सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा (इजैक्युलेशन) को कैसे बढ़ाएं? 

Medically reviewed by | By

Update Date जुलाई 1, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
Share now

सेक्स करना आपकी दिनचर्या का एक सुखद पल होता है। इसे एंजॉय करना ही एक हैप्पी सेक्स लाइफ का लक्षण है। अगर आपसे हम एक सवाल पूछें कि वीर्य स्खलन की मर्यादा या सीमन इजैक्युलेशन कितनी बार हो सकता है, तो शायद आपका जवाब होगा कि एक बार। लेकिन इसे आप सेक्स के एक सेशन के दौरान एक से ज्यादा बार भी कर सकते है। सह सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा को बढ़ाने से ऑर्गेजम पाने में आसानी होती है और सेक्स टाइम में भी इजाफा होता है। इस आर्टिकल में आप ‘कम सेक्स’ (Cum Sex)  या इजैक्युलेशन के बारे में जानेंगे। सह सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा को बढ़ाने से आप ऑर्गेजम तक कैसे पहुंच सकते है, इस बात के भी सभी पहलुओं के बारे में जानेंगे।

सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन या इजैक्युलेशन कितनी बार होता है? 

किसी भी पुरुष में सेक्स के अंत में इजैकुलेशन यानी कि सीमन आना वीर्य स्खलन होता है। लेकिन एक बार सेक्स करने के दौरान पुरुष एक से पांच बार में इजैक्युलेशन कर सकता है। ये बात आपके लिए शायद आश्चर्य वाली हो, लेकिन सह सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन एक से ज्यादा बार किया जा सकता है। ऐसा मैराथन मास्टरबेशन या मैराथन सेक्स के दौरान होता है। हालांकि, इसके लिए आपको अपने इजैक्युलेशन को समझना होगा। ताकि आप सह सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा को बढ़ा सकें। 

और पढ़ें : क्या आप हर वक्त सेक्स के बारे में सोचते हैं? ये हाई सेक्स ड्राइव का हो सकता है लक्षण

सह सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा क्या है?

जब इजैक्युलेशन की बात हो रही है तो आप अपने मन से ये गलतफहमी निकाल दीजिए कि एक बार इजैकुलेट होने से आपका सीमन खत्म हो गया। ऐसा बिल्कुल नहीं है, क्योंकि एक स्वस्थ व्यक्ति का टेस्टेस और एप्डिडिमस सीमन इजैकुलेशन के तुरंत बाद से ही फिर से सीमन बनना शुरू हो जाता है। इसलिए आप जान लीजिए कि आपके पास निश्चित मात्रा में सीमन नहीं है। इस तरह से आप सेक्स के दौरान कई बार वीर्य स्खलन कर सकते हैं। अगर आपको ऐसा लगता है कि पहली बार सीमन की मात्रा जितनी ज्यादा थी, बाद में उतनी नहीं थी, तो ऐसा होना लाजमी है। क्योंकि आपका शरीर उतनी मात्रा में सीमन को रिजर्व नहीं रखा रहता है, जितनी कि पहली बार सीमन रिजर्व रहता है। सह सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा को बढ़ाने के लिए कई सारे फैक्टर्स जिम्मेदार होते हैं। 

सह सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा किन चीजों पर निर्भर करती है?

सह सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा निम्न बातें पर निर्भर करती है :

रिफैक्ट्री पीरियड

सेक्स करने के बाद जब इजैक्युलेशन हो जाता है तो पेनिस खुद बखुद ढीला या डाउन हो जाता है। ऐसे में आप दोबारा इरैक्शन कर के इजैक्युलेशन नहीं कर सकते हैं। इस पीरियड को ही रिफैक्ट्री पीरियड कहते हैं। हालांकि, अलग-अलग लोगों में रिफैक्ट्री पीरियड अलग होता है। कम उम्र के युवाओं में रिफैक्ट्री पीरियड बहुत छोटा होता है, ये सिर्फ कुछ मिनटों का होता है। जबकि वयस्कों में रिफैक्ट्री पीरियड 30 मिनट से लेकर कुछ घंटों या कुछ दिनों का भी हो सकता है। रिफैक्ट्री पीरियड का समय पूरी उम्र भर बदलता रहता है। ऐसे में ये कहा जा सकता है कि रिफैक्ट्री पीरियड इरैक्शन और इजैक्युलेशन के लिए रिचार्ट पीरियड होता है। इसमें पेनिस को फिर से इरेक्ट होने और इजैकुलेशन के लिए तैयार होने का समय मिलता है। 

और पढ़ें : सेक्स और डेटिंग को लेकर है कुछ कंफ्यूजन तो ये आर्टिकल कर सकता है आपकी मदद

ऑर्गेजम

पुरुषों में ऑर्गेजम इजैकुलेशन के साथ ही होता है। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी है, जो इजैकुलेशन के बिना भी ऑर्गेजम प्राप्त कर सकते हैं। ऐसा भी हो सकता है कि आप कई बार इजैक्युलेशन के बाद ही ऑर्गेजम तक पहुंच पाएं। ऑर्गेजम हमारी सेंस्टिविटी और सेंसेशन को बढ़ाती है। जिसके कारण मांसपेशियों में खिंचाव होता है, हार्ट रेट बढ़ जाती है और ब्लड प्रेशर भी बढ़ जाता है। इस वक्त व्यक्ति को सेक्स में प्लेजर महसूस होने लगता है और इस सह सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा बढ़ जाने से इजैकुलेशन कई बार होता है। इसके बाद हमारा ब्रेन और बॉडी न्यूरोट्रांसमिटर्स रिलीज करने लगते हैं, जिससे पेनिस रिफैक्ट्री पीरियड में चला जाता है। 

सह सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा को कैसे बढ़ाएं?

सह सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा को बढ़ाना कोई रॉकेट साइंस नहीं है। इसके लिए आपको थोड़ा प्रैक्टिस और स्टैमिना को बढ़ाने की जरूरत होती है। इजैक्युलेशन की मात्रा को बढ़ाने के लिए आप निम्न चीजें ट्राई कर सकते हैं : 

कीगल (Kegel) एक्सरसाइज कर सकती है मदद

पुरुषों में पेल्विक फ्लोर एक्सरसाइज और कीगल एक्सरसाइज की मदद से पेनिस को फायदा मिलता है। कीगल एक्सरसाइज आपके ब्लैडर, ग्रोइन और पेनिस की मसल्स को मजबूती देते हैं। ये एक्सरसाइज पेनिस में ब्लड फ्लो और सेंसेशन को बढ़ाती है। साथ ही रिफैक्ट्री पीरियड को भी कम करती है और इजैक्युलेशन के क्रम को बढ़ावा देता है। 

और पढ़ें : बाथ टब में सेक्स का बना रहे हैं प्लान, तो ट्राई करें ये सेक्स पोजिशन

कीगल एक्सरसाइज निम्न स्टेप्स से कर सकते हैं : 

कीगल एक्सरसाइज करने के लिए आपको सबसे पहले कुर्सी या बेड पर बैठकर, लेटकर या खड़े होकर भी कर सकते हैं। कीगल एक्सरसाइज में जिन मांसपेशियों को सिकोड़ा जाता है, उनका प्रयोग हम यूरिन करते समय करते हैं।

  • अपने घुटनों को मोड़ें और बैठ जाएं।
  • अब ध्यान लगाएं और पेल्विक मसल्स को पहले टाइट कर के उन्हें सिकोड़ें।
  • अब पांच सेकेंड के लिए इन्हें सिकोड़ें और उसके बाद इतने ही समय आराम करें।
  • बाद में आप यह समय बढ़ा सकते हैं।
  • दस से बीस बार इस व्यायाम को दोहराएं।
  • अगर आप लेट कर इस एक्सरसाइज को कर रहे हों, तो बिस्तर पर लेटते हुए घुटनों को मोड़ लें। इसके बाद इसे करें।
  • अगर खड़े हो कर कर रहे हैं, तो पैर को फैला लें और उसके बाद इस एक्सरसाइज को करें।

हस्तमैथुन से बढ़ाए वीर्य स्खलन की मर्यादा

मास्टरबेशन करते समय सेंसेशन आपको यौन उत्तेजना के बिना लंबे समय तक रुकने का सबक सिखाता है। अगर आप किसी कई बार इजैकुलेशन का टारगेट बना कर रख रहे हैं तो कम से कम एक या दो दिन के लिए हस्तमैथुन पर ध्यान दें। इससे पेनिस पर तनाव बढ़ेगा और यह आपको लगातार कई बार इजैकुलेशन में मदद भी कर सकता है।

स्कवीज मेथेड का सहारा लें

स्कवीज मेथेड से आप लास्ट या सिर्फ एक ही बार इजैकुलेशन से बच सकते हैं। इसके लिए आपको सेक्स के दौरान अपने शरीर को समझना होगा। सेक्स के दौरान जब भी इजैकुलेशन होता है तो ऑर्गेज्म वाली फीलिंग आती है। ऑर्गेज्म वाली फीलिंग को रोकने के लिए आप थोड़ा सा रुक जाएं और हल्का-हल्का सेक्स करें। इस दौरान आपको हल्का इजैकुलेशन महसूस होगा, लेकिन आप इसे रोक सकते हैं। इसके बाद जब ये फीलिंग खत्म हो जाए तो आप फिर से सेक्स करना शुरू कर सकते हैं। 

और पढ़ें : मेल सेक्स ड्राइव से जुड़ी ये बातें यकीनन नहीं जानते होंगे आप

स्टॉप-स्टार्ट मेथेड

स्टॉप-स्टार्ट मेथेड पुरुषों द्वारा ऑर्गेज्म को कंट्रोल करने का एक अन्य मेथेड है। इस मेथेड में आप अपने ऑर्गेजम प्लेजर को रोक कर उसकी अवधि को लंबा कर सकते हैं। सेक्स के दौरान आपको जब ऐसा लगे कि आप ऑर्गेजम के करीब हैं तो खुद को पूरी तरह से रोक दें और कोई भी सेक्शुअल एक्टिविटी ना करें। इसके बाद जब आप पाएंगे कि ऑर्गेजम की फीलिंग खत्म हो गई और आप अब खुद को फिर से स्टार्ट कर सकते हैं। इस तरह से आप सह सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा को बढ़ा सकते हैं। 

हमेशा याद रखें कि जब सेक्स को आप और आपके पार्टनर ने मिल कर शुरू किया है तो खत्म भी दोनों को साथ में करना चाहिए। इसके लिए आप अपने सेक्स टाइम को इजैकुलेशन टाइमिंग को मैनेज कर के या फ्रीक्वेंटली इजैकुलेशन के द्वारा बढ़ा सकते हैं। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

डायबिटीज और इरेक्टाइल डिसफंक्शन – जानिए कैसे लायें सुधार

डायबिटीज और इरेक्टाइल डिसफंक्शन क्या है, डायबिटीज और इरेक्टाइल डिसफंक्शन में संबंध क्या है, कैसे करें sildenafil citrate , diabetes and Erectile Dysfunction

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anu Sharma
हेल्थ सेंटर्स, डायबिटीज जुलाई 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

सेक्स थेरिपी सेशन पर जाने से पहले पता होनी चाहिए आपको ये बातें

सेक्स थेरिपी क्या है, यह कैसे काम करती है, सेक्स थेरिपी के लाभ, 43% महिलाएं और 31% पुरुष अपने जीवन में किसी न किसी प्रकार के यौन रोग की रिपोर्ट करते हैं। थेरिपी के लिए जाने से पहले आपको क्या पता होना चाहिए?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel

मॉर्निंग सेक्स के फायदे पाने के लिए जानिए कुछ बेहतरीन टिप्स

जानिए गुड मॉर्निंग सेक्स क्या है, मॉर्निंग सेक्स के तरीके, फायदे, पाइये कुछ बेहतरीन के टिप्स , good morning sex, morning sex

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anu Sharma

हॉर्नी होना क्या है? क्या यह कोई समस्या है?

आजकल हॉर्नी शब्द का प्रयोग काफी किया जाता है। लेकिन, इसका असली मतलब शायद ही कोई जानता होगा। आइए, जानते हैं हॉर्नी का असली मतलब।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Surender Aggarwal

Recommended for you

सेक्स के दौरान या बाद में ऐंठन

सेक्स के दौरान या बाद में ऐंठन के कारण और उनसे राहत पाने के उपाय

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anu Sharma
Published on जुलाई 13, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
सेक्स से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल

कौन-कौन से हैं सेक्स से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल और पाइए उनके जवाब

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anu Sharma
Published on जुलाई 7, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
यूरेथ्रल साउंडिंग सेक्स टॉयज

मूत्रमार्ग का हस्तमैथुन युवक को पड़ गया भारी, जानें यूरेथ्रल साउंडिंग क्या है? 

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
Published on जुलाई 6, 2020 . 9 मिनट में पढ़ें
मर्दाना ताकत कैसे बढ़ाएं

अगर मर्दाना ताकत को है बढ़ाना, तो इन उपायों को न भूलें अपनाना

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anu Sharma
Published on जुलाई 6, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें