home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

अपनाएं ये टिप्स और पाएं मच्छरों से संपूर्ण सुरक्षा

अपनाएं ये टिप्स और पाएं मच्छरों से संपूर्ण सुरक्षा

दुनिया में सबसे अधिक पाए जाने वाले छोटे-छोटे मच्छर बड़ी बीमारियां फैला सकते हैं। डेंगू, चिकनगुनिया, फाइलेरिया जैसी घातक और जानलेवा बीमारियों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने ये मच्छर सबसे ज्यादा जिम्मेदार होते हैं। शायद यही कारण है कि मच्छरों से बचने के लिए बड़ी कंपनियां हजारों कॉइल, क्रीम्स और प्रोडक्ट्स इजात कर रही हैं। यही नहीं सरकार ने भी इससे निपटने के लिए जोर लगाना शुरू कर दिया है।

उपचार के लिए इस्तेमाल की जाने वाली कॉइल और रिपेलेंट्स सांस की बीमारी वाले लोगों के लिए नुकसानदेह है। कुछ लोग क्रीम का सहारा लेते हैं लेकिन स्किन सेंसिटिव के कारण वो भी कई लोगों में कारगर नहीं है। यदि आपको भी कोई समस्या है और आप इन चीजों का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हैं तो मच्छरों से छुटकारा पाना है के लिए आप इन आसान घरेलू नुस्खों का सहारा ले सकते हैं। ये नुस्खे अपनाकर आप चैन की नींद सो पाएंगे।

यह भी पढ़ें: बच्चों में फूड एलर्जी का कारण कहीं उनका पसंदीदा पीनट बटर तो नहीं

मच्छर से बचने के लिए घरेलू उपाय:

  • सोने से पहले अपने शरीर पर नीम का तेल लगाने से आप मच्छरों से बच सकते हैं। नीम में एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं जिसकी वजह से यह सभी तरह के संक्रमणों से आपकी सुरक्षा करेगा। नीम के तेल को लैवेंडर ऑयल के साथ भी मिलाकर उपयोग किया जा सकता है।
  • नींबू के स्लाइसेस काटकर उसमें लॉन्ग को लगाकर अपने बिस्तर के पास रखने से भी मच्छर नहीं आएंगे।
  • आमतौर पर किसी भी तरह के बॉडी मसाज ऑयल को लगाकर आप मच्छरों से बच सकते हैं। ऑयल से मच्छर दूर भागते हैं और शरीर पर बैठ भी नहीं पाते।
  • आप अपने कमरे में नीम के तेल का दीपक भी जला सकते हैं। इससे भी मच्छर कमरे में नहीं फटकेंगे। इसके अलावा पुदीने के पत्तों के रस का छिड़काव करने से मच्छर भागते हैं। आप चाहे तो इसे अपने शरीर पर लगा भी सकते हैं।
  • नीम के तेल में कपूर को मिलाकर एक स्प्रो बॉटल में भरकर रख लें। सोने से पहले रोजाना इस मिश्रण को तेजपत्ते पर स्प्रे करें और फिर इस पत्ते को जला दें। इसका धुआ मच्छर को भगाने में मदद तो करता ही है। साथ ही ये हमारे स्वास्थ्य पर किसी तरह का बुरा असर भी नहीं करता है।
  • एक स्प्रे बॉटल में नारियल तेल, लौंग तेल, पिपरमिंट तेल, निलगिरी तेल और नीम तेल को बराबर मात्रा में मिलाकर भरकर रख लें। रात को सोते समय इसे अपने शरीर पर लगाकर सोएं। इससे भी मच्छरों से छुटकारा पाया जा सकता है।
  • मच्छर को भगाने के लिए यदि आप रिफिल का प्रयोग करते हैं तो रिफिल के खत्म होने पर आप शीशी में नींबू का रस और नीलगिरी का तेल मिलाकर भर सकते हैं।
  • लहसुन का जूस निकालकर उसका स्प्रे कमरे में करने से भी मच्छरों का आना रोका जा सकता है। ये बहुत ही पुराना और असरदार तरीका है।
  • तुलसी के पानी को भी रूम में छिड़ककर मच्छरों को भगाया जा सकता है। मच्छरों से छुटकारा पाने के लिए शरीर पर तुलसी के पत्तों का रस भी लगा सकते हैं। आप अपने घर में भी तुलसी का पौधा जरूर लगाएं। तुलसी के पौधे के पास मच्छर नहीं होते हैं।
  • सोने से पहले सोयाबीन के तेल से अपनी त्वचा पर मसाज करें। इससे मच्छर आपके पास नहीं फटकेंगे। घर में गेंदे का फूल लगाने से भी मच्छर घर से दूर रहते हैं।

यह भी पढ़ें : डेंगू से बचाव के लिए मददगार साबित हो सकते हैं ये फल

मच्छर को काटने से होती हैं ये परेशानियां:

  • डेंगू बुखार– डेंगू से हर साल सैकड़ों लोग अपनी जान गवां देते हैं। कमजोरी, ठंड लगना, जोड़ों में दर्द, मांसपेशियों में दर्द, रैशेज, सिरदर्द इसके लक्षण हैं। इन लक्षणों के नजर आते ही तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए। डब्ल्यूएचओ के अनुसार, डेंगू में ब्लड में इंफेक्शन तेजी से फैलता है। इसके इलाज में सामान्य बुखार की दवा ही दी जाती है। पेशेंट को अधिक से अधिक पानी पीने और जितना हो सके आराम करने के लिए कहा जाता है।
  • मलेरिया- मलेरिया फीमेल एनोफेलीज मच्छर के काटने से होती है। बदन दर्द, बुखार, सिर दर्द, कमजोरी, चक्कर आना इसके लक्षण हैं। इसमें शरीर का तापमान बहुत जल्दी-जल्दी घटता बढ़ता है। मलेरिया का समय पर इलाज न मिलने से यह जानलेवा भी हो सकता है।
  • चिकनगुनियाचिकनगुनिया के मच्छर ज्यादातर दिन के समय में काटते हैं। नींद न आना, कमजोरी, आंखों में दर्द, शरीर पर लाल चकत्ते, जोड़ों में दर्द, सिर दर्द आदि इसे लक्षण हैं। यह बहुत तकलीफदेह होता है। इसका कोई उपचार नहीं है। चिकनगुनिया से बचने के लिए घर के आस-पास सफाई का ध्यान रखें और मच्छरों से बच कर रहें।
  • गैस्ट्रोएन्टराइटिस- गैस्ट्रोएन्टराइटिस में आंत्रशोथ पाचन तंत्र में संक्रमण होता है। इस बीमारी में उल्टी, दस्त और पेट में ऐंठन की शिकायत होती है। इससे बचने के लिए घर का बना साफ खाना खाना चाहिए। इसमें तरल पदार्थों को ज्यादा लेने की सलाह दी जाती है।
  • मेनिनजाइटिस
  • एलर्जी
  • अनिद्रा
  • पीला बुखार

मच्छरों के काटने से ऊपर बताई जानलेवा बीमारियां होती हैं। इसलिए बेहतर होगा कि आप इसे नजरअंदाज न करें। इनसे छुटकारा पाने का इलाज ढूंढें।

मच्छर के काटने पर निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं:

  • सिर दर्द
  • उल्टी की शिकायत
  • बुखार आना
  • थकान महसूस होना
  • रैशेज

यह भी पढ़ें: नवजात शिशु को बुखार होने पर करें ये 6 काम और ऐसा बिलकुल न करें

सफाई रखना भी बेहद जरूरी

  • मच्छरों के आतंक से बचने के लिए बचाव बेहद जरूरी है। इसके लिए सुबह और शाम के समय में अपने घर की खिड़की और दरवाजों को बंद रखें। ये ही वो समय है जब मच्छर आपके घर में प्रवेश करता है। इन दोनों समय में मच्छर बहुत सक्रिय होते हैं।
  • उन जगहों पर न जाएं जहां मच्छर पनपते हों। घर में किसी भी जगह पानी को लंबे समय तक भरकर न रखें। लंबे समय तक एक जगह पर पानी रूके रहने से मच्छर पैदा हो सकते हैं।
  • घर के आसपास कचरा न जमा करें।
  • घर में रखे हुए पुराने सामान की समय-समय पर सफाई करवाएं।
  • घर के आस-पास कहीं भी जलभराव नहीं होने दें। समय-समय पर घर की नालियों के आसपास स्प्रे करवाते रहें।
  • समय-समय पर पैस्ट कंट्रोल भी करवाएं।
  • घर को व्यवस्थित रखें।
  • पुराने सामान को फेंक दें , ये मच्छरों के पैदा होने की जगह बन सकता है।

इन सभी बातों को ध्यान में रखें जिससे आप और आपका परिवार हमेशा स्वस्थ और सुखी रहे। हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। मच्छर से जुड़ी आप और कोई जानकारी जानना चाहते हैं तो आप अपने सवाल को कमेंट कर हमसे पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Suniti Tripathy द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/12/2019 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड