home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

इंफ्लूगन वैक्सीन: इंफ्लुएंजा या फ्लू से सुरक्षा प्रदान करती है ये वैक्सीन!

इंफ्लूगन वैक्सीन: इंफ्लुएंजा या फ्लू से सुरक्षा प्रदान करती है ये वैक्सीन!

हमारा शरीर एक मशीन की तरह काम करता है। जिसमें समय पर कोई न कोई समस्या होना स्वभाविक है। शरीर को कई बीमारियों और इंफेक्शंस (Infection) से बचाने के लिए कई तरह की वैक्सीन्स का प्रयोग किया जाता है। जिससे शरीर का इम्यून सिस्टम (Immune System) उन बीमारियों के खिलाफ लड़ने के लिए मजबूत होता है। आज हम एक ऐसी ही वैक्सीन के बारे में आपको जानकारी देने वाले हैं, जिसे इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) कहा जाता है। इसका प्रयोग इंफ्लुएंजा (Influenza) के उपचार के लिए किया जाता है। आइए जानें क्या है इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine)। इस वैक्सीन के फायदों और साइड इफेक्ट्स के बारे में भी जानें।

इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) क्या है?

इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) का प्रयोग इंफ्लुएंजा (Influenza) यानी फ्लू (Flu) से बचाने के लिए किया जाता है। इस वैक्सीन के प्रयोग से शरीर को बीमारी के खिलाफ इम्युनिटी को विकसित करने में मदद मिलती है। हालांकि, इस वैक्सिनेशन से मौजूदा फ्लू वायरस इंफेक्शन का इलाज नहीं होता है। इस वैक्सीन को इंजेक्शन के माध्यम से डॉक्टर द्वारा मसल्स में दिया जाता है। इस वैक्सीन को कोल्ड सीजन में लेना फायदेमंद होता है, जिस मौसम में फ्लू वायरस बढ़ना शुरू होता है। आमतौर पर इससे बचने के लिए साल में एक इस इंजेक्शन की जरूरत होती है। यानी आपको इंफ्लुएंजा (Influenza) से बचने के लिए हर साल इसकी आवश्यक होती है। क्योंकि, हर साल इस फ्लू वायरस का नया स्ट्रेन आता है। जिस के लिए हर साल अलग अलग वैक्सीन को बनाया जाता है।

अगर आप बुजुर्ग हैं या आपको कोई क्रॉनिक हेल्थ प्रॉब्लम है जैसे डायबिटीज (Diabetes), किडनी फेलियर (Kidney Failure), हार्ट फेलियर (Heart Failure) या क्रॉनिक ऑब्स्ट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (Chronic obstructive pulmonary disease) आदि, तो यह वैक्सीन बेहद महत्वपूर्ण है। यह 6 महीने से अधिक उम्र के छोटे बच्चों के लिए भी जरुरी मानी गयी है। इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) के कुछ माइल्ड साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसके सबसे समान्य साइड इफेक्ट्स में सिरदर्द, कमजोरी, आदि शामिल है जो बहुत जल्दी ठीक हो जाते है। फ्लू से संक्रमित होने से पहले ही इस वैक्सीन को लगवाना जरूरी है। इंफ्लुएंजा (Influenza) के हर साल हजारों मामलों सामने आते हैं।

और पढ़ें: बच्चों को DTaP वैक्सीन के लिए दिए जाते हैं ये डोज, जानिए क्यों हैं ये जरूरी?

इंजेक्शन को लेने से पहले आपको अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूरी जानकारी ले लेनी चाहिए। यही नहीं आपको डॉक्टर को उस हर दवाई, सप्लीमेंट या हर्बल प्रोडक्ट के बारे में भी बताना चाहिए जिसे आप ले रहे हैं। इसके साथ ही अगर आपको कोई हेल्थ समस्या है तो उसके बारे में भी डॉक्टर को बताएं। अब जानते हैं कि इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) के फायदे क्या हैं ?

इंफ्लूगन वैक्सीन के फायदे (Benefits of Influgen Vaccine)

इंफ्लुएंजा (Influenza) या फ्लू (Flu) एक वायरल इंफेक्शन (Viral Infection) है, जो हमारे रेस्पिरेटरी सिस्टम (Respiratory system) यानी नाक गले और फेफड़ों पर अटैक करता है। अधिकतर लोगों में यह समस्या खुद ही ठीक हो जाती है। लेकिन, जिन लोगों को यह इस समस्या के होने की संभावना अधिक होती है। जैसे बुजुर्ग, छोटे बच्चे, गर्भवती महिलाएं या जिन लोगों को कोई गंभीर बीमारी हो। उनके लिए भी यह समस्या बेहद जोखिम भरी हो सकती है जिन लोगों का इम्यून सिस्टम (Immune System) कमजोर होता है।

ऐसे लोगों को भी सुरक्षा के लिए इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) की सलाह दी जाती है। क्योंकि फ्लू वायरस बहुत तेजी से बदल जाता है और नियमित रूप से इसके नए स्ट्रेनस आते हैं। तो हर साल इसकी नई वैक्सीन की जरूरत होती है। हालांकि यह वैक्सीन पूरी तरह से प्रभावी नहीं होती है लेकिन कुछ स्ट्रेनस से छुटकारा मिल सकता है और इससे इस बीमारी की गंभीरता से भी बचा जा सकता है। अब जानिए इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) के साइड इफेक्ट्स के बारे में।

और पढ़ें: क्या बच्चों के लिए फ्लू और कोविड वैक्सीन एक ही है : जानें इस पर एक्सपर्ट की राय

इंफ्लूगन वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स क्या हैं? (Side effects of Influgen Vaccine)

इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) के कुछ साइड इफेक्ट्स महसूस किए जा सकते हैं। हालांकि, यह इस वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स की पूरी लिस्ट नहीं है। ऐसा भी हो सकता है कि इस वैक्सीन के प्रयोग के बाद कुछ लोग कोई भी साइड इफेक्ट्स को महसूस न करे। यह साइड इफेक्ट्स दुर्लभ हैं, लेकिन गंभीर हो सकते हैं। इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) के सामान्य साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं:

  • इंजेक्शन साइट में दर्द और लालिमा (Injection site Pain and Redness)
  • इंजेक्शन साइट में सूजन (Injection site Swelling)
  • सिरदर्द (Headache)
  • थकावट (Fatigue)
  • मायल्जिया (Myalgia)
  • मसल्स में दर्द (Muscle pain)
  • जी मचलना (Nausea)
  • ठंड़ लगना (Chills)

ऐसा जरूरी नहीं है कि इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) के बाद हर व्यक्ति इन दुष्प्रभावों का अनुभव करे। लेकिन, अगर आपको कोई भी साइड इफ़ेक्ट नजर आता है। तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें। खासतौर पर अगर यह साइड इफेक्ट्स कई दिनों तक ठीक न हों या बदतर हो जाएं। इन दुष्प्रभावों को कभी भी हल्के में न लें। जानिए किस तरह से किया जाता है इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) का उपयोग?

और पढ़ें: पेंटावैलेंट वैक्सीन बच्चों को इन 5 बीमारियों से बचाने में करती है मदद, जानिए किस उम्र में दी जाती है

इंफ्लूगन वैक्सीन का प्रयोग कैसे किया जाता है?

इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) एक इनएक्टिव वैक्सीन है यानी इसे डेड वायरस (Dead Virus) से बनाया गया है। यह एंटीबाडीज का निर्माण कर के इम्युनिटी को बढ़ाती है। एंटीबाडीज वो प्रोटीन्स हैं जो हमें उस इंफेक्शन से बचाते हैं, जो वैक्सीन में मौजूद वायरस का कारण बनता है। यह इंजेक्शन उन सब्स्टांसेंस का ग्रुप है,इंफ्लुएंजा वायरस के प्रति शरीर के नेचुरल इम्यून सिस्टम को संवेदनशील बनाने का कार्य करता है। ताकि संक्रमित होने पर शरीर का इम्यून सिस्टम वायरस को बेअसर कर सके और इंफ्लुएंजा के विकास को रोक सके। अब जानते हैं कि इस इंजेक्शन से पहले किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

और पढ़ें: इंफ्लूवैक वैक्सीन: बच्चों को इंफ्लुएंजा से बचाने में करती है मदद, इस उम्र में दी जाती है पहली डोज

इंफ्लूगन वैक्सीन के प्रयोग के लिए इन बातों का रखें ध्यान?

इस इंजेक्शन को लेने से पहले आपको डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में बता देना चाहिए।इसके साथ ही इस वैक्सीन को लेने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है, जैसे:

  • अगर आप गर्भवती हैं या ब्रेस्टफीडिंग (Breastfeeding) करा रही हैं। तो आपको अपने डॉक्टर से पहले ही इस बारे में बात कर लेनी चाहिए। क्योंकि, हो सकता है कि यह वैक्सीन भ्रूण या शिशु के लिए नुकसानदायक हो।
  • कोई भी वैक्सीन शरीर को पूरी तरह से प्रोटेक्ट नहीं करती है। हालांकि, यह वैक्सीन फ्लू के लक्षणों को कम कर सकती है। लेकिन, बर्ड फ्लू या सामान्य सर्दी-जुकाम से बचाव नहीं हो सकता है।
  • अगर आप अधिक एल्कोहॉल का सेवन करते हैं। तो आपको इस वैक्सीन को लेने से पहले जान लेना चाहिए ऐसा करना सुरक्षित है या नहीं।
  • किडनी के रोगियों के लिए इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) का प्रयोग के बारे में सही जानकारी नहीं है। ऐसे में डॉक्टर कि सलाह जरूरी है। अगर आपको लिवर संबंधी समस्याएं हैं तो भी पहले ही डॉक्टर को बता दें।
  • आप अगर कोई भी अन्य दवाई या सप्लीमेंट को ले रहे हैं, तो इस वैक्सीन से पहले डॉक्टर को बता दें। क्योंकि, कई दवाईयां अन्य दवाईयों या सप्लीमेंट्स के साथ इंटरैक्ट कर सकती हैं और उनका प्रभाव भी कम हो सकता है।
  • इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) के बाद ड्राइविंग खुद न करें या ऐसा कोई भी काम करने से बचें जिसमे ध्यान लगाने की जरूरत है। क्योंकि, हो सकता है इस इंजेक्शन के बाद आपको चक्कर आना या बेहोशी जैसी समस्या हो।
  • यही नहीं, अगर आपको इस वैक्सीन या इसमें मौजूद किसी प्रोडक्ट से एलर्जी है। तो भी डॉक्टर को पहले ही बता दें।

और पढ़ें: Combe five vaccine: पांच बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करती है ये वैक्सीन!

अगर आपको बुखार या कोई एक्यूट बीमारी है, तो भी इससे पहले डॉक्टर को बताना न भूलें। अब जान लेते हैं कि क्या यह वैक्सीन अन्य ड्रग्स के साथ इंटरैक्ट कर सकती है?

इंफ्लूगन वैक्सीन का कौन सी ड्रग्स से इंटरैक्शन हो सकता है?

इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) को पूरी तरह से सुरक्षित माना जाता है। लेकिन, कुछ दवाईयों या थेरेपीज के साथ इन्हें लेने से न केवल दवाईयों के प्रभाव पर असर हो सकता है। बल्कि इस वैक्सीन की इफेक्टिवनेस भी कम हो सकती है। जानिए कौन सी हैं यह दवाईयां:

  • इम्यूनोंसप्रेसिव थेरेपी (Immunosuppressive therapy)
  • अजैथोप्रीन (Azathioprine)
  • बेरिसिटिनिब (Baricitinib)
  • कॉर्टिकॉस्टेरॉइड्स (Corticosteroids)
  • सायक्लोस्पोरिन (Cyclosporine)
  • हाइड्रोक्सीयूरिया (Hydroxyurea)
  • इनफ्लैक्सिमैब (Infliximab)
  • लेफ्लुनामाइड (Leflunomide)
  • रिटक्सिमैब (Rituximab)

हालांकि, यह उन दवाईयों की पूरी लिस्ट नहीं हैं, जिनके साथ इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) इंटरैक्ट कर सकती है। ऐसे में आपको सबसे पहले डॉक्टर को उन दवाईयों के बारे में बताना चाहिए जिन्हें आप ले रहे हैं। अगर डॉक्टर को ऐसा लगता है कि इन दवाईयों के साथ इस वैक्सीन को लेने से आपको समस्या हो सकती हैं। तो वो इन चीजों की सलाह दे सकते हैं:

  • आपको इन दवाईयों के लेने से मना किया जा सकता है।
  • आपकी दवाईयों को दूसरी दवाईयों के साथ बदला जा सकता है
  • जिस तरीके से आप एक या इन दोनों ड्रग्स को ले रहे हैं, उस तरीके को बदला जा सकता है।

इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine)

और पढ़ें: बच्चों को फ्लू से बचाने में मदद करती है वैक्सीग्रिप वैक्सीन, लेकिन इसके साइड इफेक्ट्स भी जान लें

इंफ्लूगन वैक्सीन और इंफ्लुएंजा के बारे में कुछ सवाल-जवाब

यह तो थी इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) के बारे में जानकारी, लेकिन इस वैक्सीन को लेकर कुछ सवाल ऐसा हैं, जो अक्सर लोगों के दिमाग में रहते हैं और वो चिंतित रहते हैं। जानिए इन सवालों के बारे में और पाएं उनके जवाबों को।

हमें इंफ्लुएंजा या फ्लू के लिए वैक्सिनेशन कब करानी चाहिए ?

इंफ्लुएंजा (Influenza) या फ्लू के लिए वैक्सिनेशन के लिए आपको सर्दी का मौसम चुनना चाहिए। ठंड़ के मौसम की शुरुआत में इस वैक्सीन को लेना अच्छा विचार है। क्योंकि आमतौर पर यह रोग ठंड में ही अधिक परेशान करती है। साल में केवल एक इंजेक्शन लेने की ही जरूरत होती है। लेकिन, अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर की सलाह जरूरी है।

और पढ़ें: रिसर्च के अनुसार ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाएं भी ले सकती हैं कोविड 19 वैक्सीन, लेकिन पहले डॉक्टर से जरूर करें कंसल्ट

इंफ्लुएंजा या फ्लू के लिए वैक्सिनेशन किन लोगों को करानी चाहिए?

जिन लोगों को इंफ्लुएंजा (Influenza) होने का जोखिम अधिक होता है। उन्हें यह इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) लेने की सलाह दी जाती है। यह मुख्य रूप से 6 महीने की उम्र के बच्चों, प्रेग्नेंट महिलाओं, 64 साल की उम्र तक के एडल्ट्स को दिया जाता है। इसके साथ ही जिन लोगों की इम्युनिटी कमजोर है या जिन्हें कोई गंभीर रोग है, उन्हें भी इसे लेना चाहिए।

क्या यह वैक्सीन स्वाइन फ्लू के लिए प्रभावी है ?

हां, इस वैक्सीन का प्रयोग स्वाइन फ्लू के लक्षणों से बचने के लिए किया जा सकता है। इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) में थोड़ी मात्रा में फ्लू वायरस होता है। जिसे हमारे शरीर में एंटीबाडीज के उत्पादन को बढ़ाने के लिए प्रयोग किया जा सकता है। इससे भविष्य में वायरस इंफेक्शन के लिए इम्युनिटी विकसित होती है। हालांकि, कुछ स्थितियों में यह वैक्सीन प्रभावित साबित नहीं होती है।

इस वैक्सीन को कैसे स्टोर किया जाता है?

इस वैक्सीन को रेफ्रीजिरेटर में 2 – 8ºC (35-46ºF) में स्टोर किया जा सकता है। अगर इस वैक्सीन को ट्रांसपोर्ट करना हो, तो (2 to 8ºC) टेम्प्रेचर मेंटेन रखना बेहद जरूरी है।

और पढ़ें: प्रिजर्वेटिव फ्री फ्लू वैक्सीन लेना सही है क्या? इसके बारे में आपका जानना बहुत जरूरी है….

प्रेग्नेंसी में टीकाकरण की क्यों होती है जरूरत ?

यह तो थी इंफ्लूगन वैक्सीन (Influgen Vaccine) के बारे में पूरी जानकारी। इस इंजेक्शन को डॉक्टर हमारे आर्म्स के ऊपरी मसल्स इंजेक्ट किया जाता है। इस वैक्सिनेशन को हर साल लगाने की सलाह दी जाती है। लेकिन, ध्यान रखें कि यह वैक्सीन कॉमन सर्दी जुकाम से सुरक्षा नहीं करती है। हालांकि, फ्लू के लक्षण भी सामान्य सर्दी-जुकाम जैसे ही होते हैं। अगर आप इस वैक्सीन को लेकर चिंतित हैं या आपके मन में कोई भी सवाल हो तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/08/2021 को
और Admin Writer द्वारा फैक्ट चेक्ड
x