लव एट फर्स्ट साइट (Love At First Sight): क्या सच में होता है?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. हेमाक्षी जत्तानी · डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


Aamir Khan द्वारा लिखित · अपडेटेड 28/04/2021

    लव एट फर्स्ट साइट (Love At First Sight): क्या सच में होता है?

    क्या आपने लव एट फर्स्ट साइट (Love At First Sight) या पहली नजर के प्यार के बारे में सुना है। दो अंजान व्यक्ति आपस में टकराते हैं, नजरों से नजरें मिलती हैं, दोनों एक दूसरे को देखकर मुस्कुराते हैं और बस प्यार हो जाता है। यह सब सुनने में तो काफी रोमैंटिक सा लगता है और न जाने इसपर कितनी ही कहानियां और फिल्में भी बन चुकी हैं, लेकिन क्या यह संभव है ?

    और पढ़ें : जानिए क्या करें जब वाइफ करे फिजिकल इंटिमेसी से इंकार

    लव एट फर्स्ट साइट (Love At First Sight) के लिए लोग क्या कहते हैं?

    यदि कुछ लोगों की माने तो लव एट फर्स्ट साइट संभव है। अब प्रिंस हैरी और मेघन मार्कले की कहानी शायद ही कोई हो जिसे न पता हो। बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में प्रिंस हैरी ने यह कहा था, कि मेघन मार्कले को पहली बार देखते ही उन्हें यह लगा था कि जैसे वह दोनों एक दूसरे के लिए ही बने हों। अब इसके अलावा भी कई ऐसे लोग हैं जो पहली नजर का प्यार जैसी चीजों पर यकीन करते हैं। लेकिन अगर विज्ञान की मानें तो विज्ञान कुछ और ही कहता है।

    और पढ़ें : शादी से पहले या शादी के बाद, आखिर कब ज्यादा खुश रहती हैं महिलाएं?

    लव एट फर्स्ट साइट (Love At First Sight): विज्ञान क्या कहता है?

    वैज्ञानिकों ने पहली नजर के प्यार को जानने के लिए कई अध्ययन किए हैं। कुछ अध्ययनों में इसे सही पाया गया तो कुछ अध्ययनों में गलत। हम हाल ही में हुए एक अध्ययन की अगर बात करें तो इसमें कई सारी बातें सामने आई हैं।

    • यह अध्ययन 2017 में नेदरलैंड में कुल 400 लोगों पर किया गया जिसमें महिला और पुरुष दोनों ही शामिल थे। इसमें कुछ महत्वपूर्ण बातें सामने आई जो इस इस प्रकार हैं।
    • इस अध्ययन शामिल कई लोगों ने लव एट फर्स्ट साइट का अनुभव किया। यह एक मजबूत आकर्षण था जो बाद में एक रिश्ते में बदलने की पूरी काबिलियत रखता है।
    • अध्ययन में ज्यादातर लोगों को लव एट फर्स्ट साइट का अनुभव उन लोगों के साथ हुआ जो लोग शारीरिक रूप से ज्यादा आकर्षक थे।
    • इस अध्ययन में लव एट फर्स्ट साइट का अनुभव करने वाले ज्यादातर पुरुष थे। अब ऐसा क्यों हुआ इसका कारण शोधकर्ताओं को भी नहीं पता। शायद कारण यह भी हो सकता है की महिलाएं इस अनुभव के लिए कम इच्छुक हों, क्योंकि वे अधिक चयनात्मक होती हैं।
    • लव एट फर्स्ट साइट एक तरफी घटना है। अध्ययन के ज्यादातर मामलों में लोगों ने यह पाया कि दोनों पार्टनर्स में से लव एट फर्स्ट साइट का अनुभव किसी एक को ही हुआ।
    • लव एट फर्स्ट साइट वास्तव में “प्यार” नहीं है। क्योंकि जो चीजें प्यार को प्यार बनाती हैं वह हैं इंटिमेसी, जुनून, वचनबद्धता जो कि उन शुरुवाती क्षणों में होना नामुमकिन है।

    लव एट फर्स्ट साइट का अनुभव किसी को भी हो सकता है और जिंदगी में कई बार हो सकता है। लेकिन वह प्यार नहीं, हां उसे हम एक मजबूत आकर्षण कह सकते हैं। लेकिन हर आकर्षण मजबूत रिश्ते में ढल जाए इसकी संभावना थोड़ी कम ही है। तो अगली बार अगर आपको भी लव एट फर्स्ट साइट का अनुभव हो तो इस बातों पर गौर जरूर कीजिएगा।

    अब जब लव एट फर्स्ट साइट हो ही गया है, तो कैसे जानें कि जिससे आपको लव एट फर्स्ट साइट हुआ है वो आपके लिए सही पार्टनर है या नहीं।

    और पढ़ें : आखिर क्यों साथी से साथ सेक्स के बाद अटैचमेंट बढ़ने लगता है?

    आपकी बातों का सम्मान करते हैं

    जिससे आपको लव एट फर्स्ट साइट हुआ है वह आपके फैसले का सम्मान करता है और आपको आपके मन की करने देता है, तो वो आपके लिए एक परफेक्ट पार्टनर हो सकते हैं। हालांकि, इस बात को भी नोटिस करें कि क्या वह आपके गलत फैसले को ठीक करने की जिम्मेदारी उठाते हैं या फिर उसे आप पर ही छोड़ देते हैं।

    आपकी खुशी और जरूरतों का ख्याल रखें

    क्या वो आपकी खुशी का ख्याल रखते हैं? या आपको किन बातों से खुशी मिलती है, इसे वो कितना नोटिस करते हैं? अगर आपका जवाब इसके लिए हां है, तो यकीनन वो आपके लिए एक अच्छे लाइफ पार्टनर हो सकते हैं। आपकी खुशी के साथ ही वो आपकी जरूरतों का भी ख्याल रखते हैं, तो आपकी भी जिम्मेदारी बनती है कि आप भी जीवनभर उनका साथ निभाएं। फिर आपका लव एट फर्स्ट साइट लाइफ लास्टिंग हो जाएगा।

    और पढ़ें : क्या डेटिंग साइट्स से सच में मिलता है प्यार?

    दूसरों के साथ दोस्ताना व्यवहार रखते हों

    क्या आपने इसके बारे में नोटिस किया है कि आपका साथी किसी वेटर या छोटे ओहदे के लोगों के साथ कैसा व्यवहार करते हैं? अगर वो उनके साथ हमेशा दोस्ताना व्यवहार से पेश आते हैं या उनका पूरा सम्मान करते हैं, तो यकीन मानिए कि वो एक अच्छे दिल के इंसान हैं, जो अपने पेशे के साथ-साथ दूसरे के काम की भी पूरी इज्जत करते हैं। तब तो आपका लव एट फर्स्ट साइट बिल्कुल सही इंसान से हुआ है।

    दोस्त और परिवार से मिलवाने में दिलचस्पी रखे

    कई कपल्स अपने साथी को एक-दूसरे के दोस्तों या परिवार के सदस्यों से दूरी बनाए रखने की सलाह देते हैं। लेकिन, अगर वो मौका मिलते ही आपको अपने करीबी दोस्तों या परिवार से मिलने के लिए कहें, तो उन्हें समझने का ये एक बेहतर मौका हो सकता है। उनकी यह पहल इसका इशारा है कि वो भविष्य में आपके साथ अपने रिश्ते को आगे बढ़ाना चाहते हैं।

    और पढ़ें : सेक्शुअल अट्रैक्शन या रोमांटिक अट्रैक्शन : दोनों के बीच फर्क समझें

    आर्थिक स्थिति को समझें

    किसी भी रिश्ते में फाइनेंशियल मैनेजमेंट बहुत जरूरी होती है। इसलिए, इस बात पर भी नोटिस करें कि आपका साथी आर्थिक स्थिति को किस तरह से बनाए रखता है। इस पर भी ध्यान दें कि क्या वह समय पर अपने बिलों का भुगतान करता है? क्या वह अपने खर्चों के लिए परिवार पर निर्भर हैं? क्या वह बहुत ज्यादा या फिजूल खर्च करते हैं या वह पैसे बचाने के बारे में भी विचार करते हैं? उनकी इस आदतों को नोटिस करके आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि वो भविष्य में किस तरह के जीवनसाथी बन सकते हैं।

    और पढ़ें : रिलेशनशिप को टूटने से बचने के लिए फॉलो करें 10 टिप्स

    आपसी विवाद कैसे सुलझाते हैं

    कहते हैं कि जहां झगड़ें होते हैं, वहीं प्यार भी होता है। लेकिन, हर रिलेशनशिप में बहुत ज्यादा खिटपिट होते रहना सही नहीं है। अगर आपका भी अपने साथी के साथ झगड़ा होता है, तो इस बात पर गौर करें कि वो किस तरह से इस झगड़े को सुलझाते हैं। झगड़े के दौरान क्या वो बार-बार आपके आपकी पिछली गलतियां याद दिलाते रहते हैं या झगड़े को जल्द से जल्द सुलझाने और किसी मुद्दे पर आने के बारे में विचार करते हैं।

    क्या कहता है निजी अनुभव

    पुणे की रहने वाली काजल प्रिंट और डिजिटल मीडिया की अनुभवी हैं। उनका कहना है “अगर कुछ समय तक आपका पार्टनर किसी कारण या वजह से अपने परिवार से नहीं मिलवाता तो यह जायज हो सकता है। लेकिन अगर आपके साथ एक लंबा समय बिताने के बाद भी वो आपको अपने परिवार से दूर रखे, तो उस रिश्ते को खत्म कर देना चाहिए। क्योंकि, आप अपने साथी के इस अंदाज से यह पता लगा सकती हैं कि वो वह आपके साथ शादी के लिए तैयार नहीं है।”

    साथ ही, यह भी ध्यान रखें कि क्या वो घर के छोटे-मोटे कामों में अपना हाथ बटातें है या नहीं? घर की कितनी जिम्मेदारी को वो निभाते हैं या घर के बड़े या छोटे सदस्यों के साथ उनका तालमेल कैसा है? इन बातों के बारे में भी विचार करें। ये बातें आपको इस बात का फैसला करने में मदद करेंगे कि आपका पार्टनर आपका लाइफ पार्टनर बनने के लिए परफेक्ट है या नहीं।

    हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. हेमाक्षी जत्तानी

    डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


    Aamir Khan द्वारा लिखित · अपडेटेड 28/04/2021

    advertisement

    Was this article helpful?

    advertisement
    advertisement
    advertisement