home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Keto Diet: क्या है कीटो डायट प्लान और इसे कैसे करें फॉलो?

Keto Diet: क्या है कीटो डायट प्लान और इसे कैसे करें फॉलो?

कीटो या केटोजेनिक डायट का नाम तो आपने सुना ही होगा। आजकल यह कीटो डायट प्लान खूब चलन में है। बॉलीवुड स्टार्स से लेकर कई खिलाड़ियों तक ने कीटो डायट प्लान को अपनाया है, लेकिन, ऐसा क्या खास है इस डायट में, जो यह इतनी सुर्खियों में छाया हुआ है? आइए जानने की कोशिश करते हैं।

कीटो डायट प्लान (Keto Diet) एक कम कार्ब्स और ज्यादा फैट वाली डायट है। दरअसल, केटोसिस एक नैचुरल प्रक्रिया है। जब भी हम कोई आहार ग्रहण करते हैं, तो हमारा शरीर उसे ग्लूकोज और इंसुलिन में बदलकर उससे एनर्जी लेता है लेकिन, इस प्रॉसेस में बचा हुआ ग्लूकोज फैट में बदल जाता है। इससे मोटापा बढ़ने की संभावना होती है। कीटो डायट में यह प्रॉसेस अलग ढंग से होती है। कीटो डायट में कार्बोहाइड्रेट का सेवन कम करके फैट से एनर्जी का उत्पादन किया जाता है। इसी प्रॉसेस को कीटोसिस कहा जाता है। कीटो डायट प्लान में उच्च मात्रा में फैट, मध्यम प्रोटीन और काफी कम मात्रा में कार्ब्स होते हैं।

कीटो डायट (Keto Diet) कितने प्रकार की होती है?

कीटो डायट प्लान के कई प्रकार हैं, इनमें से चार मुख्य प्रकार यह हैं।

1. स्टैंडर्ड केटोजेनिक डायट (एसकेडी) :

इस डायट में कम कार्ब्स, मीडियम प्रोटीन और हाई फैट रेश्यो होता है। एक स्टैंडर्ड के मुताबिक, यह रेश्यो 75 प्रतिशत फैट, 20 प्रतिशत प्रोटीन और केवल 5 प्रतिशत कार्ब्स होना चाहिए।

और पढ़ें : वजन घटाने के लिए फॉलो कर सकते हैं डिटॉक्स डायट प्लान

2. साइक्लिक केटोजेनिक डायट (CKD) :

इस डायट में आपको पांच दिन केटोजेनिक डायट लेने के बाद दो दिन हाई कार्ब्स डायट लेना होता है।

3. टार्गेटेड केटोजेनिक डायट (TKD) :

इस तरह की डायट में आप वर्कआउट के समय कार्ब्स का सेवन कर सकते हैं।

और पढ़ें : वजन घटाने के लिए डाइट प्लान

4. हाई प्रोटीन केटोजेनिक डायट :

यह लगभग स्टैंडर्ड केटोजेनिक डायट की तरह ही होता है। बस इस डायट में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती है। यह रेश्यो कुछ इस प्रकार होता है – 60% फैट, 35% प्रोटीन और 5% कार्ब्स।

कीटो डायट प्लान (Keto Diet) के फायदे:

कीटो डायट (Keto Diet) के वजन घटने से लेकर शरीर में एनर्जी लेवल बढ़ाने तक कई अनगिनत फायदे हैं। वैसे कहते हैं कि किसी भी कम कार्ब्स वाली डायट के वैसे ही अपने आप में बहुत से फायदे होते है। जानने की कोशिश करते हैं कीटो डायट के ऐसे ही कुछ फायदों को।

1. कीटो डायट प्लान से जल्दी होता है वेट लॉस:

जैसा के हमने जाना कि कीटो डायट ऊर्जा स्रोत के रूप में आपके शरीर में फैट का उपयोग करता है। इसके अलावा, कार्ब्स की कमी के कारण शरीर में इंसुलिन की मात्रा भी काफी काम हो जाती है, जिसे पूरा करने के लिए भी आपका शरीर बॉडी फैट का इस्तेमाल करता है। इसलिए, स्पष्ट रूप से यह वेट लॉस डायट के लिए आपका एक बेहतर विकल्प हो सकता है।

और पढ़ें : ऐल्कलाइन डाइट (Alkaline diet) क्या है? फॉलो करने से पहले जान लें इसके फायदे और नुकसान

2. कीटो डायट प्लान से कंट्रोल होती है डायबिटीज:

जिस तरह का आहार आप कीटो डायट प्लान में लेते हैं, उससे नेचुरल तरीके से शुगर लेवल संतुलित रहता है। कई अध्ययन बताते हैं कि कीटो डायट डायबिटीज कंट्रोल करने में और उससे बचाव करने में लो कैलोरी डायट से ज्यादा प्रभावी है। डाइबिटीज के मरीजों के लिए, यह एक बेहतर आहार विकल्प हो सकता है।

3. कीटो डायट प्लान से मिलती है हाई एनर्जी:

कीटो डायट प्लान आपके शरीर को अधिक मात्रा में ऊर्जा प्रदान कर दिनभर आपको एक्टिव बनाए रखता है। कीटो डायट एक बेहतर डायट विकल्प है, लेकिन, हर किसी के लिए नहीं। यह उन लोगों के लिए बेहतर हो सकता है जो वजन घटाना चाहते हैं या फिर जो डायबिटीज के मरीज हैं। इसके उलट जो लोग वजन बढ़ाना चाहते हैं या जो बॉडी बिल्डिंग करना चाहते हैं उन्हें इससे दूर रहना चाहिए। अपने आहार में किसी भी तरह के बदलाव से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

4. कीटो डायट प्लान मिर्गी के इलाज में मददगार

पिछले कुछ सालों से मिर्गी के इलाज में कीटो डायट का सफलतापूर्वक इस्तेमाल किया जा रहा है। आजकल इससे पीड़ित बच्चे या व्यक्ति में मिर्गी को दूर करने के लिए उपचार के रूप में कीटो डायट प्लान की सलाह दी जाने लगी है। इसका सबसे बड़ा लाभ है कि इसमें खर्च बहुत कम होता है और यह मिर्गी को नियंत्रित करने में असरदार भी है।

5. कीटो डायट कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित करने में भी मददगार

आज की लाइफस्टाइल में शायद ही कोई ऐसा हो, जिसे कोलेस्ट्रॉल की शिकायत न हो, लेकिन अब इससे परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि कीटो डायट प्लान से इसका उपचार आसान हो गया है। दरअसल कीटो डायट, ट्राइग्लिसराइड और अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाने में मदद करती है। इसमें कर्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होती है और फैट ज्यादा होता है, जिससे कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो जाता है।

6. कीटो डायट प्लान भूख को करता है कंट्रोल

भूख लगना डायटिंग का सबसे बुरा साइड-इफेक्ट होता है। यह सबसे बड़ा कारण है जिसकी वजह से लोग परेशान हो जाते हैं और गिव अप कर देते हैं। हालांकि लो कार्ब ईटिंग अपने आप ही भूख कम कर देती है। रिसर्च के अनुसार जब लोग अपने भोजन से कार्ब को कम कर देते हैं और प्रोटीन और फैट का ज्यादा सेवन करते हैं वे कम कैलोरी लेते हैं।

7. कीटो डायट प्लान ब्लड प्रेशर को कम कर सकता है

बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन कई बीमारियों का जोखिम बढ़ा देता है। जिसमें हार्ट डिजीज, स्ट्रोक और किडनी फेल होना शामिल है। लो कार्ब डायट ब्लड प्रेशर को कम करने का असरदार कारक है। जिससे आप एक अच्छी और हेल्दी लाइफ जी सकते हैं।

8. मेटाबॉलिक सिंड्रोम में भी प्रभावी कीटो डायट प्लान

मेटाबॉलिक सिंड्रोम एक ऐसी कंडिशन है जो कि डायबिटीज और हार्ट डिजीज के रिस्क से जुड़ी हुई है। मेटाबॉलिक सिंड्रोम में कई लक्षण नजर आते हैं। जिसमें शामिल हैं।

  • एब्डॉमिनल ओबेसिटी
  • बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर
  • बड़ा हुआ फास्टिंग ब्लड शुगल लेवल
  • हाई ट्राइग्लिसराइड्स
  • अच्छे एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के लेवल में कमी

लो कार्ब डायट यानि कि कीटो डायट इन सभी लक्षणों से लड़ने में सक्षम है।

हम उम्मीद करते हैं कि कीटो डायट प्लान को समझने में इस आर्टिकल ने आपकी मदद की होगी। यहां हमने कीटो डायट प्लान फॉलो करने के फायदे भी बताए हैं। यानी इस डायट प्लान से वजन कम करने के साथ ही दूसरे कई फायदे मिलेंगे। इस डायट को फाॅलो करने से पहले डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करें क्योंकि हर किसी की बॉडी अलग ढंग से रिस्पॉन्ड करती है। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान और उपचार प्रदान नहीं करता।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

A Keto Diet Meal Plan and Menu That Can Transform Your Body/https://www.healthline.com/nutrition/keto-diet-meal-plan-and-menu

(Accessed on 4th February 2020)

10 Health Benefits of Low-Carb and Ketogenic Diets/https://www.healthline.com/nutrition/10-benefits-of-low-carb-ketogenic-diets#section8

(Accessed on 4th February 2020)

Keto Diet: A Complete List of What to Eat and Avoid, Plus a 7-Day Sample Menu/https://www.everydayhealth.com/diet-nutrition/ketogenic-diet/comprehensive-ketogenic-diet-food-list-follow/

(Accessed on 4th February 2020)

What’s a Ketogenic Diet? /https://www.webmd.com/diet/ss/slideshow-ketogenic-diet

(Accessed on 4th February 2020)

Add these foods to your keto diet plan and stay healthy!/https://timesofindia.indiatimes.com/life-style/food-news/add-these-foods-to-your-keto-diet-plan-and-stay-healthy/articleshow/72094427.cms

(Accessed on 4th February 2020)

 

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Aamir Khan द्वारा लिखित
अपडेटेड 09/07/2019
x