home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

क्या आपने सुने हैं गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने के ये फायदे?

क्या आपने सुने हैं गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने के ये फायदे?

‘सेक्स’ शब्द आते ही लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठते हैं और जब बात गर्भावस्था के दौरान सेक्स की हो, तो इन सवालों की संख्या और भी बढ़ जाती है। जैसे प्रेग्नेंसी में सेक्स करना चाहिए या नहीं? क्या गर्भावस्था के दौरान सेक्स से गर्भ में पल रहे बच्चे और मां पर कोई बुरा असर पड़ता है? प्रेग्नेंसी में सेक्स के तरीके क्या हैं आदि। इन सवालों के जवाब लोग जानना तो चाहते हैं, पर न ही कभी अपने आसपास मौजूद लोगों से कुछ पूछ पाते हैं और न ही डॉक्टरों से। इसके पीछे उनका सबसे बड़ा यह डर होता है कि लोग उन्हें जज न कर लें। लेकिन आपको परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि ‘हैलो स्वास्थ्य’ इस आर्टिकल में उन सभी सवालों के जवाब आपको देगा।

क्या गर्भावस्था के दौरान सेक्स करना चाहिए? (Sex during pregnancy)

NCBI की रिपोर्ट के अनुसार सेक्स से गर्भ में पल रहे बच्चे को तबतक किसी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचता है, जबतक कि गर्भवती महिला को कोई परेशानी न हो। गर्भ में पल रहा बच्चा यूट्रस में पूरी तरह सुरक्षित रहता है। लेकिन एक बात जरूर ध्यान रखें कि सेक्स के समय पेट पर प्रेशर न पड़ रहा हो और गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से पहले अपने लाइफ पार्टनर से सहमति अवश्य लें। क्योंकि, ऐसी स्थिति में गर्भवती महिला की भी इच्छा का पूरा-पूरा ध्यान रखें। सेक्स के समय या फिर बाद में गर्भवती महिला को पेट में दर्द या फिर सेक्स के दौरान असहज महसूस होना जैसी किसी भी तरह की परेशानी हो, तो ऐसी स्थिति में अपने डॉक्टर से मिलें और उन से बेझिझक बात कर अपनी परेशानी बताएं।

गर्भावस्था के दौरान सेक्स से महिला को होने वाली कुछ समस्याएं (Complications of sex during pregnancy)

कुछ मामलों में प्रेग्नेंसी के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से निम्न प्रकार की समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है-

और पढ़ेंः इन 5 तरीकों से करें सेक्स की इच्छा कंट्रोल

क्या प्रेग्नेंसी में सेक्स से गर्भ में पल रहे शिशु को नुकसान पहुंचता है?

प्रेग्नेंसी में सेक्शुअल रिलेशन बनाने से गर्भ में पल रहे शिशु को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। गर्भावस्था के दौरान शिशु एमनियोटिक फ्ल्यूइड से भरी थैली में सुरक्षित रहता है और इसके अलावा ग्रीवा भी बंद होती है। इसलिए, गर्भावस्था के दौरान सेक्स से शिशु को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है।

गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने के फायदे (Benefits of Sex in Pregnancy)

आपको यह पढ़ने में अजीब लग सकता है, लेकिन यह सही है कि उचित सेक्स पुजिशन (sex positions) को चुनकर हेल्दी गर्भावस्था के दौरान संभोग करना मां और शिशु दोनों के लिए फायदेमंद हो सकता है। गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने के कुछ फायदे इस प्रकार हो सकते हैं:

तनाव में कमी (Reducing Stress)

गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से एंडोर्फिन्स (endorphins) नामक हॉर्मोन रिलीज होने के कारण गर्भवती और गर्भ में पल रहे बच्चे को खुशी का एहसास होता है और दोनों ही रिलैक्स फील करते हैं। साथ ही ऑक्सीटॉसिन हॉर्मोन का निर्माण भी होता है। जिससे कपल्स एक दूसरे के और भी करीब आते हैं। विशेषज्ञों की मानें तो सेक्स करने से कपल्स का तनाव कम होता है, जिससे नींद भी अच्छी आती है।

पेल्विक एरिया को मिलती है मजबूती (Pelvic Area becomes Stronger)

खासकर गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में सेक्स संबंध बनाने से पेल्विक फ्लोर (pelvic area) की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। इससे गर्भवती महिला को नॉर्मल डिलीवरी के दौरान मदद मिलती है और कठिनाई का थोड़ा कम सामना करना पड़ता है।

और पढ़ें: नशे में सेक्स करना कितना सही है? जानिए स्मोक सेक्स और ड्रिंक सेक्स में अंतर

सामान्य रक्तचाप के लिए अच्छा (Good for normal blood pressure in hindi)

गर्भावस्था के दौरान सेक्स से रक्तचाप का स्तर कंट्रोल में रहता है। प्रेग्नेंसी में अधिकम ब्लड प्रेशर की वजह से प्रेग्नेंट महिला को प्रीक्लेम्पसिया (रक्तचाप का अधिक हो जाना) का सामना करना पड़ सकता है।

इम्यून पावर में सुधार आता है (Increasing Immunity in hindi)

गर्भावस्था में महिला के शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं, जिससे उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी गड़बड़ा जाती है। ऐसे में शारीरिक संबंध स्थापित करने से इसमें कुछ हद तक सुधार हो सकता है। शारीरिक संबंध से एंटीबॉडी के स्तर में सुधार होता है। SAGE जर्नल के रिसर्च के अनुसार गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से IgA (Immunoglobulin A) बढ़ने की वजह से गर्भवती महिला को सर्दी-ज़ुकाम के साथ इंफेक्शन से भी सुरक्षा मिलती है।

गर्भावस्था में संबंध कब नहीं बनाने चाहिए?

डॉक्टर नीचे बताई गई इन स्वास्थ्य परिस्थितियों में गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से मना कर सकते हैं-

  • अगर गर्भवती महिला को मिस्कैरिज होने की संभावना हो या फिर पहले कई बार गर्भपात हो चुका हो
  • यदि प्रेग्नेंसी पीरियड के 37वें हफ्ते से पहले ही प्रसव होने की संभावना हो।
  • अगर एमनियोटिक थैली से फ्ल्यूइड का रिसाव होने लगे।
  • अगर गर्भवती महिला को ब्लीडिंग की समस्या हो रही हो, तब सेक्स नहीं करना चाहिए। क्योंकि ऐसे में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।
  • योनि के आसपास ऐंठन की समस्या हो।
  • यदि गर्भाशय ग्रीवा समय से पहले ही खुल जाए।
  • अगर आपके गर्भ में जुड़वा या उससे ज्यादा भ्रूण हों।
  • यदि आपको प्लेसेंटा प्रिविया की समस्या हो।

ऊपर बताई गई प्रेग्नेंसी की इन स्थितियों में डॉक्टर गर्भावस्था में शारीरिक संबंध बनाने से मनाही करते हैं।

प्रेग्नेंसी में सेक्स की इच्छा क्यों कम हो जाती है? (Decreased libido in Pregnancy)

गर्भावस्था के दौरान एक महिला में शारीरिक व भावनात्मक तौर पर कई परिवर्तन आते हैं। जिसका असर उसके यौन संबंध पर भी पड़ता है। हॉर्मोन में होने वाले बदलाव के चलते भी प्रेग्नेंट महिला में यौन इच्छा कम हो सकती है। साथ ही कई महिलाओं को चिंता सताती है कि गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से उनके बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है। इससे भी वे यौन संबंध बनाने से कतराने लगती हैं।

और पढ़ें: सेक्स और महिलाओं से जुड़े मिथक और उनकी सच्चाई

गर्भावस्था में कौन-सी सेक्स पुजिशन होंगी मददगार

गर्भावस्था में सुरक्षित तरीके से सेक्शुअल रिलेशन बनाने में आपकी सेक्स पुजिशन काफी अहम रोल निभाती हैं। क्योंकि अगर आपकी सेक्स पुजिशन गलत होती है, तो इसका सीधा प्रेशर गर्भवती महिला के गर्भ पर पड़ता है और परेशानी खड़ी हो सकती है। लेकिन अगर आप सेफ सेक्स पुजिशन को ट्राय करेंगे, तो आपका एक्सपीरियंस काफी बेहतर साबित होगा। हालांकि, हर किसी के लिए सेक्स पुजिशन का चुनाव व सेफ्टी का लेवल अलग-अलग हो सकता है। जिसके बारे में आप अपने डॉक्टर से जरूर बातचीत करें। मगर नीचे बताई गई कुछ पुजिशन हेल्दी गर्भवती महिलाओं के लिए काफी सेफ होती हैं।

गर्भावस्था में सेक्स : फन फ्रॉम बिहाइंड (Fun from behind)

फन फ्रॉम बिहाइंड सेक्स पुजिशन को ही डॉगी स्टाइल भी कहा जाता है। हालांकि, यह ऐसी पुजिशन नहीं है, जिसके बारे में सभी एक्सपर्ट की एक राय हो। इसे करने से पहले आपकी पर्सनल हेल्थ के मुताबिक डॉक्टर की सलाह जरूरी है। क्योंकि, काफी लोगों को इसे अपनाने के लिए मनाही हो सकती है। लेकिन, अगर आपका डॉक्टर आपको इस पुजिशन की परमिशन देते हैं, तो आप इसे आसानी से ट्राय कर सकते हैं। इसमें फीमेल पार्टनर को अपने हाथों और घुटनों पर आना होता है, जो कि थोड़ा फिजीकल स्ट्रेंथ मांगता है। इसके बाद मेल पार्टनर गर्भवती महिला के पीछे से इंटरकोर्स करता है।

काउगर्ल पुजिशन (Cowgirl position)

अगर आप प्रेग्नेंसी में सेक्स के लिए एक आसान और शानदार सेक्स पुजिशन की तलाश में हैं, तो यह पुजिशन आपके लिए ही है। क्योंकि, इसमें महिला के पेट व गर्भ पर प्रेशर नहीं पड़ता है और मेल पार्टनर इंटरकोर्स के समय आसानी से जी-स्पॉट को स्टिम्युलेट कर सकता है। इस पुजिशन की मदद से आप दोनों की काफी प्लेजर प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा, इस पुजिशन में निप्पल प्ले और क्लिटोरियल प्ले में आसानी से किया जा सकता है, जो कि फीमेल पार्टनर को ऑर्गैज्म दिलाने में भी मदद करेगा। इसे ट्राय करने के लिए मेल पार्टनर पीठ के बल लेट जाता है और फीमेल पार्टनर उसकी तरफ फेस करके उसके ऊपर बैठकर इंटरकोर्स करवाती है। इसमें पूरा कंट्रोल महिला पार्टनर के हाथ में होता है, जिससे वह स्पीड और पेनिट्रेशन आसानी से एडजस्ट कर सकती है।

और पढ़ें: हर दिन सेक्स करना कैसे फायदेमंद है, जानिए इसके 9 वजह

रिवर्स काउगर्ल (reverse cowgirl)

काउगर्ल पुजिशन में जब महिला अपने मेल पार्टनर के ऊपर रहते हुए फेस को उसके पैरों की तरफ करके इंटरकोर्स करवाती है, तो उसे रिवर्स काउगर्ल पुजिशन कहा जाता है। इसमें भी वह सभी फायदे मिलते हैं, जो कि काउगर्ल पुजिशन में मिलते हैं। हालांकि, इसमें फोरप्ले करना थोड़ा चुनौतीपूर्ण हो सकता है। लेकिन, यह पुजिशन नॉर्मल काउगर्ल से ज्यादा सेफ होती है।

प्रेग्नेंसी में सेक्स : स्पूनिंग (spooning)

इस सेक्स पुजिशन को आप प्रेग्नेंसी के दौरान किसी ट्राइमेस्टर में आसानी से और बिना किसी चिंता के अपना सकते हैं। हालांकि, इस पुजिशन में दोनों कपल्स का आई कॉन्टैक्ट नहीं होता है। मगर इसमें निप्पल प्ले, क्लिटोरियल प्ले, हग, टचिंग आदि आसानी से किया जा सकता है। जो कि दोनों के बीच इमोशनल इंटीमेसी बढ़ाने में काफी मददगार होता है। इसमें दोनों कपल्स एक ही करवट लेकर लेटते हैं। फीमेल पार्टनर आगे की तरफ होती है और मेल पार्टनर पीछे की तरफ। इसके बाद मेल पार्टनर उसी स्थिति में इंटरकोर्स करता है। कई गर्भवती महिलाओं ने अपना अनुभव शेयर करते हुए इस पुजिशन को काफी मददगार और शानदार बताया।

स्टेंडिंग ( standing)

यह सेक्स पुजिशन गर्भावस्था के शुरुआती व बीच के समय तक बिल्कुल सेफ रहती है। इस पुजिशन में दोनों पार्टनर खड़े होकर सेक्स करते हैं। इसे ट्राय करने के लिए फीमेल पार्टनर दीवार पर दोनों हथेलियों का सहारा लेकर खड़ी होती है और मेल पार्टनर पीछे से इंटरकोर्स करता है। इसमें कोई एक कपल दीवार का सहारा भी ले सकता है। हालांकि, गर्भावस्था में यह सेक्स पुजिशन सभी के लिए कंफर्टेबल नहीं हो सकती है। इसलिए इसे अपनाने के लिए अपने पार्टनर व डॉक्टर से बातचीत जरूर कर लें। सेक्स को एंजॉय करने का यह एक बेहतर तरीका है।

सीटेड प्रेग्नेंसी सेक्स (seated pregnancy sex)

प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स पुजिशन में आप सीटेड प्रेग्नेंसी सेक्स पुजिशन को अपना सकते हैं और कपल्स के बीच यह काफी पॉपुलर भी है। यह पुजिशन फीमेल पार्टनर के लिए काफी कंफर्टेबल रहती है और मेल पार्टनर कोई भी कोई परेशानी नहीं होती है। इसे ट्राय करने के लिए मेल पार्टनर चेयर पर या बेड के किनारे बैठ सकता है और फिर फीमेल पार्टनर उसकी गोद में बैठती हुई इंटरकोर्स करवाती है। इसमें भी पूरा कंट्रोल फीमेल पार्टनर के पास होता है।

और पढ़ें: इन सेक्स पुजिशन से कर सकते है प्रेंग्नेंसी को अवॉयड

powered by Typeform

ओरल सेक्स और एनल सेक्स

गर्भावस्था में ओरल सेक्स व एनल सेक्स को लेकर आपके मन में सवाल खड़े हो सकते हैं। इसके लिए सबसे अच्छा तरीका है कि आप डॉक्टर या एक्सपर्ट की सलाह लें। वह आपको उचित व जरूरी जानकारी दे पाएंगे। मगर प्रेग्नेंसी में ओरल सेक्स या एनल सेक्स के लिए आपको साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखना होता है, क्योंकि आप जरा-सी चूक के कारण आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

वैसे हेल्दी गर्भावस्था के दौरान सेक्स से कभी भी मां और गर्भ में पल रहे शिशु को कोई भी परेशानी नहीं आती है। अगर फिर गर्भवती महिला को किसी तरह की समस्या होने की चिंता है, तो अपने डॉक्टर से मिलकर उचित जानकारी हासिल करनी चाहिए। इसके साथ ही प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स की इच्छा के बारे में आप अपने साथी के साथ अपनी भावनाओं और डर को लेकर खुलकर बातचीत करें। हमें उम्मीद है कि आपको प्रेग्नेंसी में सेक्स से जुड़ी पर्याप्त जानकारी इस आर्टिकल में मिल गई होगी। यदि आपको अभी भी कोई चिंता या डर है, तो अपने डॉक्टर या किसी एक्सपर्ट से खुलकर बातचीत करें। अगर आप हम से किसी विषय के बारे में कोई जानकारी पाना चाहते हैं, तो आप हमारे सोशल मीडिया पेज पर भी लिख सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Sex during pregnancy – https://www.pregnancybirthbaby.org.au/sex-during-pregnancy  Accessed on 04/12/2019

Sex in pregnancy – https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3080531/  Accessed on 04/12/2019

Sex During Pregnancy – https://kidshealth.org/en/parents/sex-pregnancy.html  Accessed on 04/12/2019

Sex in pregnancy – https://www.nhs.uk/conditions/pregnancy-and-baby/sex-in-pregnancy/  Accessed on 04/12/2019

Sex during pregnancy: What’s OK, what’s not – https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/pregnancy-week-by-week/in-depth/sex-during-pregnancy/art-20045318 Accessed on 04/12/2019

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Nidhi Sinha द्वारा लिखित
अपडेटेड 08/07/2019
x