home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी में डायबिटीज के जोखिम को कम करने के लिए यह सप्लीमेंट्स हो सकते हैं हेल्पफुल!

प्रेग्नेंसी में डायबिटीज के जोखिम को कम करने के लिए यह सप्लीमेंट्स हो सकते हैं हेल्पफुल!

गर्भावस्था के नौ महीने हर मां के लिए बेहद खास होते हैं। अधिकतर महिलाएं इस दौरान जहां एक तरफ उत्साह और ख़ुशी महसूस करती हैं, वहीं उनके मन में थोड़ा भय भी होता है। गर्भावस्था में कुछ समस्याएं आम होती जा रही हैं जैसे हाय ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, थायरॉइड आदि। इस दौरान होने वाली डायबिटीज को जेस्टेशनल डायबिटीज (Gestational Diabetes) कहा जाता है। जेस्टेशनल डायबिटीज के उपचार के लिए डॉक्टर मरीज को अपने लाइफस्टाइल में परिवर्तन के लिए कह सकते हैं। इसके साथ ही कुछ दवाईयों या सप्लीमेंट्स की सलाह भी दी जा सकती है। आज हम प्रेग्नेंसी में डायबिटीज रिस्क के लिए सप्लीमेंट्स (Supplements to reduce Diabetes Risk in Pregnancy) के बारे में बात करने वाले हैं। जानिए इसके बारे में विस्तार से। सबसे पहले जानते हैं कि गर्भावस्था में डायबिटीज के बारे में।

गर्भावस्था में डायबिटीज (Diabetes in Pregnancy)

जैसा की आप जानते हैं कि गर्भावस्था में डायबिटीज को जेस्टेशनल डायबिटीज (Gestational Diabetes) कहते हैं और यह वो स्थिति है जिसमें गर्भवती महिला के शरीर में ब्लड शुगर का लेवल बहुत अधिक बढ़ जाता है। नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ डायबिटीज और डायजेस्टिव और किडनी डिजीज (National Institute of Diabetes and Digestive and Kidney Diseases) के अनुसार गर्भावस्था में हाय ब्लड शुगर लेवल होने से शिशु को हानि हो सकती है। अगर आपको गर्भावस्था से पहले डायबिटीज है, तो आपको डॉक्टर से पहले ही इस बारे में बात करनी चाहिए। ताकि, वो डायबिटीज को मैनेज करने के लिए प्लान बना सकें।

और पढ़ें : गर्भावस्था में अंडे खाने से पहले जरूर जानें, गर्भावस्था में अंडा खाना सही या गलत ?

जेस्टेशनल डायबिटीज दो तरह की होती है। क्लास A1 से पीड़ित महिलाएं इस समस्या को सही डायट और व्यायाम से मैनेज कर सकती हैं। जबकि जो महिलाएं क्लास A2 से पीड़ित होती हैं उन्हें इंसुलिन और अन्य दवाईयों की जरूरत होती है। शिशु के जन्म के बाद यह समस्या खुद ही ठीक हो जाती है। लेकिन, इससे शिशु की हेल्थ प्रभावित हो सकती है और इससे उम्र के बढ़ने के साथ महिला में टाइप 2 डायबिटीज होने की संभावना अधिक रहती है। डॉक्टर प्रेग्नेंसी में डायबिटीज रिस्क के लिए सप्लीमेंट्स (Supplements to reduce Diabetes Risk in Pregnancy) की सलाह भी दे सकते हैं। आइए, जानते हैं इनके बारे में विस्तार से।

और पढ़ें : क्या हैं आंवला के फायदे? गर्भावस्था में इसका सेवन करना कितना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी में डायबिटीज रिस्क के लिए सप्लीमेंट्स के बारे में जानें (Supplements to reduce Diabetes Risk in Pregnancy)

डॉक्टर गर्भवती महिलाओं को प्रेग्नेंसी में डायबिटीज रिस्क के लिए सप्लीमेंट्स (Supplements to reduce Diabetes Risk in Pregnancy) लेने के लिए कह सकते हैं। जैसे फोलिक एसिड (Folic Acid), विटामिन डी और कैल्शियम (Vitamin D and Calcium) आदि। आइए, जानते हैं इन सप्लीमेंट्स के बारे में विस्तार से। सबसे पहले जानते हैं फोलिक एसिड के बारे में

प्रेग्नेंसी में फोलिक एसिड सप्लीमेंट्स (Folic Acid Supplements)

प्रेग्नेंसी में डायबिटीज रिस्क के लिए सप्लीमेंट्स (Supplements to reduce Diabetes Risk in Pregnancy) में सबसे पहले फोलिक एसिड का नाम आता है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ (National Institutes of Health) के द्वारा की गयी रिसर्च के अनुसार गर्भावस्था से पहले फोलिक एसिड सप्लीमेंट्स को नियमित रूप से लेने से जेस्टेशनल डायबिटीज के जोखिम को कम किया जा सकता है। फोलिक एसिड (Folic Acid), फोलेट (Folate) या विटामिन B9 (vitamin B9) का सिंथेटिक फॉर्म है। यह आमतौर पर हरी पत्तेदार सब्जियों, मेवे, बीन्स और अन्य खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। लेकिन, इसके साथ ही डॉक्टर गर्भवती महिला को रोजाना फोलिक एसिड सप्लीमेंट्स लेने की सलाह देते हैं, ताकि बच्चे को बर्थ डिफेक्ट्स से बचाया जा सके। इस दौरान एनीमिया की समस्या से बचने के लिए भी इस सप्लीमेंट का प्रयोग किया जाता है।

फोलिक एसिड एक तरह का विटामिन बी का प्रकार है। यह कई ब्रांड नेम्स से बाजार में उपलब्ध है जैसे एफए -8 (FA-8) , फोलासिन -800 (Folacin-800), फालेसा (FaLessa) ,फोलेरा (Folera), विटाफॉल (Vitafol) आदि। जानिए प्रेग्नेंसी में डायबिटीज रिस्क के लिए सप्लीमेंट्स (Supplements to reduce Diabetes Risk in Pregnancy) में फोलिक एसिड सप्लीमेंट कौन से हैं?

और पढ़ें : डायबिटीज है! इन्सुलिन प्लांट स्टीविया का कर सकते हैं सेवन, लेकिन डॉक्टर के इजाजत के बाद!

फोलिक एसिड एंड आयरन कैप्सूल्स (Folic Acid and Iron Capsules )

फोलिक एसिड एंड आयरन कैप्सूल्स गर्भवती महिलाओं के लिए बेहद जरूरी है। इनके सेवन से न केवल प्रेग्नेंसी में डायबिटीज के रिस्क से बचा जा सकता है। बल्कि गर्भावस्था में अन्य समस्याओं जैसे बर्थ डिफेक्ट्स से भी बचा जा सकता है। इस कैप्सूल का मुख्य इंग्रेडिएंट्स है फोलिक एसिड और आयरन। लेकिन, इनका सेवन डॉक्टर की इंस्ट्रक्शंस के अनुसार ही करना चाहिए। इन्हें कितनी मात्रा में और कब लेना है इसके बारे में भी डॉक्टर से जानना अनिवार्य है। इन 90 वेजीटेरियन कैप्सूल्स की कीमत ऑनलाइन लगभग 640 रुपये है।

GNC फोलिक एसिड (GNC Folic Acid)

जो महिलाएं गर्भवती हैं उन्हें हेल्दी आहार के साथ ही इन टेबलेट्स को लेने की सलाह दी जाती है। हालांकि, गर्भावस्था से पहले भी इन्हे लिया जा सकता है। क्योंकि इससे न केवल गर्भावस्था में होने वाली डायबिटीज की समस्या से बचा जा सकता है बल्कि और भी कई बीमारियों से यह सप्लीमेंट्स बचा सकते हैं। जैसे इन्हें लेने से फीटस का सही से विकास होता है, सही रेड ब्लड सेल फार्मेशन के लिए यह जरूरी है और इन्हें लेने से शिशु को ब्रेन या स्पाइनल कॉर्ड डिफेक्ट्स (Spinal Cord Defects) से बचाया जा सकता है। लेकिन, इन्हें डॉक्टर की सलाह के बाद ही लेना चाहिए क्योंकि इनके कई दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं। यह 100 वेजीटेरियन टेबलेट्स ऑनलाइन लगभग 1200 रुपये की हैं।

और पढ़ें : टाइप वन डायबिटीज में हनीमून पीरियड : ऐसा समय, जो डायबिटीज में देता है आपको राहत!

हेल्थकार्ट आयरन + फोलिक एसिड (HealthKart Iron + Folic Acid)

यह मल्टीविटामिन सप्लीमेंट्स शरीर को एक्टिव और हेल्दी बनाए रखने के लिए जरूरी हैं। क्योंकि, यह आपको सभी न्यूट्रिएंट्स प्रदान करेंगे। गर्भावस्था में फोलिक एसिड सप्लीमेंट्स लेने से आप इस दौरान डायबिटीज के जोखिम से बच सकती हैं। इसलिए, डॉक्टर की राय के बाद इन्हें गर्भावस्था से पहले ही लेना शुरू कर दें। इसके साथ ही यह गर्भ में शिशु के विकास के लिए भी बेहद जरूरी मानी जाती है। गर्भावस्था में होने वाली एनीमिया की समस्या से भी इन्हें लेने से बचा जा सकता है। यह 60 कैप्सूल्स ऑनलाइन लगभग 600 रुपये के हैं। लेकिन, इनको लेने से आप किन्हीं दुष्प्रभावों का अनुभव भी कर सकते हैं इसलिए इन्हे लेने से पहले डॉक्टर की राय लेना जरूरी हैं। जानिए क्या हो सकते हैं फोलिक एसिड के दुष्प्रभाव?

और पढ़ें : टाइप 2 डायबिटीज के लॉन्ग टर्म कॉम्प्लीकेशन में शामिल हो सकती हैं ये समस्याएं!

फोलिक एसिड के साइड इफेक्ट्स

फोलिक एसिड शरीर में नए सेल्स को बनाने और उन्हें मेंटेन करने में मदद करता है। यह DNA में परिवर्तन को रोकने में भी मदद करता है, जो कैंसर का कारण बन सकता है। अगर आपको फोलिक एसिड से एलर्जिक रिएक्शन होने की संभावना है, तो आप इसका सेवन न करें। यही नहीं, प्रेग्नेंसी के दौरान या गर्भावस्था से पहले इसका सेवन डॉक्टर की सलाह के बाद ही करना चाहिए। इसके साथ ही डॉक्टर से इन्हें कितनी मात्रा में लेना यह भी जान लें। क्योंकि इसके कई साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते हैं जैसे एलर्जिक रिएक्शन जैसे हाइव्स, खुजली, त्वचा का लाल होना, सांस लेने में समस्या, चेहरे पर सूजन आदि। इनके अलावा इसके अन्य साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं:

यह तो थी जानकारी प्रेग्नेंसी में डायबिटीज रिस्क के लिए सप्लीमेंट्स (Supplements to reduce Diabetes Risk in Pregnancy) में फोलिक एसिड के बारे में। अब जानते हैं, प्रेग्नेंसी में विटामिन D सप्लीमेंट्स (Vitamin D supplements) के बारे में।

और पढ़ें : डायबिटीज में गिलोय एंटी-डायबेटिक की तरह करता है काम, लेकिन बिना डॉक्टर के एडवाइस के सेवन करने से हो सकते हैं साइड इफेक्ट्स!

प्रेग्नेंसी में विटामिन D सप्लीमेंट्स (Vitamin D Supplements)

विटामिन D, कैल्शियम और फॉस्फेट एक्विलिब्रियम की रेगुलेशन के माध्यम से बोन मेटाबॉल्ज़िम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। विटामिन D को सूर्य की रोशनी के अलावा ऑयली फिश, अंडे और फोर्टीफायड फ़ूड प्रोडक्ट्स में भरपूर मात्रा से पाया जा सकता है। गर्भावस्था में भी गर्भवती महिलाओं को इसे लेने के लिए कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि इसे गर्भावस्था में लेने से आपको जेस्टेशनल डायबिटीज (Gestational Diabetes), प्रीटर्म बर्थ और अन्य टिश्यू से जुड़ी समस्याओं से राहत मिल सकती है।

यही नहीं, गर्भावस्था में इन्हें लेने से मेटरनल विटामिन D स्टेटस को सुधारा जा सकता है और प्रीक्लेम्पसिया (Preeclampsia) व लो बर्थ वेट (Low Birth Weight) के जोखिम को कम किया जा सकता है। प्रेग्नेंसी में डायबिटीज रिस्क के लिए सप्लीमेंट्स (Supplements to reduce Diabetes Risk in Pregnancy) में विटामिन D के उदाहरण इस प्रकार हैं:

और पढ़ें : गर्भावस्था में अमरूद खाना सही है या नहीं, इसके फायदे और नुकसान को जानें

कार्बामाइड फोर्टे अल्फाल्फा + कैल्शियम सिट्रेट मेलेट (Carbamide Forte Alfalfa + Calcium Citrate Malate)

यह सप्लीमेंट्स कैल्शियम सिट्रेट मेलेट प्रदान करता है, जो वाटर सॉल्युबल कैल्शियम है। इसके साथ ही इसमें सुपरफूड अल्फाल्फा है, जिसमें नेचुरल कैल्शियम होता है और इसे हमारा शरीर आसानी से एब्सॉर्ब कर लेता है। यह अन्य कैल्शियम टेबलेट की तुलना में विटामिन D का भी अच्छा स्त्रोत है। जिससे कैल्शियम एब्सॉर्प्शन में मदद मिलती है। सूजन से राहत दिलाने, शरीर के बोन और जॉइंट पेन को कम करने आदि के लिए इनका सेवन किया जा सकता है। किसी भी स्थिति में इनका सेवन डॉक्टर की सलाह के बिना न करें। क्योंकि इनसे कुछ साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते हैं। ऑनलाइन यह 60 टेबलेट्स आपको लगभग 425 रुपये में मिल जाएंगी।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी से पहले फॉलो करें कुछ टिप्स और गर्भावस्था की परेशानियों से पाएं छुटकारा

हेल्थकार्ट HK बेसिक्स विटामिन D3 सॉफ्टजेल कैप्सूल (HealthKart HK Basics Vitamin D3 Softgel Capsule)

प्रेग्नेंसी में डायबिटीज रिस्क के लिए सप्लीमेंट्स (Supplements to reduce Diabetes Risk in Pregnancy) में यह विटामिन D3 कैप्सूल बेहद लाभदायक है। यह हड्डियों को मजबूत और हेल्दी बनाने में हेल्पफुल हो सकते हैं। इसके साथ ही यह कैल्शियम एब्सॉर्प्शन में भी इन्हें लाभदायक माना गया है। जिससे गर्भ में शिशु के विकास में मदद मिलती है ऐसा माना जाता है कि प्रेग्नेंसी में डायबिटीज के जोखिम से बचने के लिए विटामिन D सप्लीमेंट्स का प्रयोग किया जा सकता है। लेकिन, इन्हें लेने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। 60 सॉफ्ट जेलाटीन कैप्सूल्स को आप 600 रुपये में ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

क्या आप जानते हैं कि डायबिटीज को रिवर्स कैसे कर सकते हैं? तो खेलिए यह क्विज!

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id="typef_orm", b="https://embed.typeform.com/"; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,"script"); js.id=id; js.src=b+"embed.js"; q=gt.call(d,"script")[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()

और पढ़ें : सावधान! गर्भावस्था में है थैलेसिमिया, तो लापरवाही आपको पड़ सकती है भारी!

यह तो थी प्रेग्नेंसी में डायबिटीज रिस्क के लिए सप्लीमेंट्स (Supplements to reduce Diabetes Risk in Pregnancy) के बारे में पूरी जानकारी। प्रेग्नेंसी में विटामिन D सप्लीमेंट्स को लेना बेहद लाभदायक माना जाता है। इसे लेने से गर्भावस्था में कई समस्याओं से बचा जा सकता है जिनमें से एक है डायबिटीज। लेकिन, यह सप्लीमेंट्स को आहार का विकल्प नहीं माना जा सकता है। इसलिए, इन सप्लीमेंट्स के साथ ही अपने आहार का पूरा ख्याल रखें। डायबिटीज की समस्या को मैनेज करने के लिए हेल्दी हैबिट्स अपनाना भी बेहद जरूरी है। इसके साथ ही इन सप्लीमेंट्स को तभी लें, जब इनकी सलाह आपके डॉक्टर ने दी हो। बिना डॉक्टर की सलाह के इन्हें लेना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Daily folic acid supplement may reduce risk of gestational diabetes.https://www.nih.gov/news-events/news-releases/daily-folic-acid-supplement-may-reduce-risk-gestational-diabetes .Accessed on 18/7/21

Medicine Brands for Generic ‘Folic Acid’. https://www.medicineindia.org/brands-for-generic/2266/folic-acid  .Accessed on 18/7/21

Can a Dietary Supplement Prevent Gestational Diabetes Mellitus?. https://care.diabetesjournals.org/content/36/4/777 .Accessed on 18/7/21

dietary supplement during pregnancy. https://www.cochrane.org/CD011507/PREG_taking-myo-inositol-dietary-supplement-during-pregnancy-prevent-development-gestational-diabetes .Accessed on 18/7/21

What can help prevent gestational diabetes?. https://www.informedhealth.org/what-can-help-prevent-gestational-diabetes.html

.Accessed on 18/7/21

लेखक की तस्वीर badge
Toshini Rathod द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 20/07/2021 को
और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड