home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

चीनी खाने से रुक सकती है हिचकी, जानें ऐसे ही हिचकी रोकने पर के उपाय

चीनी खाने से रुक सकती है हिचकी, जानें ऐसे ही हिचकी रोकने पर के उपाय

हिचकी (Hiccups) आना एक आम बात है और हमारे यहां हिचकी आते ही पहली बात जो कही जाती है कि कोई आपको याद कर रहा है और अगर हिचकी न रुके तो कोई ऐसी बात बोल दो कि ध्यान बंट जाए ताकि हिचकी रुक जाएं। खैर कही- सुनी बातें अपनी जगह हैं। लेकिन, हिचकी आने का क्या कारण है और हिचकी रोकने के उपाय क्या हैं, इस आर्टिकल में हम विस्तार से जानेंगे। आइए सबसे पहले जानते हैं कि हिचकी (Hiccups) क्यों आती है।

और पढ़ें : Lymph node biopsy: लिम्फ नोड बायोप्सी क्या है?

हिचकी आने का क्या कारण हैं? (Cause of Hiccups)

हिचकी आने के कई कारण हो सकते हैं। हिचकी आने का कारण जल्दी -जल्दी में खाना ,घबराहट होना ,अचानक से तापमान का बदलना या फिर कुछ चूसते समय लार के साथ हवा निगल लेना लेकिन, हिचकी से जुड़ा वैज्ञानिक तथ्य यह है कि डायफ्राम के सिकुड़ने की वजह से हिचकी आती है। इसलिए ऐसा सुझाव देते हैं कि जब भी हिचकी आए कुछ देर सांस रोक लें ताकि फेफड़ों में कार्बन डाइऑक्साइड भर जाए और जब डायफ्राम उसे बाहर निकाले तो एक्टिव हो जाए जिससे हिचकी बंद हो जाएगी। कभी-कभी सांस रोकने पर भी हिचकी नहीं रुकती ऐसे में कई घरेलू उपाए हैं जिन्हें अपनाकर आप हिचकी रोक सकते हैं।

हिचकी रोकने के घरेलू नुस्खे क्या हैं? (Home remedies for Hiccups)

कई लोग हिचकी रोकने के लिए घरेलू उपाय खोजते हैं। अगर आप भी हिचकी रोकने के घरेलू उपाय की खोज कर रहे हैं, तो इसके जवाब आपको नीचे मिलेंगे। नीचे जानिए कि हिचकी आने पर आप कौन-कौन से घरेलू उपाय अपना सकते हैं। जानिए इस बारे में विस्तार से :

हिचकी रोकने के उपाय – पानी (Water) पिएं

जैसे ही हिचकी आना शुरू होती है सबसे पहले हम पानी ढूंढते हैं और आस-पास के लोग भी पहले पानी पीने की ही सलाह देते हैं। ऐसा माना जाता है कि एक साथ ज्यादा पानी पी लेने से हिचकी रुक जाती है। ऐसा कई बार होता भी है।

हिचकी रोकने के उपाय – चीनी (Sugar)

हिचकी आने पर आप चीनी खाकर भी उसे रोक सकते हैं जैसे ही हिचकी आए एक चम्मच चीनी खा लें इससे हिचकी रुक जाती है और आप चाहें तो नमक चीनी का घोल बनाकर भी ले सकते हैं इससे भी फायदा होता है।

और पढ़ें : Microalbumin Test: माइक्रोएल्ब्युमिन टेस्ट क्या है?

हिचकी रोकने के उपाय – शहद (Honey) और नींबू (Lemon)

शहद और नींबू का एक साथ सेवन करना कई समस्याओं में फायदेमंद हो सकता है। ऐसे ही हिचकी आने में भी शहद और नींबू का इस्तेमाल कर सकते हैं। हिचकी को रोकने के लिए नींबू और शहद भी बहुत अच्छा विकल्प है। इसके लिए एक चम्मच नींबू का रस लेकर उसमें थोड़ा शहद मिलाकर इसका सेवन करें इससे भी हिचकी रुकेगी।

हिचकी रोकने के उपाय – काली मिर्च (Black pepper)

हिचकी आने पर काली मिर्च से भी उसे रोक सकते हैं। जैसे ही हिचकी आए कालीमिर्च मुंह में रख लें और फिर उसे चूसें। ऐसा करने से हिचकी रुकेगी अगर आपको तीखा लगने लगे तो पानी पी लीजिए। आप चाहें तो काली मिर्च पाउडर में शहद मिलाकर भी खा सकते हैं।

हिचकी रोकने के उपाय – खाना हमेशा आराम से खाएं

कुछ लोग बहुत जल्दी में खाना खाते हैं जिससे वो खाना ठीक से चबाते नहीं हैं। इस तरह जल्दी -जल्दी खाने से हिचकी (Hiccups) आना शुरू हो जाती है। कभी-कभी तो कुछ तीखा खाने से भी ऐसा होता है इसलिए खाना हमेशा आराम से चबा -चबाकर ही खाएं।

हिचकी रोकने के उपाय – चॉकलेट पाउडर (Chocolate powder)

चॉकलेट पाउडर का इस्तेमाल आपने कई तरह की स्वीट डिश बनाने में किया होगा। लेकिन इस बात को कम ही लोग जानते हैं कि चॉकलेट पाउडर हिचकी रोकने का एक बेहतरी उपाय हो सकता है। अगर आपको बार-बार हिचकी आने की समस्या होती है, तो आप हिचकी आने पर एक चम्मच चॉकलेट पाउडर खा लें। ऐसा करने से भी हिचकी में आराम मिल सकता है।

दालचीनी (Cinnamon) से करें हिचकी का इलाज

दालचीनी हर घर की रसोई में आसानी से मिलने वाला मसाला है। यह न सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाती है, बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी काफी फायदेमंद होती है। इसी तरह ये हिचकी रोकने में भी फायदेमंद हो सकती है। अगर आप बार-बार हिचकी आने की समस्या से परेशान हैं, तो दालचीनी का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके लिए आप दालचीनी का एक टुकड़ा मुंह में डालकर कुछ देर तक चूसें। इससे हिचकी में राहत मिल सकती है।

हिचकी रोकने के उपाय – पीनट बटर (Peanut butter)

आपने पीनट बटर (Peanut butter) का इस्तेमाल ब्रेड स्लाइस पर लगाकर किया होगा। ये खाने में जितना स्वादिष्ट होता है, उतना ही सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है। लेकिन आपको शायद ये न पता हो कि पीनट बटर का इस्तेमाल सिर्फ डिश बनाने में ही नहीं किया जाता। आप इसका सेवन हिचकी रोकने के लिए भी कर सकते हैं। अगर आपको हिचकी बार-बार आती है तो जब भी हिचकी आए, एक चम्मच पीनट बटर खा लें। हिचकी आने पर पीनट बटर खाने से भी हिचकी रुक जाती है।

ब्रीदिंग तकनीक से रोकें हिचकी

कभी-कभी हमारे सांस लेने के तरीके और पॉस्चर बदलने से भी हिचकी रुक जाती है। इसलिए निम्न तरीकों को अपना कर आप हिचकी रोक सकते हैं :

  • लंबी सांस लें और सांस को लगभग 10 से 20 मिनट तक रोकें। फिर उसे धीरे-धीरे छोड़ दें। ऐसा तब तक करें, जब तक हिचकी रुक न जाएं।
  • एक पेपर लंच बैग को लें और उसे अपने मुंह और नाक पर लगाएं। धीरे-धीरे सांस लें और छोड़े, जिस कारण पेपर बैग फूलने और पिचकने लगेगा। इस प्रक्रिया को करने के लिए कभी भी प्लास्टिक बैग का इस्तेमाल न करें।
  • आराम से जमीन पर बैठ जाएं और अपने घुटनों को अपने सीने से चिपका लें। फिर उसे अपनी बाहों में कस कर पकड़ लें। इस स्थिति में लगभग दो मिनट तक रुके फिर सामान्य हो जाएं। ऐसा करने से आपको हिचकी से राहत मिलेगी।

और पढ़ें : कोलेस्ट्रॉल में बाजरे का कर सकते हैं सेवन, लेकिन डॉक्टर के इजाजत के बाद!

कब करें डॉक्टर से संपर्क?

कई बार हिचकी पर घरेलू उपाय भी काम नहीं आते। तो ऐसे में आपको इसे अनदेखा नहीं करना चाहिए। अगर आपक 48 घंटे तक हिचकी नहीं रुकती है, तो डॉक्टर के पास जाना चाहिए। कई बार हृदय संबंधी समस्याओं (Heart problem) के चलते भी हिचकी आने की परेशानी हो सकती है। यही नहीं, पेट में सूजन, गैस आदि की समस्या के कारण हिचकी की समस्या हो सकती है। आपको जानकर हैरानी होगी कि लगातार हिचकी की समस्या डिप्रेशन (Depression) का कारण भी बन सकती है। इसलिए अगर ये समस्या लंबे समय से बनी रहती है, तो आपको डॉक्टर से संपर्क करके इसका सही उपचार लेना चाहिए, ताकि ये समस्या ज्यादा न बढ़े।

वैसे तो हिचकी आना कोई बड़ी बात नहीं है। हिचकी आए तो इनमें से कोई भी घरेलू उपाय अपनाकर आप उसे रोक सकते हैं लेकिन, अगर इन उपायों को करने के बाद भी आपको आराम न मिले और लगातार हिचकी बढ़ती जाए तो ये एक गंभीर समस्या है ऐसे में तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

उम्मीद करते हैं आपको इस आर्टिकल में दिए गए हिचकी रोकने के उपाय काम आएंगे। अगर आपको हिचकी से जुड़ी अन्य कोई जानकारी चाहिए, तो हमसे हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Priyanka Srivastava द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/08/2021 को
डॉ. अभिषेक कानडे के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड