विटामिन डी के फायदे पाने के लिए खाएं ये 7 चीजें

Medically reviewed by | By

Update Date जून 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

हमारे शरीर के लिये विटामिन-डी बहुत जरुरी है। इसकी कमी से आपकी हड्डियों कमजोर हो सकती हैं, बोन डेन्सिटी घटने की संभावना होती है और यहा तक की रिकेट्स (Rickets) जैसी बीमारी भी हो सकती है। तो क्या हम पर्याप्त रूप से विटामिन-डी ले पाते हैं? हालांकि भरपूर  मात्रा में विटामिन-डी लेने का सबसे अच्छा तरीका हमारा ‘रोज काआहार’ और ‘सूरज की धूप’ है लेकिन, विटामिन डी के फायदे पाने के लिए खाने में कुछ चीजें शमिल करना भी अच्छा होगा। हैलो स्वास्थ्य के इस आर्टिकल में जानते हैं विटामिन डी के उपयोग, विटामिन डी के स्त्रोत और विटामिन डी के फायदे के बारे में।

यह भी पढ़ें : Chikungunya : चिकनगुनिया क्या है? जाने इसके कारण लक्षण और उपाय

7 चीजें जिनसे शरीर को मिले विटामिन डी के फायदे 

विटामिन डी की कमी को दूर करना शरीर के स्वास्थ्य के लिए जरूरी होता है। इसके लिए आहार में और दिनचर्या में कुछ बदलाव जरूरी है।

1. गाय का दूध (cow milk)

गाय के दूध का सेवन बहुत सारे लोग करते हैं। यह विटामिन डी के फायदे का एक बहुत ही मुख्य स्रोत है। गाय के दूध में कैल्शियम, फॉस्फोरस और राइबोफ्लेविन (riboflavin) सहित कई पोषक तत्व मिलते हैं।

यह भी पढ़ें : क्या आप सरोगेसी और सरोगेट मां के बारे में जानते हैं ये बातें?

2. सैल्मन मछली (salmon fish)

सैल्मन एक वसायुक्त (फैट्स) मछली है और विटामिन डी के फायदे का एक बड़ा स्रोत भी है। 100-ग्राम सैल्मन मछली का सेवन करने में विटामिन-डी 361 से 685 IU (international unit) के बीच होता है। विटामिन-डी के फायदे पाने के लिए सैल्मन मछली को अपने आहार में शामिल करें।

3. कॉड लिवर ऑयल

कॉड लिवर ऑइल विटामिन डी के फायदे का एक लोकप्रिय पूरक है। यदि आप मछली का सेवन नहीं करते तो कॉड लिवर ऑइल आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है। कॉड लिवर ऑइल भी विटामिन-ए का एक भरपूर स्रोत है। परंतु उच्च मात्रा में विटामिन-ए टॉक्सिक हो सकता है । इसलिए, कॉड लिवर ऑइल का सावधानीपूर्वक  सेवन करें और इसे बहुत अधिक मात्र में न लें।

यह भी पढ़ें : Christmas Special : वेज और नॉनवेज दोनों के लिए हैं ये बेस्ट डिशेज, जरूर ट्राई करें

4. अंडा (egg)

जो लोग मछली नहीं खाते उनके लिए अंडा विटामिन डी के फायदे का एक बहुत ही अच्छा विकल्प है। एक अंडे में अधिकांश प्रोटीन उसके सफेद रंग के हिस्से में पाया जाता है। जब कि अंडे के पीले हिस्से में फैट्स, अन्य विटामिन, प्रोटीन और मिनरल पाए जाते हैं।

यह भी पढ़ें : Bone marrow biopsy: बोन मैरो बायोप्सी क्या है?

5. मशरूम (mushroom)

मशरूम केवल एकमात्र ऐसा पौधा है जो विटामिन डी के फायदे का अच्छा स्त्रोत है। बाहर उगने वाले मशरूम जो प्रकाश के संपर्क में आते हैं उनमें विटामिन-डी की मात्रा ज्यादा होती है, इसलिए घर के अंदर उगने वाले मशरूम में विटामिन-डी बहुत कम मात्रा में पायी जाती है। इसीलिए यदि आप अपने विटामिन-डी के लाभ को मशरूम के सेवन से पूरा करने की सोच रहे हैं, तो सुनिश्चित करें कि वे धूप के पर्याप्त स्तर के संपर्क में हैं।

6. ऑरेंज जूस (orange juice)

कई फोर्टिफोइड संतरे के रस में अतिरिक्त विटामिन-डी होता है। अक्सर कई विभिन्न ब्रैंड के ऑरेंज जूस में अलग से भी कैल्शियम डाला जाता है जो कि कई मायने में फायदेमंद है। क्योंकि विटामिन-डी हमारे शरीर में बोन-बूस्टिंग मिनरल को समाने में मदद करता है। विटामिन-डी के फायदे पाने के लिए ऑरेंज जूस को आहार में शामिल करें।

यह भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी में खाएं कैल्शियम से भरपूर भोजन, होते हैं ये फायदें

7. झींगा मछली

झींगा मछली विटामिन डी के फायदे का एक बहुत ही लोकप्रिय विकल्प है। बाक़ी मछलियों की तुलना में झींगा मछली में विटामिन-डी अच्छी मात्रा में होता है और इसमें फैट्स बहुत ही कम मात्रा में होती है। इन में फायदेमंद ओमेगा-3 फैटी एसिड भी होता है, जो कि कई विटामिन-डी की  खाद्य पदार्थों की तुलना में कम प्रमाण में होता है।

विटामिन डी के फायदे क्या हैं?

विटामिन डी हमारे शरीर के लिए बहुत ही जरूरी है। इसके कुछ लाभ इस प्रकार हैं:

  • विटामिन डी हमारे शरीर में सीरम कैल्शियम और फास्फोरस की सही मात्रा को बनाए रखने में सहायता करता है।
  • यह दिमाग को तेज रखने के लिए भी महत्वपूर्ण है।
  • साथ में यह आंत से इन खनिजों को अवशोषण कर के हड्डियों तक पहुंचाने का काम भी करता है।
  • विटामिन डी मांसपेशियों के लिए बहुत ही आवश्यक है।
  • यह हृदय रोग और हाई बीपी से भी हमें छुटकारा दिलाने में मदद करता है।
  • विटामिन डी हड्डियों की हेल्थ के लिए बहुत ही लाभदायक है।
  • यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

यह भी पढ़ें : कफ की समस्या से हैं परेशान, जानिए क्या हैं कफ निकालने के उपाय ?

विटामिन डी की कमी से होने वाले नुकसान

विटामिन डी की कमी से कुछ स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं जैसे-

विटामिन डी की कमी से मूड पर असर

बॉडी में विटामिन डी की कमी का सीधा असर आपके मूड पर भी पड़ता है। इसकी कमी से शरीर में सेरोटोनिन हार्मोन के निर्माण पर असर पड़ता है जो आपके बदलते मूड के लिए जिम्मेदार हो सकता है।

विटामिन डी की कमी से आलस और थकान

अगर आप अपने अंदर ऊर्जा की महसूस करते हैं और लगातार थकान और आलस से भरा महसूस करते हैं, तो बॉडी में विटामिन डी के स्तर की जांच करवाएं। ऐसा विटामिन डी की कमी के कारण भी हो सकता है।

यह भी पढ़ें : जानें प्री-टीन्स में होने वाले मूड स्विंग्स को कैसे हैंडल करें

विटामिन डी की कमी से कमजोर हड्डी और मांसपेशि‍यां

यदि आप हड्ड‍ियों में दर्द और कमजोरी के साथ ही मांसपेशि‍यों में लगातार दर्द महसूस कर रहे हैं, तो यह विटामिन डी की कमी के कारण हो सकता है। विटामिन डी हड्ड‍ि‍यों के लिए अति आवश्यक होने के साथ ही दांतों और मांसपेशि‍यों के लिए भी बहुत जरूरी पोषक तत्व है।

विटामिन डी की कमी से तनाव एवं उदासी

खास तौर से महिलाओं में विटामिन डी की कमी से स्ट्रेस की समस्या पैदा हो जाती है क्योंकि महिलाओं को विटामिन डी की आवश्यकता ज्यादा होती है।

यह भी पढ़ें : फेफड़ों की बीमारी के बारे में वाे सारी बातें जो आपको जानना बेहद जरूरी है

विटामिन डी की कमी से हाई बीपी (hypertension)

अगर आपके शरीर में विटामिन डी की कमी हो रही है, तो इसका असर आपके ब्लडप्रेशर (रक्तचाप) पर पड़ सकता है। इसकी कमी से अक्सर हाई ब्लड प्रेशर की समस्या पैदा होती है।

स्वस्थ हड्डियों को बनाए रखने के लिए विटामिन-डी लेना बहुत ही महत्वपूर्ण है। पर्याप्त विटामिन-डी प्राप्त करने का सबसे आसान तरीका नियमित रूप से बाहर धूप में समय बिताना है। अगर आपके शरीर को जरुरी विटामिन-डी इन सभी तरीकों से नहीं मिलता है तो आप अपने डॉक्टर से परामर्श ले विटामिन-डी फूड्स भी ले सकते हैं। विटामिन डी के फायदे शरीर के लिए बहुत जरूरी हैं। आशा करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। इससे जुड़ा हुआ अगर कोई सवाल या सुझाव आपके पास है तो कमेंट बॉक्स में आप साझा कर सकते हैं। 

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता है।

और पढ़ें:-

क्या है नाता विटामिन-डी का डायबिटीज से?

विटामिन-डी डेफिशियेंसी (कमी) से बचने के लिए खाएं ये 7 चीजें

विटामिन-डी की कमी से होती है यह घातक बीमारियां

बार- बार होते हैं बीमार? तो बॉडी में हो सकती है विटामिन-डी (Vitamin-D) की कमी

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Shelcal Hd: शेलकॉल एचडी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

शेलकॉल एचडी की जानकारी in hindi दवा का डोज, साइड इफेक्ट्स, उपयोग, सावधानी और चेतावनी को जानने के साथ ही जानें किन बीमारी व दवाओं से होता है shelcal hd का रिएक्शन।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 16, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

बरगद के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Banyan Tree (Bargad ka Ped)

जानिए बरगद के पेड़े के फायदे और नुकसान, बगरद के पेड़ के औषधीय गुण, वट के पेड़ से घरेलू उपचार, Bargad ka Ped के साइड इफेक्ट्स, Banyan Tree क्या है। Bargad ke ped ki kaise pehchan karen

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Ankita Mishra
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Becadexamin: बेकाडेक्सामिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए बेकाडेक्सामिन (Becadexamin) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितनी खुराक लें, बेकाडेक्सामिन डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Bhawana Awasthi
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 2, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Zincovit: जिनकोविट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जिनकोविट (zincovit) की जानकारी in hindi. जिनकोविट ( जिंकोविट ) टैबलेट मल्टीविटामिन टैबलेट होती हैं। इस टैबलेट में विटामिन, असेंशियल मिनिरल्स और जिंक होता है।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Bhawana Awasthi
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 1, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

फोल्विट 5 एमजी टैबलेट

Folvite 5 mg Tablet : फोल्विट 5 एमजी टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
Published on जुलाई 6, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
बेकन प्लस

Becon Plus: बेकन प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
Published on जून 26, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
कैल्सिमैक्स फोर्ट

Calcimax Forte: कैल्सिमैक्स फोर्ट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
Published on जून 17, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
दही के लाभ

उम्र की लंबी पारी खेलने के लिए, करें योगर्ट का सेवन जरूर

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Shikha Patel
Published on जून 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें