home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

जानें मुंहासे में मवाद के कारण और इलाज

जानें मुंहासे में मवाद के कारण और इलाज

आपके खूबसूरत चेहरे पर बहुत ढ़ेर सारे मुहांसे फेस की शोभा को बिगाड़ देते हैं। यह समस्या आज के समय में अधिक लोगों की है, खासतौर पर युवाओं की। यदि हम इससे निपटने के लिए ट्रीटमेंट कराते हैंं तो कुछ समय के लिए हमें इससे राहत मिल सकती है। लेकिन लंबे समय या हमेशा के लिए इससे छुटकारा पाना बहुत मुश्किल होता है।वैसे तो मुंहासे कई प्रकार के होते हैं लेकिन मुंहासे में मवाद इसका सबसे भद्दा और खतरनाक रुप होता है। कभी-कभी यह दर्दनाक भी हो जाता है। मुंहासे में मवाद का कारण कई हो सकता है। बहुत से लोग इसके इलाज के बारें में नहीं जानते हैं। आज हम मुंहासे में मवाद का कारण और मुंहासे में मवाद के सही इलाज के बारें में बताएंगे।

मुंहासे में मवाद क्या है (Pus in Pimple)

आमतौर पर लोगों को साधारण मुंहासा होता है, लेकिन कुछ लोगों को मुंहासे में मवाद की समस्या होती है। यह मुंहासे का ही एक रुप हैं लेकिन उसमें आपके मुंहासे में मवाद (Pus) भरा होता है। यह पिंपल की तरह दिखाई देते हैं। यदि आप इन्हें फोड़ते हैं तो यह और तेजी से बढ़ने लगते हैं। यह आपके चेहरे की रौनक बिगड़ देते हैं।दरअसल हमारे चेहरे में छोटे-छोटे छिद्र होते हैं। जब इन छिद्रों में सीबम (तेल) फंसकर जमा हो जाता है तो यह मुंहासे में मवाद का कारण बनता है। जैसे-जैसे आपका मुंहासा बढ़ता है इसमें मौजूद सफेद तरल पदार्थ भी बढ़ने लगता है। यदि आप मुंहासे में मवाद के सही कारण और इलाज के बारें में जानना चाहते हैं तो आपको यह पूरा आर्टिकल पढ़ने की जरुरत हैं।

और पढ़ें – जानें, हमारे शरीर और पुरूषों कि त्वचा के लिए विटामिन सी के फायदे?

कारण क्या हैं (Pus in pimple causes)

  • मुंहासे होने का कारण चेहरे के छोटे छिद्रों में तेल और बैक्टिरीया के कारण होता है। जब मुंहासे में सूजन आ जाती है तो इसमें मवाद भर जाता है।
  • हमारे शरीर में कभी-कभी कुछ हार्मोन में बदलाव होता है। जब हमारे शरीर के हार्मोन में बदलाव होते हैं इस कारण से हमारे त्वचा में सीबम की मात्रा तेजी से बढ़ने लगती है। यह चेहरे में पिंपल का कारण बनता है। सूजन वाले पिंपल में मवाद भर जाता है जिससे मुंहासे में मवाद का कारण बनता है।
  • पाचन तंत्र में खराबी होने से चेहरे में मुंहासे होते हैं। पाचन तंत्र में खराबी होने पर मुंहासे का कोई भी रुप हो सकता है। जिसमें कम सूजन वाले दाने,या मवाद वाले पिंपल शामिल है।
  • जिन मुंहासों में सूजन नहीं होती है, जैसे, ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स इन मुंहासे में मवाद नहीं भरा होता है। इन छिद्रों में कॉमेडोन कठोर तेल और मृत त्वचा कोशिकाएं भरी होती है।
  • नींद पूरी न होना चेहरे के कई समस्या का कारण बनता है। जिसमें से एक समस्या मुंहासा है। जी हां नींद पूरी न होना एक बड़ी समस्या बन सकती है। इसीलिए अपनी नींद को पूरी जरुर करें।
  • यदि हम बिना सूजन वाले मुंहासे को नाखून से दबाते हैं, तो इनमें सूजन आ सकती है जिससे ये मवाद वाले मुंहासे हो सकते हैं।

मुंहासे में मवाद इनका कारण बन सकते हैं।

अल्सर-यह आपके छिद्रों के सबसे नीचे विकसित होते हैं जहां मवाद ऊपरी सतह पर नहीं होता है। इनमें द्रव्य भरे होते हैं। इसमें आपको बहुत अधिक दर्द होता है।

पिंड-पिंड भी अल्सर की तरह होते है, ये मवाद से भरे दाने त्वचा की सतह के नीचे होते हैं।

पॅस्ट्यूल- पॅस्ट्यूल मवाद से भरे हुए मुंहासे घाव पपल्स के समान होते हैं, लेकिन ये बहुत बड़े होते हैं।

[mc4wp_form id=”183492″]

और पढ़ें- डैंड्रफ से लेकर मुंहासे तक के लिए फायदेमंद है लैवेंडर ऑयल

मुंहासे में मवाद के लिए रोकथाम

मुंहासे में मवाद और अधिक न हो या एक जगह से फैलकर दूसरी जगह पर न हो इसके लिए आप अपने चेहरे को बार-बार छुने से बचें।

पुरुष शेव करने से और महिलाएं वैक्सिंग करने से बचें

यदि आपके चेहरे पर मुंहासे हो रहे हैं, तो आपको वैक्स के बारे में सोचना भी नहीं है। यदि पुरुषों में ये समस्या हो रही है तो आपको शेविंग नहीं करना चाहिए। आप चाहे तो बिना त्वचा को छुए ट्रीम कर सकते हैं। लेकिन शेव नहीं करना चाहिए। वैस्किंग और शेविंग से मुंहासे बढ़ सकते हैं

कॉस्मेटिकस से कोसो दूर हो जाएं

यदि आप मेकअप करने के शौकीन हैं तो आप अभी इसे भूल जाइए। मुंहासे होने के कारणों में अधिक कॉस्मेटिक का प्रयोग करना भी एक कारण हो सकता है। इसलिए, जब तक मुंहासे ठीक न हों, तब तक किसी भी तरह का मेकअप न करें। डॉक्टर की सलाह पर ही आप चेहरे पर कुछ अप्लाई करें।

अपने चेहरे को बार-बार छुने से बचें

कुछ लोगों को लगता है, हमारा हाथ बिल्कुल साफ है। तो अब अपना चेहरा छुने से मुंहासे नहीं बढ़ेगे। तो आपको बता दें ये एक मिथ है। आप अपने चेहरे को बार-बार टच करेंगे तो आपके मुंहासे बढ़ते जाएंगे। इसीलिए यदि आपको मुंहासे की समस्या होती रहती है तो अपने हाथ को अपने चेहरे के पास ले जाने से रोके। न केवल हाथ बल्कि कम से कम चीजें अपने चेहरे के पास ले जाएं।

मुंहासे को भूलकर भी फोड़ें नहीं

कुछ लोग अपने नाखून का प्रयोग करके चेहरे के पिंपल को फोड़ देते हैं। उन्हें लगता है इससे उनका पिंपल ठीक हो जाएगा। लेकिन ऐसा करने से आपका पिंपल चेहरे पर भद्दा दाग छोड़ देता है। इसके साथ ही दोबारा विकारल रुप से होने की संभावना बढ़ जाती है।

और पढ़ें – मुंहासों के लिए कैसे बनाएं दालचीनी और शहद का मास्क?

मुंहासे में मवाद का घरेलू उपचार

दवा के अलावा भी कुछ घरेलू उपचार के तरीके हैं। जिनसे हम मुंहासे की समस्या को दूर कर सकते हैं। आइए जानते हैं क्या है ये घरेलू उपचार।

  • लैवेंडर का तेल
  • मछली का तेल
  • जिंक की खुराक
  • प्रोबायोटिक्स
  • चाय के पेड़ की तेल

मुंहासे में मवाद का इलाज (Pus in Pimple Treatment)

मुंहासे में मवाद का इलाज कई तरीके से भी किया जा सकता है। इलाज के अलावा इसमें कई बातों का ध्यान देना जरुरी होता है। कुछ गलतियां आपके मुंहासे को बढ़ाने का कार्य करते है। सही खान-पान, नियमित नींद लेना ये सभी बातें इसमें बहुत महत्वपूर्ण होती है।जब जब इनका इलाज किया जाता है, तो मवाद से भरे दाने अपने आप ही फैलने लगते हैं। इलाज के दौरान यह चले जाते हैं लेकिन कुछ ही समय मे वापस आ जाते हैं। मुंहासे में मवाद का इलाज इस प्रकार से किया जा सकता है।

ओवर-द-काउंटर उपचार

आप मुंहासे में मवाद के इलाज के लिए कई ओवर-द-काउंटर दवाएं ले सकते हैं। जो मुंहासे में मवाद का उपचार करने में सक्षम होते हैं। यह दवाएं आप किसी स्किन स्पेशलिस्ट की सलाह से ले सकते हैं।

और पढ़ें – स्टीम बाथ के फायदे : त्वचा से लेकर दिल के लिए भी है ये फायदेमंद

रेटिनोइड्स

रेटिनोइड्स आम तौर पर मुंहासे के सभी रूपों के लिए उपयोग की जाने वाली दवा है। आपको इसे कम से कम 3 महीने तक नियमित रूप से उपयोग करना चाहिए।इसे उन क्षेत्रों में लगाया जाता है,जहां मुंहासे हुए होते हैं। ये नए मुंहासे को बनने से रोकता है। जो मुंहासे पहले से हो गए हैं ये उनको ठीक नहीं करता है। यदि आप रेटिनोइड्स का उपयोग करते हैं तो आपको सूरज के संपर्क में कम आना चाहिए।

मुंहासे में मवाद का इलाज – बेंजोईल पेरोक्साइड

बेंज़ोयल पेरोक्साइड आपके छिद्रों में बैक्टीरिया को मारने में मदद करता है जिससे मुंहासे में मवाद ​​हो सकता है। यह एक सामयिक जेल और एक फेस और बॉडी वॉश के रूप में उपलब्ध होता है।बेंज़ोयल पेरोक्साइड का उपयोग करते समय सावधान रहें। यह कपड़े और तौलिए सहित कपड़े ब्लीच कर सकता है। बेंज़ोयल पेरोक्साइड और रेटिनॉइड्स यदि एक ही समय में उपयोग किया जाता है, तो यह त्वचा में इर्रिटेशनपैदा कर सकता है। यदि इसके प्रयोग से आपको त्वचा में कोई परेशानी होती है तो इसके प्रयोग को कम करे दें या प्रयोग करना बंद कर दें।

प्रिस्क्रिप्शन दवाओं

कुछ लोग ओटीसी दवाओं के साथ अपने मुंहासे का इलाज करने में सक्षम हो सकते हैं, जैसे कि सामयिक रेटिनॉइड डिफरिन या बेंज़ोइल ऑक्साइड। यदि आप किसी अच्छे स्किन स्पेशलिस्ट से सलाह लेते हैं तो वो आपको त्वचा को देखकर अच्छी दवा लिखकर देता है जो आपके मुंहासे को रोकने में आपकी मदद कर सके। मुंहासे के लिए प्रिस्क्रिप्शन दवाएं मौखिक और सामयिक दोनों हो सकती हैं। प्रिस्क्रिप्शन की दवाएं इस प्रकार हो सकते हैं।

सलिसीक्लिक एसिड

डॉक्टर के कहे अनुसार आप जो फेसवॉश या टोनर्स प्रयोग करेंगे उसमें सैलिसिलिक एसिड मिला हो सकता हैं। यह त्वचा की सतह से केवल मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने का काम करती है। ये रोम छिद्रों को बंद नहीं करती हैं।

और पढ़ें – स्किन पॉलिशिंग के बारे में क्या नहीं जानते आप? इससे ऐसे त्वचा निखारें

मुंहासे में मवाद का इलाज – एंटीबायोटिक्स (Antibiotics)

जीवाणु पी

मुंहासे में मवाद भी मुंहासे को ही एक रुप है। इसमें आपको फुंसी हो जाती है जिसमें मवाद भरी होती है। आपका त्वचा विशेषज्ञ एंटीबायोटिक दवाओं का एक दौर लिख सकता है।इसके लिए डॉक्टर आपको एंटीबायोटिक्स लिख सकता है जिसका उपयोग आप लंबे समय तक कर सकते हैं। यह दवा आपके पी.एक्ने को दबाने का कार्य करता है। ध्यान रखें यदि आप मौखिक या सामयिक एंटीबायोटिक दवाओं का उपयोग कर रहे हैं, तो आपको एंटीबायोटिक के लिए पी. एक्ने प्रतिरोध को रोकने के लिए इसके साथ बेंज़ोइल पेरोक्साइड का उपयोग करना चाहिए।

नोट-मौखिक एंटीबायोटिक्स भी लंबे समय तक इस्तेमाल करने के लिए नहीं होता है।

जन्म नियंत्रण दवा

मौखिक गर्भ निरोधकों को लेने से कुछ महिलाओं को लाभ हो सकता है। यह ज्यादातर मासिक धर्म के आसपास होता है।कई खाद्य और औषधि प्रशासन मुंहासे के लिए उपयोग किए जाते हैं।जन्म नियंत्रण केवल मुंहासे के इलाज में एंटीबायोटिक दवाओं के समान प्रभावी है।

आइसोट्रेटिनोईन

यह मौखिक दवा है जिसमें विटामिन ए होता है।आइसोट्रेटिनोईन मुंहासे से जुड़े इलाज के लिए दिया जाता है। डॉक्टर अक्सर रोगियों में आइसोट्रेटिनोईन का उपयोग करते हैं।

  • मुंहासे जो बाकी दवा से ठीक नहीं हो रहे हो।
  • गंभीर गांठदार सिस्टिक मुंहासे

नोट-मुंहासे में मवाद में इन दवाओं का प्रयोग करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से जरुर सलाह लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा, उपचार और निदान प्रदान नहीं करता।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Adult acne: Understanding underlying causes and banishing breakouts – https://www.health.harvard.edu/blog/adult-acne-understanding-underlying-causes-and-banishing-breakouts-2019092117816  Accessed on 15-05-2020

Causes Acne- https://www.nhs.uk/conditions/acne/causes/ Accessed on 15-05-2020

ACNE – https://www.niams.nih.gov/health-topics/acne Accessed on 15-05-2020

ACNE: WHO GETS AND CAUSES – https://www.aad.org/public/diseases/acne/causes/acne-causes Accessed on 15-05-2020

Why Do I Get Acne? – https://kidshealth.org/en/teens/acne.html Accessed on 15-05-2020

Rosacea (Adult Acne) – https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/12174-rosacea-adult-acne Accessed on 15-05-2020

लेखक की तस्वीर badge
shalu द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 26/03/2021 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड