home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

बच्चों में सोरायसिस नहीं है कॉमन, जानें क्या हो सकते हैं कारण

बच्चों में सोरायसिस नहीं है कॉमन, जानें क्या हो सकते हैं कारण

सोरायसिस एक त्वचा से संबंधित समस्या है। सोरायसिस की वजह से नए स्किन सेल जल्दी से बढ़ने लगते हैं और साथ ही एक्सट्रा स्किन सेल इकट्ठा होने लगते हैं। बहुत ही कम बच्चों में सोरायसिस (Psoriasis in children) की समस्या पाई जाती है। ज्यादातर लोगों को 15 से 35 साल की उम्र में सोरायसिस के लक्षण दिखाई देते हैं। हालांकि कुछ 15 साल से कम उम्र के बच्चों में सोरायसिस की परेशानी हो सकती है। इस बीमारी में इकट्ठा होने वाले एक्सट्रा सेल लाल स्केली पैच बनाते हैं। कुछ लोगों को इसकी वजह से कम तो किसी को बहुत ज्यादा खुजली होती है।

और पढ़ें : बच्चों की नींद के पैटर्न को अपने शेड्यूल के हिसाब से बदलें

सोरायसिस (Psoriasis) किसी भी उम्र में हो सकता है। यह आमतौर पर 15 और 30 वर्ष की उम्र के बीच में होता है। हालांकि यह दुर्लभ है लेकिन सोरायसिस बच्चों को भी हो सकता है।

बच्चों में सोरायसिस के कारण (Cause of Psoriasis in children)

सोरायसिस फैलने वाली बीमारी नहीं है इसलिए यह एक से दूसरे को नहीं हो सकता। हालांकि, सोरायसिस का सटीक कारण नही पता चल पाया है। लेकिन, ऐसे कई कारण हैं, जो बच्चों में सोरायसिस की परेशानी बढ़ा सकते हैं।

सोरायसिस ज्यादातर कई मिले जुले कारणों से होता है जैसे कि जेनेटिक कारण, ऑटोइम्यून डिजीज के लिए सेंसिटिविटी, पर्यावरण और इंफेक्शियस ट्रिगर। फैमिली हिस्ट्री भी सोरायसिस का एक बड़ा कारण है। अगर किसी के घरवालों या रिश्तेदार में सोरायसिस की परेशानी है, तो ऐसे में सोरायसिस विकसित होने की आशंका बढ़ जाती है।

परिवार में अगर किसी को ऑटोइम्यून डिसऑर्डर है, जैसे कि थायरॉयड, मल्टीपल स्केलेरोसिस या क्रोहन रोग से बच्चे में सोरायसिस की आशंका बढ़ सकती है, जिसे ऑटोइम्यून डिसऑर्डर भी कहा जाता है। बड़े बच्चों और अडल्ट में मोटापा भी सोरायसिस का बड़ा कारण है। बच्चों में इन कारणों से सोरायसिस नहीं होता।

तनाव, दवाओं का इस्तेमाल, ठंड का मौसम और स्किन ट्रॉमा भी इसके दूसरे कारण हैं, जो कि बड़े बच्चों और वयस्कों में अधिक होता हैं। लेकिन बच्चों में सोरायसिस इन कारणों से नहीं होता।

शिशुओं और बच्चों में सोरायसिस (Psoriasis in children) की शुरुआत अक्सर एक इंफेक्शन से होती है। बच्चों में जुकाम एक सामान्य ट्रिगर हो सकता है। बड़े बच्चों में सोरायसिस के लिए स्ट्रेप थ्रोट इन्फेक्शन (Throat infection) एक बड़ा ट्रिगर हो सकता है।

और पढ़ें : सर्दियों में बच्चों की स्कीन केयर है जरूरी, शुष्क मौसम छीन लेता है त्वचा की नमी

बच्चों में सोरायसिस का डायग्नोज (Diagnosis of Psoriasis in children)

बच्चों में सोरायसिस (Psoriasis in children) की परेशानी बहुत असामान्य है। इसलिए इसे डायग्नोस करना बहुत मुश्किल है। इसको डायग्नोस करने में इसलिए भी परेशानी आती है क्योंकि यह शिशु की त्वचा (Baides skin) की दूसरी परेशानियों जैसा दिखाई देता है। फैमिली हिस्ट्री और डॉक्टर द्वारा चेकअप के बाद ही इसको डायग्नोस किया जा सकता है।

अगर आपके बच्चे को कोई दाना होता है, जो घर पर मौजूद क्रीम और उपचार के बावजूद ठीक नहीं होता, तो आपको मदद के लिए अपने बच्चे के डॉक्टर को दिखाना चाहिए। आपका डॉक्टर बच्चें में हुए रैश या दाने का कारण बता सकता है।

बच्चों में सोरायसिस का पता लगाने के लिए बच्चे में हुए रैश और दानों को कुछ समय के लिए देखना और जांचना पड़ता है। किसी डर्मेटोलॉजिस्ट से इसके लिए मदद लें।

स्किन डिसऑर्डर (Skin disorder) की लिस्ट में शामिल सोरायसिस (Psoriasis) के बारे में नीचें दिए इस 3 D मॉडल पर क्लिक कर समझें।

बच्चों में सोरायसिस के लक्षण (Symptoms of Psoriasis in children)

सोरायसिस एक नॉन-कंटेजियस ऑटोइम्यून बीमारी (Autoimmune disease) है, जो स्किन को प्रभावित करती है। सोरायसिस की वजह से शरीर के अलग-अलग हिस्सों पर लाल-सफेद धब्बे दिखाई देते हैं। ये पैच खुजली (Itching) और दर्दनाक (Pain) हो सकते हैं और यहां तक कि इनमें दरार और खून भी आ सकता है।

बच्चों में सोरायसिस के लिए सबसे आम स्थान चेहरे, गर्दन, कोहनी, घुटने, डायपर एरिया और स्कल हैं। शिशुओं में सोरायसिस बड़े होने पर ठीक हो सकता है और कई बार ये दोबारा कभी नहीं होता। लेकिन अगर अडल्ट में यह परेशानी है, तो यह बार-बार वापस आ सकती है।

और पढ़ें : बच्चों के काटने की आदत से हैं परेशान, ऐसे में डांटें या समझाएं?

बच्चों में सोरायसिस कितनी तरह के होते हैं (Types of Psoriasis in children)

सोरायसिस के कई रूप हैं, जिनमें से कुछ बच्चों में विकसित हो सकते हैं।

नैपकिन सोरायसिस (Napkin Psoriasis)

यह केवल शिशुओं में होने वाला सोरायसिस है। डायपर एरिया में त्वचा पर घाव दिखाई देते हैं। डायपर एरिया में होने की वजह से इसको डायग्नोज करना मुश्किल होता है क्योंकि इसी एरिया में बच्चों को डायपर रैश भी होते हैं।

प्लाक सोरायसिस (Plaque Psoriasis)

यह हर उम्र में होने वाला सोरायसिस है। यह सोरायसिस उभरी हुई पपड़ीदार, लाल-सफेद या सिल्वर पैच जैसा दिखता है। यह ज्यादातर पीठ के निचले हिस्से, स्कल, कोहनी और घुटनों पर होता है।

बच्चों में यह सोरायसिस (Psoriasis in children) छोटे पैच में होता है और सॉफ्ट होता है।

और पढ़ें : बच्चों में एक्जिमा के शुरुआती लक्षण है लाल धब्बे और ड्राइनेस

गटेट सोरायसिस (Guttate Psoriasis)

अडल्ट के मुकाबले गटेट सोरायसिस बच्चों और शिशुओं में आम है। हालांकि गटेट सोरायसिस दूसरा सबसे कॉमन सोरायसिस है। स्ट्रेप इन्फेक्शन या जुकाम होने पर इस सोरायसिस के होने की आशंका सबसे अधिक होती है। यह पूरे शरीर में छोटे डॉट जैसे पैच के रूप में दिखाई देता है।

स्कैल्प सोरायसिस (Scalp Psoriasis)

स्कैल्प सोरायसिस में प्लाक ज्यादातर बच्चे के स्कल पर दिखाई देता है, जिससे सिर के ऊपर लाल पैच के साथ सफेद दाने दिखाई देते हैं। बच्चों के सिर पर होने वाले सोरयसिस को आसानी से समझा जा सकता है।

और पढ़ें : बच्चों के इशारे कैसे समझें, होती है उनकी अपनी अलग भाषा

एरिथ्रोडर्मिक सोरायसिस (Erythrodermic Psoriasis)

यह बहुत ही असामान्य सोरायसिस है और ज्यादा खतरनाक भी। इसकी वजह से पूरे शरीर में लाल चकत्ते होते है। इसकी वजह से स्किन में खुजली और दर्द होता है। इसमें कई बार खुजली के साथ स्किन निकलने की समस्या भी आती है।

ये है बच्चों में होने वाली सोरायसिस की समस्या के अलग-अलग प्रकार। अगर आपको बच्चे में सोरायसिस (Psoriasis in children) के लक्षण नजर आ रहें हैं, तो ऐसे में देर ना करें और जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें।

बच्चों के सोरायसिस के लिए क्या करें (Tips to cure Psoriasis in children)

बच्चों में सोरायसिस के लक्षण कम दिखते हैं, तो इसका सबसे अच्छा उपचार साइड इफेक्ट्स के रिस्क को कम करना है।

शिशुओं के लिए उपचार:

  • सोरायसिस (Psoriasis) एरिया को साफ और सूखा रखें
  • लाईट थेरिपी (Light therapy)
  • लोशन और क्रीम जैसे ट्रॉपिकल कॉर्टिकोस्टेरॉइड और विटामिन डी (Vitamin D) का इस्तेमाल
  • प्राकृतिक धूप दिखाना
  • सोरायसिस रोगियों (Psoriasis patients) के लिए बनाए गए मॉइस्चराइजर

सोरायसिस एक क्रोनिक त्वचा की परेशानी है, जो बच्चों और अडल्ट को प्रभावित कर सकती है। शिशुओं में सोरायसिस बहुत असामान्य है। लेकिन अगर आपको ऊपर बताएं कोई भी लक्षण दिखें, तो तुरंत स्किन के डॉक्टर से संपर्क करें।

अगर आप बच्चों के सोरायसिस (Psoriasis in children) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं। हमारे हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे। हालांकि अगर आपका बच्चा सोरायसिस (Psoriasis) की समस्या से पीड़ित हैं, तो डॉक्टर से कंसल्टेशन करें, क्योंकि ऐसी स्थिति में डॉक्टर बच्चे की हेल्थ कंडिशन को ध्यान में रखकर सोरायसिस ट्रीटमेंट जल्द से जल्द करेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Psoriasis/https://kidshealth.org/en/parents/psoriasis.html/Accessed on 23/06/2021

Paediatric psoriasis/https://dermnetnz.org/topics/paediatric-psoriasis/Accessed on 23/06/2021

CAN A CHILD HAVE PSORIASIS?/https://www.aad.org/public/diseases/psoriasis/treatment/could-have/child-have/Accessed on 23/06/2021

Psoriasis/https://www.rileychildrens.org/health-info/psoriasis/Accessed on 23/06/2021

Psoriasis/https://www.nationwidechildrens.org/conditions/psoriasis/Accessed on 23/06/2021

लेखक की तस्वीर badge
Lucky Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड