home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Imovax vaccine: पोलियो से बचाव में प्रभावी आयमोवैक्स वैक्सीन के बारे में पाएं पूरी जानकारी!

Imovax vaccine: पोलियो से बचाव में प्रभावी आयमोवैक्स वैक्सीन के बारे में पाएं पूरी जानकारी!

हर माता-पिता के लिए उनके बच्चे बेहद खास होते हैं और बच्चों की सेहत हमेशा उनकी प्राथमिकता रहती है। अपने बच्चे की सुरक्षा के लिए पेरेंट्स हर संभव कोशिश करते हैं। बच्चों को हेल्दी और सुरक्षित रखने के लिए वैक्सीनेशन कराना बेहद जरूरी है। दो साल की उम्र तक बच्चों को कई वैक्सीनेशन्स लगाई जाती हैं। ऐसा करना उन्हें प्रोटेक्ट करने के लिए आवश्यक भी है। आज हम आपको जानकारी देने वाले हैं आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) के बारे में। यह तीन वैक्सीन्स का कॉम्बिनेशन है जिसका प्रयोग पोलियो इंफेक्शन के बचाव के लिए किया जाता है। आइए जानें आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) के बारे में विस्तार से। लेकिन, पहले पोलियो के बारे में जान लेते हैं।

पोलियो क्या है? (Polio)

सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Centers for Disease Control and Prevention) के अनुसार पोलियो, पोलियो वायरस (Polio Virus) के कारण होने वाली जानलेवा बीमारी है। यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे तक फैलता है और व्यक्ति की स्पाइनल कॉर्ड को प्रभावित करता है, जिसके कारण पैरालिसिस हो सकता है या मृत्यु का जोखिम भी रहता है। दूसरे शब्दों में कहा जाए तो यह एक संक्रामक वायरल बीमारी है जो मृत्यु का कारण बन सकती है। इस समस्या से बचाव के लिए वैक्सीनेशन की राय दी जाती है।

केवल छोटे बच्चों को ही नहीं बल्कि वो वयस्क भी इस का उपयोग कर सकते हैं, जो ऐसी जगह पर ट्रेवल कर रहे हों, जहां इस बीमारी के होने की संभावना अधिक होती है। लेकिन, इस वैक्सीन को कब लगवाना है और इसकी डोज के बारे में डॉक्टर से जान लें । आइए जानते हैं आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) के बारे में।

और पढ़ें: बच्चों को टीकाकरण के बाद दर्द या सूजन की हो समस्या, तो अपनाएं ये उपाय

आयमोवैक्स वैक्सीन क्या है? (Imovax vaccine)

आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) लेने के लिए तभी कहा जाता है, अगर डॉक्टर ने इसकी सलाह दी हो। जैसा की पहले ही बताया गया है कि यह तीन वैक्सीन्स का कॉम्बिनेशन है, जिसका प्रयोग पोलियो इंफेक्शन से बचाव के लिए प्रयोग किया जाता है। पोलियो इंफेक्शंस से बचाव के लिए यह वैक्सीन इम्यून सिस्टम (Immune System) को स्टिमुलेट करती है। यह इंफेक्शन किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) की डोज और ड्यूरेशन के बारे में भी सही जानकारी होना बेहद जरूरी है। इस वैक्सीन का आमतौर पर कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होता है। बच्चों और नवजात शिशुओं के लिए भी यह सुरक्षित है। लेकिन कुछ लोग इसके कारण कुछ माइल्ड साइड इफेक्ट्स का अनुभव कर सकते हैं। जिनके बारे में पहले ही जान लेना जरूरी है। जानें क्या हैं इस वैक्सीन के लाभ?

और पढ़ें: प्रिजर्वेटिव फ्री फ्लू वैक्सीन लेना सही है क्या? इसके बारे में आपका जानना बहुत जरूरी है….

आयमोवैक्स वैक्सीन के फायदे (Benefits of Imovax vaccine)

जैसा की पहले ही बताया गया है कि यह वैक्सीन केवल तभी लेनी चाहिए, अगर डॉक्टर से इसकी सलाह दी हो। अपनी मर्जी से इसे न लें। आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) में पोलियोवायरस के सभी तीन तरह के इनएक्टिव वायरस (I, II & III) होते हैं। यह वैक्सीन हमारे इम्यून सिस्टम (Immune System) को एंटीबॉडीज को प्रोड्यूस करने में मदद करती है। यह एंटीबॉडीज ब्रेन तक इस वायरस को स्प्रेड होने और पैरालिसिस से बचाव में मदद करते हैं। यानी , इससे हमारे इम्यून सिस्टम (Immune System)को इस वायरस के प्रति लड़ने में मदद मिलती है। जिससे हम इस गंभीर स्थिति से बच सकते हैं। इस वैक्सीन को कब लेना चाहिए, इसकी डोज आदि के बारे में भी पहले ही जानना जरूरी है। इसके अलावा इसके साइड इफेक्ट्स के बारे में भी जान लें। आइए जानें इस वैक्सीन के दुष्प्रभावों के बारे में।

और पढ़ें: बैक्टीरियल जॉइन्ट इन्फ्लेमेशन! जानिए दर्द और इंफेक्शन से जुड़ी इस तकलीफ को

आयमोवैक्स वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स (Side effects of Imovax vaccine)

आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) लेने के बाद अधिक लोगों को इसके कोई भी साइड इफेक्ट्स नजर नहीं आते हैं। हालांकि, कुछ लोग इसके कारण कुछ साइड इफेक्ट्स का अनुभव कर सकते हैं। जानिए क्या है इस वैक्सीनेशन को लेने के बाद होने वाले गंभीर साइड इफेक्ट्स:

  • हाय फीवर (High fever)
  • उल्टी आना (Vomiting)
  • स्किन रैशेज (Skin rashes)
  • जोड़ों में दर्द (Joint pain)
  • बीमारी महसूस होना (General ill feeling)
  • उंगलियों और अंगूठे में टिंगली फीलिंग (Tingly feeling in fingers or toes)
  • कमजोरी (Weakness)
  • बाजू और टांगों में असामान्य फीलिंग (Unusual feeling)
  • बैलेंस और आय मूवमेंट में समस्या (Problems with balance or eye movement)
  • बोलने और कुछ भी निगलने में समस्या (Trouble speaking or swallowing)

ऐसा जरूरी नहीं है कि सभी लोगों को इस वैक्सीन को लेने के बाद इन साइड इफेक्ट्स का अनुभव हो। लेकिन, अगर आपको इन में से कोई भी साइड इफ़ेक्ट नजर आता है, तो तुरंत मेडिकल हेल्प लेना जरूरी है। अब जानिए आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) के सामान्य साइड इफेक्ट्स के बारे में।

पेंटाक्सिम वैक्सीन

और पढ़ें: क्वाड्रोवैक्स वैक्सीन: इन बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करती है ये वैक्सीन!

आयमोवैक्स वैक्सीन के सामान्य साइड इफेक्ट्स

आयमोवैक्स वैक्सीन के सामान्य साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं:

  • इंजेक्शन साइट में दर्द (Injection site pain)
  • इंजेक्शन साइट में सूजन (Injection site swelling)
  • इंजेक्शन साइट में में खुजली (Injection site itching)
  • इंजेक्शन साइट में लालिमा (Injection site redness)
  • सिरदर्द (Headache)
  • चक्कर आना (Dizziness)
  • मसल्स में दर्द (Muscle pain)
  • जी मिचलाना (Nausea)
  • पेट में दर्द (Stomach pain)

यह सामान्य साइड इफेक्ट्स गंभीर नहीं होते और कुछ ही दिनों में खुद ही ठीक हो जाते हैं। इंफेक्शन साइट की समस्याओं से राहत पाने के लिए आप उस जगह को अधिक मूव न करें और उस जगह पर आइस पैक को लगाएं। इससे आपको जल्दी राहत मिलेगी। लेकिन, अगर ऐसा न हो या समस्याएं बदतर हो जाएं तो डॉक्टर से अवश्य बात करें। अब जानते हैं कि आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) को लेने से पहले किन बातों का खास ध्यान रखना चाहिए?

और पढ़ें: बायोवैक वैक्सीन: हेपेटाइटिस ए वायरस के गंभीर लक्षणों से राहत दिला सकती है ये वैक्सीन!

आयमोवैक्स वैक्सीन को लेने से पहले इन बातों का रखें ख्याल?

अन्य दवाईयों, हर्बल उत्पादों और सप्लीमेंट्स की तरह इस वैक्सीन को लेने के बाद भी कुछ लोग कई समस्याओं का अनुभव कर सकते हैं। कभी भी इस वैक्सीन को बिना प्रिस्क्रिप्शन के न लें। आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) को लेने से पहले कुछ बातों का खास ख्याल रखें, जैसे:

  • अगर आपका या आपके बच्चे का इम्यून सिस्टम (Immune System) कमजोर हो, तो इस टीकाकरण से बचें। इम्यून सिस्टम के कमजोर होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे कोई बीमारी। कोई खास दवाई भी इसका कारण बन सकती है।
  • किसी तरह का इंफेक्शन या गंभीर बीमारी होने पर भी इस वैक्सीनेशन को नजरअंदाज करने की सलाह दी जाती है।
  • अगर किसी व्यक्ति को इस वैक्सीन के किसी कॉम्पोनेन्ट से या अन्य किसी तरह की कोई एलर्जी है, तो उसे भी यह वैक्सीन नहीं लेनी चाहिए।
  • इस बारे में जानकारी नहीं है कि यह वैक्सीन नवजात शिशु को नुकसान पहुंचा सकती है या नहीं। हालांकि प्रेग्नेंसी में इस वैक्सीन को सुरक्षित माना जाता है
  • आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) को ब्रेस्टफीडिंग में सुरक्षित माना जाता है। हयूमन स्टडी से यह बात पता चली है कि इस दौरान यह वैक्सीन शिशु को नुकसान नहीं पहुंचाती है। इसके बारे में अधिक जानने के लिए डॉक्टर से अवश्य बात करें।
  • अगर कोई किसी खास दवाई, सप्लीमेंट या हर्बल उत्पाद का सेवन कर रहा है, तो उसके डॉक्टर को इस टीकाकरण से पहले इस बारे में भी पता होना चाहिए। क्योंकि, कुछ दवाईयां, हर्बल उत्पाद या सप्लीमेंट इस वैक्सीन के साथ इंटरैक्ट कर सकते हैं। ऐसा करना आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है।
  • किडनी या लिवर संबंधी समस्याओं में इस वैक्सीन का क्या प्रभाव पड़ता है। इसके बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं है। ऐसे में अपने डॉक्टर से सलाह लें। ऐसा भी माना जाता है कि दिल के रोगियों के लिए इस वैक्सीन को हानिकारक नहीं माना जाता है।

प्रेग्नेंसी में टीकाकरण की क्यों होती है जरूरत ?

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id="typef_orm", b="https://embed.typeform.com/"; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,"script"); js.id=id; js.src=b+"embed.js"; q=gt.call(d,"script")[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()

और पढ़ें: Indirab vaccine: रेबीज के वायरल इंफेक्शन से बचने के लिए जरूर जानिए इस वैक्सीन के बारे में!

यह तो थी आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) के बारे में जानकारी। यह वैक्सीन पोलियो से बचाव में प्रभावी है और इस वैक्सीन का किसी भी उम्र में प्रयोग किया जा सकता है। यही नहीं, आयमोवैक्स वैक्सीन (Imovax vaccine) को पूरी तरह से सुरक्षित माना जाता है और अधिक लोगों को इससे कोई गंभीर साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं। लेकिन इसे लेने के बाद अगर कोई भी समस्या हो, तो तुरंत मेडिकल हेल्प लेनी जरूरी है। याद रखें, कि मेडिसिन्स और वैक्सीन्स हमारे उपचार का केवल हिस्सा हैं।

इसके साथ ही हेल्दी रहने के लिए अपनी लाइफस्टाइल में परिवर्तन करना भी बेहद जरूरी है। जैसे सही आहार का सेवन करें, नियमित व्यायाम करें, तनाव से बचें, सही नींद लें और धूमपान व एल्कोहॉल को नजरअंदाज करें। अगर आपके मन में इस टीके या टीकाकरण के बारे में कोई भी सवाल है तो अपने डॉक्टर से इस बारे में बात करना न भूलें। आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Vaccine IMOVAX.https://www.fda.gov/media/75709/download .Accessed on 31/10/21

Polio Vaccination. https://www.cdc.gov/vaccines/vpd/polio/hcp/index.html .Accessed on 31/10/21

Study of IMOVAX POLIO. https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT02005536 .Accessed on 31/10/21

vaccine imovax. https://www.science.gov/topicpages/r/rabies+vaccine+imovax .Accessed on 31/10/21

IMOVAX POLIO. http://dra.gov.bt/wp-content/uploads/2016/09/IMOVAX-POLIO-Vaccine-SPC.pdf .Accessed on 31/10/21

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 01/11/2021 को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड