home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

शेविंग के तुरंत बाद आ जाते हैं पिंपल? तो रखना होगा इन बातों का ध्यान

शेविंग के तुरंत बाद आ जाते हैं पिंपल? तो रखना होगा इन बातों का ध्यान

पुरुष हों या महिलाएं, अनचाहे बाल किसी को भी पसंद नहीं आते। कई बार अनचाहे बालों के लिए, तो कई बार स्टाइल के लिए शेविंग करनी पड़ती है। शेविंग के बिना खूबसूरती अधूरी सी लगती है। लेकिन शेविंग के बाद पिंपल की समस्या की वजह से लोग शेविंग करने से कतराते हैं। आपने कई बार महसूस किया होगा कि शेविंग के बाद चेहरे या फिर हाथ-पैरों में उभार सा नजर आने लगता है। कुछ लोगों की स्किन में शेविंग के बाद रेजर बम्प्स आना आम बात होती है। जब हटाए गए बालों के स्थान में सही से बाल नहीं आ पाते हैं तो उभार आ जाता है। कई बार इनमें पस भी पड़ जाता है। इसे मेडिकल भाषा में स्यूडोफोलिकुलाइटिस बार्बे (pseudofolliculitis barbae) कहते हैं।

यह भी पढ़ें – पुरुषों के लिए वैक्सिंग कितनी सही और गलत? जरूर पढ़ें यह आर्टिकल

शेविंग के बाद रेजर बम्प्स क्यों आते हैं (Causes of Razor Bumps after shaving) ?

शेविंग के बाद रेजर बम्प्स आने की वजह बालों का त्वचा के अंदर की तरफ मुड़ जाना होता है। शेविंग, वैक्सिंग या प्लकिंग की हेल्प से बालों को हटाने से बाद बाल त्वचा के अंदर की तरह कर्ल हो जाते हैं और फिर मुड़ जाते हैं। बाल हटने के बाद उस स्थान में नई स्किन की परत आने लगती है। सेल्स बालों के ऊपर बढ़ती हैं और फिर त्वचा में फंस जाती हैं। इसी कारण से गांठ सी बन जाती है। यहीं कारण है कि शेविंग के बाद पिंपल की समस्या हो जाती है।

रेजर बम्प्स शरीर के किसी भी स्थान में हो सकते हैं। ये किसी भी व्यक्ति के चेहरे, सिर में, पैर, अंडर आर्म्स और प्यूबिक एरिया में हो सकते हैं। जिस भी एरिया में बालों को हटाया जाता है, वहां रेजर बम्प्स होने की संभावना होती है।

यह भी पढ़ें – विटामिन सप्लीमेंट्स लेना कितना सुरक्षित है? जानें इसके संभावित खतरे

शेविंग के बाद पिंपल आने पर क्या करें ?

रेजर बम्प्स या शेविंग के बाद पिंपल आने पर स्मॉल या फिर लार्ज साइज में हो सकते हैं। रेजर बम्प्स वाइट या फिर रेड हो सकते हैं। कई बार इनमें पस भी भर जाता है, जो दिक्कत पैदा करता है। वैसे आप चाहे जो भी कर लें, लेकिन रेजर बम्प्स से तुरंत राहत नहीं मिल पाती है। बेहतर होगा कि शेव करने से पहले ही कुछ बातों का ध्यान रखें, ताकि इस तरह की समस्या का सामना न करना पड़े। अगर आपको रेजर बम्प्स की समस्या हो गई है तो भी परेशान न होएं, कुछ उपाय की सहायता से आपको राहत मिल सकती है।

यह भी पढ़ें – स्किन इन्फ्लेमेशन क्या है? जानिए एंटी इन्फ्लमेटरी डायट कैसे रोक सकती है इसे

रेजर बम्प्स से छुटकारा : सैलिसिलिक एसिड (salicylic acid) का यूज

सैलिसिलिक एसिड बीटा हाइड्रॉक्सी एसिड होता है जो कि स्किन को एक्फोलिएट या पील करने में हेल्प करता है। ये त्वचा में ऑयल ग्लैंड्स के पोर्स को खोलने का काम करता है और साथ ही सूजन को कम करने का काम करता है। इसे स्किन में बालों को हटाने के बाद यूज किया जा सकता है। इसे लगाने से त्वचा के अंदर के बाल स्किन में फंसते नहीं हैं और आसानी से बाहर आ जाते हैं। सैलिसिलिक एसिड की हेल्प से शेविंग के बाद पिंपल की समस्या से भी छुटकारा मिल जाता है।

अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजिस्ट के अनुसार, सैलिसिलिक एसिड उन सभी लोगों के लिए फायदेमंद है, जिन्हें शेविंग के बाद पिंपल्स की समस्या या रेजर बम्प्स की समस्या होती है। आपको सैलिसिलिक एसिड अलग से खरीरदने की जरूरत नहीं है। कई प्रोडक्ट्स में सैलिसिलिक एसिड होता है जैसे कि क्लीनजर्स, टोनर्स और लोशन। इन्हें ड्रग्स स्टोर या फिर ऑनलाइन माध्यम से आसानी से खरीदा जा सकता है।

यह भी पढ़ें – महुआ के फायदे : इन रोगों से निजात दिलाने में असरदार हैं इसके फूल

रेजर बम्प्स से छुटकारा : ग्लाइकोलिक एसिड ( glycolic acid) का यूज

रेजर बम्प्स

सैलिसिलिक एसिड की तरह ग्लाइकोलिक एसिड भी त्वचा की सतह से पुरानी कोशिकाओं को हटाने का काम करता है। ग्लाइकोलिक एसिड अल्फा-हाइड्रॉक्सी एसिड होता है। रेजर बम्प्स की समस्या तभी होती है जब स्किन सेल्स की वजह से पोर्स बंद हो जाते हैं और बाल अंदर फंस जाते हैं। ग्लाइकोलिक एसिड लगाने से स्किन की लेयर पोर्स को बंद नहीं कर पाती है और रेजर बम्प्स नहीं होते हैं।ग्लाइकोलिक एसिड त्वचा को चिकना बनाने का काम करता है। आप उन प्रोडक्ट को ऑनलाइन खरीद सकते हैं, जिनमे ग्लाइकोलिक एसिड होता है।

रेजर बम्प्स से छुटकारा : गर्म वॉशक्लॉथ का करें यूज

त्वचा में गर्म वॉशक्लॉथ का यूज करके त्वचा को नरम बनाया जा सकता है। ऐसा करने से स्किन के अंदर फंसे हुए बालों को बाहर निकालने में मदद मिलती है। इस टेक्नीक का यूज करने के साथ ही दूसरी टेक्नीक भी इस्तेमाल की जा सकती हैं।

यह भी पढ़ें – स्किन पॉलिशिंग के बारे में क्या नहीं जानते आप? इससे ऐसे त्वचा निखारें

स्किन को करें ब्रश

स्किन केयर ब्रश का यूज करके डेड स्किन को हटाया जा सकता है। ऐसा करने से बंद पोर्स आसानी से खुल जाएंगे और रेजर बम्प्स की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा। अगर आपने दाढ़ी बनाई है तो सॉफ्ट ब्रश का इस्तेमाल शेविंग वाली जगह में करें। आप चाहे तो सॉफ्ट ब्रश का यूज रोजाना कर सकते हैं, ताकि आपको शेविंग के बाद पिंपल की समस्या से छुटकारा मिल जाए।

स्किन स्क्रब की लें हेल्प

स्किन स्क्रब करने से स्किन की डेड सेल्स को हटाने में हेल्प मिलती है। जैसे ही आपकी स्किन से डेड सेल्स हट जाएंगी, ऑयल ग्लैंड पोर्स भी आसानी से खुल जाएंगे और रेजर बम्प्स की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा। कुछ लोगों को स्क्रब से स्किन में समस्या पैदा हो जाती है। जिन लोगों की स्किन सेंसिटिव होती है, उन्हें स्क्रब के दौरान समस्या होती है। ऐसे लोगों को स्किन स्क्रब नहीं करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें –एड़ी में मोच और दर्द को दूर करने के लिए करें ये आसान एक्सरसाइज

मॉइश्चराइजर का करें यूज

आपने शरीर के जिस भी एरिया की शेविंग की है, वहां बाद में मॉइश्चराइजर का यूज जरूर करें। इसके बाद टॉवल से उसे ड्राई भी करें। ऐसा करने से रेजर के कारण पैदा होने वाली जलन से छुटकारा मिलता है और रेजर बम्प्स की समस्या भी खत्म होती है। कोशिश करें कि आपका मॉइश्चराइजर एल्कोहॉल फ्री हो। एल्कोहॉल होने पर स्किन में जलन की समस्या हो सकती है। आप एलोवेरा या शिया बटर का यूज भी कर सकते हैं। ऐसा करने से स्किन हाइड्रेटेड रहेगी। अगर आपने लेग में रेजर का यूज किया है तो लेग की स्किन के साथ भी ऐसा ही करें। अगर आपको मॉइश्चराइजर से एलर्जी है तो इसे यूज न करें।

रेजर बर्न है तो ऑयल का करें इस्तेमाल

अगर आपको रेजर बम्प्स के साथ ही रेजर बर्न की समस्या है तो आप कुछ घरेलू उपाय अपना सकते हैं। कोकोनट ऑयल, एलोवेरा, टी ट्री ऑयल आदि को अफेक्टेड एरिया में एप्लाई करें। ऑयल का यूज करने से पहले एक बार पैच टेस्ट जरूर लें। अगर आपको कोई दिक्कत नहीं है तो शेविंग के बाद रेजर बर्न एरिया में ऑयल को करीब 15 से 20 मिनट तक लगा रहने दें। फिर ठंडे पानी से धो लें।

अगर आपको शेविंग के बाद ज्यादा समस्या महसूस नहीं हो रही है तो घरेलू उपाय अपनाकर देखें। अगर आपको स्किन में एलर्जी हो गई है तो बेहतर होगा कि एक बार डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो स्वास्थ्य किसी प्रकार की मेडिकल एडवाइज, उपचार और निदान प्रदान नहीं करता।

और पढ़ें :

एक्सरसाइज से पहले खाएं ये चीजें, बढ़ेगी ताकत और दमदार होंगे मसल्स

क्या जिम जाने का मन नहीं करता? तो ये वर्कआउट मोटिवेशनल टिप्स करेंगे आपकी मदद

फर्टिलिटी को नुकसान पहुंचाने वाली आदतें कौन सी हैं?

महिलाओं की प्रजनन क्षमता बढ़ाने में सहायक 5 योगासन

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/02/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड