आप अन्य लोगों के कांटेक्ट में न आएं।
    • अगर हाथ धोने के लिए आपके पास साबुन और पानी नहीं है,तो आप हैंड सेनेटाइजर का इस्तेमाल कर सकते हैं।
    • साफ-सफाई का खास ख्याल रखें।

    और पढ़ें: गैस्ट्राइटिस की समस्या से छुड़ाना चाहते हैं पीछा, तो ये 3 आयुर्वेदिक जड़ी बूटी हैं अत्यधिक लाभकारी

    उम्मीद है कि स्टमक फ्लू रेमेडीज (Stomach Flu Remedies) के बारे में यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। स्टमक फ्लू (Stomach Flu) यानी गैस्ट्रोएंटेराइटिस एक परेशान करने वाला एक्सपीरियंस है। इस स्थिति में आपको हायड्रेट रहना है और इसके साथ ही ऊपर बताई रेमेडीज का इस्तेमाल करना आवश्यक है। किंतु, अगर आपको डिहायड्रेशन, उल्टी में खून आना, ब्लडी डायरिया या 102°F से अधिक बुखार है, तो तुरंत मेडिकल हेल्प लेने की सलाह दी जाती है। इस समस्या को लेकर आपके मन में कोई भी सवाल है, तो इसके बारे में अपने डॉक्टर से अवश्य बात करें।

    आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Viral gastroenteritis (stomach flu) remedies.https://www.mountsinai.org/health-library/diseases-conditions/viral-gastroenteritis-stomach-flu . Accessed on 20/1/22 

    Stomach Flu Remedies. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK518995/ .Accessed on 20/1/22 

    Stomach Flu https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/viral-gastroenteritis/diagnosis-treatment/drc-20378852 . Accessed on 20/1/22 

    Stomach Flu (Gastroenteritis). https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/12418-gastroenteritis . Accessed on 20/1/22 

    Gastroenteritis. https://medlineplus.gov/gastroenteritis.html . . Accessed on 20/1/22

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/01/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड