शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए जानें मैराथन दौड़ के फायदे

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट मई 13, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

मैराथन में दौड़ना लोगों के लिए बहुत रोमांचक है। कई बार लोग मस्ती में ही मैराथन में दौड़ना शुरू कर देते हैं। लेकिन क्या आपको मैराथन दौड़ के फायदे के बारे में पता है? मैराथन दौड़ शारीरिक और मानसिक रूप से काफी प्रभावी है। इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि मैराथन दौड़ के शारीरिक और मानसिक फायदे क्या हैं? आप खुद को मैराथन दौड़ के लिए कैसे तैयार सकते हैं?

यह भी पढ़ें : ले रहे हैं मेराथॉन या लंबी दौड़ में हिस्सा? फॉलो करें डॉक्टर की ये गाइडलाइंस

मैराथन दौड़ क्या है?

मैराथन दौड़ एक लंबी दूरी की दौड़ होती है। मैराथन दौड़ लगभग तीन प्रकार की होती है :

हाफ मैराथन : हाफ मैराथन में धावक को 21.0975 किलोमीटर की दौड़ लगानी होती है।

फुल मैराथन : फुल मैराथन में धावक को 42.195 किलोमीटर की दूरी दौड़ कर तय करनी होती है।

अल्ट्रा मैराथन : अल्ट्रा मैराथन में 42.195 किलोमीटर की दौड़ लगानी होती है।

मैराथन दौड़ के फायदे शरीर के लिए होते हैं, जिसमें दौड़ने वाले व्यक्ति का ब्लड प्रेशर सामान्य हो जाता है। इसके साथ ही ये एक एरोबिक एक्सरसाइज भी हो जाती है।

यह भी पढ़ें : सिर्फ जिम जाना ही नहीं, जिम में बॉडी बनाने के तरीके भी जानना है जरूरी

मैराथन दौड़ के फायदे क्या हैं?

मैराथन में दौड़ने के अपने कई शारीरिक और मानसिक फायदे हैं। इसलिए उन्हें जानने के बाद आप मैराथन में दौड़ना चाहेंगे :

शरीर को मिलता है बेहतर शेप

मैराथन में दौड़ने से हमारे शरीर को एक बेहतर शेप मिल सकता है। अगर आप ये सोचते हैं कि मैराथन में हिस्सा सिर्फ एथलीट्स ले सकते हैं तो ऐसा बिल्कुल नहीं है। माना कि एथलीट्स का शरीर फिट होता है, लेकिन मैराथन दौड़ के फायदे से आपका शरीर भी फिट हो सकता है। अगर आपका शरीर बेडौल है और फिट नहीं है तो आप मैराथन में दौड़ना शुरू कर सकते हैं। 

मैराथन दौड़ के फायदे से आएगी अच्छी नींद

मैराथन दौड़ में हिस्सा लेने से आपके नींद की समस्या भी दूर हो सकती है। क्योंकि जब आप मैराथन में हिस्सा लेने के लिए ट्रेनिंग करते हैं तो आपका शरीर प्रैक्टिस करते-करते थक कर चूर हो जाता है। इससे आपको रातों में एक अच्छी नींद आएगी। इसलिए शाम को जब आपकी मैराथन ट्रेनिंग खत्म हो जाए तो आप जल्दी से जा कर बेड पर सो जाएं और एक बेहतरीन नींद लें। 

यह भी पढ़ें : सिक्स पैक बनाने के आसान टिप्स, बेसिक्स से करें शुरुआत

दौड़ने से पैर टोन होते हैं

मैराथन दौड़ के फायदे में लेग टोनिंग भी शामिल है। ट्रेनिंग के समय किसी भी धावक का एक लक्ष्य होता है ‘वजन घटाना’। लेकिन ऐसा अक्सर होना संभव नहीं होता है, क्योंकि मैराथन में हिस्सा लेने वाला व्यक्ति मेहनत तो करता है पर डायट पर कंट्रोल ना कर पाने के कारण वजन घटना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। वहीं, दौड़ने से कुछ हो ना हो, लेकिन पैरों का मसल्स मास बढ़ने से पैर टोन जरूर होने लगते हैं। 

कार्डियोवैस्कुलर सेहत रहती है दुरुस्त

यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ लंदन और बार्ट्स हेल्थ एनएचएस ट्रस्ट ने एक अध्ययन किया। जिसमें 138 ऐसे लोगों को शामिल किया गया, जो मैराथन धावक थे। उन्होंने बीते दो सालों तक लगातार मैराथन दौड़ में हिस्सा भी लिया था। इन प्रतिभागियों की पहले कोई भी कार्डिएक हिस्ट्री नहीं थी। दो हफ्ते रोजाना मैराथन ट्रेनिंग के बाद उनकी जांच की गई तो ये बात सामने आई कि जो लोग पहली बार मैराथन दौड़ में हिस्सा लेते हैं, उनकी ब्लड प्रेशर सामान्य हो जाता है। वहीं, अगर वह व्यक्ति लगातार मैराथन में हिस्सा लेता है तो ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है। जिससे धमनियों के बाहर की पर्त मोटी और हार्ड होने से बच जाती है। जब धमनियां पतली रहती है तो हार्ट अटैक और हार्ट स्ट्रोक आने का खतरा काफी कम हो जाता है। 

कैलोरी बर्न होती है

मैराथन दौड़ के फायदे में कैलोरी बर्न होती है। जब हम कोई लंबी दूरी की रेस दौड़ते हैं तो कई हजारों कैलोरी बर्न होती है। तो आप अच्छी डायट लें और कैलोरी बर्न करें। जब कैलोरी बर्न होगी तो भूख भी लगेगी, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप कुछ भी खा लें, जब भी खाएं संतुलित आहार खाएं।

यह भी पढ़ें : क्या जिम जाने का मन नहीं करता? तो ये वर्कआउट मोटिवेशनल टिप्स करेंगे आपकी मदद

संपूर्ण सेहत इम्प्रूव होती है

मैराथन दौड़ से संपूर्ण हेल्थ इम्प्रूव होती है। रोजाना दौड़ने या मैराथन दौड़ की प्रैक्टिस करने से एरोबिक्स कैपेसिटी में इजाफा होता है। साथ ही हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल भी नियंत्रित हो जाता है। इसके साथ ही इम्यून सिस्टम और मसल्स स्ट्रेंथ भी मजबूत होता है। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन और कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी (यूएसए) ने एक रिसर्च की जिसमें ये बात सामने आई कि ज्यादा एक्सरसाइज या रनिंग से लोगों में दिल की बीमारी, डायबिटीज, सार्कोमा, कैंसर, अस्थमा आदि समस्याओं का रिस्क कम हो जाता है। 

आत्मविश्वास बढ़ता है

जब आप किसी प्रतिस्पर्धा में भाग लेते हैं और उसे जीतते है आप में एक कॉन्फिडेंस आता है, जिसकी मदद से आप और ज्यादा अच्छा परफॉर्म कर पाते हैं। जब आप हाफ मैराथन, फुल मैराथन या अल्ट्रा मैराथन में हिस्सा लेते हैं और आप जीतते हैं तो आप में एक आत्मविश्वास आता है। जिससे आपके फिजिकल और मेंटल हेल्थ में इजाफा होता है। आप इस बदलाव को खुद ही महसूस कर सकते हैं कि आप मैराथन दौड़ के पहले क्या थे और दौड़ जीतने के बाद क्या है।

यह भी पढ़ें : जानें दौड़ने से सेहत को होने वाले फायदे और इस दौरान बरती जाने वाली सावधानियां

मैराथन दौड़ के फायदे से तनाव कम होता है

मैराथन दौड़ में हिस्सा लेने या उसकी प्रैक्टिस करने से आपका स्ट्रेस कम होता है। एक रिसर्च में ये बात सामने आई है कि दौड़ने से हमारे सामने कई तरह के चैैलेंजस आते हैं, जिसे हमारा दिमाग काफी अच्छे से हैंडल कर लेता है। इससे दिमाग द्वारा स्ट्रेस को हैंडल करने की क्षमता भी बढ़ती है। 

खुद को मोटिवेटेड महसूस करते हैं

मैराथन दौड़ के फायदे में मोटिवेशन भी एक बड़ा फायदा है, जो आपके मेंटल हेल्थ को दुरुस्त करने में मदद करता है। मैराथन में हिस्सा लेने से आप जब तैयारी करते हैं तो आप रोजाना के लिए एक नई रूटीन तय कर लेते हैं। ऐसे में आप में एक मोटिवेशन आता है और आप मैराथन में कुछ नया करने के लिए प्रेरित होते हैं। आपमें वो जूनून आता है, जो आपको जीतने के लिए प्रेरित करता है। इसके लिए आप एक हेल्दी डायट से लेकर एक हेल्दी लाइफस्टाइल को फॉलो करते हैं। 

मैराथन दौड़ के फायदे के बारे में जानने के बाद आपको मैराथन दौड़ में हिस्सा लेने की तैयारी अभी से शुरी कर देनी चाहिए। आप शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ्य महसूस करते हैं। उम्मीद है कि आपको मैराथन दौड़ के फायदे से जुड़ा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर और फिटनेस ट्रेनर से बात कर सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई मेडिकल जानकारी नहीं दे रहा है। 

और पढ़ें : 

पुश अप फिटनेस के साथ बढ़ाता है टेस्टोस्टेरॉन, जानें पुश अप्स के फायदे

जिम उपकरण घर लाएं और महंगी जिम को कहें बाए-बाए

दिल ही नहीं पूरे शरीर को फिट बना सकती है कयाकिंग

इस बॉल से करें एक्सरसाइज, मोटापा होगा कम और बाजु भी आएंगे शेप में

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

परिवृत्त पार्श्वकोणासन क्या है, जाने इसे कैसे करें और इसके क्या हैं फायदें

परिवृत्त पार्श्वकोणासन कैसे करते हैं इसके क्या क्या फायदें हैं, इसे कैसे परफॉर्म करते हैं, किन लोगों को इस आसन को परफॉर्म नहीं करनी चाहिए, सावधानियां जानें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
फिटनेस, योगा, स्वस्थ जीवन अगस्त 18, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

जानें कैसे अर्जुन कपूर ने डायट में बदलाव कर 140 किलो से सिक्स पैक एब्स बनाए

अर्जुन कपूर डायट को जानना है बेहद जरूरी, उन्होंने डायट और वर्कआउट के बल पर 50 किलो वजन घटा लिया। जाने इसके लिए क्या किया उन्होंने?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन अगस्त 13, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

बाबा रामदेव के फिटनेस सिक्रेट करें फॉलो और रहें ताउम्र फिट एंड हेल्दी

बाबा रामदेव के फिटनेस को देख उनकी तरह अपनाएं फिटनेट रूटीन, जाने बाबा रामदेव क्या क्या करते हैं, एक्सरसाइज, वार्मअप, जॉगिंग और योग के बारे में जाने।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
फिटनेस, स्वस्थ जीवन जुलाई 27, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

अभिनेत्री वाणी कपूर कैसे रहती हैं इतनी फिट, जानिए उनका फिटनेस सिक्रेट

वाणी कपूर डाइट, वाणी कपूर फिटनेस प्लान, फिट एक्ट्रेस वानी कपूर, वाणी कपूर की फिटनेस के बारे में जानकारी, Vaani kapoor diet in hindi, Vaani kapoor

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
स्वास्थ्य बुलेटिन, लोकल खबरें जुलाई 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

इस तरह के स्पोर्ट्स से आप रह सकते हैं फिट, जानें इन स्पोर्ट्स के बारे में

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Sharma
प्रकाशित हुआ अगस्त 28, 2020 . 3 मिनट में पढ़ें
परिणीति चोपड़ा डायट प्लान

परिणीति चोपड़ा के डायट प्लान से होगा वेट लॉस आसान, जानिए वर्कआउट सीक्रेट भी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 20, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
पवनमुक्तासन-Wind Relieving Pose

पेट की परेशानियों को दूर करता है पवनमुक्तासन, जानिए इसे करने का तरीका और फायदे

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ अगस्त 20, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
धनुरासन/dhanurasana

अस्थमा के रोगियों के लिए फायदेमंद है धनुरासन, जानें इसको करने का सही तरीका

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ अगस्त 19, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें