home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी के पहले या दौरान फोलिक एसिड के फायदे क्या हैं?

प्रेग्नेंसी के पहले या दौरान फोलिक एसिड के फायदे क्या हैं?

फोलिक एसिड को प्रेगनेंसी का सुपरहीरो कहते हैं। फोलिक एसिड बी विटामिन से बनता है, जिसे फॉलेट (folate) कहते हैं। फोलेट और फोलिक एसिड पानी में घुलनशील बी विटामिन का रूप हैं। फोलेट स्वाभाविक रूप से खाद्य पदार्थों में मौजूद होता है और फोलिक एसिड बी विटामिन का सिंथेटिक रूप है। फोलेट रेड ब्लड सेल्स बनाने और गर्भ में पल रहे शिशु के ब्रेन और स्पाइनल कॉर्ड में न्यूरल ट्यूब के डेवलपमेंट में अहम भूमिका निभाता है। प्रेग्नेंसी में फोलिक एसिड के फायदे एक नहीं बल्कि अनेक हैं।

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफार्मेशन (NCBI) के अनुसार भारत समेत अन्य देशों में जन्म लेने वाले 1000 नवजात में 1 से 2 % बच्चे न्यूरल ट्यूब डिफिसिएट्स (Neural tube defects) के साथ जन्म लेते हैं। न्यूरल ट्यूब डिफिसिएट्स (NTDs) उन बच्चों में ज्यादा होता है जिनकी मां प्रेग्नेंसी के दौरान को फोलिक एसिड का सेवन नहीं कर पाती हैं।

जब हैलो स्वास्थ्य ने फोर्टिस हॉस्पिटल की कंसल्टेंट गाइनोलॉजिस्‍ट डॉ. सगारिका बसु से इस बारे में बात की तो उन्होंने कहा कि ‘ फोलिक एसिड मिसकैरिज और न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट ( neural tube defects) के खतरे को कम करने का काम करता है। प्रेग्नेंसी में फोलेट की कमी के कारण होने वाले बच्चे में स्पिना बिफिडा (Spina bifida) (इसमें फीटल स्पाइन और बैक डेवलपमेंट के समय पास नहीं आते हैं) हो सकता है। महिला को कंसीव करने से पहले से इसे लेना जरूरी होता है। अगर आप कंसीव करना चाहती हैं, तो एक बार डॉक्टर से इस बारे में बात करें। डॉक्टर आपको फोलिक एसिड सप्लीमेंट के साथ ही अन्य जरूरी परामर्श भी देगा।’ इस आर्टिकल के माध्यम से जानिए कि प्रेग्नेंसी के दौरान फोलिक एसिड क्यों महत्वपूर्ण होता है?

और पढ़ें – प्रेग्नेंसी में रागी को बनाएं आहार का हिस्सा, पाएं स्वास्थ्य संबंधी ढेरों लाभ

फोलिक एसिड के फायदे क्या हैं?

फोलिक एसिड के फायदे निम्नलिखित हैं। जैसे-

और पढ़ें – क्या है 7 मंथ प्रेग्नेंसी डाइट चार्ट, इस अवस्था में क्या खाएं और क्या न खाएं?

फोलिक एसिड की कमी से गर्भ में पल रहे शिशु को क्या-क्या परेशानी हो सकती है?

गर्भावस्था के दौरान इसके कमी के कारण शिशु में निम्नलिखित परेशानी हो सकती है

  • न्यूरल ट्यूब डिफिसिएट्स (NTDs)
  • क्लेफ्ट लिप (Cleft lip)
  • क्लेफ्ट पेलेट (Cleft palate)
  • समय से पहले शिशु का जन्म
  • नवजात का वजन कम होना
  • गर्भवस्था में शिशु का ठीक तरह से विकास न होना
  • मिसकैरिज या गर्भपात

क्या होता है न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट?

न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट बर्थ डिफेक्ट होता है। इस डिफेक्ट के कारण ब्रेन और स्पाइनल कॉर्ड का सही तरह से विकास नहीं हो पाता है। कुछ कॉमन न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट हैं।

स्पिना बिफिडा (Spina bifida): जब स्पाइन कॉर्ड और स्पाइनल कॉलम एक साथ क्लोज नहीं हो पाते हैं तो ये स्थिति उत्पन्न होती है।

एनेनसेफली (Anencephaly): ब्रेन के अंडर डेवलपमेंट संबंधी समस्या

एनसेफलसीन (Encephalocele): मस्तिष्क के टिशू खोपड़ी से त्वचा के माध्यम से बाहर आने लगते हैं।

और पढ़ें : आईवीएफ (IVF) के साइड इफेक्ट्स: जान लें इनके बारे में भी

फोलिक एसिड के फायदे : फोलिक एसिड युक्त आहार का करें सेवन

फोलिक एसिड के फायदे आपको मिले इसके लिए आपको निम्नलिखित खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। जैसे-

  • हरी पत्तेदार साग- हरी पत्तेदार साग-सब्जियों में फाइबर, फोलेट, विटामिन-सी और विटामिन-के जैसे खनिज तत्व मौजूद होते हैं, जो सेहत के लिए लाभकारी होते हैं।
  • ब्रोकोली- ब्रोकोली में विटामिन, खनिज, फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट की अधिकता होती है। इसके सेवन से शरीर का फैट कम हो सकता है और आपका बढ़ता वजन संतुलित हो सकता है। इसलिए डाइट में ज्यादातर ब्रोकोली शामिल कर सकते हैं। क्योंकि यह शरीर का हर तरीके से विकास करने में सक्षम है। वजन बढ़ाने या घटाने के अलावा भी ब्रोकोली के कई और फायदे होते हैं।
  • सिट्रस फ्रूटस- विटामिन-सी युक्त फलों का सेवन लाभकारी होता है। अगर विटामिन-सी की शरीर में कमी न हो, इसके लिए आपको इसकी रोजाना सही मात्रा में सेवन करना चाहिए। अगर आपके शरीर में विटामिन-सी (Vitamin C) की कमी होगी, तो स्वास्थ्य सबंधी कई समस्याएं हो सकती हैं और गर्भधारण में भी परेशानी हो सकती है। इसलिए फोलिक एसिड के फायदे विटामिन-सी के सेवन से मिल सकती है।

इन ऊपर बताये गए खाद्य पदार्थों के सेवन के साथ-साथ निम्नलिखित हेल्दी फूड अपने डेली रूटीन में शामिल करना चाहिए। जैसे-

आप निम्नलिखित फूड के माध्यम से फोलेट प्राप्त कर सकते हैं,

  • डार्क लीफी ग्रीन वेजीटेबल्स : 1 कप पकी हुई पालक में 263 एमसीजी
  • एवोकैडो में : 1 कप कटे हुए एवोकैडो में 120 एमसीजी
  • फलियां जैसे कि 1 कप बीन्स या दाल में 250 से 350 एमसीजी
  • 1 कप कटे हुए या पकाए हुए ब्रोकोली में 168 एमसीजी
  • 1 कप में शतावरी में 268 एमसीजी
  • 1 कप में बीट में 136 एमसीजी
  • 3/4 कप संतरे में 35 एमसीजी

इन ऊपर बताये गए आहार के साथ-साथ हेल्थ एक्सपर्ट आपको अन्य जरूरी और पौष्टिक खाद्य पदार्थों के सेवन की सलाह देते हैं।

और पढ़ें – नवजात शिशु के वजन को इस तरह करें मॉनिटर

गर्भवती महिला को एक दिन में कितना फोलिक एसिड लेना चाहिए?

गर्भवती महिला को एक दिन में 400 माइक्रोग्राम्स (mcg) फोलिक एसिड लेना चाहिए। हालांकि प्री-नेंटल विटामिन में फोलिक एसिड की मात्रा 600 mcg होती है। गर्भावस्था के दौरान इसके सही मात्रा में सेवन से न्यूरल ट्यूब डिफिसिएट्स (NTDs) का खतरा टालता नहीं है, क्योंकि गर्भावस्था के पहले महीने में ही न्यूरल ट्यूब डिफिसिएट्स (NTDs) की समस्या हो सकती है। प्रेग्नेंसी का ये वो वक्त होता है जब महिला को अपने गर्भवती होना पता नहीं होता है। इसलिए नियमित रूप से हरी साग-सब्जी, विटामिन सी युक्त फ्रूट्स और अन्य पौष्टिक आहार का सेवन करना चाहिए। अगर कोई भी कपल्स प्रेग्नेंसी की प्लानिंग कर रहें हैं, तो ऐसे में सबसे पहले डॉक्टर से मिलें और उनसे समझें की महिला को फोलिक एसिड की कितनी मात्रा रोज लेनी चाहिए। यही नहीं पहले प्रेग्नेंसी में ही अगर शिशु न्यूरल ट्यूब डिफिसिएट्स (NTDs) के साथ जन्म लिया है, तो ऐसी स्थिति में डॉक्टर को इसकी जानकारी जरूर दें क्योंकि डॉक्टर आपको इसको सही मात्रा में लेने की सलाह देंगे।

और पढ़ें – गर्भावस्था के दौरान क्या खाएं और क्या नहीं?

फोलिक एसिड की मात्रा कब ज्यादा लेनी पड़ती है?

निम्नलिखि बीमारियों से पीड़ित होने पर फोलिक एसिड के फायदे हो सकते हैं और डॉक्टर इसकी मात्रा बढ़ा सकते हैं

अगर आपको किडनी संबंधित परेशानी है, तो हेल्थ एक्सपर्ट आपको इसके सेवन की सलाह दे सकते हैं।

सिकल सेल डिजीज में भी फोलिक एसिड के फायदे हो सकते हैं अगर इसका सेवन सही तरह से किया जाए।

लिवर डिजीज होने पर भी फोलिक एसिड के फायदे हो सकते हैं।

एल्कोहॉल का सेवन अधिक करने पर डॉक्टर फोलिक एसिड लेने की सलाह दे सकते हैं। ऐसी स्थिति में फोलिक एसिड के फायदे समझे जा सकते हैं।

शारीरिक बीमारी जैसे एपिलेप्सी, टाइप 2 डायबिटीज, लुपस, सिरोसिस, अस्थमा या इन्फ्लामेट्री बाउल डिजीज होने पर भी फोलिक एसिड की मात्रा बढ़ा दी जाती है।

यही नहीं फोलिक एसिड का सेवन गर्भधारण करने के पहले से सेवन करने के साथ-साथ प्रेग्नेंसी के दौरान भी फोलिक एसिड का सेवन करना चाहिए। दरअसल फोलिक एसिड न्यूरल बर्थ डिफेक्ट के खतरे को कम करने में सक्षम होता है। रिसर्च के अनुसार प्रेग्नेंट लेडी को प्रति दिन 600-800 mcg फोलिक एसिड की जरूरत होती है। गर्भावस्था के पहले और प्रेग्नेंसी के दौरान फोलिक एसिड की जरूरत होती है। जिन महिलाओं को न्यूरल ट्यूब बर्थ डिफेक्ट हिस्ट्री रह चुकी है, उन्हें प्रेग्नेंसी के दौरान 4000 mcg फोलिक एसिड का सेवन करना चाहिए लेकिन, फोलिक एसिड के फायदे के लिए इसके डोज को हेल्थ एक्सपर्ट से समझें और फिर इसका सेवन करें।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी में टीकाकरण की क्यों होती है जरूरत ?

जानिए फोलेट और फोलिक एसिड एक होता है या अलग

फोलेट और फोलिक एसिड को लोग अक्सर एक ही समझते हैं लेकिन ये एक नहीं होता है। फोलेट कई प्रकार के विटामिन बी 9 के विभिन्न प्रकार की जानकारी देने के लिए यूज किया जाता है।

जानिए क्या हैं फोलेट के प्रकार

  • फोलिक एसिड (Folic acid)
  • डाइहाइड्रॉफोलेट ( Dihydrofolate) (DHF)
  • टेट्राहाइड्रॉफोलेट (Tetrahydrofolate) (THF)
  • 5, 10-मिथाइलनेटेट्राहाइड्रोफोलेट (5-methyltetrahydrofolate) (5, 10-मिथाइलीन-टीएचएफ)
  • 5-मिथाइलटेराहाइड्रोफोलोलेट (5-मिथाइल-टीएचएफ या 5-एमटीएचएफ)।

हम उम्मीद करते हैं कि अब आप फोलिक एसिड और फोलेट के बारे में अंतर समझ गए होंगे।

फोलिक एसिड के फायदे : कैंसर से भी बचाता है फोलिक एसिड

फोलेट के उच्च सेवन से कई तरह के कैंसर से राहत मिल सकती है। फोलिक एसिड ब्रेस्ट, लंग, आंत और अग्नाशय सहित कई तरह के कैंसर से रोकथाम में मदद कर सकता है। फोलेट जीन को कंट्रोल कर सकते हैं जैसे जब जीन एक्टिव न हो, तो यह उन्हें एक्टिव करने और ओवर एक्टिव होने पर उन्हें कंट्रोल भी कर सकता है। कुछ शोधकर्ताओं का मानना ​​है कि कम फोलेट का स्तर इस प्रक्रिया को भड़कने का कारण बन सकता है, जिससे आपके असामान्य कोशिका वृद्धि और कैंसर के खतरे को कम कर सकता है।

कम फोलेट का स्तर अस्थिर और आसानी से टूटने योग्य डीएनए के निर्माण में भी योगदान देता है जो कैंसर के खतरे को बढ़ा सकता है। हालांकि, पहले से मौजूद कैंसर या ट्यूमर वाले लोगों में कुछ सबूत हैं कि उच्च फोलेट इंटेक ट्यूमर के विकास को बढ़ावा दे सकता है। फोलिक एसिड की सप्लीमेंट्स लेकिन, प्राकृतिक खाद्य फोलेट नहीं कुछ प्रकार के कैंसर की बढ़ती घटना से भी जुड़े हुए हैं। यह समझने के लिए अधिक शोध की आवश्यकता है कि पूरक फोलिक एसिड कैंसर के जोखिम को दीर्घकालिक रूप से कैसे प्रभावित कर सकता है।

और पढ़ें : 9 मंथ प्रेग्नेंसी डायट चार्ट: इन पौष्टिक आहार से जच्चे-बच्चे को रखें सुरक्षित

प्रेग्नेंसी में फोलिक एसिड लेने से पहले डॉक्टर से लें सलाह

कोई भी दवा को हमेशा डॉक्टरी सलाह के बाद ही सेवन करना चाहिए। नहीं तो उसका आपके स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर पड़ सकता है। खासतौर पर तब जब आप गर्भवती हो। क्योंकि उस समय आपकी जान के साथ शिशु की जान की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी आप ही पर होती है, ऐसे में और ज्यादा सतर्कता बरतने की आवश्यकता होती है। कोशिश यही होनी चाहिए कि हमेशा डॉक्टरी सलाह के बाद ही दवा आदि का सेवन करें। फोलिक एसिड की मात्रा शरीर में पर्याप्त रहे इसलिए नियमित रूप से पौष्टिक आहार का सेवन करें। अगर आप फोलिक एसिड के फायदे या फोलिक एसिड के सेवन से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको इस आर्टिकल के माध्यम से फोलिक एसिड के बारे में जानकारी मिल गई होगी। अगर आप प्रेग्नेंसी के बारे में सोच रहे हैं तो डॉक्टर दो से तीन महीने पहले ही फोलिक एसिड लेने की सलाह दे सकते हैं। उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अगर आपको इस संबंध के बारे में अधिक जानकारी चाहिए तो डॉक्टर से जरूर पूछें। आप स्वास्थ्य संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Folic Acid and Pregnancy/https://kidshealth.org/en/parents/preg-folic-acid.html/Accessed on 20 /10/2019

High incidence of neural tube defects in Northern part of India/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4974957/Accessed on 20 /10/2019

Folic Acid/https://americanpregnancy.org/pregnancy-health/folic-acid/Accessed on 20 /10/2019

Folic Acid Supplementation and Pregnancy: More Than Just Neural Tube Defect Prevention/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3218540/#:~:text=of%20the%20fetus.-,Folate%20deficiency%20has%20been%20associated%20with%20abnormalities%20in%20both%20mothers,(NTDs)%20in%20the%20offspring/Accessed on 28/07/2020

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Nidhi Sinha द्वारा लिखित
अपडेटेड 20/10/2019
x